Monday, March 20, 2017

ग्रामीणजनों को साक्षर बनाने हो रहे प्रयास

कटनी / साक्षर भारत योजना के अंतर्गत रविवार को जिले में नवसाक्षर परीक्षा का आयोजन हुआ। ग्रामीणजनों एवं निरक्षर व्यक्तियों को साक्षर बनाने के उद्वेश्य से आयोजित इस परीक्षा को लेकर ग्रामीणजनों में खासा उत्साह देखनों को मिला। परीक्षा के सफल संचालन के लिये जिले में स्थापित किये गये 458 केन्द्रों में लगभग 30 हजार से अधिक ग्रामीणजन व निरक्षर व्यक्ति उमंग में लबरेज होकर परीक्षा में सम्मिलित हुये। ग्रामीण पुरुषों के साथ ही महिलायें भी आंगे निकलकर आईं और नवसाक्षर परीक्षा में सम्मिलित हुईं।
विकासखण्डवार इतने निरक्षर व्यक्ति हुये नवसाक्षर परीक्षा में सम्मिलित
            नवसाक्षर परीक्षा में जिले में लगभग 30 हजार 486 नवसाक्षर सम्मिलित हुये। जिसमें बड़वारा विकासखण्ड में 4838 ने परीक्षा दी। जिसमें 3474 महिलायें और 1364 पुरुष शामिल हुये। बहोरीबंद विकासखण्ड में 6340 नवसाक्षर इस परीक्षा में सम्मिलित हुये। जिसमें 4231 महिलायें और 2109 पुरुष रहे। इसी प्रकार रीठी विकासखण्ड में 5458 ने नवसाक्षर परीक्षा दी। जिसमें 2705 महिलायें और 2753 पुरुष शामिल हुये। विजयराघवगढ़ विकासखण्ड में भी 5446 परीक्षार्थी नवसाक्षर परीक्षा में सम्मिलित हुये। जिसमें से 3843 महिलायें और 1603 पुरुष रहे। कटनी विकासखण्ड में 4951 नवसाक्षर इस परीक्षा में सम्मिलित हुंये।
मॉनीटरिंग के लिये जिलास्तर से लेकर ब्लॉकस्तर तक पर लगाई गई थी टीम
            नवसाक्षर परीक्षा के लिये कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर प्रत्येक परीक्षा केन्द्र की मॉनीटरिंग के लिये जिलास्तर के 26 तथा ब्लॉक स्तर से सभी 06 विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, 06 विकासखण्ड स्त्रोत केन्द्र समन्वयक, बीएसी, तथा सभी जनशिक्षकों को इस संबंध में आदेश जारी किये गये थे। साथ ही जिले में परीक्षा के संचालन के लिये जिलास्तर पर कंट्रोल रुप भी स्थापित किया गया था। इसके साथ ही विकासखण्डस्तर पर भी कंट्रोल रुम बनाये गये थे।

कलेक्टर ने साक्षर भारत अभियान की सतत् रुप से की मॉनीटरिंग, आकस्मिक रुप से भी पहुंचे थे साक्षर केन्द्र
            साक्षर भारत अभियान के तहत जिले के अधिक से अधिक ग्रामीणजन एवं निरक्षर व्यक्ति भी साक्षर हो सकें, इसके लिये आज आयोजित हुई नवसाक्षर परीक्षा की मॉनीटरिंग सतत् रुप से कलेक्टर ने भी की। इस अभियान में अधिक से अधिक लोग जुड़ें। साध्यकालीन साक्षर कक्षाओं में ग्रामीणजनों को लाकर उन्हें साक्षर बनाया जाये। इसे लेकर स्पष्ट निर्देश भी कलेक्टर द्वारा शिक्षा विभाग को दिये गये थे। साथ ही समय-समय पर आकस्मिक रुप से साक्षर केन्द्रों में पहुंचकर उन्होने व्यवस्थाओं का जायजा लिया था। साथ ही आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये थे।
अधिक निरक्षर हो सकें परीक्षा में सम्मिलित, इसलिये मनरेगा मजदूरों का कलेक्टर ने किया था अवकाश घोषित

रविवार को आयोजित हुई नवसाक्षरों की परीक्षा के मद्देनजर कलेक्टर विशेष गढ़पाले द्वारा मनरेगा के मजदूरों का अवकाश भी घोषित किया गया था। जिससे 458 परीक्षा केन्द्रों में आयोजित इस परीक्षा में अधिक से अधिक ग्रामीण जन एवं निरक्षर व्यक्ति शामिल हो सकें।  जारी आदेश में उन्होने जिले के सभी सीईओ जनपदों को मनरेगा के तहत कार्यरत मजदूरों को परीक्षा में सम्मिलित कराते हुये परीक्षा दिवस का कार्य साप्ताहिक कैलेंडर में सम्मिलित आगामी अवकाश दिवस में कराये जाने के निर्देश दिये हैं।

No comments:

Post a Comment