Thursday, November 23, 2017

" जीवन रक्षक ’’ मोबाईल एप पर ब्लड डोनर्स और ब्लड बैंक की मिलेगी जानकारी

कटनी /- जिले में जरुरतमंदों को सुगमता से ब्लड की उपलब्धता हो पाये, इस दिशा में एक अभिनव प्रयास जिला प्रशासन कटनी द्वारा किया गया है। कलेक्टर विशेष गढ़पाले के कॉन्सेप्ट पर स्वास्थ्य विभाग ने ब्लड डोनर्स और ब्लड बैंक के बीच सार्थक सेतु का काम करने के लिये ’’जीवन रक्षक’’ नाम से एक मोबाईल बनवाया है। जिसका उद्धेश्य जरुरतमंदों की मदद करना है। इस एप में अपना रजिस्ट्रेशन कर सभी इच्छुक रक्तदाता जीवन रक्षक बन सकते हैं।  ब्लड डोनर्स यूआरएल https://play.google.com/store/ apps/details?id=com.brainware. jeevanrakshak  पर क्लिक कर अपने एन्ड्रॉयड मोबाईल में यह एप इन्स्टॉल कर सकते हैं। इसमें ब्लड डोनर्स की जानकारी सुरक्षित रखने के लिये विशेष सुविधाजनक फीचर्स हैं। आपके मोबाईल नंबर पर आने वाले ओटीपी के माध्यम से ही आपका सफल पंजीयन हो पायेगा। बिना ओटीपी नंबर के रजिस्ट्रेशन नहीं हो पायेगा।
            ब्लड बैंक भी इस एप के माध्यम से अपना रजिस्ट्रेशन जीवन रक्षक में करा सकते हैं। इसके लिये उन्हें एप में सम्पूर्ण जानकारी देनी होगी। जिसे एक्टिवेट करने के पहले एडमिन द्वारा दी गई इंफर्मेशन का परीक्षण किया जायेगा। जिसके बाद ही एडमिन द्वारा ब्लड बैंक्स का अकाउंट एक्टिवेट किया जायेगा। ब्लड बैंक अपने अकाउंट में ब्लड डोनर्स की जानकारी देख पायेंगे। साथ ही जिस ब्लड ग्रुप के रक्त की जरुरत होगी, उसकी आवश्यकता एप में मेंशन कर पायेंगे। जिसके बाद जीवन रक्षक एप में रजिस्टर्ड सभी आवश्यकता वाले ब्लड ग्रुप के ब्लड डोनर्स के पास नोटिफिकेशन मैसेज पहुंच जायेगा। जिसमें वे अपनी सुविधानुसार संबंधित ब्लड बैंक को रिप्लाई भी कर पायेंगे और अपने समय के अनुसार पहुंचकर जरुरतमंद को रक्त दे पायेंगे।
            यदि ब्लड डोनर अपनी जानकारी के साथ मोबाईल नंबर शेयर नहीं करना चाहता है, तो वह शेयर नहीं होगा। ब्लड बैंक डोनर्स को महज नोटिफिकेशन भेज पायेंगे, कॉल नहीं हो पायेगा। वहीं यदि किसी डोनर ने कॉल फीचर एक्टिवेट किया होगा, तो डोनर्स को एप के माध्यम से कॉल किया जा सकता है। ब्लड दे चुके डोनर को ब्लड देने की दिनांक 3 माह तक किसी भी तरह के नोटिफिकेशन और कॉल नहीं कर पाने का ऑप्शन भी इस एप में रखा गया है। इसके लिये रक्तदाता को अपनी रक्तदान की तिथि इस एप में दर्ज करनी होगी।

Wednesday, November 22, 2017

सब्जी मंडी के समस्त व्यापारी नव निर्मित थोक फल सब्जी मंडी में आकर अपना व्यवसाय करें

कटनी/  कृषि उपज मंडी पहरूआ में नवनिर्मित थोक फल सब्जी मंडी का लोकार्पण राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने किया। उन्होंने आग्रह किया कि फल और सब्जी मंडी के समस्त व्यापारी यहां नवीन थोक फल सब्जी मंडी में आकर अपना व्यवसाय करें। कुछ व्यापारी वर्ग ऐसी भी हैं जो नगर के अंदर थोक फल विक्रेता का कार्य कर रहे हैं। जिससे न केवल यातायात व्यवस्था बिगड़ती बल्कि शहर का मानक भी बिगड़ता है। कुछ व्यापारी यदि शहर से व्यवसाय करते हैं, तो मंडी के व्यापारियों का व्यावसाय प्रभावित होगा। राज्यमंत्री ने कहा कि सारे थोक फल-सब्जी के व्यापरी वर्ग मण्डी से ही व्यापार करना सुनिश्चत करें। इसके लिए प्रशासनिक अधिकारियों एवं नगर निगम को अपनी जिम्मेदारियों के निर्वहन के निर्देश भी उन्होंने दिए।
            लोकापर्ण कार्यक्रम के अवसर पर कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष संतोष राय,  नगर निगम कटनी अध्यक्ष संतोष शुक्ला, कृषि उपज मंडी उपाध्यक्ष रेखा वेंकट निषाद, सचिव पीयूष शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।




Tuesday, November 21, 2017

राज्यमंत्री पाठक ने किया उपतहसील भवन स्लीमनाबाद का लोकार्पण, खिरहनी में 2 करोड़ के विद्युत सबस्टेशन का भूमिपूजन

कटनी / स्लीमनाबाद में 20 लाख 80 हजार की लागत के उपतहसील भवन का लोकार्पण प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  संजय सत्येन्द्र पाठक ने किया। इससे जहां राजस्व कार्य के लिये सुगमता होगी। वहीं शासकीय सेवकों को भी सहूलियत होगी। उपतहसील स्लीमनाबाद में 25 आरआई हल्कों में 51 गांव आते हैं, जिसमें लगभग 75 हजार लोगों को इस उपतहसील भवन से फायदा होगा।
            बहोरीबंद विधानसभा क्षेत्र के स्लीमनाबाद में लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान राज्यमंत्री ने उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुये कहा कि स्लीमनाबाद का एैतिहासिक और भौगोलिक महत्व है। मुख्यमंत्री ने अपने प्रतिनिधि के रुप में मुझे यहां भेजा है और उन्होने यह कहा भी है कि जो मांग जनता की हो, उसे पूरा करें। इतना ही नहीं इस क्षेत्र में भी विकास कार्यों की यह श्रंखला बढ़ती रहेगी। वर्तमान में हर व्यक्ति को शासन की योजनाओं का लाभ मिला है।
            इस दौरान राज्यमंत्री ने स्लीमनाबाद महाविद्यालय में अगले सत्र से बीकॉम, बीएससी और एमए पाठ्यक्रम प्रारंभ कराये जाने की घोषणा की। कार्यक्रम में ही राज्यमंत्री ने प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा बात कर अग्रिम कार्यवाही के निर्देश दिये।
            उपतहसील भवन स्लीमनाबाद में राज्यमंत्री ने बाउंड्रीवॉल और फर्नीचर देने की भी घोषणा की। इसके साथ ही क्षेत्र में नागरिकों की विद्युत विभाग से संबंधित शिकायतों के निराकरण की बात कहते हुये राज्यमंत्री  ने कहा कि विद्युत विभाग का अमला विभिन्न क्षेत्रों में शिविरों का आयोजन करे। जिसके माध्यम से लोगों की समस्याओं का निराकरण भी हो। वहीं जनप्रतिनिधियों को भी उन्होने इन शिविरों के आयोजन का दिन और समय तय करने की बात कही। साथ ही राज्यमंत्री ने कहा कि जनप्रनिधियों की भी भागीदारी इन शिविरों में सुनिश्चित हो।
            लोकार्पण कार्यक्रम में राज्यमंत्री  संजय सत्येन्द्र पाठक ने स्थानीय लोगों द्वारा स्लीमनाबाद को तहसील बनाने की मांग से मुख्यमंत्री को अवगत कराने विश्वास दिलाया। उन्होने कहा की आपकी मांग पर कि स्लीमनाबाद को तहसील बनाया जायेगा। मैं आपकी यह मांग मुख्यमंत्री तक पहुँचाऊँगा  और उनके हाथों से ही इसका लोकार्पण भी कराया जायेगा। इसके साथ ही उन्होने स्लीमनाबाद में सामुदायिक भवन के निर्माण की भी बात कही।
खिरहनी में 2 करोड से अधिक की लागत के विद्युत उपकेन्द्र का भूमिपूजन
            मध्यप्रदेश विकास यात्रा के तहत मंगलवार को ग्राम खिरहनी में पहुंचकर 2 करोड़ 36 लाख रुपये की लागत से बनाये जा रहे 33/11 केव्ही उपकेन्द्र का भूमिपूजन भी राज्यमंत्री ने किया। उन्होने कहा कि विद्युत से लेकर शिक्षा तक, जल से लेकर स्वास्थ्य तक राज्य सरकार कार्य कर रही है। इस विद्युत उपकेन्द्र के शुरु होने के बाद हजारों घरों और खेतों को निर्बाध्य विद्युत प्राप्त हो सकेगी। मंच से ही विद्युत मण्डल के अधिकारियों को विभिन्न ग्रामों में शिविर लगाकर ग्रामीणों की विद्युत से जुड़ी समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश भी राज्यमंत्री ने दिये। उन्होने बंधी धुरी में बंद पड़े ट्रान्सफार्मर बदलवाने की भी बात कही।
खिरहनी में दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत विद्युत सबस्टेशन का भूमिपूजन राज्यमंत्री द्वारा किया गया है। जिसकी क्षमता 5 एमव्हीए होगी। इस प्रोजेक्ट के तहत 33 केव्ही की लगभग 5 किलोमीटर लंबी लाईन लगाई जायेगी। इसके साथ ही 11 केव्ही की लाईन का 5 किलोमीटर क्षेत्र में विस्तार किया जायेगा। इस सबस्टेशन से 13 ग्रामों को बिजली मुहैया हो सकेगी। साथ ही 4 हजार उपभोक्ताओं को इस सबस्टेशन के माध्यम से लाभ मिलेगा। इस योजना से तिवरी, कौडि़या और स्लीमनाबाद के सबस्टेशन पर भार कम होगा। इसी के साथ गुदरी, मेहा और कौडि़या में स्थित 11 केव्ही के फीडर पर भी भार घटेगा। यह प्रोजेक्ट लगभग एक वर्ष की अवधि में पूरा होगा।
लोकार्पण एवं भूमिपूजन कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता रंगलाल पटेल, जिला योजना समिति सदस्य पीताम्बर टोपनानी, जनपद पंचायत उपाध्यक्ष शंकर महतो, पूर्व विधायक दिलीप दुबे और  प्रणय पाण्डेय ने भी अपनी बात रखी।
            लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रम में महापौर शशांक श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष जिला पंचायत अशोक विश्वकर्मा, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अनीता सुनील जयरत्नम, पूर्व विधायक सुकीर्ति जैन, स्लीमनाबाद में कलेक्टर विशेष गढ़पाले, जिला पंचायत सदस्य, संबंधित क्षेत्र के जनपद पंचायत सदस्य और सरपंच स्लीमनाबाद  लखनलाल अग्रवाल उपस्थित थे।

Monday, November 20, 2017

राजस्व मंडल से की मांग, कहा माधव नगर में व्यवस्थित रूप से भूमि के पट्टे प्रदान किये जायें

कटनी /- विगत दिवस कलेक्ट्रेट सभागार जबलपुर में प्रस्तावित नये भूमि प्रबंधन अधिनियम के संबंध में आयोजित बैठक में कटनी महापौर शशांक श्रीवास्तव ने भी सहभागिता करते हुए अपनें सुझाव प्रस्तुत किये। बैठक में राजस्व मंडल के अध्यक्ष, सदस्यगण तथा जबलुपर संभाग के जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे। बैठक में नये भूमि प्रबंधन के सुधार पर विस्तृत चर्चा की गई। नगर निगम महापौर शशांक  श्रीवास्तव द्वारा अपनें सुझाव प्रस्तुत करते हुए कहा गया कि नगर निगम सीमा की समस्त शासकीय भूमि एवं नजूल भूमि का अधिपत्य नगर निगम को दिया जाना चाहिए ताकि उक्त शहरी भूमियों का उपयोग जनहितैषी कार्यो में किया जा सके। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि यदि शासकीय अथवा नजूल भूमि में पार्क, सामुदायिक एवं मंगल भवन सहित अन्य जनसुविधा हितार्थ भवनों का निर्माण किया जाकर गरीब वर्ग के लोगों को इसका लाभ प्रदान किया जा सकता है। दूसरी ओर शासकीय भूमियों में होनें वाले अवैध कब्जों से भी बचा जा सकता है। बैठक के दौरान कटनी के माधवनगर क्षेत्र के पट्टों की समस्या के समाधान की मांग राजस्व मंडल से करते हुए कहा कि आजादी के बाद सिन्धी कम्युनिटी के व्यक्तियों को व्यवस्थित रूप से भूमि के पट्टे प्रदान किये जावें।


स्लीमनाबाद उपतहसील भवन का राज्यमंत्री करेंगे लोकार्पण

कटनी / प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  संजय सत्येन्द्र पाठक मंगलवार को जिले के प्रवास पर रहेंगे। इस दौरान वे विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। जहां विकास कार्यों का लोकार्पण व भूमिपूजन किया जायेगा। अपने विजिट में राज्यमंत्री स्लीमनाबाद पहुंचेंगे। सुबह 11.30 बजे स्लीमनाबाद में आयोजित कार्यक्रम में उपतहसील भवन का लोकार्पण किया जायेगा।
लोकार्पण कार्यक्रम में सांसद खजुराहो नागेन्द्र सिंह, विधायक सौरभ सिंह, अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती ममता पटेल, उपाध्यक्ष जिला पंचायत  अशोक विश्वकर्मा, सदस्य जिला योजना समिति पीताम्बर टोपनानी, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अनीता सुनील जयरत्नम, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती निधि तिवारी, उपाध्यक्ष जनपद पंचायत बहोरीबंद  शंकर महतो और सरपंच स्लीमनाबाद लखनलाल अग्रवाल भी शामिल होंगे।
इसके बाद दोपहर 1 बजे बहोरीबंद में बस स्टेण्ड निर्माण कार्य का शिलान्यास राज्यमंत्री करेंगे। दोपहर 2.30 बजे राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक ग्राम बिलहरी में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का लोकार्पण कर अपरान्ह 4 बजे बड़खेड़ा हाई स्कूल भवन के लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल होंगे।

Friday, November 17, 2017

विजयराघवगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रो में निरीक्षण

कटनी / विजयराघवगढ़ ब्लॉक में हो रहे विकास कार्यों की ग्राउंड रियल्टी जानने शुक्रवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले फील्ड पर निकले। परसवारा, दुर्जनपुर, चरी, कारीतलाई, खिरवा-2 और जमुवानीकलां पहुंचकर मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास, सीसी रोड की गुणवत्ता का जायजा उन्होने लिया। वहीं आंगनबाडि़यों और शालाओं का निरीक्षण भी किया।
            परसरवारा में मनरेगा के कार्य प्रारंभ ना कराने, पीएमएवॉय की धीमी रफ्तार और सीसी रोड निर्माण की मंद गति पर कलेक्टर जमकर बिफरे। सचिव को जमकर फटकारते हुये बहाने ना बनाने की हिदायत कलेक्टर ने दी। उन्होने दो-टूक बात रखते हुये कहा कि बहाने छोड़ो, काम बताओ। काम नहीं कराना उचित नहीं है। सचिव की लापरवाहीूपर्ण कार्यप्रणाली पर बिफरते हुये डीई प्रारंभ कराने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये।
            दुर्जनपुर में आंगनबाड़ी का रजिस्टर अपडेट नहीं मिला। इसके साथ ही बहुत सी एन्ट्रियॉं भी रजिस्टर में नहीं थीं। एएनसी और टीकाकरण की जानकारी भी अपूर्ण थी। जिसे गंभीरता से लेते हुये मॉनीटरिंग ना करने पर सेक्टर सुपरवाईजर की एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पर भी कार्यवाही करें। विजिट में यह तथ्य भी उजागर हुआ कि सुबह 12.15 बजे तक आंगनबाड़ी में आये बच्चों को नाश्ता नहीं मिला हुआ था। इस पर प्राथमिक शाला किचिन शैड में बन रहे नाश्ते के विषय में जानकारी लेने कलेक्टर प्राथमिक शाला पहुंचे। जहां पर बच्चों के नाश्ते में विलंब पर सीईओ जनपद को स्वसहायता समूह के एक दिन की राशि काटने के निर्देश कलेक्टर ने दिये।
            दुर्जनपुर में मुकंदी कोल, कल्लू बाई का प्रधानमंत्री आवास भी कलेक्टर ने देखा। सीसी रोड और तालाब घाट के कार्य गुणवत्तापूर्ण होने पर उसकी सराहना भी उन्होने की। प्राथमिक शाला में एक शिक्षक एस0एल0 रौतेल की ड्यूटी, विधानसभा ड्यूटी में लगाये जाने की बात सामने आई। जिस पर बीआरसी को ड्यूटी से मुक्त करते हुये स्कूल में भेजकर एस0एल0 रौतेल से अध्यापन कार्य कराने के निर्देश कलेक्टर ने दिये।
            चरी ग्राम पंचायत में स्वच्छता प्रेरक शकुन बाई पटेल के घर भी कलेक्टर पहुंचे। जहां उन्होने उसके परिवार से मुलाकात की। इस दौरान शकुन बाई को गांव में स्वच्छता और नशामुक्ति के प्रति जागरुकता लाने के लिये विभिन्न गतिविधियॉं संचालित करने के लिये प्रेरित भी उन्होने किया। उल्लेखनीय है कि चरी ग्राम पंचायत को खुले में शौचमुक्त करने के लिये शकुन बाई द्वारा अथक प्रयास किये गये हैं। शकुन बाई ने मॉर्निंग फॉलोअप से लेकर लगातार ग्रामवासियों को शौचालय बनाने के लिये प्रेरित किया था। इस पर महिला सशक्तिकरण सम्मेलन में उन्हें सम्मानित भी किया गया था।
            प्रधानमंत्री आवास, सीसी रोड और मनरेगा के अंतर्गत बनाई जा रही एक किलोमीटर लंबी सुदूर ग्राम सड़क के कार्य का जायजा भी चरी में दौरे में कलेक्टर ने लिया। उन्होने सचिव, जीआरएस और उपयंत्री को गुणवत्तापूर्ण कार्य कराने के निर्देश दिये।
            इसके बाद जिले के दूरस्थ ग्राम खिरवा-2 और जमुवानीकलां भी पहुंचकर व्यवस्थायें कलेक्टर ने देखीं। उन्होने खिरवा-2 में प्राथमिक शाला, माध्यमिक शाला और हाई स्कूल का निरीक्षण किया। आंगनबाड़ी में भी रिकॉर्ड की जांच उन्होने की। जिसमें रिकॉर्ड अपडेट मिलने पर कार्यकर्ता और सहायिका का सराहना की। गांव में गर्भवती महिला सुमन चौधरी के घर भी आंगनबाड़ी कार्यकता के साथ कलेक्टर पहुंचे। जहां गर्भधात्री महिलाओं को दिये जाने वाले पोषण आहार की जानकारी भी सुमन चौधरी से उन्होने ली और एएनसी हो रही है या नहीं, इस विषय में भी जाना।
            जमुवानीकलां में पीआईयू द्वारा बनाये जा रहे हाई स्कूल की गुणवत्ता की जांच भी कलेक्टर ने की। सीसी रोड निर्माण के समय वायब्रेटर चलाने के निर्देश भी उन्होने दिये। हीरालाल कोल और कन्छेदी कोल के प्रधानमंत्री आवास का निरीक्षण भी कलेक्टर ने किया। इस दौरान हाई स्कूल जमुवानीकलां में पहुंचकर ज्ञानसेतु प्रोजेक्ट की व्यवस्थायें भी कलेक्टर ने देखीं। विजिट के समय जब कलेक्टर हाई स्कूल पहुंचे, तब कक्षा 9वीं के विद्यार्थी ज्ञानसेतु प्रोजेक्ट से विज्ञान पढ़ रहे थे। विद्यार्थियों के साथ बैठकर श्री गढ़पाले ने भी क्लास अटेन्ड की और विद्यार्थियों से संवाद कर इसके लिये फीडबैक भी लिया।



Wednesday, November 15, 2017

कोई भी व्यक्ति 125 रुपए प्रति घनमीटर की दर से रेत प्राप्त कर सकेगा, मंत्रि-परिषद का निर्णय

कटनी / भोपाल में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में नवीन रेत खनन नीति 2017 को प्रदेश में लागू करने का निर्णय लिया गया। इस निर्णय के बाद प्रदेश में वर्तमान में सभी असंचालित रेत खदानें ग्राम पंचायतों/नगरीय निकायों के नियंत्रण में होंगी। इन रेत खदानों से कोई भी व्यक्ति 125 रुपए प्रति घनमीटर की दर से भुगतान करने के बाद रेत खनिज प्राप्त कर सकेगा।यह बैठक  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी.
 ग्राम पंचायतों/स्थानीय निकायों द्वारा इन खदानों का संचालन  किया जाएगा। खदानों का कोई ठेका नहीं दिया जाएगा। इन खनिजों से प्राप्त रॉयल्टी में से 50 प्रतिशत राशि ग्राम पंचायत/स्थानीय निकाय को प्राप्त होगी। इसका उपयोग पंचायतों/स्थानीय निकायों द्वारा खदान संचालन के व्यय तथा राज्य शासन द्वारा दिये गये निर्देशानुसार किया जा सकेगा। शेष 50 प्रतिशत राशि जिला खनिज प्रतिष्ठान को दी जाएगी। इसका उपयोग सड़क निर्माण एवं नदी संरक्षण में किया जाएगा।
रेत परिवहन के लिए अभिवहन पारपत्र जारी करने की व्यवस्था समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। रेत खनिज परिवहन करने वाले वाहनों की अनावश्यक चैकिंग नहीं की जाएगी। रेत खनिज प्राप्त करने के लिए राशि का भुगतान ऑन लाइन होगा। राशि जमा होने पर रेत उठाने के लिए उपभोक्ता को ऑन लाइन इंडेंड जारी होगा। इसके आधार पर उपभोक्ता चार घंटे की समयावधि में संबंधित खदान से रेत उठा सकेगा। इससे व्यक्तियों का अनावश्यक हस्तक्षेप नहीं रहेगा। रेत परिवहन करने के लिए वाहनों का चयन स्वयं उपभोक्ता कर सकेगा। वाहन क्रमांक की ऑन लाइन सूचना दर्ज करायी जाना होगी ताकि गंतव्य तक रेत पहुंचाने की व्यवस्था सुनिश्चित हो सके।
ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि कार्यों के लिए पंजीकृत वाहनों को रेत परिवहन करने के लिए छूट देने का निर्णय लिया गया है।

Monday, November 13, 2017

‘न्याय सबके लिए’ पर निबंध प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

कटनी / राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर 9 नवंबर से प्रारंभ हुये कनेक्टिंग टू सर्व राष्ट्रव्यापी राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत विभिन्न  गतिविधियॉं  जिला एवं सत्र न्यायाधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनिल महोनिया के मार्गदर्शन में एवं भूपेन्द्र नकवाल सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सहयोग से आयोजित की जा रहीं हैं।
            जिला विधिक सेवा अधिकारी प्रियंका सुमन ने जानकारी में बताया कि सोमवार को निबंध प्रतियोगिता मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूल, जिला न्यायालय परिसर के पीछे झिंझरी में आयोजित हुई। जिसमें में स्कूल के कक्षा 9 से 12वीं तक 57 बच्चों ने भाग लिया। निबंध प्रतियोगिता का विषय ‘न्याय सबके लिए’ था.
प्रतियोगिता को सफल बनाये जाने हेतु स्कूल के प्राचार्य, जिला विधिक सहायता अधिकारी प्रियंका सुमन उपस्थित रहे। निबंध प्रतियोगिता को सुचारू रूप से आयोजित कराने हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कटनी के पैरालीगल वालेटियर्स प्रीति सेन, आराधना तिवारी एवं अधिवक्ता मीना बघेल तथा जिला प्राधिकरण की ओर से हृदयराज मेहरा भी मौजूद रहे।

Sunday, November 12, 2017

दाल मिलर्स और माधवनगर में पट्टे की समस्या का होगा समाधान, 645 करोड़ से अधिक के कार्यों का किया लोकार्पण और भूमिपूजन

कटनी /  50 करोड़ की लागत से अंतर्राज्यीय बस स्टेंड का निर्माण कराया जायेगा। यह घोषणा मध्यप्रदेश विकास यात्रा के दूसरे पड़ाव में कटनी पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की। उन्होने कहा कि कटनी जिले के सम्पूर्ण विकास के लिये हर संभव कार्य किये जायेंगे। स्लीमनाबाद में शीघ्र ही तहसील प्रारंभ कराने की बात भी मंच से मुख्यमंत्री ने कही। इस दौरान प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संजय सत्येन्द्र पाठक भी मौजूद रहे।
मुख्यमंत्री ने कटनी के दाल उद्योग को संकट से उबारने के लिये हर संभव प्रयास करने की बात कही। स्थानीय विधायक की मांग पर सीएम ने कहा कि, माधवनगर निवासियों के पट्टों की समस्या का समाधान किया जायेगा। वहीं राज्यमंत्री की मांग पर उन्होने कहा कि कटनी के माधव नगर क्षेत्र को सिंधी तीर्थ क्षेत्र घोषित किये जाने की कार्यवाही की जायेगी। शासकीय कन्या महाविद्यालय के लिये शानदान भवन बनाने की घोषणा भी मुख्यमंत्री ने की। कटनी को एक और सौगात देते हुये 2 करोड़ 56 लाख की लागत से सर्व-सुविधायुक्त ऑडिटोरियम बनाने की स्वीकृति भी सीएम द्वारा दी गई। मुड़वारा विधायक संदीप जायसवाल की मांग पर कटनी में 20 करोड़ की लागत से 200 सीटर नर्सिंग महाविद्यालय की स्थापना करने घोषणा भी मुख्यमंत्री ने की। साथ ही जिले के युवाओं के लिये एक और बड़ा उपहार देते हुये शासकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में सांयकालीन क्लासेस प्रारंभ कराने की स्वीकृति भी विकास यात्रा में मुख्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने दी। उल्लेखनीय है कि अब तक पॉलिटेक्निक कॉलेज में कम्प्यूटर साइंस एवं इंजीनियरिंग तथा मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच में त्रिवर्षीय डिप्व्लोमा कार्यक्रम सत्र 2010-11 से संचालित है। सांयकालीन पार्ट टाईम डिप्लोमा कोर्स जोकि 4 वर्ष का होगा, इन ब्रांचों में शासन स्तर पर स्वीकृति के बाद ही संचालित किया जा सकता था। इसके लिये लगभग 50 लाख रुपये प्रतिवर्ष प्रति ब्रांच शासन को खर्च करने होंगे। इसकी स्वीकृति सीएम ने दी है।
कटनी शहर को एक और रिंगरोड की बड़ी सौगात भी मुख्यमंत्री के विकास यात्रा के दौरान मिली। स्थानीय विधायक  और महापौर की मांग पर मुख्यमंत्री ने कटनी शहडोल राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 78 से जबलपुर राष्ट्रीय राजगमार्ग क्रमांक 7 को जोड़ने के लिये रिंगरोड के निर्माण कार्य की घोषणा की। इसका निर्माण लगभग 81 करोड़ रुपये की राशि से कराया जायेगा। 10 करोड़ रुपये की लागत से पुरानी कचहरी स्थल में शहर में बढ़ रहे यातायात के दबाव के मद्धेनजर मल्टीलेवल पार्किंग निर्माण कार्य कराने की बात भी मुख्यमंत्री ने कही।
उन्होने जिला चिकित्सालय को 16 करोड़ से अधिक की लागत से 150 बिस्तरों की क्षमता से अपग्रेड करने की भी घोषणा की। इसके साथ ही महापौर शशांक श्रीवास्तव की मांग पर कटनी शहर के मध्य में स्थित चांडक चौक से जुहला रपटा तक सड़क चौड़ीकरण करते हुये मॉडल रोड निर्माण कार्य की सौगात भी मंच से सीएम ने दी।
अपना मन्तव्य स्पष्ट करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानों की हर तकलीफ में राज्य सरकार उनके साथ है। भावान्तर योजना सतत् रुप से चलेगी। एैसी योजना को प्रारंभ करने में कोई भी आगे नहीं आ रहा था। हमने इसे प्रारंभ किया है। प्रदेश में चरण पादुका योजना के तहत प्रत्येक गरीब के पांव में पादुका पहनवाने की बात भी मुख्यमंत्री ने कही। उन्होने कहा कि पूरे प्रदेश में कोई भी नंगे पांव नहीं रहेगा। पीने के पानी की कुप्पी भी तेन्दू पत्ता और महुआ संग्रहण करने वालों को वितरित की जायेंगी। आदमी, आदमी को ढ़ोये, आज के दौर में यह अच्छा नहीं है, इसलिये साईकिल रिक्शा वालों को धीरे धीरे ई-रिक्शा का मालिक हम बनायेंगे। प्रदेश में प्रत्येक भूमिहीन को जमीन का पट्टा भी दिलाया जायेगा। इसके लिये सूची तैयार करने की बात भी मुख्यमंत्री ने कही।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि अविवादित नामांतरण, अविवादित बंटवारा के निराकरण के लिये अभियान चलाया जा रहा है। राजस्व विभाग को दी गई समय-सीमा पूरी होने जा रही है। यदि इसके बाद कोई भी पात्र हितग्राही बचता है, तो प्रकरण पेंडिंग रखने वाले अधिकारी और कर्मचारी पर एक लाख रुपये की जुर्माना लगाया जायेगा।
बेटियों के लिये खुशखबरी देते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि अध्यापकों की नौकरी में 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदेश की बेटियों का होगा। साथ ही अन्य सभी विभागों की नौकरी के लिये 33 प्रतिशत का आरक्षण हमने अपनी लाडलियों का किया है। अपनी बात दोहराते हुये उन्होने कहा कि हमारा उद्धेश्य बेटी बचाना भी है और बेटी पढ़ाना भी है। बेटियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को हम नहीं छोड़ेंगे। इस शीत कालीन सत्र में राज्य सरकार जनसुरक्षा विधेयक लेकर आ रही है। जिसे हम कानून बनाने के लिये राष्ट्रपति महोदय को भेजेंगे। जिसमें मासूम बेटी से दुराचार करने वाले व्यक्ति को फांसी का प्रावधान होगा। इसके लिये जनसहयोग का आव्हान भी मुख्यमंत्री ने मंच से किया।
कार्यक्रम में उपस्थित वृहद् जनसमुदाय को सपनों का मध्यप्रदेश बनाने के लिये अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने का संकल्प भी मुख्यमंत्री ने दिलाया। उन्होने कहा कि हमारा उद्धेश्य, मध्यप्रदेश को भारत ही नहीं सम्पूर्ण विश्व में सबसे समृद्ध और सबसे विकासित राज्य बनाने का है। यह कार्य महज मुझसे नहीं होगा, इसमें जन-जन की सहभागिता जरुरी है। इसलिये आप सभी स्वर्णिम मध्यप्रदेश के निर्माण का संकल्प लें। उपस्थित जनसमुदाय में जिनके पास मोबाईल थे उनकी फ्लैश लाईट और हाथ ऊपर करवाकर यह संकल्प मुख्यमंत्री ने सभी को दिलाया।



जिले को दी 645 करोड़ से अधिक की सौगात
विकास यात्रा के दूसरे पड़ाव में कटनी पहुंचे रहे मुख्यमंत्री ने इस दौरान कटनी जिले को 645 करोड़ रुपये से अधिक राशि के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होने कार्यक्रम में 645 करोड़ 83 लाख 68 हजार रुपये की राशि के 5 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इसमें नगर पालिका निगम कटनी के 322 करोड़ 99 लाख रुपये के विकास कार्यों का भूमिपूजन मुख्यमंत्री  द्वारा किया गया। साथ ही लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग द्वारा बड़वारा विधानसभा क्षेत्र में बनाये जाने वाले महगवां-बीजानपुरी मार्ग में महानदी पर उच्चस्तरीय पुल के निर्माण का भूमिपूजन भी सीएम ने किया। यह पुल 10 करोड़ 13 लाख 68 हजार रुपये की लागत से बनेगा। मुख्यमंत्री  द्वारा मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम लिमिटेड द्वारा 194 करोड़ 6 लाख रुपये की लागत से बनाये गये स्लीमनाबाद से विलायतकलां मार्ग और 118 करोड़ 65 लाख रुपये की लागत से बनाये गये कटनी विजयराघवगढ़़ मार्ग का भी विधिवत् लोकार्पण मुख्य समारोह में किया।
विभिन्न हितग्राहियों को किया लाभान्वित
            मुख्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने मंच से ही लाडली लक्ष्मी योजना, मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, सहकारिता नवाचार, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, सामाजिक एकजुटता एवं सस्थागत विकासघटक जैसी विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ वितरित किया।
यह रहे मौजूद
            होमगार्ड ग्राउंड में आयोजित विकास यात्रा के मुख्य कार्यक्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष एवं जिला योजना समिति के सदस्य पीताम्बर टोपनानी ने भी अपनी बात रखी। इस दौरान सांसद खजुराहो नागेन्द्र सिंह, सांसद शहडोल ज्ञान सिंह, विधायक बड़वारा मोती कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, प्रदेश की समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती पद्मा शुक्ला, केडीए अध्यक्ष ध्रुव प्रताप सिंह, नगर निगम अध्यक्ष  संतोष शुक्ला, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  अशोक विश्वकर्मा, अध्यक्ष कृषि उपज मण्डी संतोष राय और जनपद पंचायत अध्यक्ष कन्हैया तिवारी, कैमोर नगर परिषद् अध्यक्ष  गणेश राव, विजयराघवगढ़ नगर परिषद् अध्यक्ष राकेश गुप्ता, बरही नगर परिषद् अध्यक्ष श्रीमती सरस्वती तिवारी भी मौजूद रहे। वहीं प्रमुख सचिव नगरीय विकास विभाग  विवेक अग्रवाल, संभागायुक्त  गुलशन बामरा, डीआईजी जबलपुर रेन्ज अनन्त सिंह, कलेक्टर विशेष गढ़पाले, पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह और जिला पंचायत सीईओ  फ्रेंक नोबल ए भी उपस्थित रहे।

Saturday, November 11, 2017

कटनी जिले को 645 करोड़ रुपये के विकास कार्य देने आएंगे मुख्यमंत्री

कटनी / मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विकास यात्रा में शामिल होने के लिये रविवार को कटनी पहुंचेंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री सुबह 11.15 बजे भोपाल से हेलीकॉप्टर से रवाना होकर 12.30 बजे पुलिस लाईन में स्थित हैलिपैड पर आयेंगे। जहां उनकी अगवानी की जायेगी। विकास यात्रा के दूसरे पड़ाव में कटनी पहुंच रहे मुख्यमंत्री इस दौरान कटनी जिले को 645 करोड़ रुपये से अधिक राशि के विकास कार्यों की सौगात भी देंगे। विकास यात्रा के तहत आयोजित कार्यक्रम में 645 करोड़ 83 लाख 68 हजार रुपये की राशि के 5 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया जायेगा।
            इसमें नगर पालिका निगम कटनी के 322 करोड़ 99 लाख रुपये के विकास कार्यों का भूमिपूजन मुख्यमंत्री द्वारा किया जायेगा। साथ ही लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग द्वारा बड़वारा विधानसभा क्षेत्र में बनाये जाने वाले महगवां-बीजानपुरी मार्ग में महानदी पर उच्चस्तरीय पुल के निर्माण का भूमिपूजन भी सीएम करेंगे। यह पुल 10 करोड़ 13 लाख 68 हजार रुपये की लागत से बनेगा। मुख्यमंत्री द्वारा मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम लिमिटेड द्वारा 194 करोड़ 6 लाख रुपये की लागत से बनाये गये स्लीमनाबाद से विलायतकलां मार्ग और 118 करोड़ 65 लाख रुपये की लागत से बनाये गये कटनी विजयराघवगढ़़ मार्ग का भी विधिवत् लोकार्पण मुख्य समारोह में किया जायेगा।
            होमगार्ड ग्राउंड में सुबह 11 बजे से आयोजित विकास यात्रा के मुख्य कार्यक्रम में प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक, सांसद खजुराहो नागेन्द्र सिंह, सांसद शहडोल ज्ञान सिंह, विधायक मुड़वारा संदीप जायसवाल, विधायक बड़वारा मोती कश्यप, विधायक बहोरीबंद  सौरभ सिंह, महापौर शशांक श्रीवास्तव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, प्रदेश की समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती पद्मा शुक्ला, केडीए अध्यक्ष ध्रुव प्रताप सिंह, सदस्य जिला योजना समिति  पीताम्बर टोपनानी, नगर निगम अध्यक्ष  संतोष शुक्ला, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  अशोक विश्वकर्मा, अध्यक्ष कृषि उपज मण्डी संतोष राय और जनपद पंचायत अध्यक्ष कन्हैया तिवारी भी शामिल होंगे।

Friday, November 10, 2017

आर्मी में भर्ती के लिये ले रहे बढ़ चढकर हिस्सा

कटनी / आर्मी भर्ती रैली के पहले दिन कटनी और उमरिया जिले के 346 प्रतिभागियों का चयन दौड़ के बाद हुआ था। इनमें से कटनी जिले के 171 प्रतिभागी और उमरिया जिले के 26 प्रतिभागी अन्य चरणों को क्लियर करते हुये लिखित परीक्षा के लिये चयनित हुये हैं। शुक्रवार को आर्मी भर्ती रैली के दूसरे दिन मंडला और सीधी जिले के युवा प्रतिभागियों ने रैली में बढ़ चढकर हिस्सा लिया। उल्लेखनीय है कि झिंझरी स्थित खेल परिसर में आयोजित आर्मी भर्ती रैली 18 नवंबर तक चलेगी। जिसमें ऑनलाईन पंजीयन करा चुके लगभग 49 हजार प्रतिभागी शामिल होंगे।
            दूसरे दिन की भर्ती रैली में शामिल होने के लिये मंडला और सीधी जिले के लगभग 4 हजार 7 सौ 39 युवाओं ने अपना ऑनलाईन पंजीयन कराया था। इसमें से गुरुवार 9 नवंबर को कुल 3 हजार 3 सौ 41 प्रतिभागी इस रैली में शामिल हुये। इन प्रतिभागियों में से फर्स्ट राउंड में आयोजित दौड़ में 380 प्रतिभागियों का चयन अगले राउंड्स के लिये किया गया।
            काबिलेगौर है कि आर्मी भर्ती रैली के लिये जिलेवार कैलेंडर तैयार कर जारी किया गया है। जिसके अनुसार आर्मी भर्ती रैली के तीसरेे दिन 11 नवंबर को डिंडौरी और जबलपुर, 12 नवंबर को बालाघाट और अनूपपुर, 13 नवंबर को शहडोल, सिंगरौली और नरसिंहपुर, 14 नवंबर को रीवा और सिवनी, 15 और 16 नवंबर को रीवा, 17 और 18 नवंबर को सतना जिले के प्रतिभागी इस रैली में शामिल होंगे।
            सेना भर्ती मुख्यालय जबलपुर द्वारा कटनी में आयोजित सेना भर्ती में सैनिक सामान्य ड्यूटी (मेट्रिक), सैनिक लिपिक एवं स्टोर कीपर, ट्रेड्समेन, सैनिक नर्सिंग सहायक एवं सैनिक तकनीकी के पद के लिए युवाओं की भर्ती की जा रही है। भर्ती में शामिल होने के इच्छुक युवाओं को ऑनलाईन आवेदन के पंजीकरण के बाद आवेदकों को निर्धारित तिथि एवं समय पर एडमिट कार्ड और अन्य दस्तावेजों के साथ भर्ती स्थल पर उपस्थित होना होगा।



Thursday, November 09, 2017

चिकित्सक जिम्मेदारी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें, जिला चिकित्सालय में होगा ई-हॉस्पिटल सॉफ्टवेयर का इम्प्लीमेन्ट

कटनी / जिला चिकित्सालय में शीघ्र ही एनआईसी द्वारा डेव्हलप ई-हॉस्पिटल सॉफ्टवेयर का इम्प्लीमेन्ट किया जायेगा। यह जानकारी जिला चिकित्सालय की समीक्षा बैठक में सिविल सर्जन ने दी। जिस पर कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने डीआईओ प्रफुल्ल श्रीवास्तव को प्राथमिकता पर यह कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये। समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने 12 नवंबर को मुख्यमंत्री की विकास यात्रा के दौरान कार्यक्रम स्थल पर स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने के लिये सीएमएचओ और सिविल सर्जन को निर्देशित किया। उन्होने कहा कि इस दौरान मेडिकल बोर्ड भी स्वास्थ्य शिविर में बैठायें। ताकि दूर दराज से आने वाले लोगों को उसका लाभ मिल सके।
      बैठक में जिला चिकित्सालय में चल रही गतिविधियों की जानकारी भी सिविल सर्जन ने दी। उन्होने बताया कि पीडब्ल्यूडी द्वारा जिला चिकित्सालय का रंग रोंगन प्रारंभ कर दिया गया है। अस्पताल द्वारा पलंग एवं लॉकर की पेंटिंग का कार्य हो रहा है। 60 गद्दों की रेग्जीन चेन्ज की जा चुकी है। अन्य कार्य किये जा रहे हैं।
      इस दौरान सीएमएचओ ने भी जिला चिकित्सालय की अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी दी। इस पर कलेक्टर ने व्यवस्थायें दुरुस्त रखने के निर्देश उपस्थित डॉक्टर्स को दिये। उन्होने कहा कि चिकित्सक जिम्मेदारी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें और मरीजों का उपचार करें।

Wednesday, November 08, 2017

समाज के कमजोर वर्ग के नागरिकों को कानूनी सहायता की जानकारी के लिए 9 नवम्बर को बाईक रैली

कटनी/ राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर 9 नवंबर गुरुवार को विधिक सेवा दिवस से 10 दिवसीय राष्ट्रव्यापी अभियान ’कनेक्टिंग टू सर्व’ चलाया जा रहा है। जिला न्यायधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में यह अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इस अभियान का मुख्य उद्धेश्य समाज के कमजोर वर्ग के नागरिकों को विधिक सहायता, लीगल सर्विसेस क्लीनिक आदि की जानकारी से अवगत कराना है। जिला विधिक सेवा अधिकारी प्रियंका सुमन ने जानकारी देते हुये बताया कि इस अभियान के तहत गुरुवार 9 नवंबर को सुबह 11 बजे से बाईक रैली का आयोजन होगा। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैरालीगल वॉलेन्टियर्स इस रैली में शामिल होंगे, जिसे जिला न्यायधीश हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। यह रैली न्यायालय परिसर से प्रारंभ होकर मिशिन चौन, कोतवाली, सुभाष चौक, रेल्वे स्टेशन, झंडा बाजार, चांडक चौक होते हुये वापस जिला न्यायालय परिसर में समाप्त होगी। 10 नवंबर को पुलिस स्टेशन, न्यायालय परिसर, जिला एवं पंचायत कार्यालय, स्कूल एवं कॉलेजों में प्रसार प्रसार किया जायेगा। 11 नवंबर को विधिक साक्षरता शिविर, 12 नवंबर को डोर-टू-डोर प्रचार प्रसार करने की जानकारी दी गई। जिसमें पैरालीगल वॉलियंटियर्स द्वारा दूर दराज के इलाकों एवं मलीन बस्तियों में पहुंचकर लोगों को जागरुक किया जायेगा। 13 और 14 नवंबर को निंबंध लेखन, स्पॉट पेंटिग और नुक्कड़ नाटक के आयोजन की जानकारी दी गई। 15 से 18 नवंबर तक हेल्पडेस्क जिला न्यायालय परिसर में किये जाने की जानकारी भी इस दौरान बैठक में दी गई।

Tuesday, November 07, 2017

सुरम्य पार्क सहित तीन पार्क हो रहे विकसित,10 दिसंबर कों साईकल रैली

कटनी /- जागृति पार्क में पेवर ब्लॉक्स लगवाये जायेंगे। यह बात मंगलवार को आयोजित पर्यावरण संधारण समिति की बैठक में महापौर शशांक श्रीवास्तव ने कही। उन्होने कहा कि नगर निगम द्वारा सुरम्य पार्क सहित तीन पार्क विकसित किये जा रहे हैं। ताकि शहरवासियों को घूमने-फिरने के लिये अच्छे स्थान उपलब्ध हो सकें। पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती साईकल रैली के आयोजन का विषय भी समिति सदस्यों द्वारा रखा गया। जिस पर बैठक में 10 दिसंबर को साईकल रैली का आयोजन करने का निर्णय भी लिया गया। जिस पर कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने खेल अधिकारी को इसकी तैयारियॉं प्रारंभ करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि इसमें शामिल होने प्रतिभाािगयों का पंजीयन करायें। पर्यावरण संधारण समिति की बैठक में शहर में एक साईकल ट्रैक डेव्हलप करने पर भी समिति ने चर्चा की। जिस पर नगर निगम आयुक्त ने इस दिशा में कार्य करने की बात कही।
इसके पर्वू बैठक में समीक्षा करते हुये कलेक्टर ने पूर्व बैठक के पालन प्रतिवेदन का फॉलोअप लिया। साथ ही पेवर ब्लॉक का कार्य शीघ्र कराने के निर्देश दिये। साथ ही साईंस पार्क में हो रहे कार्यों का रिव्यू भी कलेक्टर ने किया। उन्होने कहा कि वहां शेष कार्य शीघ्र ही पूरा करें।
इस दौरान बैठक में आयुक्त नगर निगम संजय जैन सहित समिति सदस्य मौजूद थे।

Monday, November 06, 2017

बच्चों के सर्वागीण विकास पर केन्द्रित रहा वार्षिक खेलकूद एवं आनन्द उत्सव सप्ताह

 कटनी/। स्थानीय शिकागो पब्लिक स्कूल में वार्षिक खेलकूद सप्ताह एवं आनन्द उत्सव संपन्न हुआ। सप्ताह भर के आयोजन में विभिन्न खेलकूद प्रतियोगताए, खिलौना बनाना, रंगोली बनाना, गीत संगीत, नृत्य एवं अन्य विधाओं में शाला के विघार्थियो ने भागीदारी की। सप्ताह के अंतिम तीन दिनों में विद्यार्थियों ने विभिन्न क्षेत्रो में अपनी प्रतिभा का सुन्दर प्रदर्शन किया।
आनंद उत्सव का निर्देशन वरिष्ठ गाॅधीवादी कार्यकर्ता विभिन्न राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्मानों से अलंकृत डा.एस.एन सुब्बाराव द्वारा किया गया। 88 वर्षीय डा0 सुब्बाराव स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रहे है एवं उन्होनें अपना पूरा जीवन राष्ट्रीय एकता, अहिंसा एवं सदभावना के लिए सर्मपित किया है। 14 अप्रेल 1972 में उनके प्रयासो से चम्बल क्षेत्र के 646 खतरनाक डाकूओं ने आत्मसर्मपण किया एवं चम्बल घाटी डाकूओं के आतंक के साये से मुक्त हो पाई। सुब्बाराव जी बच्चों एवं युवाओं के साथ काम करना पसंद करते है। कार्यक्रम में पाॅचवे दिन दादा-दादी दिवस का आयोजन किया गया जिसमे चन्दूलाल कोरी कबीरपंथी द्वारा ‘‘कबीर-वाणी‘‘ गायन की सुन्दर प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम के अंतिम दिवस पर विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया एवं सांस्कृतिक प्रस्तुतियाॅ दी गई। जिसमें नरेन्द्र बड़गावकर द्वारा निर्देशित ‘‘भारत की संतान‘‘ कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई जिसमें 18 भारतीय भाषाओं में डा.एस.एन सुब्बाराव द्वारा गायन के साथ उस भाषाभाषी क्षेत्र के पारम्परिक पोषाक में वहाॅ का नृत्य प्रस्तुत किया गया। उपस्थित जनसमूह द्वारा इस प्रस्तुति का विशेष  रुप से सराहा गयां।
कार्यक्रम का विशेष आर्कषण बहुमुखी प्रतिभा के धनी कलाकार सुरेन्द्र राजन उर्फ काकू की उपस्थिति रही। काकू जी चित्रकार, मूर्तिकार एवं अन्तराष्ट्र्रीय स्तर के फोटोग्राफर हैं। उन्होने 100 से भी अधिक फिल्मों मे काम किया है जिसमें उन्होने 12 फिल्मों मे महात्मा गाॅधी का रोल किया है।
कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों, समाजसेवी एवं अधिकारियों के साथ-साथ क्षेत्र के सम्मानित नागरिकों, अभिभावकों एवं बच्चों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। सप्ताह भर चले उत्सव में शिकागो शाला के स्टाफ का सक्रीय योगदान रहा।


आर्मी भर्ती रैली 9 नवंबर से 18 नवंबर तक कटनी में होगी आयोजित

कटनी / जिले में 9 नवंबर से 18 नवंबर तक आर्मी भर्ती रैली का आयोजन होने जा रहा है, जिसकी तैयारियॉं अंतिम चरण पर है। आमी भर्ती रैली की तैयारियों के मद्धेनजर सोमवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने आयोजन स्थल झिंझरी खेल मैदान पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही 8 नवंबर तक रैली की सभी तैयारियॉं पूरी कर लेने के स्पष्ट निर्देश दिये। सेना अधिकारियों द्वारा आर्मी भर्ती रैली से जुड़ी अन्य जानकारियॉं भी दीं गईं। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल भी मौजूद थे।
            सेना भर्ती मुख्यालय जबलपुर से आये अधिकारियों द्वारा बताया गया कि कटनी में आयोजित भर्ती रैली में 14 जिलों के युवा जिन्होने पंजीयन कराया है, वे शामिल होंगे। प्रत्येक दिन पॉंच हजार आवेदक भर्ती रैली में हिस्सा लेंगे। आर्मी रैली के लिये जिलेवार कैलेंडर तैयार किया जा चुका है। जिसके अनुसार आर्मी भर्ती रैली के पहले दिन 9 नवंबर को कटनी और उमरिया जिले के प्रतिभागी रैली में शामिल होंगे। 10 नवंबर को मंडला और सीधी जिले के प्रतिभागी शामिल होंगे। 11 नवंबर को डिंडौरी और जबलपुर जिले के प्रतिभागी, 12 नवंबर को बालाघाट और अनूपपुर, 13 नवंबर को शहडोल, सिंगरौली और नरसिंहपुर, 14 नवंबर को रीवा और सिवनी, 15 और 16 नवंबर को रीवा, 17 और 18 नवंबर को सतना जिले के प्रतिभागी इस रैली में शामिल हो सकेंगे।
            सेना भर्ती मुख्यालय जबलपुर द्वारा कटनी में आयोजित सेना भर्ती में सैनिक सामान्य ड्यूटी (मेट्रिक), सैनिक लिपिक एवं स्टोर कीपर, ट्रेड्समेन, सैनिक नर्सिंग सहायक एवं सैनिक तकनीकी के पद के लिए युवाओं की भर्ती की जायेगी। उन्होंने बताया कि भर्ती में उपरोक्त जिलों के युवा ही भाग ले सकेंगे। भर्ती में शामिल होने के इच्छुक युवाओं को ऑनलाईन आवेदन के पंजीकरण के बाद आवेदकों को निर्धारित तिथि एवं समय पर एडमिट कार्ड और अन्य दस्तावेजों के साथ भर्ती स्थल पर उपस्थित होना होगा।
            इस दौरान नगर निगम आयुक्त संजय जैन, एसडीएम राजेन्द्र पटेल सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Saturday, November 04, 2017

गंदगी देखकर विरोध स्वरुप केडीए ने की सफाई की गांधीगिरी

कटनी/  फोरेस्टर प्ले ग्राउंड बैडमिंटन हॉल की गंदगी को देखकर इसके विरोध स्वरुप गांधीगिरी करते हुए टीम के डी ए के सदस्यों  ने इस स्थान पर झाड़ू लगा कर सफाई की.

सफाई करने के साथ ही सबने निर्णय लिया है कि यदि पार्क की यही स्थिति रही तो वें स्वयं ही पूरा पार्क अपने तन मन धन एवं सेवा दान के माध्यम से पुताई करने को तैयार है। टीम के डी ए का कहना है कि खेल विभाग और नगर निगम में एक ही पार्टी की सरकार है इसलिए यहाँ को लेकर आपसी सामंजस्य से समझदारी से निर्णय किया जाए जिससे बैडमिंटन ग्राउंड ओर फोरेस्टर खेल मैदान की सफाई  सुनिश्चित हो सके. इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सुयश पुरवार शिव कुमार साहू टीनू सचदेवा कैलाश डोडानी रौनक खंडेलवाल विशाल प्रीतमानी  नीतेश जैन मिथलेश तोमर मधु सिंह विशेष सिंह अखिलेश पुरवार मनीष जसूजा अभिषेक अग्रवाल  दीपक मतानी  सतीश सोनी  आशु सोनी और रघु, गोपाल शर्मा  संगम जैसवाल, कनकने जी और नरेंद्र  की भी उपस्थिति रही.

Friday, November 03, 2017

गांधीवादी डॉक्टर एस एन सुब्बाराव ने भारत निर्माण कोचिंग के विद्यार्थियों से अपने अनुभव किये साझा

कटनी/- सुविख्यात समाजसेवी और गांधीवादी डॉक्टर एस एन सुब्बाराव जिला प्रशासन द्वारा संचालित निःशुल्क भारत निर्माण कोचिंग पहुंचे। उन्होने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों से संवाद किया और भारतीय संस्कृति की सुरक्षा, पर्यावरण की रक्षा और उसके संरक्षण व संवर्धन के प्रति प्रेरित किया। अपने उद्बोधन में बहुत सी प्रेरक बातें विमर्श के साथ उदाहरण सहित उपस्थित युवाओं के समक्ष डॉक्टर सुब्बाराव ने रखीं। देशहित के लिये सदैव तत्पर रहने की बात उन्होने की। डॉक्टर एस एन सुब्बाराव ने कहा कि युवाओं को सदैव देशहित में उठ खड़े होने की जरुरत है। वर्तमान परिदृश्य के कई उदाहरण भी उन्होने पेश किये। साथ ही अपने अनुभवों को विद्यार्थियों के साथ साझा किया।
            उललेखनीय है कि डॉक्टर सुब्बाराव का जन्म 7 फरवरी 1929 को कर्नाटक के बेंगलूर शहर में हुआ था। उनके पूर्वज तमिलनाडु में सेलम से आए थे। इसलिए उनका पूरा नाम सेलम नानजुदैया सुब्बाराव है। सुब्बराव एक ऐसे गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने गांधीवाद को अपने जीवन में पूर्णता से अपनाया है। पर उनका सारा जीवन खास तौर पर नौजवानों को राष्ट्रीयता, भारतीय संस्कृति, सर्वधर्म समभाव और सामाजिक उत्तरदायित्वों की ओर जोड़ने में बीता है। वे सही मायने में एक मोटिवेटर हैं। उनकी आवाज में जादू है। शास्त्रीय संगीत में सिद्ध हैं। कई भाषाओं में प्रेरक गीत गाते हैं। उनकी चेहरे में एक आभा मंडल है। कहते हैं कि, जो एक बार मिलता है उनका हो जाता है। उन्हें कभी भूल नहीं पाता। कई पीढि़यों के लाखों लोगों ने उनसे प्रेरणा ली है।
         
         सुब्बाराव जी का कोई स्थायी निवास नहीं है। सालों भर वे घूमते रहते हैं। देश के कोने कोने में राष्ट्रीय एकता व सांप्रदायिक सद्भावना के शिविर। उनके द्वारा स्थापित महात्मा गांधी सेवा आश्रम जौरा, मुरैना (मप्र) में ही जय प्रकाश नारायण के समक्ष माधो सिंह, मोहर सिंह सहित कई सौ डाकुओं ने आत्मसमर्पण किया था। सुब्बराव जी का आश्रम इन डाकुओं के परिजनों को रोजगार देने के लिए कई दशक से खादी और ग्रामोद्योग से जुड़ी परियोजनाएं चला रहा है। चबंल घाटी के कई गांवों में सुब्बराव जी की ओर दर्जनों शिविर लगाए गए जिसमें देश भर युवाओं ने आकर काम किया और समाज सेवा की प्रेरणा ली।

Thursday, November 02, 2017

स्वच्छता पर जनता की धारणा और संतुष्टि के हिसाब से सतत् काम करना होगा - नगरीय विकास मंत्री श्रीमती सिंह

कटनी / स्वच्छता अभियान के तहत होटल अरिन्दम में आयोजित कार्यशाला में प्रदेश की नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह, राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक शामिल हुये। स्वच्छता कार्यशाला में प्रदेश की विभिन्न नगर निगम का प्रतिनिधित्व करने वाले महापौरों ने भी शिरकत की।
         प्रदेश की नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि स्वच्छता राज्य और केन्द्र सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। स्वच्छता का बहुत बड़ा अर्थ है। लेकिन हमें जनता की धारणा और संतुष्टि के हिसाब से सतत् काम करना होगा। शहर की स्वच्छता के प्रति शहरवासियों का मानस तैयार होना अनिवार्य है। केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा स्वच्छता की दिशा में संचालित गतिविधियों के सार्थक परिणाम आ रहे हैं।
            स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 में प्रदेश की बड़ी उपलब्धि पर सभी संबंधितों की सराहना भी कार्यशाला में मंत्री श्रीमती सिंह ने की। उन्होने कहा कि स्वच्छता अभियान में कटनी ने भी अच्छा काम किया है। लगभग 10 लाख की आबादी वाले शहरों में देखा जाये, तो कटनी की स्थिति सातवीं है। सामुदायिक शौचालय के लिय सतत् कार्य हो रहे हैं। 44 करोड़ 50 लाख की राशि कटनी को जारी की गई है। इस माह 6 करोड़ 18 लाख रुपये की राशि भी हम कटनी को जारी करने जा रहे हैं। वर्ष 2018 में आयोजित स्वच्छता सर्वेक्षण में नगरीय निकायों में अधिक प्रतिद्धंता होने की बात भी नगरीय विकास मंत्री ने कही।
             जानकारी देते हुये मंत्री श्रीमती सिंह ने कहा कि प्रदेश में अमृत योजना के तहत चौंतीस जिलों में सीवर लाईन का काम हो रहा है। हमारे मुख्यमंत्री ने घर-घर शुद्ध पानी पहुंचाने की बात कही है। जिस दिशा में विभाग तेजी से काम कर रहा है।
             राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि महापौर अब महज शोभा की वस्तु नहीं है। महापौर पद अब विकास का प्रतीक बन गया है। उन्होने कहा कि पब्लिक जब तक नहीं चाहेगी, शहर तब तक साफ नहीं होगा।
          प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने भी अपनी बात रखी। उन्होने कहा कि यह कटनी के लिये सौभाग्य की बात है कि, प्रदेश के महापौरों की कॉन्फ्रेन्स यहां आयोजित हो रही है। मुझे उम्मीद है कि इस मेयर कॉन्फ्रेन्स से प्रदेश की सभी नगर निगमों को अग्रणी बनाने की बेहतर कार्य योजना बनेगी।
             भोपाल शहर के महापौर आलोक शर्मा ने भी कार्यशाला में अपनी बात रखी।
            खजुराहो संसदीय क्षेत्र से सांसद नागेन्द्र सिंह ने स्वच्छता के साथ ही विकास के लिये विजनरी प्लान बनाकर कार्य करने की बात कार्यशाला व महापौर सम्मेलन में कही। उन्होने सभी उपस्थित महापौरों से आज से तीस वर्ष को मद्धेनजर रखते हुये अपने शहर के विकास के लिये योजना बनाकर कार्य करने को कहा।
          कार्यशाला में वर्तमान स्थानीय विधायक व महापौर रह चुके संदीप जायसवाल ने  कहा कि नगर निगम के कचरा उठाने का समय निर्धारित है, तो अब हमें आम जनमानस के लिये भी कचरा फेंकने के लिये समय निर्धारित करने की जरुरत है। साथ ही उन्होन जनसंख्या नियंत्रण पर भी उचित प्लेटफॉमर्स पर बात करने का विषय उठाया।
            ग्वालियर से आये महापौर विजय नारायण सेजवलकर ने भी अपने अनुभव कार्यशाला में साझा किये। उन्होने कहा कि स्वच्छता का मुख्य बिन्दु आदतों में बद्लाव लाना है। इसके लिये हमें जनमानस को मानसिक रुप से तैयार करना होगा।
            इनके पूर्व महापौर शशांक श्रीवास्तव ने कहा कि हमारे कटनी में बहुत संभावनायें हैं। कटनी होलसेल का हब है। लॉजिस्टिक हब है। कटनी में संभावनायें अपार हैं। इस कार्यशाला के माध्यम से हमें मिलने वाले निष्कर्षों के साथ हम आगे बढ़ेंगे और कटनी को आगे लेकर जायेंगे।
            स्वच्छता कार्यशाला और महापौर सम्मेलन में भोपाल महापौर आलोक शर्मा, ग्वालियार महापौर विजय नारायण सेजवलकर, खण्डवा महापौर सुभाष कोठारी, बुरहानपुर महापौर अनिल भोसले, देवास महापौर सुभाष शर्मा, रीवा महापौर श्रीमती ममता गुप्ता, उज्जैन महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, सागर महापौर अनिल दबे, मुरैना महापौर अशोक अरगल और छिंदवाड़ा महापौर श्रीमती कान्ता सदारंग शामिल हुईं।
            कार्यशाला में नगर निगम अध्यक्ष संतोष शुक्ला, कटनी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष ध्रुव प्रताप सिंह, जिला योजना समिति के सदस्य पीताम्बर टोपनानी भी मंचासीन थे। इस दौरान पूर्व मंत्री श्रीमती अलका जैन, पूर्व विधायक गिरिराज किशोर पोद्धार एवं सुकीर्ति जैन, कलेक्टर विशेष गढ़पाले, नगर निगम आयुक्त संजय जैन, एमआईसी सदस्य और पार्षदगणों सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।


Wednesday, November 01, 2017

बिजली बिल एवं अन्‍य विधुत संबंधी समस्‍याओं के निराकरण की विधायक ने की समीक्षा

कटनी/ विधायक कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार मुडवारा विधायक संदीप जायसवाल द्वारा कार्यालय अधीक्षण यंत्री, शांतिनगर कटनी में बढे हुए बिजली बिल एवं अन्‍य विधुत संबंधी समस्‍याओं के निराकरण किये जाने संबंधी बिन्‍दुओं पर समीक्षा की गयी,  यह बैठक अधीक्षण यंत्री एस के मिश्रा, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण क्षेत्र कुचिया जी एवं कार्यपालन यंत्री शहर क्षेत्र पी.के. जैन की उपस्थिति में ली गयी, बैठक में विधुत संबंधी विभिन्‍न प्रकार की समस्‍याओं पर विस्‍तृत चर्चा कर समस्‍याओं का निराकरण संबंधी बिन्‍दु रखे गये जैसे :-
·       मीटर में रीडिंग अगर नही आ रही है तो जो एवरेज बिलिंग है वही बिल लगेगा,
·       जिनकी बिजली बिल राशि  पिछले तीन से छ: माह के बिल से अत्‍याधिक ज्‍यादा है और मीटर रीडिंग (बिल में उल्लिखित और वास्‍तविक) मिलान हो रही है तो यूनिट को ३ माह से 6 मह तक की बिल राशि मानते हए उपभोक्‍ता को स्‍लैब में राहत प्रदान की जायेगी,
·       अगर बिल में उल्लिखित रीडिंग और मीटर की वास्‍तविक रीडिंग में अंतर है तो जो वास्‍तविक रीडिंग होगी उसके अनुसार बिलिंग की जावेगी,
·       अगर किसी की बिल संबंधी समस्‍या है तो विधायक कार्यालय में संपर्क कर सकते है,
·       जिस उपभोक्‍ता को मीटर से शिकायत हो, उसके मीटर की जांच करवायी जायेगी,
·       बिजली बिल राशि ज्‍यादा होने की स्थिति में 2 से 6 माह तक की किस्‍त की सुविधा प्रदान की जायेगीा

 यह है विधुत संबंधी विभिन्‍न समस्‍याएं :-
 ज्ञात हो कि वर्तमान में विधुत संबंधी अनेक तरह की समस्‍याओं जैसे बिजली बिल अधिक आना, मीटर रीडिंग से अधिक रीडिंग का बिल, मीटर जंप होने की शिकायत, कई महीनों से बिल न आना, अनुमानित बिल भेजते रहना, ट्रांसफार्मर जल जाना, ट्रांसफार्मर लोड न लेना, क्षतिग्रस्‍त ट्रांसफार्मर की मरम्‍मत, लाइन फाल्‍ट की समस्‍या एवं अन्‍य बहुत सी विधुत संबंधी समस्‍याओं के निराकरण न होने संबंधी समस्‍याओं को लेकर विधुत विभाग में शिकायतें दिनों दिन बडती जा रही है, नागरिकों की समस्‍याओं के चलते विधायक संदीप जायसवाल द्वारा विधुत कंपनी के वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई एवं निराकरण के मार्गदर्शी बिन्‍दुओं का निर्धारण किया गया,
 मौके पर की गयी 35 लोगों की समस्‍याओं का निराकरण –
 समीक्षा बैठक के दौरान स्‍थानीय नागरिकों द्वारा विधायक संदीप जायसवाल के समक्ष अपनी विधुत संबंधी समस्‍याओं को रखा गया, जिसपर लगभग 35 लोगों के बिलों की समस्‍याओं का समाधान विधायक द्वारा मौके पर ही कराया गया,
 फोटो रीडिंग से आएगी पादर्शिता –
 अधीक्षण यंत्री द्वारा जानकारी दी गयी कि मीटर वाचकों को आदेशित किया गया है कि मीटर रीडिंग करते समय उसकी मोबाइल से फोटो भी खीचा जाये, इस तरह फोटो रीडिंग से बिलिंग पर अनियमितताओं में रोक लगेगी, मीटर रीडिंग पारदर्शी हो सकेगी,

इनकी रही उपस्थिति –

उक्‍त समीक्षा बैठक विधायक संदीप जायसवाल द्वारा अधीक्षण यंत्री एस;के; मिश्रा, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण क्षेत्र कुचिया जी एवं कार्यपालन यंत्री शहर क्षेत्र पी.के. जैन, रम्‍मू साहू भाजपा ग्रामीण मंडल अध्‍यक्ष, जगदीश परौहा, संदीप दुबे की उपस्थिति रही

मध्यप्रदेश दिवस हर्षोल्लास और गरिमा से सम्पन

कटनी / प्रदेश का 62वां स्थापना दिवस बुधवार को सम्पूर्ण जिले में हर्षोल्लास व गरिमापूर्ण रुप से मनाया गया। इस अवसर पर जिलास्तरीय मुख्य कार्यक्रम फॉरेस्टर प्ले ग्राउण्ड में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में महापौर शशांक श्रीवास्तव ने मुख्य अतिथि के रूप में ध्वजारोहण किया। साथ ही मुख्यमंत्री का प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन भी किया। इसके बाद मध्यप्रदेश गान की प्रस्तुति हुई। जिसके बाद मध्यप्रदेश माध्यम द्वारा प्रदेश के गौरव, विरासत, पर्यटन और सर्वांगीण विकास को प्रदर्शित करती हुई अतुल्य मध्यप्रदेश पर आधारित वीडियो फिल्म का प्रदर्शन भी एलईडी वॉल पर किया गया। इस दौरान विधायक संदीप जायसवाल और जिला पंचायत श्रीमती अध्यक्ष ममता पटेल भी उपस्थित थीं।
जिलास्तरीय मुख्य समारोह में प्रदेश की संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तृतियॉं भी विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थियों द्वारा की गई। जिसमें शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सिविल लाईन, नालंदा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, सेक्रेट हार्ड उत्च्चतर माध्यमिक विद्यालय और वार्डस्ले उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। सभी प्रस्तुतियों की सराहना उपस्थित अतिथियों द्वारा की गई। साथ ही शील्ड देकर विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया।
स्थापना दिवस के जिलास्तरीय समारोह में मीसाबंदियों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व उनके परिजनों का शॉल व श्रीफल से अतिथियों द्वारा सम्मान किया गया। कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को भी जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित कराया गया। जिसमें प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत जिले में सर्वाधित प्रधानमंत्री आवास पूर्ण कराने वाली ग्राम पंचायत घंघरी खुर्द की सरपंच श्रीमती सुहाग बाई चौधरी, सचिव सुश्री आराधना तिवारी और रोजगार सहायक रामनरेश भुमिया को स्मृति चिन्ह और प्रशस्ति पत्र अतिथियों ने भेंटकर सम्मानित किया।
इस दौरान जिला योजना समिति सदस्य पीताम्बर टोपनानी, कलेक्टर विशेष गढ़पाले, पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए, अपर कलेक्टर डॉ0 सुनन्दा पंचभाई, एएसपी प्रमोद सोनकर, नगर निगम आयुक्त संजय जैन सहित जनप्रतिनिधिगण एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
प्रदेश के नाम मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन करते हुये महापौर शशांक श्रीवास्तव ने जहां विभिन्न योजनाओं की उपलब्धियॉं बताईं। वहीं प्रदेश के नागरिकों के लिये राज्य सरकार द्वारा उठाये जा रहे प्रभावी कदमों की जानकारी भी विस्तार से दी।
ऑनलाईन स्वीकृत होंगे राज्य बीमारी सहायता के प्रकरण
मुख्यमंत्री के संदेश के वाचन में श्री श्रीवास्तव ने कहा कि राज्य बीमारी सहायता के प्रकरणों को ऑनलाइन स्वीकृत करने की कार्यवाही की जा रही है। यही व्यवस्था मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना, मुख्यमंत्री हृदय उपचार योजना और मुख्यमंत्री निःसंतान योजना के लिए भी लागू की जायेगी।
युवाओं के लिये युवा सशक्तिकरण मिशन योजना होगी लागू
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का वाचन करते हुये महापौर ने कहा कि हमारे प्रदेश के युवा होनहार हैं, इनके हाथ को कौशल मिले, तो वे दुनिया में प्रदेश का नाम रोशन करने में पीछे नहीं रहेंगे। इसलिए हमने नई योजना बनाई है, जिसे हम ‘युवा सशक्तिकरण मिशन’ के नाम से चलायेंगे। इस मिशन के तहत प्रत्येक वर्ष 7.5 लाख युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देंगे, उन्हें कुशल बनाएंगे और 7.5 लाख युवाओं को स्वरोज़गार या रोज़गार से जोड़कर उन्हें आगे बढ़ने के लिए सशक्त बनाएंगे।
बनेगा सेन्ट्रल पोर्टल
हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूल लेवल पर युवाओं की काउंसलिंग करेंगे, जिससे उन्हें आगे का रास्ता चुनने में मदद मिले। इसके अतिरिक्त 1 सेंट्रल पोर्टल होगा, जिस पर कोई भी युवा अपना पंजीयन करा सकेगा। एक बार पंजीयन कराने के बाद उसकी क्षमताओं की पहचान और क्षमता के अनुरूप उसे रोज़गार या स्वरोज़गार में स्थापित करने हेतु यह मिशन कार्य करेगा।
प्रदेश के स्कूलों में 32 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती
मुख्यमंत्री के संदेश के वाचन में श्री श्रीवास्तव ने कहा कि स्कूल शिक्षा में सुधार के लिये स्कूलों की संख्या के साथ शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया गया है। प्रदेश में सभी स्कूलों की जीआईएस मैपिंग कर ली गई है। प्रदेश के स्कूलों में 32 हजार शिक्षकों की भर्ती की जायेगी। प्रत्येक शाला में बिजली कनेक्शन, लाईट एवं फैन की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। प्रत्येक हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में ब्रॉडबैंड व ऑप्टिकल फायबर कनेक्टिविटी उपलब्ध कराई जायेगी।
जिला एवं राज्य स्तर पर ‘‘उत्कृष्ट शाला प्रतियोगिता’’ का आयोजन किया जायेगा, जिससे शालाओं के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा स्थापित होगी। प्रदेश में अगले वर्ष से ‘शाला सिद्धि योजना’ के अंतर्गत शाला सुधार के लिए सर्वांगीण रूप से उत्कृष्ट कार्य करने वाली शालाओं को पुरस्कृत किया जाएगा। इन शालाओं को प्रोत्साहन स्वरूप अतिरिक्त संसाधन उपलब्ध कराए जायेंगे।
विद्यार्थियों के लिये ’’सुपर 100 योजना’’ होगी लागू
आगामी दो वर्षों में सभी आदिवासी बहुल जिलों में ‘‘सुपर 100 योजना’’ लागू की जाएगी, जिसमें विद्यार्थियों को प्रतिष्ठित संस्थानों के माध्यम से कोचिंग दी जाएगी, जिससे कि वे व्यावसायिक एवं प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल हो सकें।
लोक सेवा गारंटी में लाई जा रही नई व्यवस्था, नागरिकों को मिलेगा त्वरित लाभ
महापौर ने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन करते हुये कहा कि लोक सेवा गारंटी योजना के अंतर्गत अब एक नई व्यवस्था लाई जा रही है, जिसके अंतर्गत तहसील या ब्लॉक स्तर का एक अधिकारी लोक सेवा केन्द्र पर पदस्थ रहेगा, जो हाथों हाथ नागरिकों को सेवा उपलब्ध करायेगा। इन सेवाओं में, खसरे, बी-1 की नकल, आय, निवास प्रमाण पत्र, विभिन्न प्रकार की पेंशन योजनाओं की स्वीकृति, दुकान के पंजीयन तथा नवीनीकरण, हम्माल-तुलावटी के पंजीयन तथा नवीनीकरण आदि सेवाएं शामिल होंगी।
विधवा पेंशन के लिये बीपीएल का बंधन समाप्त
मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन करते हुये महापौर ने कहा कि राज्य सरकार ने विधवा बहनों की पेंशन में बीपीएल का बंधन समाप्त कर दिया है। आदिवासी बाहुल्य 89 विकासखंडों में सेनेटरी नेपकिन आधी कीमत पर उपलब्ध कराने तथा पुलिस आरक्षक भर्ती में ऊंचाई सहित शारीरिक मापदंडों में छूट देने का भी निर्णय लिया है।
स्वच्छता अभियान के द्वारा भी युवाओं को दिया जायेगा लाभ
महापौर ने मुख्यमंत्री के संदेश वाचन करते हुये कहा प्रदेश में स्वच्छता अभियान के माध्यम से भी युवाओं को स्वरोज़गार के अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे। प्रदेश के 51,714 गांवों को लगभग 2400 समूहों में बांटकर समूह आधारित योजना का संचालन किया जाएगा, जिसमें युवाओं को ‘‘स्वच्छतासेवी’’ के रूप में ‘मुख्यमंत्री  स्वरोज़गार योजना’ के अंतर्गत वाहन खरीदने हेतु आर्थिक सहायता दी जाएगी। ऐसे युवाओं के साथ तीन वर्ष के लिए कचरा संग्रह और पृथक्कीकरण का अनुबंध किया जाएगा। इससे युवाओं को रोज़गार देने के साथ प्रदेश के ग्रामों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन सुनिश्चित किया जाएगा। 31 मार्च 2022 तक मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों को मल/तरल अपशिष्ट मुक्त किया जाएगा। शहरी क्षेत्र में आगामी 2 वर्षों में (2018-20) प्रदेश के 46 शहरों में मल/तरल अपशिष्ट प्रबंधन परियोजनाएं क्रियाशील की जाएगी।
स्टार नेटवर्क के नाम से बिछेगा सड़कों का जाल
गांव बेहतर ढंग से मुख्य मार्गों से जुड़ें इस हेतु हम सभी गांवों को बारहमासी पक्की सड़कों से जोड़ने की योजना लेकर आए हैं। अगले 2 साल में हर गांव को जोड़ने के लिए पक्की सड़क पर राज्य सरकार काम प्रारंभ कर रही है। इस तरह 2 साल में इस प्रदेश में कोई ऐसा गांव नहीं बचेगा, जहां बिजली या सड़क नहीं होगी। हमने यह तय किया है कि अब प्रदेश के हर संभाग मुख्यालय को भोपाल से फोर-लेन सड़क से जोड़ेंगे। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में बिछाये जा रहे सड़कों के जाल को हमने ‘‘स्टार नेटवर्क’’ का नाम दिया है।



यह भी रहा मुख्यमंत्री के संदेश में खास
महापौर द्वारा वाचन किये गये मुख्यमंत्री के संदेश में यह बिन्दु भी खास रहे:-
·         भावांतर भुगतान योजना किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी के लिये प्रारंभ की गई है।
·         प्रदेश में ’’कृषि उत्पाद लागत एवं विपणन आयोग’’ तथा 1 हजार करोड़ रुपये की लागत से ’’मूल्य स्थिरिकरण कोष’’ स्थापित किया गया है। जिससे किसानों को उनकी फसल का सही मूल्य प्राप्त हो सके।
·         आने वाले पॉंच सालों में 57 लाख घरों तक नल कनेक्शन दिये जायेंगे। अभी पूरे प्रदेश में ग्रामीण क्षेत्र में 10 लाख घरों में नलजल कनेक्शन हैं।
·         सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश में 42 लाख लोगों को विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराया जायेगा।
·         शालाओं में बच्चों के गणवेश निर्माण का कार्य महिला स्वसहायता समूहों से कराया जायेगा।
·         1 अप्रैल 2019 तक मध्यप्रदेश के सम्पूर्ण ग्रामीण क्षेत्र को खुले में शौच मुक्त किया जायेगा।
·         29 मार्च 2019 तक मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र को कचरामुक्त किया जायेगा।
·         शीघ्र ही अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति वर्ग की पंचायत बुलाई जायेगी।
·         पिछड़ा वर्ग समुदाय की विकास की गति को तेज करने के लिये पिछड़ा वर्ग पंचायत का आयोजन भी किया जायेगा।
·         19 दिसंबर से 22 जनवरी 2018 तक एकात्म यात्रा का आयोजन होगा। जिसमें समाज के सभी वर्गों से सांकेतिक धातु संग्रहण किया जायेगा।

Tuesday, October 31, 2017

कटनी में रन फार यूनिटी का हुआ आयोजन

कटनी / लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया गया । इसके तहत रन फार यूनिटी का आयोजन किया गया। जिसमें स्कूली विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। एकता के लिए आयोजित दौड़ को विधायक संदीप जायसवाल और महापौर शशांक श्रीवास्तव ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
            फारेस्टर ग्रांउड से प्रारंभ रन फार यूनिटी में विद्यार्थी स्टेट बैंक चौराहा, कोतवाली, सुभाष चौक होते हुए वापस फारेस्टर ग्रांउड पंहूचे। जहां विद्यार्थियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई गई। उन्हें राष्ट्र की एकता अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करने का संकल्प दिलाया गया। साथ ही विद्यार्थियों ने देश की आंतरिक सुरक्षा को सुनिश्चत करने के लिए  अपना योगदान सत्यनिष्ठा से देने की शपथ भी ली।
            इस दौरान जिला योजना समिति के सदस्य पीताम्बर टोपनानी, जिला शिक्षा अधिकारी एसएन पांडे सहित जनप्रतिनिधिगण एवं लोकसेवक उपस्थित थे।

Monday, October 30, 2017

एसिड अटैक से पीडित महिलाओं के लिये आर्थिक सहायता

कटनी / एसिड अटैक से पीडित महिलाओ को न्यूनतम 3 लाख रुपये के मुआवजे का प्रावधान  है। केन्द्रीय गृह विभाग के निर्देशानुसार इस राशि के अतरिक्त एसिड अटैक पीडित महिलाओं को 1 लाख रुपये की अतिरिक्त आर्थिक सहायता राशि दी जायेगी। यह राशि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष अंतर्गत दी जायेगी।
            आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिये एसिड अटैक से पीडित महिलाएॅ जिला महिला सशक्तिकरण कार्यालय अथवा महिला एवं बाल विकास की विकासखंड कार्यालय से आवेदन प्राप्त कर सकती है। आवेदन के साथ स्वयं का एक फोटो, आधार कार्ड, स्वयं का खाता पास बुक की छायाप्रति, जिसमे आईएफएससी कोड सहित बैंक खाते की स्पष्ट जानकारी हों, उपलब्ध करवानी होगी।
पीडिता के नबालिग होने की स्थति में उसके अभिभावक का आधार कार्ड, अभिभावक का खाता पास बुक की छाया प्रति सहित बैंक खाते की स्पष्ट जानकारी हो, उपलब्ध करानी होगी। जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी पीडिता के संबंध विस्तृत जानकारी विहित प्रारुप में तैयार कर जिला कलेक्टर के माध्यम से गृह मंत्रालय भारत सरकार को प्रेषित किया जायेगा।

Friday, October 27, 2017

खेतों में पहुंचकर सूखे का जायजा लिया

कटनी /  राजस्व और कृषि विभाग की टीम के साथ कलेक्टर विशेष गढ़पाले ढीमरखेड़ा क्षेत्र में  किसानों के खेतों में पहुंचकर सूखे का जायजा लिया। इस दौरान वे खमतरा, जिर्री और कुदरा गये। जहां विभिन्न कृषकों के खेतों में पहुंचकर अपनी संयुक्त टीम के साथ फसलें देखीं। खमतरा और जिर्री में अपने सामने खड़े होकर कलेक्टर ने फसल कटाई प्रयोग कराया। खमतरा में फसल कटाई प्रयोग की आधी-अधूरी तैयारियों से आना हल्का पटवारी को भारी पड़ा। कलेक्टर ने संबंधित पटवारी की एक वेतनवृद्धि रोकने निर्देश दिये।
            खमतरा के साथ ही जिर्री और कुदरा में भी राजस्व और कृषि विभाग की टीम को आगामी दो दिनों में सभी सूखा प्रभावित खेतों में पहुंचकर उसका सर्वे करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि इसकी मॉनीटरिंग के लिये संयुक्त टीम के सदस्य लोकसेवक एप में अपनी गतिविधियॉं डालें। प्रभावित खेतों की फोटो भी खींचकर रिकॉर्ड में रखें।
             निरीक्षण में उपस्थित आस-पास के कृषकों से भी कलेक्टर ने बातचीत की, उनकी समस्यायें जानीं। उन्होने कहा कि हमारी टीम इसका पूरा सर्वे करेगी।
            ग्राम पंचायत जिर्री में निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवासों का निरीक्षण भी कलेक्टर ने किया। इस दौरान वे रामचरण, संध्या बाई, रमाकान्त के प्रधानमंत्री आवास में पहुंचे। उन्होने हितग्राहियों को अपना स्वयं का म


कान गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिये प्रेरित भी किया। संबंधित उपयंत्री को फील्ड विजिट कर निर्धारित मापदण्डों के अनुसार ही प्रधानमंत्री आवासों के निर्माण कराने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये।
            इस दौरान एसडीएम नितिन टाले, सीईओ जनपद ओमकार सिंह और स्कूल ऑफ गुड गवर्नेन्स की रिसर्च स्कॉलर आयुषि पगारे भी मौजूद थीं।

Thursday, October 26, 2017

28 अक्टूबर के बाद निःशुल्क कोचिंग की खाली सीटों पर प्राईवेट स्कूल्स के विद्यार्थी भी हो सकेंगे शामिल

कटनी / जिले के विभिन्न शासकीय विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के मध्य प्रवेश परीक्षा को क्वालिफाई करके सौ विद्यार्थियों का चयन नीट और जेईई की कोचिंग के लिये किया गया था। इन विद्यार्थियों को भारत निर्माण फेज 2 में निःशुल्क कोचिंग प्रोफेशनल्स के माध्यम से दिलाई जा रही है। विद्यार्थियों की कम उपस्थिति की रिपोर्ट पर कलेक्टर विशेष गढ़पाले गुरुवार की दोपहर उत्कृष्ट विद्यालय में पहुंचे। जहां उन्होने सेकेण्ड राउंड में आयोजित प्रवेश परीक्षा में चयनित विद्यार्थियों के अभिभावकों से चर्चा की। साथ ही उन्हें जिला प्रशासन द्वारा उनके बच्चों के भविष्य को संवारने के लिये दिलाई जा रही निःशुल्क कोचिंग के विषय में विस्तार से बताया।
दो-टूक लहजे में कलेक्टर ने कहा कि कुछ बनने के लिये बलिदान करना होता है। हम यहां आपके बच्चों को कोटा स्तर की कोचिंग निःशुलक उपलब्ध करा रहे हैं। जिसके लिये कोटा में विद्यार्थी जाकर लाखों रुपये खर्च करते हैं। लेकिन आप संजीदा नहीं हैं। आप अभी इस अवसर के महत्व को नहीं समझ रहे हैं। सोचिये, विचार करिये और अपने बच्चो को कोचिंग में भेजिये। निर्णय आपके हाथ में है कि आप अपने बच्चे को एक-दो साल दुलार करके उनका भविष्य बिगाड़ना चाहते हैं या एक-दो साल कड़ी मेहनत कराकर कुछ खुशियों का बलिदान देकर उनका भविष्य संवारना। 28 अक्टूबर तक आपके पास अंतिम मौका है। इसके बाद अनुपस्थित विद्यार्थियों की सीटों पर पुनः ओपन एन्ट्रेन्स एग्जाम होगा। जिसमें प्राईवेट स्कूल के विद्यार्थी भी शामिल हो सकेंगे। उन्होने अभिभावकों को मन मजबूत करके अपने बच्चों को कोचिंग दिलाने के प्रति प्रेरित भी किया।
इसके साथ ही कलेक्टर कोचिंग भी पहुंचे। जहां उन्होने उपस्थित विद्यार्थियों से संवाद किया। साथ ही उन्हें अनुशासन के साथ एकाग्रचित् होकर दृढ़ संकल्प के साथ तैयारी करने के लिये प्रेरित किया। प्राचार्य उत्कृष्ट विद्यालय को विलंब से आने वाले विद्यार्थियों पर एक्शन लेने और बिना अनुमति लगातार तीन दिन अनुपस्थित रहने वाले विद्यार्थियों का एडमिशन निरस्त करने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि पढ़ाई में किसी भी तरह की अनुशासनहीनता हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। उपस्थित विद्यार्थियों को कन्टिन्यु कोचिंग आने और क्लास अटेन्ड करने की समझाईश प्रेरक ढंग से कलेक्टर ने दी।
विद्यार्थियों से रुबरु होते हुये कलेक्टर ने कहा कि अभी समय आपके पास है। आप निर्धारित करें कि अभी मेहनत करके आपको भविष्य सुधारना है या अभी आराम करके आपको भविष्य बिगाड़ना है। आप लोग समझने का प्रयास करें कि अभी लापरवाही बरतकर आप लोग क्या खो रहे हैं। हमें जो नहीं मिला, वो सुविधा मुहैया कराने का प्रयास हमने आप लोगों के लिये किया है।
सुख सुविधा का मोह ना पालने की समझाईश भी विद्यार्थियों को अपने प्रेरक उद्बोधन में श्री गढ़पाले ने दी। इस दौरान कोचिंग में उपस्थित विद्यार्थियों ने भी अपनी जिज्ञासायें कलेक्टर श्री गढ़पाले के समक्ष रखीं। जिसका जवाब उन्होने दिया। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी एस0एन0 पाण्डेय, प्राचार्य विभा श्रीवास्तव और जिला शिक्षा कार्यालय के प्रशान्त चन्पुरिया सहित कोचिंग स्टाफ मौजूद था।

Wednesday, October 25, 2017

पुस्तक मेले में ’गांधी द साइलेंट गन’ फिल्म का प्रदर्शन

कटनी / जिला प्रशासन द्वारा आयोजित कटनी पुस्तक मेले में चौथे दिन मंगलवार को शाम फिल्म प्रदर्शन एवं पुस्तक परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस दौरान ’गांधी द साइलेंट गन’ फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। जिसे उपस्थितजनों ने सराहा भी। ’बुक-टॉल्क’ में महात्मा गांधी द्वारा लिखित ’सत्य के प्रयोग अथवा आत्मकथा’ पुस्तक पर परिचर्चा हुई। पुस्तक परिचर्चा में गांधी वादी साहित्यकार एवं विचारक आमंत्रित थे। जिसमें प्रमुख रुप से नंदलाल सिंह, जनवादी लेखक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष सुसंस्कृति परिहार, ठाकुर राजेंद्र सिंह, अरविंद वर्मा, परमानंद कुररिया, मोहन नागवानी एवं राजेन्द्र असाटी थे।
फिल्म प्रर्दशन के चरण में महात्मा गांधी के जीवन के अंतिम दिन पर केद्रित फिल्म और उसमें गांधीजी के मनःस्थिति का सुंदर चित्रण किया गया। इस अवसर पर विशेष आकर्षण के रूप में फिल्म के मुख्य पात्र जिन्होंने रील लाईफ में गांधी का रोल किया सुरेंद्र राजन उर्फ काकू मौजूद थे। उन्होंने उपस्थित श्रोताओं से अपने अनुभव साझा करते हुये बताया कि गांधी का अभिनय करना सामान्य बात नहीं थी। उसके लिए उन्हें काफी तैयारी करनी पड़ी जो उन्होंने गांधी जी द्वारा लिखित विभिन्न पुस्तकों को पढ़ा भी।
उल्लेखनीय है कि श्री राजन उर्फ काकू मध्य प्रदेश की जमीन के एक बहुआयामी कलाकार हैं। जो विश्व स्तरीय फोटोग्राफर हैं। बर्ड्स के जानकार हैं। उन्होने डिस्कवरी चैनल के लिए लगभग ढाई वर्षों तक बांधवगढ़ में फोटोग्राफी की है। पेन्टर हैं, मूर्तिकार है। काकू के द्वारा बनाई हुई मूर्तियां मुंबई के दो मुख्य चौराहों पर स्थापित में हैं। कवि हैं, कहानीकार हैं। फिल्म कलाकार है, थिएटर आर्टिस्ट है। श्री राजन ने 100 से भी अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। जिसमें से 12 फिल्मों में उन्होंने गांधी की भूमिका अदा की है। इनमें सबसे प्रमुख है ’’लीजेंड ऑफ भगत सिंह’’ जिसमें उन्होंने अजय देवगन के साथ काम किया है।
जिला प्रशासन की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में जिला पंचायत के सीईओ फ्रैंक नोबेल नोबेल, डीआईओ प्रफुल्ल श्रीवास्तव, प्रभारी महिला एवं बाल विकास अधिकारी इंद्र भूषण तिवारी, बीआरसी विवेक दुबे द्वारा आमंत्रित जनों का स्वागत किया गया।
इस दौरान श्रीराम सेंगर, मनीष गेई, वंदना गुगलिया, गोविंद  सचदेवा, जुगल मिश्रा, रजनी मिश्रा एवं अन्य बुद्धिजीवियों के साथ साथ भारत निर्माण कोचिंग के छात्र छात्राओं की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।. कार्यक्रम के अंत में अभिनेता सुरेंद्र राजन का जिला प्रशासन की ओर से श्री नोबल ने शाल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया। सभी आमंत्रित जनों ने गांधी जी पर अपनी बातें सुंदर तरीके से प्रस्तुत की। पुस्तक परिचर्चा का समन्वय मोहन नागवानी द्वारा किया गया।

Tuesday, October 24, 2017

किसानों को उपज के लिये पचास हजार रुपये तक करे नगद भुगतान

कटनी/ भावांतर भुगतान योजना का लाभ किसानों को मिले, मण्डी प्रशासन इस दिशा में कार्य करे। यह निर्देश मंगलवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने कृषि उपज मण्डी के अधिकारियों और कर्मचारियों को दिये, कृषि उपज मण्डी परिसर में दलहनी फसलें क्रय करने वाले व्यापारियों से भी चर्चा की। स्पष्ट लहजे में कलेक्टर ने कहा कि मण्डी प्रशासन यह सुनिश्चत करे कि किसानों को मण्डी में ही उनकी फसलों का पैसा मिल जाये, साथ ही पक्की रसीद भी। किसी भी तरह की अनियमितता सामने आने पर संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही होगी, यह समझ लें। अपनी फसल बेचनें मण्डी पहुंचने वाले किसान को परेशानी नहीं होनी चाहिये।
            प्रभारी मण्डी सचिव संदीप श्रीवास्तव को मण्डी परिसर में सीसी टीव्ही कैमरे लगवाने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये। व्यापारियों से चर्चा करते हुये पचास हजार रुपये तक नगद किसानों को उपज के लिये नगद भुगतान करने की बात भी कलेक्टर ने कही। उन्होने कहा कि उपज की खुली नीलामी पूर्णतः परदर्शिता से हो, मण्डी के अधिकारी और कर्मचारी इसका ध्यान रखें।
            मीटिंग में दो टूक शब्दों में कलेक्टर ने कहा कि व्यापारी दलहन उपज खरीदने में सीधे इन्वॉल्व हों। दलाल प्रथा नहीं चलनी चाहिये।
            बैठक में बैंकर्स को भी कलेक्टर ने कहा कि संबंधित व्यापारियों को कैश की प्रॉबलम ना हो, वे अपना पैसा निकाल सकें, यह व्यवस्था सुव्यवस्थित ढंग से करें। ताकि व्यापारी कृषकों को उपार्जन का नगद भुगतान कर पायें।