Saturday, February 25, 2017

हर पात्र व्यक्ति को मिले लाभ, इसके लिये किये जा रहे हैं ऐसे आयोजन - विधायक संदीप जायसवाल

कटनी / हर पात्र व्यक्ति को लाभ मिले। इसके लिये अन्त्योदय मेले जैसे आयोजन किये जा रहे हैं। राज्य सरकार समाज के अंतिम पंक्ति तक के व्यक्ति के उत्थान के लिये प्रतिबद्ध है। इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा कई महत्वाकांक्षी योजनायें संचालित की जा रही हैं। सभी पात्र हितग्राही इन योजनाओं का लाभ ले सकते हैं। यह बात कृषि उपज मण्डी में आयोजित कटनी विकासखण्ड के खण्डस्तरीय अंत्योदय मेले में विधायक संदीप जायसवाल ने कही। इस दौरान श्री जायसवाल ने दो से लेकर 4 मार्च तक सम्पूर्ण जिले की ग्राम पंचायतों में आयोजित होने वाले ग्रामोदय शिविर और जिले की सातों तहसीलों में आयोजित होने वाले राजस्व शिविरों में पहुंचकर सेवाओं का लाभ लेने की अपील की।
            अन्त्योदय मेले में जनमानस को संबोधित करते हुये विधायक श्री जायसवाल ने कहा कि 27 फरवरी को राज्य शासन द्वारा कटनी जिले में वृहद मुख्यमंत्री चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें देश के जाने-माने विशेषज्ञ डॉक्टर्स आम जन का स्वास्थ्य परीक्षण करेंगें। जिन भी नागरिकों को गंभीर स्वास्थ्य बीमारियां हैं, वे अनिवार्यतः जिला चिकित्सालय में होने वाले शिविर में पहुंचें और इसका लाभ लें।
            अन्त्योदय मेले में जनपद पंचायत अध्यक्ष शैलेश कन्हैया तिवारी ने भी शासन की योजनाओं के लाभ के वितरण के लिये अन्त्योदय मेले को एक सार्थक माध्यम बताया। साथ ही उन्होने ग्रामीण विकास विभाग से जुड़ी योजनाओं की जानकारी भी उपस्थित जनसमुदाय को दी। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत डॉ केडी त्रिपाठी ने भी जिला प्रशासन द्वारा ग्रामीण विकास और हितग्राही मूलक योजनाओं के लिये प्रयासों की विस्तार से जानकारी दी।
अन्त्योदय मेले में 1140 हितग्राहियों को 71 लाख रुपये से अधिक की राशि से लाभांवित किया गया। इसमें इंदिरा गांधी वृद्वावस्था पेंशन के 280 हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र दिये गये। वही विधवा पेंशन में 335 हितग्राहियों को, निःशक्त पेंशन में 7 हितग्राहियों को, सामाजिक सुरक्षा पेंशन में 84 हितग्राहियों को, मानसिक/बहु-दिव्यांगों के 57 हितग्राहियों, कन्या अभिभावक पेंशन के 55 हितग्राहियों, राष्ट्रीय परिवार सहायता के 19, मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा के 238 और लाड़ली लक्ष्मी योजना के 65 हितग्राहियों को 71 लाख 47 हजार रुपये की राशि से लाभांवित किया गया। अन्त्योदय मेले में स्वास्थ्य शिविर एवं आधार पंजीयन कैम्प भी लगाया गया था। स्वास्थ्य शिविर में 40 लोगों का परीक्षण किया गया। वहीं आधार पंजीयन कैम्प में 42 लोगों का आधार पंजीयन किया गया। इस दौरान जनपद पंचायत उपाध्यक्ष अर्चना जायसवाल, जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ गौरव पुष्प, सीईओ जनपद पंचायत एस0एस0 सिंह, जनपद पंचायत कटनी के सदस्य, जनप्रतिनिधि, ग्रामीणजन सहित अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Wednesday, February 22, 2017

ई-शक्ति अभियान के तहत छात्राओं को दिया गया प्रशिक्षण

कटनी / महिलाओं में इंटरनेट के प्रति जागरुकता लाने के उद्देश्य से कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देशन में बुधवार को जिले में 3 विकासखण्डों में ई-शक्ति अभियान के तहत जिला ई-गवर्ननेंस सोसाईटी के माध्यम से तृतीय चरण के प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण में छात्राओं को इंटरनेट एवं  डिजिटल साक्षरता संबंधी जानकारियां प्रदान की गई।
जिला प्रबंधक, ई-गवर्नेंस सोसाईटी, सौरभ नामदेव ने बताया कि बुधवार को आयोजित ई-शक्ति अभियान के तहत इस प्रशिक्षण में बहोरीबंद, ढीमरखेड़ा और विजयराघवगढ़ में 500 से अधिक स्कूल की छात्राओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। जिसमें स्कूल में अध्यनरत छात्राओं को इंटरनेट के उपयोग संबंधी आवश्यक जानकारियां प्रोजेक्टर के माध्यम दी गई। छात्राओं को इंटरनेट का उपयोग, ईमेल, वेब ब्राउजर, गूगल, यूट्यूब, पढ़ाई में तकनीक का उपयोग, डिजिटल पेमेंट एवं कैशलेस ट्रांजेक्शन के बारे विस्तार से लाईव डेमॉन्स्ट्रेशन के साथ जानकारी प्रदान की गई।
            गौरतलब है कि मध्यप्रदेश शासन विज्ञान एवं टेक्नोलॉजी विभाग द्वारा प्रदेश की विभिन्न विभागों से जुड़ी महिलाओं एवं छात्राओं में इंटरनेट और डिजिटल साक्षरता के प्रति जागरुकता लाने के उद्वेश्य से ई-शक्ति अभियान की शुरुआत की गई थी। जिसके प्रथम चरण के अंतर्गत गूगल इंडिया के सहयोग से यह अभियान संचालित किया गया था। इसी प्रकार दूसरे चरण में एयरटेल के सहयोग से संचालित कर महिलाओं में डिजिटल साक्षरता के अंतर्गत प्रशिक्षित किया गया था।

116वां सवा करोड़ शिवलिंग निर्माण महारूद्राभिषेक महायज्ञ में आस्था का सैलाब

कटनी। गृहस्थ संत पंडित देव प्रभाकर शास्त्री दद्दाजी के पावन सानिध्य में  ग्राम झिंझरी स्थित देवप्रभाकर नगर दद्दा धाम में चल रहे 116वें सवा करोड़ शिवलिंग निर्माण महारूद्राभिषेक महायज्ञ में श्रद्धालुओं की अपार भीड़ उमड़ रही है। पूरे जिले और प्रदेश के कोने-कोने से हजारों की तादात में पहुंच रहे श्रद्धालुओं में इस आयोजन को लेकर भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। श्रद्धालु एक तरफ सुमधुर भजनों की प्रस्तुति में गोता लगा रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर रोजाना रात में पूज्य श्री के प्रवचनों को सुनकर अपने जीवन में आत्मसात कर रहे हैं। ओम नमः शिवाय और जय श्री कृष्ण के जयघोषों से पूरा क्षेत्र गुंजायमान हो रहा है। सात दिवसीय शिवलिंग निर्माण महायज्ञ के तीसरे दिन झिंझरी स्थित देवप्रभाकर नगर में श्रद्धालुओं की अपार भीड़ शिवलिंग निर्माण कर पुण्यलाभ अर्जित करने के लिए उमड़ पड़ी। सुबह से ही श्रद्धालु यहां बड़ी संख्या में पहुंचने लगे थे। पूज्य दद्दा जी के पंडाल में पहुंचते ही श्रद्धालुओं ने उनके दर्शन कर आशीवार्द प्राप्त किया।
दूर तक सुनाई पड़ रही ओम नमः शिवाय की गूंज
ओम नमः शिवाय की गूंज से जहां आयोजनस्थल गुंजायमान हो रहा था तो वहीं दूसरी तरफ भजनों की शानदार प्रस्तुति में श्रद्धालु गोता लगा रहे थे। पूज्य दद्दा जी के सानिध्य में चल रहे इस महायज्ञ के प्रति श्रद्धालुओं में व्याप्त उत्साह को देखते हुए ऐसा लग रहा है, जैसे सवा करोड़ शिवलिंग निर्माण का लक्ष्य महायज्ञ के चौथे दिन ही पूरा हो जाएगा। सुबह से ही कटनी और आसपास के क्षेत्रों से श्रद्धालुओं के महायज्ञ स्थल पर पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ हो जाता है। दिन जैसे-जैसे बढ़ता है, वैसे-वैसे श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती चली जाती है। सायंकाल दद्दा जी के प्रवचनों में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उपस्थित रहती है। लोग सपरिवार आयोजन स्थल पर पहुंच रहे हैं और शिवलिंग निर्माण में हिस्सा ले रहे हैं।
दो दिनों में बने 58 लाख 97 हजार शिवलिंग 
श्रद्धालुओं की उपस्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि आयोजन के पहले दिन कटनी और प्रदेश के कोने-कोने से पहुंचे हजारों श्रद्धालुओं ने 28 लाख 13 हजार 930 पार्थिव शिवलिंग का निर्माण किया, जबकि दूसरे दिन यह संख्या बढ़कर 30 लाख 83 हजार 312 को पहुंचकर गई। इस तरह दो दिनों में ही 58 लाख 97 हजार 242 शिवलिंग का निर्माण हुआ। शिष्यों का कहना है कि सवा करोड़ शिवलिंग निर्माण महायज्ञ का लक्ष्य इस बार 4 दिनों में ही पूरा हो जाएगा।
परमात्मा के हृदय में रहते है संत
शाम को प्रवचनों की अमृतवर्षा करते हुए पूज्य दद्दा जी ने अपने श्रीमुख से कहा कि हम जब विपत्ति ग्रस्त हो जाते है तो हम अपने ही लोगों को दोषी मानते हैं जबकि इस विपत्ति के दोषी हम खुद है, इसके पीछे चिंतन करो। कैसे, अगर जीवन में सुख चाहते हो तो कभी अपने से बड़े का अपमान मत करना। अगर जीवन में तरक्की चाहते हो तो अपने बीते हुए कल को कभी मत भूलना। परमात्मा को अगर देखना है तो मंदिर जाओ। अगर परमात्मा की अनुभूति करना है, तो नारी अपने धर्म में, नर अपने कर्म में करो। बरगद के पत्ते में बहुत कुछ छिपा है। चिंतन अपने वैभव को समेट के रखो।  संत परमात्मा के ह्रदय में रहते है, उसको फैलाओ मत, पत्ते में कुछ स्थित नहीं रहता हालांकि न दोने में सब कुछ समेटा जा सकता है, इसके बाबजूद भी ईश्वर ने बड़े के पत्ते में अपने सम्पूण वैभव को समेट लिया है। ईश्वर का इतना बड़ा वैभव है।
यज्ञोपवीत उपनयन संस्कार तैयारियां तेज 
दद्दा शिष्य मंडल ने बताया कि सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंग निर्माण एवं महारूद्राभिषेक महायज्ञ के दौरान 24 फरवरी को महाशिवरात्रि के दिन सुबह 11 बजे से विशेष यज्ञोपवीत संस्कार उपनयन का निशुल्क आयोजन किया जा रहा है, जहां ब्राम्हण बालकों के उपनयन संस्कार किया जाएगा। जिसकी तैयारियां तेज हो गई हैं। अब तक आधा सैकड़ा से अधिक ब्राम्हण बालकों ने यज्ञोपवीत संस्कार के लिए अपना पंजीयन करवा लिया है। विशेष यज्ञोपवीत संस्कार के लिए अभी भी पंजीयन किया जा रहा है। यज्ञोपवीत संस्कार के लिए दद्दा शिष्य मंडल कटनी के सदस्य संतोष पांडे, रामनरेश त्रिपाठी एवं विनोद तिवारी से संपर्क किया जा सकता है। इस आयोजन को लेकर दद्दा शिष्य मंडल के साथ ही ब्राम्हण समाज में उत्साह देखने को मिल रहा है।
भंडारे में हजारों ने लिया प्रसाद 
सात दिवसीय शिवलिंग निर्माण महारूद्राभिषेक महायज्ञ के दौरान विशाल भंडारे का भी आयोजन किया गया है। भंडारा दोपहर 12 बजे से शुरू होकर देर शाम तक आयोजित हो रहा है। आज तीसरे दिन भंडारे में हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। भंडारे के कुशलतापूर्वक संचालन की जिम्मेदारी दद्दा शिष्यों द्वारा संभाली जा रही है।

इनकी रही उपस्थिति
दद्दा शिष्य मंडल के सदस्य डॉ. अनिल त्रिपाठी, संतोष पांडे, डॉ. सुनील त्रिपाठी, नीरज त्रिपाठी, विजय मोदी, अभय दुबे, मनीष पाठक, राजू शर्मा, संतोष गुप्ता, अभिलाष दीक्षित, आशीष सोनी, आलोक गोयनका, वीरेंद्र श्रीवास्तव, मोहन केशरवानी, मोहन साहू, अशोक गेड़ा, बिल्लू शर्मा, प्रदीप भार्गव, विनीत गेड़ा, विनोद गुप्ता, प्रमोद गुप्ता, विनोद तिवारी, संजय सोलंकी, राजभान सिंह, अशोक साहू, राकेश सोनी, रामनरेश त्रिपाठी, राजू माखीजा, सतीष साहू, दीपक दुबे, प्रकाश श्रीवास्तव, रजनीश मिश्रा, संजीव श्रीवास्तव, बालमुकुंद त्रिपाठी, अभिषेक गुप्ता, मनु दीक्षित, मनोज पंजवानी, रवींद्र श्रीवास्तव, राकेश अग्रवाल, अरूण पांडे, राजकुमार साहू, तनवीर खान, चंचल अग्रवाल, संतोष अग्रवाल, मुकुल गुप्ता, गोविंद पटेल, प्रेमलाल साहू, लक्ष्मी टुडहा, अशोक कनकने, श्यामू बजाज, संजय खरे, अजय राय, जागेश्वर पाठक, नितिन तपा, देवेंद्र राय, ओमप्रकाश त्रिपाठी, मनीष मिश्रा, लक्ष्मीनारायण वैद्य, सुरेंद्र तिवारी, श्रीराम गुप्ता, विशाल सोलंकी, अरूण कनकने, सत्यम अग्रवाल, प्रमोद सुहाने, ओमप्रकाश तपा, राजेंद्र दुबे आदि ने क्षेत्र के श्रद्धालुओं से उक्त धार्मिक आयोजन में पहुंचकर धर्मलाभ लेने की अपील की है। 

Sunday, February 19, 2017

अच्छे आचरण और यातायात नियमों का छात्रों को दिया मार्गदर्शन

कटनी । शिकागो पब्लिक स्कूल माधवनगर मे थाना प्रभारी के.पी.मिश्रा द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम मे छात्रों को मार्गदर्शन बड़े प्रभावी ढंग से दिया गया। श्री मिश्रा ने वेदों, रामायण और गीता मे उद्घृत उदाहरणों से छात्रों को समय-सारिणी बना कर अध्ययन करने, माता-पिता गुरुओं का सम्मान करने तथा टी.वी व मोबाइल से दूर रहने के लिए उसके लाभ-हानि से परिचित कराया। छात्रों को स्व-अनुशासन मे रहने की सलाह दी। इस अवसर पर श्री मिश्रा द्वारा छात्रों के लिए एक प्रेरक गीत  बड़े ही मधुर ढंग से प्रस्तुत किया गया । उन्होने छात्रों को समझाया कि यदि उनके घर के माता-पिता या पड़ोस मे रहने वाले, दोपहिया वाहन से बाहर जा रहे हो तो उन्हें हेलमेट लेकर जाने को कहे।
शाला संचालक मोहन नागवानी ने विद्यालय मे संचालित विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी दी। इस अवसर पर प्रधान आरक्षक वैजयन्ती तेकाम, राम नरेश शुक्ला व शाला के समस्त शिक्षक, कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम को सफल बनाने मे अनिल दुबे, रोशनी पाण्डे व कृष्णकुमार का सहयोग रहा।

जिले में 1 मई से पॉलीथीन, प्लास्टिक व थर्माकोल से बने डिस्पोजल प्रतिबंधित

कटनी / पॉलीथीन, प्लास्टिक व थर्माकोल से बने डिस्पोजल पूर्णतः प्रतिबंधित कर दिये गये हैं। इसका आदेश धारा 144 दण्डप्रक्रिया संहिता 1973 के तहत कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी विशेष गढ़पाले ने जारी कर दिया है। बहरहाल यह आदेश 1 मई 2017 से सम्पूर्ण जिले में प्रभावशील होगा। जारी किये गये आदेश में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने भारत के राजपत्र में प्रकाशित संयुक्त सचिव, पर्यावरण एवं वन मंत्रालय नई दिल्ली और राष्ट्रीय हरित अधिकरण मध्य जोन, बैंच भोपाल के द्वारा इस संदर्भ में पारित आदेश को भी कोड किया है।
              आदेश को लेकर कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने शासन के निर्देशों के मद्धेनजर सभी संबंधित सक्षम अधिकारियों से विचार-विमर्श किया। जिसमें सभी के द्वारा पॉलीथीन के उपयोग को मानवक्षेम, जीव-जन्तु, जानवरों, पेड़-पौधों के लिये हानिकारक व वायुमण्डल प्रदूषित करने वाला साथ ही स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डालने वाला बताया गया। इस कारण पॉलीथीन तथा प्लास्टिक, थर्माकोल से बने डिस्पोजेबल बर्तनों के विनिर्माण, विक्रय तथा भण्डारण एवं उनके उपयोग पर प्रतिबंध लगाया जाना आवश्यक था। जिसके मद्धेनजर जिला मजिस्ट्रेट विशेष गढ़पाले ने प्लास्टिक बैग व प्लास्टिक व थर्माकोल से बने डिस्पोजेबल बर्तनों के विनिर्माण, विक्रय तथा भण्डारण पर रोक लगाये जाने के लिये धारा 144 दण्डप्रक्रिया संहिता के प्रावधानों के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिया है।
आदेश के तहत इन पर रहेगा प्रतिबंध, उल्लंघन पर होगी कार्यवाही
                इस आदेश के तहत 1 मई 2017 से कोई भी व्यक्ति 40 माईक्रॉन से कम के पॉलीथीन या उससे बने कैरीबैग या अन्य पैकेट का उपयोग नहीं करेगा। थर्माकोल व प्लास्टिक से बने हुये डिस्पोजेबल बर्तन थाली, प्लेट व कटोरी का उपयोग नहीं करेगा। साथ ही थर्माकोल अथवा प्लास्टिक के डिस्पोजेबल बर्तन जैसे ग्लास, दोना, चम्मच इत्यादि के उपयोग पर भी प्रतिबंध रहेगा। सम्पूर्ण कटनी जिले मे इनके निर्माण, व्यापार, भण्डारण तथा उपयोग को प्रतिबंधित करते हुये इस आदेश का उल्लंघन करते पाये जाने पर त्रुटिकर्ता संस्था, व्यापारी, उद्योगपति या अन्य के विरुद्व अधिनियम के प्रावधानों के तहत कार्यवाही की जायेगी।

भण्डारण, विक्रय, वितरण और उपयोग के दोरान यह शर्तें करनी होंगी पूरी
                जिला मजिस्ट्रेट विशेष गढ़पाले द्वारा जारी प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत पॉलीथीन, प्लास्टिक व थर्माकोल के सैशे के विनिर्माण में भण्डारण, वितरण, विक्रय और उपयोग के दौरान कुछ शर्तें पूरी करनी होंगी। जिसमें कैरीबैग या तो सफेद या केवल उन रंगों के अनुसार होंगे, जो खाद्य सामग्री, भेषजीय पदार्थों और पीने के पानी के संपर्क में आने वाली प्लास्टिक के उपयोग के लिये समय-समय पर यथा संशोधित रंगकों की सूची भारतीय मानक ब्यूरो के निर्देश के अनुरुप हैं।
                कोई भी व्यक्ति खाद्य सामग्री को भण्डार करने, वहन करने, वितरण करने या पैकेजिंग करने के लिये पुनः रिसाईकल्ड या कंपोस्ट योग्य प्लास्टिकों से बनें कैरी बैगों का उपयोग नहीं करेगा। साथ ही कोई भी व्यक्ति 40 माईक्रॉन से कम पुनः चक्रित या कंपोस्ट योग्य प्लास्टिक से बने किसी कैरीबैग का विनिर्माण, भण्डारण, वितरण व विक्रय नहीं करेगा।
                इसके साथ ही गुटखा, तम्बाखू और पान मसाला के भण्डारण, पैकिंग या बिक्री के लिये प्लास्टिक सामग्री युक्त सैशे का उपयोग नहीं किया जायेगा। साथ ही समय-समय पर शासन द्वारा जारी निर्देशों एवं भारतीय मानक ब्यूरो के द्वारा कंपोस्ट योग्य प्लास्टिक के लिये जारी आदेशों का पालन करना होगा।
पॉलीथीन या प्लास्टिक व थर्माकोल के उपयोग से होती हैं ये समस्यायें
                गौरतलब है कि पॉलीथीन, प्लास्टिक व थर्माकोल के उपयोग से जहां पर्यावरणीय नुकसान होता है। वहीं पशुजीवन के लिये यह खतरा भी है। इनके कारण सफोकेशन से ना सिर्फ पशु बल्कि नवजान शिशु व एवं  छोटे बच्चे भी प्लास्टिक व पॉलीथीन के कारण अपनी जान गवां देते हैं। क्योंकि पॉलीथीन, प्लास्टिक बैग पतली एवं एयरटाईट होती है। इससे यह बच्चों की मुंह एवं स्वांसनली बंद कर देती है। इनके कारण प्रदूषण भी फैलता है। जोकि लंबे समय तक क्षारित नहीं होता है। इनको जलाने से हारिकारक धुंआ निकलता है। जिससे वायु प्रदूषण बढ़ता है। उल्लेखनीय है कि पॉलीथीन को खुले में जलाने से हाईड्रोजन साईनाइड गैस निकलती है, जो कैंसर का कारक भी है। साथ ही यह अनविकरणीय भी है। क्योंकि पेट्रोकैमिकल से बने होने के कारण पॉलीथीन/प्लास्टिक व थर्माकोल नवीकरणीय नहीं है। इनको पेपर बैग की तरह रिसाईकल नहीं किया जा सकता।
                इनसे कृषि पर भी कुप्रभाव पड़ता है। इनमें निस्तारण व्यवस्था का भी अभाव है। साथ ही नालियों
एवं पाईपों में जलभराव की स्थिति भी पॉलीथीन, प्लास्टिक व थर्माकोल के कारण होती है। जो कि बाढ़ आने का भी महत्वपूर्ण कारण है। साथ ही सामान्यतः पॉलीथीन के बैग, प्लास्टिक खाद्य पदार्थों के रखने के लिये उपयोग किये जाते हैं। यह पाया जाता है कि रंगीन पॉलीथीन बैग एवं प्लास्टिक में लैड एवं कैडियम पाया जाता है। जो कि जहरीला है एवं मानव स्वास्थ्य के लिय हानिकारक भी होता है। इन सब को मद्धेनजर रखते हुये यह प्रतिबंधात्मक आदेश जिला मजिस्ट्रेट द्वारा जारी किया गया है।

Wednesday, February 15, 2017

शासकीय विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों की मोबाईल एप से निगरानी

कटनी / घर पर बैठकर गलत रिर्पोटिंग अब नहीं चलेगी, या यूॅं कहें कि सिर्फ बात करने वाले और काम नहीं करने वाले शासकीय सेवकों द्वारा अपने विभाग प्रमुख को बरगलाना और गलत जानकारी देना अब उनके गले की फांस साबित हो सकता है। क्यों कि जिला ई-गवर्नेंस सोसाईटी द्वारा कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर अटेंडेंस एण्ड टूर मॉनीटरिंग एप व पोर्टल का निर्माण कराया गया है। ’’लोकसेवक कटनी’’ के नाम से बनाये गये इस एप के द्वारा बस फोटो क्लिक करने पर ही ग्रामीण अंचल में पदस्थ सचिव, रोजगार सहायक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा कार्यकर्ता की उपस्थिति दर्ज की जायेगी। वहीं स्वयं कलेक्टर से लेकर सभी विभागों के फील्ड ऑफीसर निरीक्षण के दौरान स्पॉट से फोटो क्लिक कर अपने टूर की जानकारी दे पायेंगे।
            एप के साथ ही बनाये गये पोर्टल पर विभागवार सिंक्रोनाईज होकर यह जानकारी लेंगीट्यूड और लॉंगीट्यूड के साथ ही उस स्थान की जानकारी देते हुये अपलोड हो जायेगी। जिससे विभाग प्रमुख व कलेक्टर पोर्टल पर जाकर सीधे ही पता लगा सकेंगे कि, अटेंडेंस कितने बजे और किस स्थान से लगाई गई है। साथ ही फील्ड पर दौरा करने वाले अधिकारी हकीकत में फील्ड पर हैं या नहीं। वहीं अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा महज एक ही गांव या एक ही क्षेत्र का दौरा तो नहीं किया जा रहा है। कौन काम कर रहा है और कौन काम चोरी, इसकी जानकारी अब महज इस एप और पोर्टल के माध्यम से एक क्लिक पर मिलेगी।
            यह मोबाईल एप लापरवाही और हीलाहवाली करने वाले शासकीय सेवकों के लिये जहां नकेल कसने में सहायक होगा। वहीं अब किसी की भी बहानेबाजी नहीं चलेगी। प्रत्येक गतिविधि पर प्रशासन की पैनी नजर रहेगी।
लॉगिन करते ही लगेगी अटेंडेंस
लोकसेवकों की उपस्थिति एवं भ्रमण की रिर्पोटिंग हेतु बनाये गये इस एप में प्रतिदिन की उपस्थिति एवं भ्रमण की रिर्पोटिंग की जानी है। लोकसेवक एप ओपन करते ही लॉगिन पेज ओपन होगा। जिसमें लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालकर फोटो क्लिक करना होगा। कैप्चर बटन क्लिक करते ही फोटो खिच जायेगी और लॉगिन बटन क्लिक करते ही अटेंडेंस दर्ज हो जायेगी।
विभाग प्रमुख पोर्टल से ही दे सकेंगे टास्क
            जिला प्रशासन द्वारा तैयार कराये गये इस डायनेमिक अटेंडेंस एण्ड टूर मॉनीटरिंग एप एवं पोर्टल में टास्क आवंटित करने का भी फीचर रख गया है। जिसमें पोर्टल के माध्यम से विभाग प्रमुख अपने अधिनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को रुटीन कार्य के साथ ही सौंपे गये अतिरिक्त टास्क के हिसाब से मैपिंग कर पायेंगे। साथ ही यह टास्क सौंपे गये सभी उन शासकीय सेवकों के मोबाईल एप पर टास्क ऑप्शन में दिखाई देगा। जिससे शासकीय सेवकों को उस स्पेशल टास्क की जानकारी भी सुगमता से प्राप्त हो पायेगी।
समूह सूचना के लिये नोटिफिकेशन का भी है ऑप्शन
            लोकसेवक कटनी मोबाईल एप में सूचना के त्वरित संप्रेषण के लिये नोटिफिकेशन का भी ऑप्शन दिया गया है। जिसके माध्यम से कलेक्टर एवं विभाग प्रमुख द्वारा अपने अधिकारियों व कर्मचारियों को एक साथ महत्वपूर्ण सूचना या कार्य की जानकारी नोटिफिकेशन के द्वारा एक साथ सभी को दी जा सकेगी।
कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर इंदौर से आये इंजीनियर्स द्वारा कटनी जिला प्रशासन के लिये लोकसेवक एप बनाया गया है। जिसके माध्यम से प्रत्येक शासकीय विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों की सतत् निगरानी होगी। उनकी प्रत्येक गतिविधियां जिला प्रशासन की निगाहों में होगी। कोई भी कर्मचारी, अधिकारी बहानेबाजी कर बच नहीं सकता। हर एक को फील्ड में जाकर वास्तव में कार्य करना होगा और किये गये कार्य की रिपोर्ट से तत्काल अवगत कराना होगा।
            इस एप की जद में प्रत्येक शासकीय/अर्धशासकीय विभाग रहेगा। कलेक्टर ने शासकीय विभागों के अलावा शिक्षा विभाग, सकूल, जनपद पंचायतें, नगर निगम, नगरीय निकाय सहित अन्य सभी विभाग आयेंगे। मोबाईल के माध्यम से प्रत्येक अधिकारी, कर्मचारी की लोकेशन एवं गतिविधियों पर निगाह रखी जा सकेगी। इसमें काम ना करने वालों की खैर नहीं होगी और उनके किसी भी तरह के बहाने नहीं चलेंगे।
इस तरह होगी टूर मॉनीटरिंग
            लोकसेवक कटनी मोबाईल एप में टूर की जानकारी एप में डालने के लिये डैशबोर्ड के बाई ओर नीचे की तरफ एक्टिविटी बटन क्लिक कर पेज ओपन होते ही उसमें एड एक्टिविटी बटन क्लिक करनी होगी। पेज ओपन होने पर अपने विकासखण्ड या संबंधित विभाग को चयनितकर कैमरे की बटन पर क्लिक कर निरीक्षण स्थल की फोटो एवं कैप्चर कर कार्य योजना का चयन कर नोटिंग निरीक्षण का विवरण दर्ज कराकर सबमिट बटन क्लिक कर अलर्ट मैसेज डिस्प्ले होने पर यस क्लिक करते ही आपकी एक्टिविटी दर्ज हो जायेगी। इसकी मॉनीटरिंग पोर्टल पर कुछ ही क्षणों में विभाग प्रमुख एवं कलेक्टर द्वारा की जा सकेगी।
जिनके पास एन्ड्रॉईड स्मार्टफोन नहीं, उनके लिये यह व्यवस्था
            जिन शासकीय सेवकों के पास एन्ड्रॉईड स्मार्ट फोन नहीं हैं, वे ग्राम के रोजगार सहायक, सचिव, शिक्षक या अन्य कर्मचारियों के फोन का उपयोग कर अपनी उपस्थिति डालेंगे। एैसे समय में संबंधित शासकीय सेवक की फोटो ही मान्य की जायेगी। किसी कारणवश ईकाई, गांव में किसी भी शासकीय सेवक के पास स्मार्टफोन ना होने की दशा में ग्राम के निवासी के स्मार्टफोन का उपयोग किया जा सकता है। इस एप का उपयोग पूर्णतः निःशुल्क रहेगा।
मोबाईल इंटरनेट नहीं होने पर भी ऑफलाईन काम करेगा एप



            स्पॉट पर मोबाईल में इंटरनेट नहीं होने पर भी एैसेे क्षेत्रों में भी यह एप निरंतर चलेगा। मौके पर मोबाईल में नेटवर्क नहीं होने पर भी इसका उपयोग किया जा सकेगा। शासकीय सेवक को निर्धारित समय पर अपने कार्यक्षेत्र में उपस्थित होना होगा, भ्रमण करना होगा। एप का उपयोग कर एंट्री कर डाटा एप पर अपलोड कराना होगा। इसके बाद नेटवर्क क्षेत्र में आने के बाद इंटरनेट डाटा ऑन कर सिंक बटन पर क्लिक कर डाटा सिंक्रोनाईज किया जा सकेगा।
फरवरी माह में ट्रायल, तो 1 मार्च से एप रिपोर्ट पर ही आहरित होगा वेतन
            कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने निर्देश दिये हैं कि एप पर उपस्थिति, भ्रमण एवं सभी स्तर की रिपोर्ट प्रत्येक शासकीय सेवक को रोजना डालनी होगी। एप को उपस्थिति मानकर कार्य होगा। ऑफलाईन उपस्थिति मान्य नहीं होगी। विभाग के आहरण एवं संवितरण अधिकारी वेतन आहरण करते समय संबंधित प्रत्येक माह रिपोर्ट जनरेट कर तदानुसार, नियमानुसार कार्यवाही करेंगे। शासकीय सेवक के अवकाश पर रहने पर इस रिपोर्ट में अवगत कराना होगा। फरवरी 2017 से ट्रायल मोड पर एप का शुभारंभ किया गया है। आगामी माह मार्च 2017 से एप आधारित उपस्थिति एवं भ्रमण प्रतिवेदन के आधार पर ही वेतन आहरित होगा। निर्देशों के पालन ना करने वाले पर अनुशासनहीनता की कार्यवाही की जायेगी।
विभाग प्रमुखों व विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण
            लोकसेवक कटनी मोबाईल एप का प्रशिक्षण भी ई-दक्ष केन्द्र में जिला ई-गवर्नेंस सोसाईटी और ब्रेनवेयर इंफोसॉफ्ट प्राईवेट लिमिटेड के अधिकारियों ने विभाग प्रमुखों और विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों को पृथक-पृथक पालियों में प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें मोबाईल एप के साथ ही पोर्टल की बारीकियां अधिकारियों को बताई गईं। ये अधिकारी अपने अधिनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों को इसका प्रशिक्षण देंगे।

Tuesday, February 14, 2017

मोबाईल एप के माध्यम से नगर निगम में सफाई से जुड़ी शिकायत दर्ज करें

कटनी / भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन नगरीय प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 के अंतर्गत कटनी नगर को नंबर 1 बनाये जाने हेतु स्वच्छता मोबाईल एप अपनें स्मार्ट/एन्ड्रायड फोन डाउनलोड करनें हेतु नगर निगम प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में महापौर शशांक श्रीवास्तव, निगमायुक्त संजय जैन की उपस्थिति में शासकीय महिला महाविद्यालय कटनी की छात्रा कुमारी आकृति दुबे एवं अन्य के मोबाईल पर स्वच्छता एप डाउनलोड कराकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।
   नगर की सफाई व्यवस्था को सुदृण किये जाने एवं नागरिकों को घर बैठे अच्छी सुविधा उपलब्ध कराये जाने के उद्धेश्य से भारत सरकार द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 के अंतर्गत यह योजना चालू की गई है। स्वच्छता एप के अंतर्गत गूगल प्ले स्टोर पर जाकर स्वच्छता एप डाउनलोड करनें के बाद  Swachhta - MoUD  एप को सर्च करने  के पश्चात install button को चयनित करें, नियम एवं शर्तो को स्वीकार करनें के पश्चात स्वच्छता एप सफलता पूर्वक स्थापित करनें के पश्चात स्टेपों के माध्यम से शिकायतों को दर्ज किया जा सकेगा। आपनें जानकारी देते हुए बताया कि अपने मोबाईल मे स्वच्छता एप दिखाकर निगम कार्यालय में लगाये गए स्टॅाल से लकी ड्रा के कूपन 28 फरवरी तक प्राप्त कर सकते है। लकी ड्रा 02 मार्च 2017 दिन गुरूवार को खेला जावेगा। लकी ड्रा के अंतर्गत प्रथम पुरूस्कार एल.सी.डी.टी.व्ही, द्धितीय पुरूस्कार फ्रिज एवं तृतीय पुरूस्कार वाशिंग मशीन प्रदान की जावेगी।
  महापौर शशांक श्रीवास्तव नें समस्त नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि सभी इस एप को अधिक से अधिक डाउनलोड करें ताकि घर बेठे मोबाईल के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कराकर अपनी गली, मोहल्ला, शहर को साफ एवं स्वच्छ बनानें में निगम प्रशासन का सहयोग प्रदान करेें।
  कार्यक्रम के दौरान पार्षद सर्व केशराम विश्कर्मा, उपयंत्री आदेश जैन, कमल किशोर झा, हाफिज ताफीक अहमद कुरैशी, वीरेन्द्र परिहार  पंकज निगम, प्रकाश पाण्डेय, नागार्जन रेडडी, कमल किशोर परिहार आशुतोष पाण्डेय सहित महिला काॅलेज की छात्राओं एवं अन्य जनों की उपस्थिति रही।


करौंदी और सुरकी डैम होगा पर्यटन स्थल के रुप में विकसित

कटनी / देश का केन्द्र बिन्दु करौंदी कटनी जिले में आता है। इसका महत्व सम्पूर्ण देश के पटल पर उभरकर आये, इस दिशा में सार्थक प्रयास किये जायेंगे। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग द्वारा इसे विकसित व संधारित करने के लिये कार्ययोजना बनाई जा रही है। साथ ही सुरकी डैम को भी जिले में पर्यटन स्थल के रुप में विकसित करना हमारा उद्देश्य है। यह बात मंगलवार को जागृति पार्क में आयोजित पर्यटन विकास समिति एवं जिला पर्यावरण विकास संधारण समिति की बैठक में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने कही। उन्होने बताया कि सम्पूर्ण जिले में सुरकी डैम अपनी पहचान छोड़े। इसलिये प्रयोग के तौर पर शीघ्र ही वहां पर एडवेंचर्स स्पोर्टस का अयोजन करने की कार्ययोजना बनाई जा रही है।

अमृत योजना के तहत जागृति पार्क का भी होगा विकास
            बैठक में महापौर शशांक श्रीवास्तव ने कहा कि अमृत योजना के तहत जिले के 8 पार्कों में विकास किया जायेगा। जिसमें जागृति पार्क भी शामिल है। इस योजना से पार्कों को विकसित कर जिले के नागरिकों को एक ऐसा स्थान जहां उन्हें कुछ देर सुकून के मिलें। इसके लिये पार्कों का विकास और इनमें सुविधायें मुहैया कराई जायेंगी।
पार्क में व्यायाम के लिये जिम होगा शुरु
            जागृति पार्क में नागरिकों के लिये जहां एक ओर बेहतर व्यवस्थायें कराई गईं हैं। उन्हें बैठने के लिये चेयर्स, घूमने के लिये ट्रेक, म्युजिक सिस्टम, फाउंटेन आदि की व्यवस्थायें हैं। बच्चों के लिये झूले और मनोरंजन के साधन उपलब्ध हैं। वहीं अब इस पार्क में व्यायाम के लिये जिम की व्यवस्था होगी। कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने बैठक में निर्देश दिये कि शीघ्र ही जिम चालू कराया जाये। जिससे इस पार्क में आने वाले व्यक्तियों को व्यायाम की भी सुविधा इसी पार्क में उपलब्ध हो सके।
साईंस पार्क को समिति को करें हेंडओवर
            कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने जिला शिक्षा केन्द्र के डीपीसी को आयोजित बैठक में निर्देश दिये कि तत्काल जागृति पार्क की समिति को साईंस पार्क हेंडओवर करें। ध्यान रखें, इस कार्य में विलंब ना हो। ताकि उसका संधारण भी बेहतर ढंग से किया जा सके।
            जागृति समिति द्वारा रोटी कुटी के बेहतर प्रबंधन पर कलेक्टर ने उन्हें धन्यवाद भी ज्ञापित किया। साथ ही 16 फरवरी को नगर निगम में आयोजित दिव्यांग परीक्षण शिविर और 27 फरवरी को जिला चिकित्सालय में आयोजित होने वाले मुख्यमंत्री चिकित्सा शिविर में सक्रिय सहभागिता की अपील की। जिला पर्यावरण विकास संधारण समिति की बैठक में जागृति पार्क में आने वाले नागरिकों के मद्धेनजर अन्य गतिविधियों को प्रारंभ करने का भी निर्णय लिया गया।

Monday, February 13, 2017

बाल अधिकारों एवं उनके संरक्षण पर कार्यशाला का हुआ आयोजन

कटनी/ माधवनगर स्थित शिकागो पब्लिक स्कूल में बाल-अधिकारों और उनके संरक्षण पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम राकेश अग्रवाल अध्यक्ष, बाल संरक्षण न्यायपीठ के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर विघालय के समस्त शिक्षक व कर्मचारी उपस्थित रहे। सर्वप्रथम प्राचार्य आर.एल.निगम ने विघालय परिवार की ओर से श्री अग्रवाल का पुष्प गुच्छ से स्वागत व अभिन्नदन किया। बालकों के अधिकारों और उनके हितों की रक्षा, उनके प्रति दायित्वों की जानकारी विस्तार से श्री अग्रवाल द्वारा ‘‘लैगिंक अपराधों से बालकों का संरक्षण नियम 2012‘‘ एवं ‘‘किशोर न्याय अधिनियम 2015‘‘ की जानकारी दी गई। श्री अग्रवाल ने बालकों को किसी भी प्रकार का शारीरिक, मानसिक दण्ड देने, उनके प्रति भेदभाव करने, उनकी उपेक्षा, होने पर माननीय न्यायालय द्वारा निर्धारित दण्ड से अवगत कराया साथ ही अभिभावकों द्वारा भी निभाए जाने वाले दायित्वों की जानकारी दी।

उपस्थित शिक्षकों, कर्मचारियों द्वारा पूछे गए विभिन्न जिज्ञासु प्रश्नों का समाधान बहुत सहज तरीके से श्री अग्रवाल द्वारा किया गया। शाला संचालक मोहन नागवानी द्वारा अभिभावकों के लिए भी एक मार्गदर्शक कार्यशाला मे उपस्थित होकर आवश्यक निर्देश व जानकारी देने का प्रस्ताव रखा गया जिसे श्री अग्रवाल ने सहर्ष स्वीकार करते हुए निकट भविष्य मेे सम्पन्न करने की बात की। कार्यशाला का समापन श्री नागवानी के आभार प्रदर्शन के साथ हुआ। कार्यशाला मे कु.श्रुति अग्रवाल एवं अंजलि बंसल उपस्थित रही। शाला परिवार की संस्था प्रभारी श्रीमती सरोज दुबे, रानी खरे, भारती नागवानी, कन्हैयालाल जी एवं अशोक राजश्री एवं समस्त स्टाफ उपस्थिति एवं योगदान उल्लेखनीय रहा।

Wednesday, February 08, 2017

135 करोड़ के 37 निर्माण कार्यों का राज्यमंत्री ने किया भूमि पूजन

कटनी /  नगर उदय अभियान कार्यक्रम के दौरान 135 करोड़ के 37 से अधिक विकास कार्यों के भूमिपूजन एवं लोकार्पण समारोह  को प्रदेश शासन के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संजय सत्येन्द्र पाठक ने उद्घाटित किया
देश में प्रधानमंत्री एवं प्रदेश में मुख्यमंत्री ने सही मायनों में सरकार की सार्थकता सिद्ध की है - राज्यमंत्री 
            राज्यमंत्री श्री पाठक ने कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सही अर्थों में सरकार क्या होती है, इसकी सार्थकता को सिद्ध करते हुये प्रभावी कदम उठाये हैं। सही राजा वही होता है, जो जनता का सच्चा सेवक होता है। पेयजल, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ-साथ मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के साथ सभी को लाभांवित कराया है।
            नगर उदय अभियान में कटनी में 24 हजार से अधिक हितग्राहियों को शासन की विभिन्न योजनाओं से लाभांवित कराया जा रहा है। गरीबजन के सपनों को साकार कर उनको जमीन का टुकड़ा देकर मकान का मालिक बनाने शासन की योजना से लाभांवित कराना मुख्यमंत्री श्री चौहान की प्राथमिक में शुमार है। शौचालय निर्माण एवं स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर एवं गांव को खुले में शौच मुक्त करना भी प्रदेश की प्राथमिकता में शामिल है। स्वच्छता अभियान में कटनी सहित मध्यप्रदेश के 4 शहर प्रथम 10 में शामिल होना गौरव की बात है।
पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सिद्धांतों को अमली जामा पहनाने में जुटे हैं मुख्यमंत्री
            शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं में समाज के हर वर्ग को तरजीह दी गई है। गर्भवती महिलाओं के लिये पोषण आहार, बच्चों के लिये टीकाकरण, विद्यार्थियों के लिये शिक्षा हेतु निःशुल्क पुस्तक उपलब्ध कराना, साईकिल वितरण, मध्यान्ह भोजन के माध्यम से विद्यार्थियों के लिये पौष्टिक आहार उपलब्ध कराना, स्वरोजगार एवं मुख्यमंत्री उद्यमी योजना व अन्य उद्योगों के माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, नौकरियों में महिलाओं के लिय आरक्षण, तीर्थदर्शन योजना के माध्यम से बुजुर्गों को उनके मनचाहे तीर्थ की यात्रा कराना ये सब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की देन है। मुख्यमंत्री द्वारा वर्तमान में ही नहीं आने वाले 100 वर्षों से अधिक की विकास योजनायें, पानी, पेयजल, सिंचाई, शिक्षा, स्वास्थ्य व अन्य दूरगामी योजनाओं का क्रियान्वयन कराकर प्रदेश को देश में नंबर वन बनाने में जुटे हुये हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने जो बीड़ा उठाया है, उससे आने वाली 25 पीढि़यां लाभांवित होंगी।
            नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा के माध्यम से प्रदेश को खुशहाल एवं पेयजल से समृद्व बनाने निरंतर यात्रा जारी है। हर खेत को पानी, 24 घंटे बिजली जीवनदायिनी मां नर्मदा से ही प्राप्त होगा। राज्यमंत्री श्री पाठक ने इस अवसर पर प्रदेश शासन की सभी जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन पर विस्तार से प्रकाश डाला।
राज्मंत्री श्री पाठक ने कैमोर एवं विजयराघवगढ़ में भी नगर उदय अभियान के तहत विकास कार्यों का किया भूमि पूजन
            राज्यमंत्री श्री संजय सत्येन्द्र पाठक द्वारा जिले के कैमोर एवं विजयराघवगढ़ के नगरीय निकायों में भी नगर उदय अभियान की शुरुआत करते हुये जनकल्याणकारी योजनाओं से हितग्राहियों को लाभांवित कराते हुये कई करोड़ के विकास कार्यो की आधारशिला रखी।

         
मुख्यमंत्री की देन प्रदेश का सर्वागीण विकास - विधायक संदीप जायसवाल
            क्षेत्रीय विधायक संदीप जायसवाल ने नगर उदय अभियान कार्यक्रम में कहा कि प्रदेश शासन के माध्यम से प्रदेश में सभी वर्गों के लोगों के कल्याण हेतु जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मंशानुरुप जिला प्रशासन द्वारा लाभांवित कराया जा रहा है। कटनी जिले में निरंतर विकास के कार्य हो रहे हैं। वहीं जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से सभी को लाभ दिया जाकर कार्यक्रम की सार्थकता को सिद्ध किया जा रहा है। भाजपा सरकार में जितने कार्य हुये हैं, आज तक उतने कार्य किसी भी सरकार ने नहीं कराये।
            गरीबी रेखा कार्ड धारियों को विभिन्न रोगोें के इलाज के लिये सहायता राशि प्राप्त होती थी। किन्तु गरीबी रेखा से उपर जीवन यापन करने वाले गरीब व मध्यम वर्गीय परिवार, जो केंसर, किडनी, हार्ट सहित अन्य गंभीर बीमारियों का महंगा इलाज कराने में समर्थ नहीं थे। उनके भी उपचार हेतु चिन्तित मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश शासन द्वारा सभी जिलों में विशेष चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। कटनी में 27 फरवरी को यह शिविर आयोजित किया गया है। इस शिविर में अधिक से अधिक मरीजों को भेजकर उनकी जांच कराकर निःशुल्क उपचार कराने हेतु सभी नागरिक आगे आयें और एैसे जरुरतमंद मरीजों को शिविर में भेजकर या भेजन के लिये प्रोत्साहित कर पुण्य के सहभागी बनें। इस शिविर में देश के बड़े-बड़े डॉक्टरों का आगमन होगा, जो मरीजों का परीक्षण करेंगे।
मुख्यमंत्री के संकल्पों को पूर्ण करने हेतु हम सभी जी-जान से जुटें - पद्मा शुक्ला अध्यक्ष समाज कल्याण बोर्ड
            समाज कल्याण बोर्ड की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती पद्यमा शुक्ला (केबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त) ने मध्यप्रदेश की बीजेपी सरकार और मुख्यमंत्री श्री चौहान के द्वारा प्रदेश में कराये जा रहे सर्वांगीण विकास का यशोगान करते हुये कहा कि मुख्यमंत्री पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्शों को पूर्ण करने में जी जान से जुटे हुये है। सीएम के नेतृत्व में प्रदेश विकास पथ पर निरंतर चल रहा है। मुख्यमंत्री ने संकल्पों को पूर्ण करने के लिये हम सभी को जी-जान से जुटना होगा।



मंचासीन अतिथियों का निगमायुक्त संजय जैन सहित अन्य ने किया स्वागत
            कार्यक्रम के प्रारंभ में राज्यमंत्री श्री पाठक, विद्यायक श्री जायसवाल, महापौर श्री श्रीवास्तव, समाज कल्याण बोर्ड अध्यक्ष श्रीमती शुक्ला, कलेक्टर विशेष गढ़पाले, भाजपा जिलाध्यक्ष पीतांबर टोपनानी, पूर्व राज्यमंत्री श्रीमती अलका जैन, पूर्व महापौर श्रीमती आशा कोहली, जनप्रतिनिधिगण मनीष पाठक, श्रीमती सीमा सोगानी, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष द्वय  चमनलाल आनंद, पंडित रामचन्द्र तिवारी सहित उपस्थित जनप्रतिनिधियों, मेयर इन काउंसिल सदस्यों, पार्षदगणों का पुष्पहार एवं पुष्प गुच्छ भेंटकर निगमायुक्त संजय जैन एवं निगम के अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा आत्मीय स्वागत किया गया।
            मुख्य अतिथि राज्यमंत्री श्री पाठक सहित मंचासीन अतिथियों में हाथठेला हितग्राही प्रीति बर्मन, चिरौंजी पटैल, पथ विक्रय के हितग्राही संतोष चौधरी, शायरा बेगम, समीरा बानों सहित अन्य सभी योजनाओं के हितग्राहियों के मंच के माध्यम से लाभांवित किया। इसके पूर्व वैदिक मंत्रोच्चार के मध्य मुख्य अतिथि एवं मंचासीन अतिथियों द्वारा पूजा अर्चना कर 135 करोड़ के निर्माण कार्यों के भूमि पूजन समारोह की शुरुआत की।
            कार्यक्रम की शुरुआत पंडित दीनदयाल उपाध्याय के तैलचित्र पर मंचासीन अतिथियों द्वारा माल्यापर्ण कर एवं दीप प्रज्वलन कर की गई। कार्यक्रम का संचालन राजेन्द्र असाटी एवं आभार प्रदर्शन निगमायुक्त संजय जैन एवं एमआईसी सदस्य सीमा सोगानी द्वारा किया गया।

Monday, February 06, 2017

नवजात को मृत बताने वाले मामले में एसडीएम को जॉंच के आदेश

कटनी /  जिला चिकित्सालय में नवजात को मृत बताने के बाद निजी नर्सिंग होम में सफल प्रसव होने के प्रकरण को कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने गंभीरता से लिया है। सोमवार को टीएल बैठक में कलेक्टर ने इस विषय पर सिविल सर्जन से जानकारी चाही जिसपर इसकी संक्षिप्त जानकारी सिविल सर्जन द्वारा दी गई। मामले की गंभीरता को समझते हुये कलेक्टर श्री गढ़पाले ने इस सम्पूर्ण प्रकरण की मजिस्ट्रेटियल जांच कराने के निर्देश दिये। उन्होने एसडीएम कटनी को इस सम्पूर्ण प्रकरण की जांच के लिये प्रभारी अधिकारी बनाया।
      गौरतलब है कि 27 जनवरी को यह मामला प्रकाश में आया था। जिसमें पन्ना जिले के मोहदरा निवासी आस्था पति आलोक जैन को 27 जनवरी को प्रसव पीड़ा के बाद जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था। लेकिन वहां पर डॉक्टर द्वारा बच्चे की पल्स ना चलने की बात कहते हुये मृत घोषित करने की बात सामने आई थी। लेकिन 28 जनवरी को निजी चिकित्सालय में बच्चे का जन्म हुआ।