Thursday, July 02, 2015

6 साल पहले बताया था .. कटनी से बांग्लादेश जा रही है नारकोटिक्स दवाईयाँ

ठीक छह साल पहले सिर्फ़ प्रबल सृष्टि ने ही प्रमुखता से बताया था कि कटनी से बांग्लादेश जा रही है नारकोटिक्स दवाईयाँ और सिलसिलेवार रुप से यह भी बताया था कि कौन कौन इसका व्यापार कर रहे है लेकिन ड्रग विभाग की घोर अकर्मण्यता और कुंभकर्णी नींद नही टूटी, टूटती भी कैसे महीना जो बंधा था, यह सिलसिला तो बहुत लंबे समय से जारी है यह तो भला हो पुलिस का जिसने 24-25 अप्रैल को चाका के पास नशे की दवा फेंसिड्रिल कफ सीरप का जखीरा बरामद कर लिया लेकिन यह तो सिर्फ़ ऊँट के मुँह में जीरे जैसा ही है वास्तविकता में बहुत बड़ी तादाद में यह और इस जैसी दूसरी नारकोटिक्स दवाये बांग्लादेश पहुँचाई जा चुकी है, पुलिस इसकी तह तक पहुँच जाए तो यह उसकी बड़ी उपलब्धि कह्लायेगी.

कटनी - मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत आने वाला ड्रग विभाग नशीली दवायो का कोई हिसाब किताब ही नही रखता जिसका फायदा उठाते हुए कम कीमत की नशीली दवाये बांग्लादेश में बिक रही है जिससे मोटा फायदा कमाया जाता है, जिस समय प्रबल सृष्टि इस गंभीर मामले को उठा रहा था तब 42- 45 रुपये वाली कफ सीरप की एक शीशी वहां 200- 250 रुपये में बिक रही थी, सूत्रों के अनुसार कई हजार पेटिया कलकत्ता के रास्ते पहुँचाई जा चुकी है, जानकारी अनुसार बनारस के दलाल से इसकी खरीद होती है और नगर के गिने चुने लोग इसकी अवैध बिक्री में लिप्त है. सूत्रों के अनुसार ऐसे मामलों में सबसे बड़ा लापरवाह ड्रग विभाग ही है वह ऐसे व्यापारियों से मिलिभगत करता है और नतीजा वह परिवार भुगतता है जो इसके आदी हो जाते है फिल्हाल सामने आए मामले में पुलिस अधीक्षक गौरव राजपूत ने सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए है और इसकी विवेचना एनकेजे टी ऐ श्रीमती गायत्री सोनी कर रही है वर्तमान में कटनी के 9 दवा व्यापारियों को नोटिस दिए गए है उनके अनुसार विवेचना और तथ्य साक्ष्य के आधार पर जो भी इन मामलों में संलिप्त होगा उसके विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी. फिलहाल किसने 35 लाख रुपये कीमत के 372 कार्टून फैंसीड्रिल कफ सीरप किस किस दवा व्यापारी के यहा जा रहे थे और कुल कितनी कफ  सीरप किस व्यापारी द्वारा खरीदी जा चुकी है, कितना टैक्स चोरी किया गया है और मुखय आरोपी कौन है ? इन्हीं सबकी जाँच पुलिस कर रही है लेकिन कई जाँच बिंदुओं को गोपनीय रखा गया है .               

Wednesday, July 01, 2015

कोई वार्ड विकास कार्यों से अछूता न रहे, प्रस्तावों में हो समानता - महापौर शशांक श्रीवास्तव

कटनी  - नगर के विभिन्न वार्डो में कराये जानें वाले विकास कार्यो के तैयार किये जानें वाले प्रस्तावों में वजट राशि को दृष्टिगत रखते हुए एकरूपता रखना नितांत आवश्यक है ताकि नगर के समस्त वार्डो में समानता से विकास कार्य हो सकें, कोई भी वार्ड विकास कार्य से अछूता न रह सके, जब सभी वार्डो का समानता से विकास होगा तभी हमारे  नगर का भी विकास होगा। उक्त बात महापौर शशांक श्रीवास्तव नें विगत दिवस आयोजित लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक के दोरान कही। 

बैठक में निगमायुक्त श्री एस.के. सिंह , विभाग के अधिकारी सुनील सिंह, अश्वनी पांण्डेय, आदेश जैन, पवन श्रीवास्तव, सुरेन्द्र मिश्रा, जायेन्द्र प्रताप सिंह बघेल, संजय मिश्रा, नागेन्द्र पटैल, विजय शर्मा, महेन्द्र सिंह परिहार, तेजभान सिंह, शेखर सौंधिया, पंकज निगम आदि की उपस्थिति रही। 

बैठक में महापौर शशांक श्रीवास्तव नें विभाग द्वारा वार्डो के विकास कार्यो के तैयार किये गए प्रस्तावों पर चर्चा की जाकर एकरूपता रखनें के निर्देश प्रदान किये। वार्डो में हो रहे अवैघ अतिक्रमणों के संबंध में जानकारी ली जानें पर आपनें नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि अवैध निर्माणों पर यदि शुरू से ही नियमानुसार कार्यवाही करी जावे तो भविष्य में होनें वाली परेशानियों का सामना नहीं करना पडेगा। निगमायुक्त श्री सिंह द्वारा सागर पुलिया के नीचे दौनों ओर हैलोजन लगानें व समस्त उपयंत्रियों को उनके अधीनस्थ समयपालों को वार्ड में सतत भ्रमण करनें व अवैध निर्माणों की सूचना तत्काल ही कार्यालय में प्रदान करनें के निर्देश दिये। 
बैठक में नगर विकास के विभिन्न मुददों मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना अंतर्गत योजना अंतर्गत माधवनगर गेट से सागर पुलिया तक पोल शिफ्टिंग एवं डिवाईडरों में एल.ई.डी लाईट लगाये जानें की अधतन स्थिति के संबंध में।  मिशन चैक से बस स्टेण्ड तक अतिक्रमणों मुक्त स्थलों में नाला निर्माण की अद्यतन जानकारी। हाउसिंग बोर्ड की दौनों कालोनियों में विकास कार्य कराये जानें के प्रस्तावों की जानकारी के संबंध में, आई.एच.एस.डी.पी योजनांतर्गत नव निर्मित भवनों के आबंटन की वर्तमान स्थिति तथा आबंटित भवनों के एक्सचेंज की कार्यवाही की अद्यतन कार्यवाही, विभिन्न वार्डो प्रगतिरत विकास कार्यो तथा निर्माण कार्य विकास कार्य जो स्वीकृत हो चुके है किन्तु प्रारंभ नहीं हुए है। टांस्पोर्ट नगर के संबंध में, भवन अनुज्ञा के लंबित प्रकरणों के नियमानुसार शीध्र निराकरण के संबंध में चर्चा की जाकर सभी कर्मचारियों को टीम भावना के रूप में ,आपस में संवाद कर सेवाभाव से कार्य करनें की बात कही ताकि कार्य अच्छी तरह से संपन्न होवे 

स्वच्छ भारत स्वच्छ विघालय के अंतर्गत निर्माण कार्यो की समीक्षा



कटनी /  जिला पंचायत के सभाकक्ष में कलेक्टर  विकास सिंह नरवाल द्वारा स्वच्छ भारत स्वच्छ विघालय अंतर्गत किये जा रहे कार्यो की समीक्षा बैठक ली गई । कलेक्टर ने निर्देश दिये कि विघालयों में शौचालय निर्माण के कार्य 10 जुलाई तक पूर्ण कर लिये जायें तथा निर्माण कार्य में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये । उन्होने निर्देशित किया कि, निर्माण कार्य में गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही की जाये । यदि निर्माण कार्य में गुणवत्ता नही पाई जाती है तो निर्माण एजेन्सी पर कार्यवाही की जावेगी । 

कलेक्टर श्री नरवाल ने कहा कि शौचालय निर्माण की राशि जारी की जा चुकी है राशि पर्याप्त
उपलब्ध है। निर्माण कार्यो में विलंब नही किया जाये । जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा में शौचालय निर्माण कराने की प्रगति कम होने पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुये जनपद शिक्षा केन्द्र के विकासखण्ड स्त्रोत समन्वयक को 03 दिवस में प्रगति लाने के निर्देश दिये। उन्होने शौचालय निर्माण कार्य में सेनेटरी, दिवाल, सीलिंग आदि के रंग में एकरूपता रखने के निर्देश दिये। 
कलेक्टर श्री नरवाल ने कहा कि शौचालय निर्माण कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नही की जावेगी। लापरवाही सामने आने पर संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी के विरूद्ध कार्यवाही की गई है । गौरतलब है कि शौचलय निर्माण में प्रगति ठीक नही होने पर सिंघनुपरी, प्राथमिक शाला के प्रभारी प्रधानाध्यपक एवं सहायक शिक्षक  किशोरीलाल चैधरी पर निलम्बन की कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है ।
    इस अवसर पर जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ0 के0डी0 त्रिपाठी, सर्व शिक्षा केन्द्र के डी.पी.सी.  आर.एस. गौतम, सहायक यंत्री  आर.आर. खान, जनपद शिक्षा केन्द्र के बी.आर.सी., मनरेगा के उपयंत्री, जन शिक्षक एवं संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे । 

नागरिकों केा डिजिटल लाॅकर सुविधा का लाभ मिलेगा


कटनी /  भारत सरकार के निर्देशानुसार डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत नागरिकों को अभिलेखों के सुगम संधारण के लिए डिजिटल लाॅकर की सुविधा प्रारंभ की गई है। इस सुविधा के माध्यम से देश के प्रत्येक नागरिकों को शासकीय क्लाउड पर आवश्यक स्थान उपलब्ध होगा जिसमें वे अपने महत्वपूर्ण अभिलेखों की स्केन अथवा डिजिटल प्रति सुरक्षित रख सकेगे। 
कलेक्टर विकास सिंह नरवाल ने बताया कि  www.digitallocker.gov.in    डिजिटल लाॅकर के लिए पोर्टल पर पंजीयन करने व उसके उपयोग करने के लिए मैन्युअल वेबसाईट पर उपलब्ध है। तकनीकी सहायकता हेतु जिला सूचना विज्ञान केन्द्र, कटनी से संपर्क किया जा सकता है।