Monday, December 30, 2013

गंजेडियो की वजह से बच्चों महिलाओं का सड़क पर निकलना हुआ मुश्किल



कटनी- माधव नगर पुलिस की लापरवाही से जगह जगह गांजे- शराब के अड्डे आबाद हो गए है, असामाजिक तत्व गांजे शराब का नशा कर सड़कों पर गाली गलौज करते रहते है जिससे शांतिप्रिय नागरिकों जा जीना दूभर हो गया है. माधव नगर से मानसरोवर कालोंनी जाने वाले मार्ग के बीच में शनि चैक के पास एक हनुमान जी का मन्दिर पड़ता है जिसमे पूरे दिन और देर रात तक गंजेडियो का जमघट लगा रहता है. गांजे का नशा करने असामाजिक तत्व यहां एक के बाद आते रहते है तथा नशा करने के बाद सड़क पर एकत्रित होकर गाली गलौज करते है इसमे ज्यादातर ऑटो चालक भी होते है, ऐसा गन्दा माहौल देखकर बच्चों - महिलाओं को सड़क से निकलने में डर भी लगता है कि उनसे कोई गलत हरकत न करदे, ऐसा लगता है पुलिस को मन्दिर जैसी जगह का नशे के अड्डे के रुप में आबाद होना काफी पसंद आ रहा है अन्यथा क्या वजह है जो मुख्य मार्ग पर ऐसा होता आ रहा है और पुलिस कोई कार्यवाही नही करती. पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को इस और तत्काल ध्यान देकर सख्त कार्यवाही करनी चाहिए जिससे बच्चों, महिलाओं या किसी भी नागरिक के साथ कोई भी अप्रिय वारदात न घटित हो पाये    

पल्स पोलियों अभियान - सभी विभागों की सहभागिता के निर्देश


कटनी/  भारतवर्ष को पोलियों मुक्त बनाने हेतु चलाये जा रहे राष्ट्रीय पल्सपोलियों अभियान के तहत जिला टास्कफोर्स बैठक की अध्यक्षता करते हुये कलेक्टर ए.के.सिंह ने उपस्थित अधिकारियो को निर्देशित किया कि वे इस राष्ट्रीय अभियान में अपनी पूर्ण सहभागिता प्रदान करे । जिससे कटनी सहित समूचे प्रदेश व देश को पोलियों मुक्त बनाया जा सकेे। 
आपने शिक्षा विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों को इस अभियान में पूर्ववत संपूर्ण सहयोग प्रदान करने हेतु निर्देश दियें। स्कूलो में प्रातः होने वाली प्रार्थना के बाद 19 जनवरी 14 को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पल्सपोलियों अभियान में 0 से लेकर 5 वर्ष तक की आयु के बच्चो को 2 बूँद दवा पिलाने हेतु जनजागरण अभियान के तहत प्रचार हेतु विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने हेतु जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश प्रदान किये।
बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी डा. संतोष जैन ने जानकारी देते हुये बतलाया कि कटनी जिले में इस अभियान के सफल संचालन के लिए 3388 अधिकारी कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। जिले में 1.88 लाख बच्चो को पोलियो प्रतिरक्षण दवा पिलाने का लक्ष्य रखागया है। इसके लिए 1625 बूथ बनाये जायेंगे जहाँ पर 0 से लेकर 5 वर्ष तक के बच्चो को 2 बूँद  जिन्दगी की दवा 19 जनवरी 14 को पिलाई जावेगी। 162 सुपरवाईजरो द्वारा संपूर्ण अभियान की निगरानी एवं मार्गदर्शन किया जावेगा। 28 मोबाईल टीमो द्वारा उक्त दिवस घूम-घूम कर ईंट भटटो, अन्य औद्योगिक संस्थानों व पहुँच विहीन स्थानो तक जाकर बच्चो को दवा पिलाने का कार्य किया जावेगा। 15 ट्रांजिट टीमो द्वारा टोलटैक्स नाको, र्बेरियर, बस स्टैन्ड व रेलवे स्टेशन सहित अन्य स्थानो पर आने-जाने वाले यात्रियो के 0 से लेकर 5 वर्ष तक के बच्चो को पोलियो प्रतिरक्षण दवा की 2-2 बूँद दवा पिलाई जावेगी। इस कार्य में आपने समस्त जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग की अपील की। 
बैठक में सीईओं जिला पंचायत  जेड.यू. शेख, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के .के. पाठक, श्रीमती रानी पासी, उपजिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती कविता बाटला, निगमायुक्त एस.के.सिंह, जिला मुख्यचिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा चौरसिया, सिविल सर्जन, डा के.के. जैन, डा यशंवत वर्मा सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

सौ दिवसीय कार्ययोजना तेजी से निपटाए


कटनी/  कलेक्टर अशोक कुमार सिंह ने आज प्रातः 11:00 बजे  कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समयसीमा बैठक की अध्यक्षता करते हुये विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि शासन की सौ दिवसीय कार्य योजना बनाकर उसका क्रियान्वयन करें तथा शासन की जनकल्याणकारी योजनाओ का भी क्रियान्वयन तय समय सीमा की भीतर करना सुनिश्चित करें। 
कलेक्टर ने अधिकारियो को आदेशित किया कि लोकसेवा की नई सेवाओं को भी समयसीमा में पूर्ण करें। एसएसएसएम साटवेयर में फीडिंग कार्य में तेजी लाकर शत्प्रतिशत फीडिंग कार्य पूर्ण करें। धार्मिक एवं धर्मस्य विभाग अंतर्गत जानकारी भेजने हेतु आदेशित किया। सामाजिक सुरक्षा पेंशन सहित अन्य पेंशनो के भुगतान समयावधि के भीतर करने, न्यायालीन प्रकरणों पर त्वरित कार्यवाही करने, अवमानना प्रकरणों पर न्यायालय में समय पर जवाब प्रस्तुत करने, धान खरीदी में लक्ष्यानुसार और अधिक तेजी लाये जाने, ओला पाला सर्वे कार्य पूर्ण करने, खाद्य सुरक्षा अंतर्गत फीडिग कार्य पूर्ण कराने, नये उद्योगो हेतु जमीन आंबटन व सुविधाएं देने, लोकसभा चुनाव तैयारियों संबंधी नये युवा मतदाताओं के नाम जोड़े जाने, डिलीसन विथ रिकार्ड के साथ नाम हटाने की कार्यवाही किये जाने, नगर निगम की आईएचएसडीपी योजना अंतर्गत आवास निर्माण में कार्य में तेजी लाने सहित अन्य कार्यो हेतु संबंधित विभागो के अधिकारियों को निर्देशित दिये ।
शासन की सौ दिवसीय कार्य योजना पर विशेष जोर देते हुये कलेक्टर ने कहा कि उक्त योजनांतर्गत कार्य प्रारंभ किया जावे। परख हेतु प्रत्येक विभागो की जानकारी प्रत्येक माह की 10 तारीख तक संकलित कर देवें। बैठक में सीईओं जिला पंचायत  जेड.यू. शेख, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के.के. पाठक, श्रीमती रानी पासी, उपजिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती कविता बाटला, निगमायुक्त  एस.के.सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे। 

Saturday, December 28, 2013

काँग्रेस के स्थापना दिवस पर मेरा संदेश


काँग्रेस जी,


बड़ी खुशी की बात है आज आप 128 साल पुरानी पार्टी हो गई है, शुरू शुरू में जब आप नौजवान थी तब आपने देश की स्वाधीनता की लड़ाई लड़ी, इस वजह से आपको देश पर राज करने का भी भरपूर अवसर मिला, चूँकि राजनीति और राज करने के क्षेत्र में सिर्फ़ आप ही थी, किन्तु बाद में जैसे जैसे लोग जाग्रत होते गए दूसरे जन भी आपके समांतर आ खड़े हुए, फिर भी आप हमेशा उनसे दो कदम आगे ही रहीं, परन्तु पिछले 2 साल से ऐसा लग रहा था जैसे आपने आम आदमी की और देखना सुनना बंद कर दिया हो, ऐसा इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि दिल्ली के राम लीला मैदान में आपसे कुछ अत्यधिक जागरूक और अत्यधिक प्रतिभावान आम आदमियों ने आपसे देश हित में कुछ माँगें रखी थी लेकिन आपने इस और ध्यान ही नही दिया जैसे यह सब बेकार बातें है या शायद आपके लोग ही आपको भ्रमित करे रहे थे, आपके कुछ लोग ऐसा मुँह चलाने लगे थे कि आम लोग उसे अपने दिल में ऐसे संभालने लगे जैसे सनद रहे वक्त पे काम आवे, आम आदमी जो माँग रहा था तब आपने दिया नही पर जब आपके समक्ष उसने अपनी योग्यता से ऐसी स्थिति परिस्थिति ही निर्मित कर दी कि अब आपके मन में इनसे सीखने की चाह फूट पड़ी है, चलो अच्छा है आपमें सीखने की ललक अब भी है, सीखने की कोई उम्र नही होती, अब आम आदमी को बागी मत बनने दो, उसे अपना साथी बना लो, अब और क्या कहूँ आप ख़ुद समझदार है, अब आगे देखना आपका काम है, कहा सुना माफ. धन्यवाद    

Friday, December 27, 2013

नागरिकों को बुनियादी सुविधांए उपलब्ध कराये अधिकारी - महापौर रूकमणि बर्मन

कटनी - नगरनिगम नागरिकों को बुनियादी सुविधांए सजगता से उपलब्ध कराये तथा नागरिको की इनसे जुडी समस्याओं का निराकरण तत्परता के साथ करें, इसमें लापरवाही पाये जानें पर संबंधित कर्मचारी के साथ ही साथ विभागीय अधिकारी के विरूद्ध भी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी, महापौर श्रीमति रूकमणि बर्मन ने आयुक्त एस.के.सिंह की उपस्थिति मे विभागीय अधिकारियों की प्रथम बैठक को संबोधित करते हुए सभी विभागीय अधिकारियों से नागरिकों की सेवा के प्रति सहयोग की अपेक्षा की व विश्वास प्रकट  किया कि सभी अधिकारी कर्मचारी सेवा भावना से कार्य करेंगे।
महापौर ने लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों को डामलीकरण कार्य मे तेजी लाये जाने, भवन निर्माण की अनुज्ञा अविवादित प्रकरणों में, तय समयसीमा एक माह मे जारी करनें के निर्देश दिये। बैठक मे सहा0 राजस्व अधिकारी ने जानकारी दी की वर्तमान मे 1 अप्रेल से अभी तक 1 करोड 42 लाख के करों की वसूली व एक करोड रूपये जल शुल्क की वसूली हुई है। महापौर श्रीमति बर्मन ने सहायाक  राजस्व अधिकारी को निर्देशित किया कि करों की वसूली मे तेजी लावे व विगत वर्ष से अधिक वसूली का कीर्तिमान स्थापित करें। 
प्रभारी विद्युत अधिकारी द्वारा जानकारी दी गई कि विद्युत मरम्मत से संबंधित सामग्री का पर्याप्त भंडार है। नगरनिगम सीमा क्षेत्र मे विद्युत मंडल द्वारा प्रकाश विहीन क्षेत्रों मे लगभग दो हजार खंभे स्थापित किये गये है, जिनमें नई फिटिंग्स लगाई जाना है, जिसकी खरीदी की कार्यवाही प्रगति पर है। महापौर ने निर्देशित किया कि विद्युत से संबंधित समस्याओं का तय समय सीमा मे निराकरण कराया जाना सुनिश्चित किया जावे।  
स्वास्थ अधिकारी ने जानकारी दी कि कीटनाशक दवाओं का पर्याप्त भंडार है। महापौर ने कहा सफाई उपरांत आवश्यकता अनुसार छिडकाव कराया जावे। आपनें कहा कि वार्डो मे कचरा उठानें के लिये ठेलों का आवश्यकता अनुसार नहीं होना मेरी जानकारी मे लाया गया है तथा यह भी देखा जाता है कि जो ट्रैक्टर  कचरा उठाने के कार्य मे लगे है उनमें पीछे पल्ला न होने के कारण पूरे रास्ते मे कचरा गिरता है। टूटे हांथ ठेलों की तत्काल मरम्मत कराई जावे व नये ठेले की खरीदी के प्रस्ताव तैयार कराये जावे तथा जिन टेक्टरों की ट्राली के पीछे के पल्ले नहीं है उनमे तत्काल पल्ले लगवाये जावें। 
बैठक मे भाजपा पार्षद दल नेता सुरेश रोचलानी, मेयर इन काउंसिल सदस्य सर्व पंकज रावत, रचना गुप्ता, पार्षद सर्व कैलाश जैन सोगानी, उपायुक्त विष्णु साहू, कार्यपाल यंत्री वाय.एस.कम्भारे, सहा यंत्री एस.के जैन, शैलेश जायसवाल, सहा आयुक्त अंबिका रावत, प्र स्वा अधिकारी महेन्द्र सिंह परिहार, लेखाधिकारी राकेश तिवारी, सहा राज अधिकारी अनिल त्रिपाठी, जागेश्वर पाठक, प्र सहा यंत्री सुधीर मिश्रा,कार्यालय अधीक्षक प्रदीप पाठक, विधि एवं खाद्य शाखा प्रभारी श्रीराम चैरसिया, योजना प्रभारी अजय मिश्रा, प्राचार्य प्रकाश पाण्डेय उपस्थित थे।   

Tuesday, December 24, 2013

आज जनसुनवाई में आए 67 आवेदन, कार्यवाही के लिए दिए गए निर्देश


कटनी/  म प्र शासन के निर्देश पर हर जिले में प्रत्येक मंगलवार को जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमे नागरिक अपनी अपनी समस्याएँ लेकर पहुँचते है, जन सुनवाई में प्राप्त होने वाले आवेदनों का समय सीमा में निराकरण किया जाता है  


इसी कड़ी में आज कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित जनसुनवाई में 67 आवेदनों को शासन के विभिन्न विभागों को कार्यवाही हेतु भेजा गया है । 
       जनसुनवाई के दौरान एडीएम दिनेश श्रीवास्तव एवं डिप्टी कलेक्टर श्रीमती कविता वाटला के समक्ष आए आवेदनों में पुलिस विभाग के 5, अनुविभागीय अधिकारी कटनी से सम्बन्धित 4, अनुविभागीय अधिकारी विजयराघवगढ़, जिला पंचायत, आयुक्त नगर निगम, अधीक्षण यंत्री विद्युत मण्डल, खाद्य विभाग, जिला योजना विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, तहसीलदार बहोरीबंद, तहसीलदार रीठी, तहसीलदार ढीमरखेड़ा, जनपद पंचायत कटनी से सम्बन्धित एक-एक, मुख्यचिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं उद्योग विभाग, तहसीलदार बड़वारा  से सम्बन्धित 3-3, तहसीलदार कटनी से सम्बन्धित 8, आदिम जाति कल्याण विभाग, जनपद पंचायत बड़वारा, जनपद पंचायत बहोरीबंद शिक्षा विभाग  से सम्बन्धित 2-2 प्रकरणों को सम्बन्धित विभागों की ओर त्वरित कार्यवाही हेतु भेजा गया है । 
        जनसुनवाई में आए प्रकरणों में जमीन पर कब्जा सम्बन्धी, धोखेबाजी से जमीन बेचने, सीमांकन, इलाज हेतु आर्थिक सहायता दिलाए जाने, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत ऋण दिलाए जाने, वृद्धावस्था पेंशन दिलाए जाने एवं कब्जे की भूमि का पट्टा दिलाए जाने के प्रकरण प्रमुख हैं ।   


 आज सुशासन दिवस मनाया गाया 

 भारत के पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा प्रधानमंत्री के रूप में स्थापित सुशासन के उच्चतम मापदण्डों को देखते हुए उनके जन्म दिवस के एक दिन पूर्व अर्थात्  24 दिसम्बर को प्रतिवर्ष सुशासन दिवस के निर्णय लिए जाने के अनुरूप कलेक्ट्रेट में आज प्रभारी कलेक्टर व जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जेड यू शेख एवं ए.डी.एम दिनेश श्रीवास्तव ने प्रदेश में सुशासन के उच्च मापदण्डों को स्थापित करने के लिए, शासन को अधिक पारदर्शी, सहभागी, जनकल्याण केन्द्रित तथा जवाबदेह बनाने के लिए हरसंभव प्रयास करने हेतु तथा नागरिकों के जीवन स्तर को सुधार लाने के लक्ष्य को पाने के लिए सभी अधिकारी / कर्मचारियों को शपथ दिलाई गई । 

पुलिस असामाजिक तत्वों से सख्ती से निपटे


गृह मंत्री  बाबूलाल गौर  ने पुलिस अधिकारियों की बैठक में की कानून-व्यवस्था की समीक्षा


 भोपाल : मंगलवार, दिसम्बर 24, 2013  / गृह एवं जेल मंत्री श्री बाबूलाल गौर ने कहा है कि प्रदेश में भयमुक्त समाज के लिये पुलिस अधिकारियों को असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्ती से निपटना चाहिये। उन्होंने कमजोर वर्ग और महिलाओं के प्रति संवेदनशील रवैया अपनाने के निर्देश दिये। श्री गौर आज पुलिस मुख्यालय में पुलिस अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इस मौके पर पुलिस महानिदेशक  नंदन दुबे भी मौजूद थे।
गृह मंत्री श्री गौर ने कहा कि पुलिस थानों में आम आदमी से संवाद कायम करने की व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा कि सुबह-शाम जब सड़कों पर ज्यादा आवाजाही होती है, उस दौरान थानों का पुलिस बल विशेष रूप से सड़कों पर गश्त करे। श्री गौर ने कहा कि थानों में अच्छा माहौल निर्मित किया जाये। थाना परिसर से जब्त वाहनों को हटाकर शहर में चिन्हित स्थान पर रखा जाये। उन्होंने थाना परिसर में वृक्षारोपण किये जाने पर भी जोर दिया।
गृह मंत्री ने कहा कि गर्ल्स कॉलेज और स्कूल के पास महिला पुलिस की गश्त पर विशेष ध्यान दिया जाये। छेड़खानी की घटनाओं में लिप्त तत्वों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये। गृह मंत्री ने कहा कि प्रदेश में बढ़ती आबादी के अनुपात में पुलिस बल में वृद्धि की जायेगी।

Thursday, December 12, 2013

अपराधों की समीक्षा, यातायात व्यवस्था सुधारने थाना प्रभारियो को प्रदान कर दिए अधिकार ..

यातायात व्यवस्था में सुधार लाने, पार्किंग व्यवस्था को दुरूस्त करने, नो एंट्री में प्रवेश करने वाले वाहनों, दो से अधिक सवारी वाले दो पहिया वाहनों, अधिक सवारी वाले आटो पर तथा ओव्हर लोडेड वाहनों पर चालानी कार्यवाही करने के सख्त निर्देश दिये गए हैं। पुलिस अधीक्षक ने समस्त थाना प्रभारियों को उनके थाना क्षेत्रों में यातायात संबंधी कार्यवाही करने के अधिकार प्रदान कर दिये हैं। अब किसी भी थाना क्षेत्र में यातायात व्यवस्था बनाये रखने के लिये थाना प्रभारी जिम्मेदार होंगे। शहर में थाना प्रभारी यातायात के अतिरिक्त शहर के तीनों थाना प्रभारी भी यातायात व्यवस्था हेतु पूर्ण रूप से सहयोग करेंगे। 

कटनी -  पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभागार में पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने दिनांक 11 दिसंबर को स्लीमनाबाद व विजयराघवगढ़ अनुभाग तथा दिनांक 12 दिसंबर को  कटनी, रीठी-बड़वारा अनुभाग के सभी थानों के अपराधों की समीक्षा की। पुलिस अधीक्षक ने सभी अधिकारियों
को विधानसभा चुनाव 2013 शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराये जाने एवं कानून व्यवस्था बिगडने जैसी स्थिति निर्मित न होने देने पर किये गये कार्यों की सराहना की एवं सभी को धन्यवाद दिया। इसके पश्चात साल के अंत में थानों में लंबित गंभीर अपराधों एवं शिकायतों आदि की समीक्षा की गई एवं निर्धारित समय में प्रकरणों में चालानी कार्यवाही करने तथा फरार आरोपियों की गिरतारी करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार पुलिस अधीक्षक ने महिला संबंधी सभी मामलों में विवेचकों के कार्यों का समय समय पर पर्यवेक्षण करने के समस्त थाना प्रभारियों को निर्देश दिये हैं, इसके साथ साथ गंभीर प्रकरणों में थाना प्रभारियों को स्वयं रूचि लेकर जांच करने निर्देश दिये गये।
पुलिस अधीक्षक ने जिले में लंबित धोखाधड़ी (420 ता.हि.) के मामलों की भी समीक्षा की, इनके निकाल हेतु विशेष कार्ययोजना तैयार की गई है, जिसके तहत 10 प्रकरणों का निकाल किया गया एवं शेष लंबित प्रकरणों के निकाल हेतु समय सीमा निर्धारित की गई है। निरीक्षक, उ.नि. एवं स.उ.नि. को समय सीमा में प्रकरण निराकरण हेतु तय समय दिया गया। पुलिस अधीक्षक ने उपस्थित थानों के सभी विवेचकों के कार्य का निर्धारण कर दिया है तथा कार्य में उदासीनता बरतने वाले पर दण्डात्मक कार्यवाही करने एवं निर्धारित कार्य को समय सीमा में पूर्ण करने पर पुरस्कृत करने के निर्देश दिये हैं।

अपराध समीक्षा के दौरान पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, उप पुलिस अधीक्षक(मु) विजय सिंह अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) स्लीमनाबाद मिथलेश तिवारी , अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) विजयराघवगढ़ विनोद सिंह तथा स्लीमनाबाद एवं विजयराघवगढ़ अनुभाग के समस्त थाना प्रभारियों की उपस्थिति रही । तथा निरीक्षक अखिल वर्मा, निरीक्षक आर.बी. पाण्डेय, रक्षित निरीक्षक राकेश पाण्डेय, निरीक्षक के.एस.द्विवेदी, उ.नि. जे. पी. द्विवेदी, सूबेदार रजनी चढ़ार एवं थानों के विवेचकों की उपस्थिति रही।

विधायक ने शुरू कर दिया काम ..



कटनी। कटनी और बहोरीबंद के किसान अपनी धान लेकर विपणन संघ के प्रांगण में भारी संख्या में पहुंच रहे हैंद्व लेकिन यहां पर पिछले वर्षों से रखा हुआ घटिया धान का भंडार एक वर्ष से नहीं उठाया गया है। इसलिए किसानों को अपनी धान रखने के लिए परिसर में जगह ही नहीं बची है। किसान खुले में धान को असुरक्षित रखकर रातभर तकवारी भी करते हैं क्योंकि परिसर में बाउंड्री नहीं है और पशुओं का प्रवेश होता है। इन सब अव्यवस्थाओं से तंग किसानों ने बुधवार शाम को फोन करके नव निर्वाचित विधायक संदीप जायसवाल को सूचना दी। विधायक ने वहां पहुंचकर उनसे बातचीत की तथा प्रबंधक एसके कटान को शिकायत बताई। एमडी ने कहा कि गुरुवार से प्लेटफार्म पर रखा हुआ धान का भंडारण हटाया जाएगा तथा किसानों को धान रखने के लिए पर्याप्त जगह मिलेगी।
किसानों ने जनप्रतिनिधि को बताया कि प्लेटफार्म खाली न रहने स उनकी अनाज की तौल दो-तीन दिन तक नहीं होती, खुले में अनाज रखकर रातभर निगरानी करनी पड़ती है। इससे उन्हें परेशानी होती है। धान की तौल को लेकर किसानों ने शिकायत नहीं की। विधायक संदीप जायसवाल ने केंद्र में धान की सुरक्षा के इंतजाम पर भी जानकारी ली। जिस पर प्रबंधक ने बताया कि वहां पर सुरक्षा गार्ड मौजूद है। बाउंड्री की फेंसिंग की मरम्मत शीघ्र करा दी जाएगी।
कटनी के किसानों ने इस अवसर पर मांग की है कि मझगवां के पास प्लेटफार्म बनकर तैयार हैं यदि वहां पर धान की खरीदी शुरु कर दी जाए तो किसानों को परेशानी नहीं होगी। विधायक ने उन्हें आश्वस्त किया कि इस संबंध में प्रशासन से शीघ्र ही बातचीत कर पहल की जाएगी।

Thursday, November 28, 2013

राष्ट्रीय मेगा लोक अदालत - अधिक से अधिक प्रकरणो के निराकरण के प्रयास किये जायें- श्री शरण जिला एवं सत्र न्यायाधीश


कटनी / आगामी 30 नवम्बर 2013 को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय मेगा लोक अदालत की तैयारियों संबंधी बैठक जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री राम प्रकाश शरण की अध्यक्षता एवं कलेक्टर श्री अशोक कुमार सिंह के विशिष्ट आतिथ्य में आज दोपहर 2 बजे जिला एवं सत्र न्यायालय कक्ष में संपन्न हुई । 
जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारा उपस्थित सभी विभाग प्रमुखो को उक्त आयोजन में अधिकाधिक सहभागिता निवाहने हेतु निर्देशित किया । आपने सभी विभागों के  अधिकारियों से कहा कि वे विभागों के अधिक से अधिक प्रकरण पूर्ण कराकर समझौता कराकर निराकण कराये । सभी विभागों के निराकृत /समझौता होने वाले प्रकरणो की संख्या सूची कल 29 नवम्बर 2013 को दोपहर 2 बजे तक अनिवार्य रुप से इस कार्यालय में भिजवायी जाए । 
कलेक्टर श्री अशोक कुमार सिंह ने इस अवसर पर जानकारी देते हुये बताया कि जिला प्रशासन की ओर से राजस्व , सामाजिक न्याय , महिला एवं बाल विकास विभाग , शिक्षा विभाग , जिला पंचायत सहित अन्य सभी विभागों के प्रकरणो की सूची कल दोपहर तक प्रेषित की जावेगी । उक्त सभी विभागों को  राष्ट्रीय मेगा लोक अदालत में अधिकाधिक सहयोग प्रदान कर प्रकरणो का निराकरण कराने हेतु आज दोपहर कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में निर्देशित किया गया है । इस आयोजन हेतु डिप्टी कलेक्टर श्री ओ.पी. सनोडियां को कोआर्डिनेटर बनाया गया है । 
पुलिस अधीक्षक श्री राजेश हिंगेणकर द्वारा भी पुलिस विभाग से संबंधित अधिकाधिक प्रकरणों के निराकरण कराने संबंधी प्रयासो की जानकारी दी गई । 
इस अवसर पर विशेष न्यायधीस श्रीमती राधा सोनकर , श्री आशुतोष मिश्रा मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट , श्री सुनील मिश्रा रजिस्ट्रार जिला न्यायालय , न्यायिक मजिस्ट्रेट गण प्रथम श्रेणी सर्व श्री आर.के.सिंह , श्री आशीष ताम्रकार , श्री कपिल नारायण भारद्वाज सहित वन , विद्युत मंडल , नगर निगम , जिला पंचायत , सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे । 

Friday, November 22, 2013

इसके कारण नेहरू जी, इन्दिरा जी का पूरा प्लस साफ़ हो जाता है ..

कटनी  -   " हिंदुस्तान में प्रधानमंत्री कौन सबसे अच्छे हुए ? तो कोई नेहरू जी का नाम लेता है, कोई इन्दिरा जी, तो कोई किसी और का नाम लेता है. मै उनको कहता हूँ आप एक एक कर सभी प्रधानमंत्रीयों के कार्यकाल का विशलेषण करिये और मैंने इसका विस्तार से विचार किया है क्योंकि मैंने सभी प्रधानमंत्रीयों के शासन को देखा है, कोई ऐसा नही जिसको नही देखा. यह ठीक है कि आरंभिक वर्षो में पत्रकार के नाते देखा, आगे चलकर 1970 के बाद पार्लियामेंट में तब से लेकर एक सांसद  के रुप में देखा और सबको देखने के बाद में हमेशा कहा करता हूँ कि नेहरू जी का नाम बहुत बड़ा है, लेकिन नेहरू जी कार्यकाल में जो अच्छे काम हुए, जिनको प्लस कहा जा सकता है और जो कमियां रही, जिनको माइनस कहा जा सकता है. उसके आधार पर उनकी अगर बैलेंस शीट निकाली जाए तो उस बैलेंस शीट में जितना प्लस है वो सब एक 1962 के चीन के हमले के कारण जिसमे चीन पर ग़लत विश्वास करना, चीन के मुकाबले अपनी सेना को सतर्क तैयार न रखना और कृष्ण मेनन जैसे एक व्यक्ति को देश का रक्षा मंत्री बना देना बहुत बड़ी गलती थी और इस माइनस के सामने पूरा प्लस साफ़ हो जाता है, बैलेंस शीट साफ़ हो जाती है. 
उसी प्रकार इन्दिरा जी बहुत अच्छी प्रधानमंत्री थी, एक बात बहुत बड़ी उन्होंने की जब पाकिस्तान ने हम पर हमला किया तो ऐसी बुरी पराजय दी, हमारी सेना के बल पर न केवल बुरी पराजय दी बल्कि पाकिस्तान के दो हिस्से करवाकर बंगलादेश को स्वतंत्र बना दिया जो एक प्लस पॉइंट है लेकिन यह प्लस पॉइंट होते हुई भी कोई इस बात को भूल नही सकता कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उनके चुनाव को अवैध घोषित किया और कहा कि उन्होंने भ्रष्टाचार के द्वारा रायबरेली का चुनाव जीता है और कानून के हिसाब से चुनाव अवैध है. उनको संसद का सदस्य होने का अधिकार नही. कोर्ट ने जब यह घोषणा कि तो इन्दिरा जी की प्रतिक्रिया यह हुई कि उन्होंने हिदुस्तान में इमरजेंसी लगा दी और जितने भी लोग यह माँग कर रहे थे कि श्रीमती गाँधी को इस्तीफा देना चाहिए सबको अन्दर डाल दिया, जयप्रकाश नारायण, चंद्रशेखर और अटल बिहारी वाजपेयी जेल भेजे गए. कुल मिलाकर इमरजेंसी के काल में एक लाख दस हजार लोग जेल में डाले गए जिसमे बहुत सारे पत्रकार भी थे यह एक धब्बा हमारे लोकतंत्र पर बन गया, 19 महीने का समय लोकतंत्र को ग्रहण लग गया था " 

 (  22 नवंबर / म प्र / कटनी में भाजपा प्रत्याशी संदीप जायसवाल के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित करते भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी )           

Wednesday, November 20, 2013

हम नही कहते लोगों से सुना है .. कठिन डगर है भैया की ..

चुनाव के मौसम में बहुत सी ऐसी बातें जिनपर वैसे तो पर्दा डला रहता है खुलकर सामने आ ही जाती है चुनाव लड़ने वाले वालों के लिए कई बातें फैलाई भी जाती है. यहा तक तो समझ में आता है लेकिन भैया के बारे में जो बताया सुनाया गया है वह इनके चुनाव से जुड़ा नही बल्कि पूर्व में बहु प्रचारित उन बातों से है जिनकी लोग कहते है अब अपने आप ही हवा निकल गई . चुनाव की टिकटें घोषित होने के बाद से ही कुछ लोग उछलते हुए बताते है कि जो व्यक्ति अपने आप को प्रदेश स्तर का नेता समझने लगा था, इनके लोग इन्हे अगला मुख्यमंत्री तक कहने लगे थे, बातें तो और भी सामने आई कि भैया कम से कम 32 टिकट दूसरों को भी दिलवा देंगे लेकिन जब अपने गृह नगर में इनके किसी समर्थक को लाख चाहने के बावजूद टिकट नही मिली तो शहर के कुछ लोग उछलने- चौकने लगे कि देखो देखो भ्रम जाल टूट गया माया जाल बिखर गया. पर हमे तो इसमे कुछ भी विशेष नही लगा क्योंकि राजनीति की तो यह श्रंगार  सामग्री है जिनके दम पर सजा सँवरा दिखा जा सकता है, भैया अभी चुनाव के मैदान में संघर्ष कर रहे है, दूसरी तरफ़ मामा को भी रहम नही आ रहा, वह भी मैदान मारने में कोई कसर नही छोड़ रहे, राह कठिन है भैया की लेकिन डटे है  कोई दूसरी न सही अपनी सीट बचालो भैया, मैदान में न रहोगे तो सचिन बिन क्रिकेट सून जैसा हो जायेगा.       

Sunday, November 17, 2013

आ गई मतदाता की बारी ...


पाँच साल बाद फिर वह दिन नजदीक आ गया है जिस दिन मतदाताओं से मिलें मतो के आधार पर प्रत्याशियों को मिलीं हार जीत से  राजनैतिक दल अपनी सरकार बनायेंगे और पाँच साल तक प्रदेश की सता पर काबिज रहेंगे. हर बार की तरह इस बार भी राजनैतिक दलों ने अपनी अपनी उपलब्धि गिनाने में कोई कसर नही छोड़ी है लेकिन मतदाता किसपर अपना भरोसा जतायेंगे यह सिर्फ़ वही जानता है. प्रदेश में पिछले 10 वर्षों से भाजपा की सरकार काबिज है और यह सता उसे अपनी योग्यताओ के बदले नहीं बल्कि काँग्रेस शासन काल में जन्मी अव्यवस्थाओ के चलते मिली है. वर्ष 2008 में हुए चुनावों में प्रदेश की जनता ने पुनः शिवराज सिंह चौहान पर ही भरोसा कर उसे सत्ता तक पहुँचाया है, इससे पहले 2003 में उमा भारती के नेतृत्व में सरकार बनी थी लेकिन बाद में उमा भारती को हाशिये पर डाल दिया गया और उनकी स्थिति आज भी वैसे ही है. भाजपा में आज शिवराज सिंह चौहान के अलावा कोई दूसरा चेहरा ही नही है हालाँकि इस बार शिवराज सिंह चौहान के लिए भी 2008 जैसी स्थिति नही है. बीते कार्यकाल में कई बातें ऐसी सामने आई जिसके चलते अब स्वर्णिम मध्यप्रदेश का नारा उतनी मज़बूती से नही कहा जाता 

 
 

कटनी - जिले की मुडवारा सीट मुख्यतः शहरी सीट है जिसपर जनता ने पिछले 10 वर्षो से भाजपा के विधायक को बिठाया है लेकिन भाजपा हर बार अपने ही विधायक को बदलती रही है . वर्ष 2008 में अलका जैन को बदलकर इस सीट से राजू पोद्दर को चुनाव में प्रत्याशी बनाया गया क्योंकि अलका जैन की स्थिति 2008 में अच्छी नही बताई जा रही थी, कुछ इसी तरह इस बार राजू पोद्दर पर भाजपा भरोसा नही कर पाई और कुछ समय पहले ही भाजपा में आए संदीप जायसवाल को प्रत्याशी बनाया है, जैसे ही इनकी टिकट  घोषित हुई भाजपा के पुराने नेता चमनलाल आनंद, रामचंद तिवारी, सुकिर्ति जैन एकजुट संदीप जायसवाल का विरोध जताने लगे थे, चमनलाल आनंद ने निर्दलीय प्रत्याशी बनकर चुनाव लड़ने का मन बनाया लेकिन बाद में उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया  था, अब भाजपा से संदीप जायसवाल और काँग्रेस से फिरोज अहमद समेत इस सीट से कुल 11 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे है लेकिन सीधी टक्कर काँग्रेस और भाजपा की ही बताई जा रही है 

शहर की आम समस्याओं से इन्हे नही मतलब 

कटनी शहर की घोर अराजक यातायात व्यवस्था हो या जगह जगह बिकने वाली अवैध शराब हो या गांजा हो, अब तो पूरे जिले में स्मैक जैसा घातक नशा भी पूरी तरह से पैर जमा चुका है. चुने हुए जनप्रतिनिधियों को इससे कोई मतलब नही की इसके दूरगामी भीषण परिणाम क्या होंगे ? जिला अथवा पुलिस प्रशासन की इस ओर लापरवाही का इन्होंने कभी विरोध नही किया . अब पुनः चुनाव का दिन नजदीक आ गया है, आम जनता को भी अपने वोट की भूमिका का महत्व समझते हुए अपने आस पास हो रहे अवैध कामों ओर जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों द्वारा निभाई गई निष्क्रिय भूमिका को देखते हुए ऐसा जनप्रतिनिधि चुनना चाहिए जो सही मायनों में इस शहर के कुरूप होते चेहरे को सुधार सकने की ईमानदार नीयत ओर माद्दा रखता हो सिर्फ़ थोथी बातों में आकर या भावनाओं में बहकर वोट देने से हम अपना भविष्य दाँव पर नही लगा सकते    



इस बार विधानसभा चुनावों में जिले में कुल मतदाताओं की संख्या 8 लाख 18 हजार 291 है, जिसमे पुरुष मतदाता 4 लाख 28 हजार 171, महिला मतदाता 3 लाख 90 हजार 98, व अन्य कुल 22 है . सर्वाधिक मतदाता मुडवारा में 211403 जिसमे पुरुष 110333 महिला 101062 व अन्य 8 है, बड़वारा में मतदाता 207050 जिसमे पुरुष 108574 महिला 98472 व अन्य 4 है, बहोरीबंद   में मतदाता 204787 जिसमे पुरुष 106587 महिला 98191 व अन्य 9 है, सबसे कम मतदाता विजयराघवगढ़ में कुल 195051 है जिसमे पुरुष 102677 महिला 92373 व अन्य 1 है .   

जिले में 80 प्रतिशत मतदान का लक्ष्य  

जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार सिंह के बताया कि इस बार ज्यादा से ज्यादा मतदान करवाने पर बल दिया जा रहा है जिससे कम से कम 80 प्रतिशत मतदान प्रतिशत जिले में हासिल किया जा सके, स्वीप प्लान के जरिये ज्यादा से ज्यादा मतदान के लिए मतदाताओं को प्रेरित किया जायेगा, पहली बार फोटो युक्त मतपर्ची का उपयोग किया जायेगा जिले के मतदाताओं को पर्ची बाँटने का काम प्रत्येक मतदान केन्द्र के बीएलओ को दिया गया है, घर घर जाकर पर्ची पहुँचाने का कार्य शुरू किया जा चुका है, इस लिस्ट का एक सेट प्रत्येक मतदान केन्द्र के बीएलओ के पास मतदान के दिन उपलब्ध रहेगा, पर्ची पाने से वंचित रह गए मतदाता यहा संपर्क कर सकते है . मतदाता  इस पर्ची का उपयोग मत देते समय परिचय पत्र के रुप में भी कर सकेंगे. इस बार मतदान केंद्रों से 100 मीटर की दूरी पर बीएलओ बैठेंगे जो मतदाता की मदद कर सकेंगे, ऐसे में राजनैतिक दलों के स्टालो की कोई खास जरूरत नही रह जाती उनके लिए 200 मीटर की दूरी मतदान केंद्रों से निर्धारित की गई है हालाँकि बाद में आयोग से निर्देश आने यह निर्देश बदला भी जा सकता है. आगे उन्होंने बताया कि ऐसी जगह जहा मतदाताओं को मतदान न करने प्रभावित किया जा सकता है उन स्थानों पर सीसीटीवीं कैमरे की मदद ली जायेगी. कुल मिलाकर निर्वाचन आयोग के निर्देशों के चलते यह चुनाव पीछे हो चुके चुनावों से सख्त चुनाव माना जा रहा है और यह सही भी लगता है . प्रत्याशियों ओर दलों के नेताओं को हर कदम फूँक फूँक कर रखना पढ़ रहा है ओर इसमे फाय्दा लोकतंत्र का ही हुआ है. धीरे धीरे चुनाव प्रक्रिया पारदर्शी ओर जवाबदेही से भरपूर हो चली है जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार आने वाले समय में यह भी होगा जब मतदाता अपने द्वारा दिए गए मत की प्रिंट भी पा सकेगा.                  



Sunday, November 10, 2013

मुडवारा सीट पर कांग्रेसी काँग्रेस के खिलाफ, भाजपाई भाजपा के खिलाफ

कटनी  - मुडवारा विधानसभा सीट जीतने के लिए काँग्रेस को अभी और लंबा इंतज़ार करना पड़ सकता है और इस इंतज़ार के लिए काँग्रेस ख़ुद जिम्मेदार जान पढ़ती है, मुडवारा सीट के लिए काँग्रेस ने फिरोज अहमद को मैदान में उतारा है जबकि जानकार गंगाराम कटारिया, विजेन्द्र मिश्र या सुनील मिश्रा में से किसी को प्रत्याशी बनाये जाने की बात मान चल रहे थे, लेकिन काँग्रेस ने अल्पसंख्यक  कोटे के चलते फिरोज अहमद को टिकट दिया जिसका विरोध ख़ुद काँग्रेस के लोगो में रहा है यहां तक कि अल्पसंख्यक वर्ग के किसी दूसरे व्यक्ति को टिकट देने की बात भी सामने आई थी लेकिन काँग्रेस ने सभी संभावनाओं को दरकिनार कर फिरोज अहमद को ही टिकट देने का मन बना लिया था, हो सकता है काँग्रेस इस सीट से अल्पसंख्यक वर्ग को टिकट देकर आस पास की विधानसभा सीटों पर इस वर्ग से बढ़त बनाना चाहती हो, पिछली दो बार से भाजपा मुडवारा सीट जीतती आ रही है इसके बावजूद किसी सक्रिय चेहरे को सामने न करना और सिर्फ़ अल्पसंख्यक कोटे का दाँव चलना यही कह रहा है कि काँग्रेस का निशाना यह सीट पाना नही बल्कि अन्य सीटों पर अल्पसंख्यक वर्ग से वोटो की बढ़त बनाना है  

संजय पाठक की नही चली 

मुडवारा सीट से टिकट पाने काँग्रेस अध्यक्ष करन सिंह चौहान भी लालायित थे और ऐसा माना जा रहा था कि इस सीट पर संजय पाठक अपने समर्थक नेताओं में से किसी को प्रत्याशी बनवा सकते है लेकिन काँग्रेस ने एकमात्र फिरोज अहमद का नाम ही शुरू से ही फाइनल कर रखा था, संजय पाठक समर्थक काँग्रेस अध्यक्ष करन सिंह चौहान, नगर निगम अध्यक्ष वेंकट खंडेलवाल और पार्षद पति अरुण कनौजिया भोपाल जाकर फिरोज अहमद को टिकट न दिए जाने की वकालत भी कर आए थे. काँग्रेस से जुड़े कुछ सिंधी समाज के लोग भी ग्रामीण काँग्रेस अध्यक्ष गंगाराम कटारिया को टिकट दिए जाने की माँग संजय पाठक के बंगले जाकर कर आए थे, उन्हें आश्वासन मिला कि ऊपर यह बात कही जायेगी लेकिन काँग्रेस ने संजय पाठक की किसी बात पर ही तवज्जो नही दी, संजय पाठक अपने दम पर सिर्फ़ अपने लिए ही विजयराघवगढ़ सीट से टिकट ला पाये है जहां इस बार उनकी स्थिति भी काँटे की टक्कर की बताई जा रही है

इस बार भी कांग्रेसी ही काँग्रेस को निपटा देंगे 

काँग्रेस से जुड़े सिंधी समाज के कुछ लोग गंगाराम कटारिया को टिकट दिलाये जाने के लिए संजय पाठक के पास गए थे, इसे लेकर समाज के लोगो में यह चर्चा होती रही कि ये लोग वाकई में गंभीर होते तो कम से कम भोपाल जाकर वरिष्ठ काँग्रेस नेताओं के समक्ष यह माँग जोरदार ढंग से करते. समाज के ही लोग इसे अनमने ढंग से की गई सिर्फ़ औपचारिकता भर मानते है. इस बार भी टिकट न मिलने से दुखी गंगाराम कटारिया काँग्रेस प्रत्याशी के विरोध में अपने ग्रामीण अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके है, संजय पाठक के बाकी समर्थकों की भी यही स्थिति है इसलिए काँग्रेस फिर इस बार उसी स्थिति में खड़ी दिखाई दे रही है जहां विरोधी पार्टियों से ज्यादा कांग्रेसी ही काँग्रेस को निपटाने लामबंद होते दिख रहे है  

भाजपा में भी फूट पड़ गई  

पिछली बार 30 हजार से अधिक वोटों से जीतने वाले गिरिराज किशोर राजू पोद्दर को इस बार टिकट देने के नाम पर भाजपा के हाथ पाँव फूल रहे थे, कटनी विकास प्राधिकरण अध्यक्ष ध्रुव प्रताप सिंह को टिकट देना तो आत्मघाती कदम सिद्ध होता ऐसे में भाजपा को सिर्फ़ पूर्व महापौर रहे संदीप जायसवाल ही ऐसा चेहरा नजर आया जो यह सीट बचा सकता था, संदीप जायसवाल एक सक्रिय और लोकप्रिय नेता के रुप में भी अपनी पहचान बना चुके थे लेकिन भाजपा वाले अब इनका विरोध कर रहे है, भाजपा नेता चमनलाल आनंद तो अब निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में चुनावी मैदान में उतर चुके है  

Tuesday, August 27, 2013

स्मैक का नशा कर देगा बर्बाद , संभ्रांत नागरिकों के बीच चिन्ता का विषय, पुलिस की कार्यवाही अधूरी

घातक नशीला स्मैक पावडर कटनी जिले में लगातार अपने पैर पसारने में लगा है, यूँ तो कभी हजारों, कभी लाखों रुपये की स्मैक  पकड़ने में पुलिस जरूर कामयाब रही है लेकिन अभी तक पुलिस यह पता लगाने में असफल ही रही है कि यह स्मैक मुख्यत कहां से आती है और बिकने के लिए कहां जाती है ? अवैध शराब - गांजे आदि की बिक्री पर पूर्णतः विराम नही लगा सकने वाली पुलिस के लिए अब नई चुनौती के रुप में स्मैक का कारोबार भी है, मुख्य सरगनाओं तक पहुँच पाना या किसी बड़ी कार्यवाही को अंजाम देना फिलहाल तो अबूझ पहेली सा ही लग रहा है. अब सारी जवाबदारी समाज पुलिस के मत्थे मढ़ ले तो यह ग़लत होगा इसलिए पुलिस के साथ साथ समाज के हर वर्ग के नागरिकों को भी आज सजग रहने की जरूरत सी दिखाई दे रही है क्योंकि स्मैक या उस जैसा कोई भी नशा लोगों, परिवारों को तो बर्बाद ही करता है



कटनी - जिले भर में हो रहे या हो सकने वाले अपराधों को लेकर पुलिस विभाग समीक्षा बैठकों का आयोजन करता रहता है, विभिन्न अपराधों को रोकने कई तरह की हिदायते भी दी जाती है और यह सिलसिला निरंतर जारी भी रहता है, अधिकारी बदलते रहते है लेकिन अक्सर देखने में यह आता है कि मैदानी स्तर पर वह नही हो पाता जिसे लेकर कई तरह के प्रयास हमेशा ही किए जाने का दावा होता रहता है. पुलिस के ऐसे ही प्रयासों के बीच में स्मैक जैसा घातक नशा जिले में अपने पैर पसार चुका है, अभी तक अवैध शराब, गांजे तक के कारोबार पर रोक लगा सकने में पुलिस विभाग असफल ही नजर आया है और अब स्मैक जैसे नशे की पहुँच गली- गली होने से यह संभ्रांत नागरिकों के बीच में भी गंभीर चिन्ता का विषय बन चुका है

ऐसा नही है कि पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नही की है, कई बार स्मैक पकड़ी जा चुकी है. हजारों रुपये से लेकर 15 लाख तक की खेप पुलिस पकड़ चुकी है लेकिन हर बार इसमे पकड़े सिर्फ़ मोहरे ही गए, स्मैक कहां से आ रही थी ? कहां जा रही थी ? यह सवाल हमेशा ही अनसुलझे रहे है. नतीजा अब सामने यह आ रहा है कि स्मैक का दायरा बढ़ता ही जा रहा है. कई लोग इसकी गिरफ्त में आ चुके है और यह आने वाली और खतरनाक स्थितियों की तरफ़ भी इशारा करता है. अपराधियों के मन में अब कानून के प्रति भय कम हो चुका है उसपर स्मैक जैसा नशा सिर चढ़कर बोलने लगे और गंभीर अपराध घटित हो जाए तो आख़िर इसमे जवाबदारी किसकी होगी ?
         
" प्रबल सृष्टि " ने कुछ नागरिकों से जब इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि स्मैक ऐसा नशा है जो आदमी और उसके पूरे परिवार को तबाह कर सकता है इसलिए इसपर तत्काल रोक जरूरी है. स्मैक का नशा आज हमारे लिए भी एक चुनौती बन चुका है, समाज, पुलिस सभी को मिलकर इसका खात्मा किए जाने की जरूरत है. देखा जाए तो समाज के बीच में ही तो ऐसे लोग होते है जो सिर्फ़ मुनाफा कमाने के लिए स्मैक को धन्धे के रुप में अपनाते है उनके इस धन्धे से कितने लोग बर्बाद होते है और इसका असर किन किन भयानक रूपों में हमारे सामने आता है उन्हें इससे कोई मतलब नही होता, इसलिए यह और भी गंभीर अपराध हो जाता है.  पुलिस भी समाज पर आश्रित हो जाए तो क़ानून नही चल सकता है इसलिए इसकी रोकथाम पुलिस को ही करनी है  और पुलिस की कार्यवाही अधूरी सी लगती है

Sunday, August 18, 2013

छात्राओं - महिलाओं को कटनी पुलिस कर रही जागरूक, किन परिस्थितियों में क्या करे कार्यशाला में दी जानकारी

कटनी ( मध्य प्रदेश ) महिलाओं के प्रति अपराध करने वालों के हौसले इसलिए भी बुलंद होते है क्योंकि उनका विरोध लोक लाज के झूठे भय से  
अकसर  महिलाये नही कर पाती और यही सबसे बड़ी गलती बाद में साबित होती है. आज देश में इसे लेकर लगातार जागरूकता पैदा की जारी है इसमे हमारे जिले की पुलिस भी पीछे नही है, इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए कटनी जिला पुलिस ने 18 अगस्त को महिलाओं के प्रति  होने वाले अपराधों पर एक जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया. पुलिस कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर की अध्यक्षता में महिलाओं एवं बालिकाओं पर घटित होने वाले अपराधों के प्रति जागरूकता पर एक कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमे किन परिस्थितियों  के दौरान क्या करना व क्या नही करना चाहिए इस बात की विस्तृत जानकारी उपस्थित छात्राओं को निम्नलिखित बिंदुओं के तहत  दी गई

1. मोबाइल पर अवांछित/अज्ञात व्यक्ति द्वारा मिस्ड काल अथवा ब्लैंक काल या अश्लील एसएमएस आना
2. कहीं किसी प्रकार से महिलाओं/बालिकाओं को छींटाकशी /छेड़खानी का सामना करना पड़ रहा हो,
3. यदि ई-मेल आई-डी या फेसबुक एकाउंट पर अवांछित/अश्लील मैसेज या फोटो आदि मिल रहे हों,
4. रिक्शा, आटो, बस या अन्य वाहनों में सफर करते समय महिलाओं/बालिकाओं के साथ किसी प्रकार का           दुर्व्यव्हार  किया जा रहा हो,
5. स्कूल, कालेज, कार्यस्थल में या कार्यस्थल से बाहर कोई परेशान कर रहा हो,
6. सोशल नेटवर्किंग साईट्स पर सेफ ब्राउसिंग,

कटनी पुलिस विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यशाला के आयोजन का मुख्य उद्देश्य छात्राओं एवं महिलाओं को वर्तमान परिवेश में किस प्रकार जागरूक रहने की आवश्यकता है तथा उनके संरक्षण के लिए बनाये गये सभी कानूनों से अवगत कराना है । कार्यशाला के दौरान उपस्थित छात्राओं को जिले के समस्त थाना प्र्रभारियों एवं महिला डेस्क प्रभारी के कार्यालय का फोन एवं मोबाइल नंबर भी प्रदान किये गये एवं उन्हें उपरोक्त में से किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर दिए गए नंबरों से संपर्क करने हेतु निर्देशित किया गया। 
कार्यशाला का आयोजन निरीक्षक राहुल देवलिया थाना प्रभारी यातायात एवं संयोजन उप निरीक्षक ज्योति सिकरवार प्रभारी महिला डेस्क द्वारा किया गया। कार्यक्रम के दौरान नगर पुलिस अधीक्षक बी.पी.सिंह, निरीक्षक शशिकांत शुक्ला थाना प्रभारी कोतवाली, सूबेदार रजनी चढ़ार एवं कन्या महाविद्यालय से शिक्षिका रीना खत्री की उपस्थिति रही। पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने बताया कि शहर के विभिन्न स्कूल/कालेजों का रोस्टर तैयार किया गया है जहां पर नियत दिनांक को कटनी पुलिस के सदस्यों द्वारा मार्गदर्शन दिया जायेगा 

Friday, August 16, 2013

स्वतंत्रता दिवस का गरिमामय आयोजन - हर्ष और उल्लास से सम्पन

कटनी / देश पर अपना तन मन धन न्यौछावर करने वालों की वजह से ही हमे स्वतंत्र देश का नागरिक होने का अधिकार और गौरव प्राप्त है, हर साल  15 अगस्त को स्वतंत्रता  दिवस का आयोजन करके हम उनके प्रति अपना आदर व्यक्त करते है, इस दिन देश की शान तिरंगे का ध्वजारोहण करना बहुत ही गर्व और सम्मान की बात होती है,  67 वे स्वतंत्रता दिवस के  इस  अवसर पर जिले में आयोजित होने वाला मुख्य समारोह फारेस्टर प्ले ग्राउण्ड में गरिमामय व भव्य आयोजन के साथ सम्पन हुआ, मुख्य समारोह मध्य प्रदेश शासन के पशुपालन, मछलीपालन, पिछड़ावर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण तथा नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग मंत्री अजय विश्नोई के मुख्य आतिथ्य में स्वाधीनता दिवस पर्व राष्ट्रीय भावना से ओत प्रोत  वातावरण में मनाया गया


 फारेस्टर ग्राउण्ड मैदान में  मुख्य अतिथि द्वारा उपस्थित जन समुदाय के बीच सुबह 9.00 बजे राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद राष्ट्रीय गान एवं सलामी ली गई । इस अवसर पर बार्डस्ले स्कूल की छात्राओं द्वारा मध्यप्रदेश गान के सुमधुर ध्वनि से वातावरण को गुंजित कर दिया गया । परेड कमाण्डर द्वारा मुख्य अतिथि तथा कलेक्टर अशोक कुमार सिंह व एस पी राजेश हिंगणकर द्वारा रिपोर्ट एवं निरीक्षण कर जनता का अभिवादन स्वीकार करने के बाद वापस मंच में आकर मुख्य अतिथि अजय विश्नोई ने मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चैहान के प्रदेश की जनता के लिए दिए गए संदेश का वाचन किया । जिसमें उन्होंने मुख्य रूप से स्वतंत्रता दिवस पर सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाओं के साथ स्वतंत्रता सेनानियों  को याद करते हुए प्रदेश की प्रगति का मानचित्र रखा । उनके संदेश में खेती को लाभ का धंधा बनाने, कृषि विकास, सिंचाई परियोजनाएं, बिजली उत्पादन क्षमता,अटल ज्योति, आर्थिक विकास, अधोसंरचना विकास, नागरिक सुविधाओं, मर्यादा अभियान, सामाजिक सुविधाएं, नारी सशक्तिकरण शिक्षा के विस्तार के साथ गुणवत्ता पूर्ण और रोजगारोन्मुखी मुखी शिक्षा, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजातियों के उत्थान, सार्वजनिक स्वास्थ्य, सुशासन आदि के साथ प्रदेश के विकास और प्रगति के पथ पर निरंतर विकास पर बल दिया । 

        गरिमामय आयोजन  के दौरान शांति के प्रतीक कबूतर व रंगीन गुब्बारे उड़ाए गए तथा परेड द्वारा हर्षफायर कर राष्ट्रीय ध्वज को नमन कर समारोह में परेड कमाण्डर द्वारा जिला पुलिस बल, होमगार्ड, रेडक्रास, ग्राम रक्षा समिति, एन सी सी जूनियर तथा स्काउट गाइड के दल के साथ वार्डस्ले स्कूल, एच डी मेमोरियल, के सी एस कन्या स्कूल, जैन कन्या स्कूल, नालंदा, सिंधी, पुरवार, दिगम्बर जैन आदि स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा भी शानदार परेड कर तन व मन से देश की रक्षा करने की क्षमता का प्रदर्शन कर उपस्थित जन समुदाय का ध्यान आकर्षित किया । मुख्य अतिथि, कलेक्टर व एस पी द्वारा परेड कमाण्डरों से परिचय प्राप्त करने के बाद स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, मीसाबंदियों, कारगिल शहीद परिवार को सम्मानित भी किया गया । कटनी शहर के विभिन्न स्कूलों के उत्साहित विद्यार्थियों  द्वारा पीटी प्रदर्शन भी किया गया तथा राष्ट्रीयता के रंग में रंगारंग सांस्कृतिक  कार्यक्रमों की आकर्षक प्रस्तुति भी पेश की गई । जिसमें वार्डस्ले हिन्दी मीडियम के विद्यार्थियों द्वारा ‘‘भारत में हो चयन अमन के ये गीत गाएंगे‘‘ की प्रस्तुति  तथा सिविल लाईन,उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छा़त्राओं द्वारा ‘‘ राष्ट्र की जय चेतना ‘‘की गीत पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया गया । वार्डस्ले इंग्लिश मीडियम स्कूल,डी पी एस स्कूल, शासकीय उ0मा0विद्यालय माधवनगर के बच्चों द्वारा भी आकर्षक सांस्कृतिक  कार्यक्रम की प्रस्तुति दीं गई ।
 समारोह के अंतिम चरण में विशिष्ट कार्य करने वाले विद्यार्थियों, कर्मचारियों व सामान्यजन  तथा  समारोह में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले दल को सम्मानित किया गया । सामूहिक नृत्य में प्रथम स्थान डी पी सी स्कूल तथा द्वितीय व तृतीय स्थान शासकीय उत्कृष्ट उ0 मा0 वि0 माधवनगर व वार्डस्ले हिन्दी  मीडियम विद्यार्थी रहे । प्रत्येक दल को मुख्य अतिथि अजय विश्नोई द्वारा सम्मानित किया गया । परेड में एस  एफ 18 वीं  बटालियन प्रथम आए तथा ग्राम रक्षा समिति द्वितीय स्थान पर रहे । ग्रुप बी में एन सी सी वार्डस्ले कन्या उ0 विद्यालय प्रथम तथा द्वितीय शासकीय कन्या महाविद्यालय का स्थान रहा । ग्रुप सी में प्रथम स्थान वार्डस्ले हायर सेकेण्डरी स्कूल तथा द्वितीय में स्काउट दल वार्डस्ले स्कूल रहा । उक्त कार्य की समाप्ति पर अजय विश्नोई द्वारा गुलाब चंद स्कूल  प्रांगण में वृक्षारोपण कर बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन किए । जिसमें जिला प्रशासन के अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी शामिल थे । 
        स्वतंत्रता दिवस के इस पावन पर्व में विधायक  गिरिराज किशोर  पोद्दार, ध्रुवप्रताप सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री क्रांति  चौधरी पूर्व विधायक श्रीमती अलका जैन, तथा जिला पंचायत के सी ई ओ जेड यू शेख कटनी एस डी एम श्रीमती रानी पासी, नगर निगम कमिश्नर एस के सिंह सहित सभी विभागों के अधिकारी, जनप्रतिनिधि तथा पत्रकार उपस्थित थे । स्वतंत्रता दिवस  समारोह  का  मंच संचालन पूर्व प्राचार्या राजेन्द्र कौर लाम्बा द्वारा किया गया ।  इस  समारोह के पहले कलेक्टर कार्यालय में अशोक कुमार सिंह द्वारा सुबह 8.00 बजे ध्वजारोहण किया गया । इस अवसर पर समस्त कार्यालयीन परिवार उपस्थित थे । इसी प्रकार पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भी एस पी  राजेश हिंगणकर द्वारा भी ध्वजारोहण किया गया 

Wednesday, August 14, 2013

महापौर श्रीमती निर्मला पाठक करेंगी नगर निगम कटनी में ध्वजारोहण, विभिन्न स्थानों पर पार्षदगण करेंगे ध्वजारोहण


   कटनी ( मध्य प्रदेश ) - भारत के हर नागरिक 15 अगस्त को कुछ एक जैसा अनुभव जरूर करते होंगे, यह दिन बहुत ख़ास है इस दिन भारत के तिरंगे का ध्वजारोहण करना बहुत खास होता है, देश की राजधानी से लेकर हर जिले में ध्वजारोहण गरिमा से किया जाता है इसी कड़ी में कटनी नगर निगम में महापौर श्रीमति निर्मला पाठक ध्वजारोहण करेंगी। इस गरिमामय कार्यक्रम में वे अधिकारियों कर्मचारियों को भी संबोधित करेंगी। निगमाध्यक्ष वैंकट खण्डेलवाल  नवीन जलशोधन संयत्र-अमकुही मे ध्वजारोहण करेंगे।इसके अतिरिक्त मेयर इन काउंसिल सदस्य मिथलेश जैन द्वारा साधूराम उ मा शाला, राजाराम यादव द्वारा के एल कनकने प्राथमिक शाला, नेता प्रतिपक्ष सुरेश रोचलानी द्वारा प्राथ.शाला रधुनाथगंज शाप्रा शाला टीसी बजान नं 12, राजकुमार माखीजा द्वारा अग्निशामक कार्यालय, श्रीमति लता अरूण कनौजिया द्वारा केसीएस उमा शाला, श्रीमति शाइस्ता साहीन द्वारा शासकीय प्राथमिक शाला कावसजी वार्ड एवं श्रीमति कतिया बाई द्वारा प्रा शाला पुरैनी आधारकाप में ध्वजारोहण करेंगी ।                       
                        उपायुक्त द्वारा दी गई जानकारी अनुसार नगरनिगम सीमांतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में पार्षदगणों द्वारा ध्वजारोहण किया जावेगा। जिसमे स्थानीय फिल्टर हाउस कटायेघाट में प्रशांत जायसवाल, शहीद स्मारक गोल बाजार शंकर सेन, प्रा शाला कुठला श्रीमति लीला बाई, प्रा शाला पहरूवा सीताराम गुप्ता एल्डरमैन, प्रा शाला नदीपार श्रीमति सुशीला अहिरवार, धन्ती बाई प्रा शाला श्रीमति सीमा बरसैया, गांधी प्रा शाला आजाद चैक श्रीमति रीना ताम्रकार, स्वर्णकार प्रा शाला मसुरहा वार्ड श्रीमती शिल्पी सोनी पार्षद एवं श्रीमति काशीबाई सोनी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ध्वजारोहण करेंगी । प्रा शाला सावरकर वार्ड में कु मंजू निषाद, शा प्रा शाला निषाद स्कूल महेश निषाद, प्रा कन्या शाला खिरहनी विनोवा भावे वार्ड बच्चू निषाद, प्रा शाला बालक खिरहनी राजेश चावरे, शा उ मा शाला एनकेजे श्रीमति उर्मिला शुक्ला, प्रा शाला एनकेजे (लाल स्कूल) श्रीमति रोशन आरा, प्रा शाला अंबेडकर वार्ड श्रीमति ज्योति दीक्षित, सामुदायिक भवन वल्लभ भाई पटेल वार्ड श्रीमति रूकमणी बर्मन, गुलाब चंद प्रा शाला श्रीमति परवीन अहमद बिट्टू, ए रविन्द्रराव उ मा शाला श्रीमति पार्वती  निषाद, यशोदा बाई पुत्री शाला नारायण गट्टानी, दुलारीबाई स्कूल सुभाष वार्ड श्रीमति प्रीति संजीव सूरी, पुरवार पुत्री शाला ईश्वरीपुरा वार्ड  नासिर खान ध्वजारोहण करेंगे ।
                        शा कन्या शाला सिविल लाईन श्रीमति गीता अग्रवाल, प्रा शा मदन मोहन चैबे वार्ड श्रीमति कविता सिंह, शा प्रा शाला बरंगवा इस्तियाक अहमद, आदर्श मा शाला वंशरूप वार्ड श्रीमति संजू जीवन चैधरी, मा शा सीएलपी वार्ड मनीष पाठक, सुदर्शन बाल मंदिर फारेस्टर वार्ड राजेश जाटव, प्रा शाला मंगल नगर पंकज रावत, शा प्रा शाला छपरवाह श्रीमति शकीना बी शेख बाबर पार्षद ध्वजारोहण करेंगे ।
                        शा कन्या प्रा शाला विलंगवा कमलेश चैधरी, शा प्राथ शाला टिकरिया लखेरा श्रीमति रचना गुप्ता, शा प्रा शाला खैबर लाईन कैम्प श्रीमति शोभा देवीदास थावानी, शा प्रा शाला कैरिन लाईन कैम्प महेश कुमार होतवानी, शा उत्कृष्ट उ मा शाला कैम्प अशोक मंगल गौटिया, शा प्रा शाला राबर्ट लाईन कैम्प श्रीमति हेमलता देवीदास सोनी, ग्राम पंचायत भवन झिंझरी जुगल किशोर यादव, प्रा शाला झिंझरी महाराणा प्रताप वार्ड महेश शुक्ला एल्डरमैन, शा प्रा शाला पड़रवारा सुधीर पटेल, उप कार्यालय माधव नगर संतोष गर्ग एल्डरमैन, सामुदायिक भवन संजय नगर सरस्वती स्कूल के पास सुरेन्द्र सिंह एल्डरमैन, शा प्राथमिक शाला अमकुही आशीष तिवारी एल्डरमैन ध्वजारोहण करेंगे ।


 स्वाधीनता दिवस के मौके पर महापौर ने दी शुभकामनाऐं
नागरिकों से नगर विकास में सहयोग प्रदान करने का आग्रह

हमारे देश की आजादी देश के उन अनगिनत अमर शहीदों के बलिदान व त्याग का प्रतिफल है, जिन्होनें देश को स्वतंत्र करानें के लिए अपने प्राण-प्रण देश के ऊपर न्योछावर कर दिये, आज आवश्यकता इस बात की है कि  देश की एकता अखंडता एवं भाईचारे को अक्षुण्ण बनाने के लिए हम सभी को चाहिये कि हम इस अवसर पर देश की आजादी कायम रखने के लिये देश के विकास के लिये पूर्ण सर्मपण एवं देश भक्ति भावना से कार्य कर समाज,शहर,प्रदेश एवं देश को विकास पथ पर ले जावें।
                        महापौर श्रीमति निर्मला पाठक ने नागरिकों को स्वाधीनता दिवस पर बधाई देते हुये आग्रह किया कि नगर विकास के लिये नगर निगम को सहयोग प्रदान करें, ताकि जन आकांक्षाओं के अनुरूप नगर विकास हो सके ।
                        निगमाध्यक्ष वेंकट खंडेलवाल, मेयर इन काउसिंल सदस्यगण, पार्षदगण एवं एल्डरमैनों ने भी स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए नागरिकों का आव्हान किया है कि वे शहर विकास के लिए अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें।

Friday, July 26, 2013

मध्य प्रदेश में तीसरी बार शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बनेगी सरकार

( प्रबल सृष्टि )  काँग्रेस चाहे लाख कोशिशें कर ले फिर भी वह मध्य प्रदेश में सरकार नही बना पायेगी, मेरा यह दावा पक्षपात से भरा नही बल्कि आम जनता की राय के अनुसार है. पिछले दो माह के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों के क़रीब एक सैकड़ा से अधिक लोगो से जब मैंने प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी ? इस बारे में बात की तो यह बात  उभर कर सामने आई कि आमतौर पर सरकार तब बदली जाती है जब लोग व्यवस्था से तंग हो, लेकिन प्रदेश में ऐसी किसी भी स्थिति से लोग इंकार करते है. आम लोग बिजली, पानी, सड़क, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति को पूर्ववर्ती सरकारों से बेहतर बताते है, मोटे तौर पर जनता प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से प्रभावित भी दिखती है, हां प्रशासनिक अधिकारियों की लालफीताशाही पर जनता जरूर कुछ खफा भी नजर आती है, जिसपर लगाम कसना उन्हें मुख्यमंत्री से अपेक्षित भी है.

मध्य प्रदेश की बागडोर मुख्यमंत्री के रुप में जब से शिवराज सिंह चौहान ने सम्भाली तब से प्रदेश प्रगति की राह् पर लगातार चल रहा है, इससे पहले का क्या जिक्र करना ? यह सभी जानते है कि प्रदेश की हालत तब क्या थी और अब क्या है. सामाजिक सरोकारों  को महत्व देते हुए जो कार्य प्रदेश में जारी है उन्हें अब राष्ट्रीय स्तर पर भी महसूस किया जाने लगा है. खेती को लाभ का धंधा बनाने इन्होंने कोई कसर नही छोड़ी, जिसका नतीजा यह हुआ कि देश के राष्ट्रपति ने प्रदेश को कृषि कर्मण पुरस्कार प्रदान किया. मुख्यमंत्री ने इसका श्रेय प्रदेश के किसानों को दिया, उल्लेखनीय यह भी है कि प्रदेश की कृषि विकास दर 18 प्रतिशत से ज्यादा है और यह अन्य प्रदेशों की तुलना में कही ज्यादा है.

मध्य प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है जहां किसानों को कृषि कार्य के लिए शून्य प्रतिशत की ब्याज दर पर कर्ज़ मिल रहा है, कृषि क्षेत्र में उल्लेखनीय यह भी है कि इन नौ वर्षो में सिंचाई के रकवे में तीन गुना वृद्धि हो गई है जो की इस दिशा में उठाये गए कारगर  कदमों का ही परिणाम है. जैविक खेती में तो प्रदेश को देश का सर्वाधिक कृषि क्षेत्र होने का गौरव प्राप्त है और इससे अभी और असीम  संभावनाएँ है, हरित्‌ क्रांति के पूर्व तो देश में जैविक खेती ही होती थी. यह वो तथ्य है जिनसे किसान बेहद खुश है वे तो अब खेती के परंपरागत तरीकों  को महत्व देने लगे है .

मै वैसे खेती किसानी के बारे में ज्यादा कुछ तो नही जानता पर ग्रामीण किसानों के चेहरे पर खुशी तो महसूस कर ही सकता हूँ, हम लोग शहर में रहते है खेतों से वास्ता ज्यादा भी नही पड़ता लेकिन प्रदेश का मुख्यमंत्री अगर खेती किसानी को समझता है और प्रदेश के भविष्य को सँवारने के लिए वर्तमान में वह लगातार कारगर कदम उठाता जाता है तो गाँव शहर की तस्वीर निस्संदेह और भी खूबसूरत, खुश्हाल और स्वस्थ जीवन से भरपूर होती जायेगी, प्रदेश के सभी गाँव और शहरों की तस्वीर इन 9 वर्षो में बदल गई है अब लोगो का ऐसा विश्वास हो चला है कि प्रदेश सबसे मज़बूत राज्य बन जायेगा.

ऐसा नही है कि सब इतना आसान है इसमे भी कुछ भ्रष्ट और लापरवाह जन अपनी मनमर्जी जरूर करते है जिसका प्रभाव भी कुछ जरूर पड़ता है लेकिन लोगो को मुख्यमंत्री से इसे लेकर उम्मीद है कि ऐसे लोगो को तीसरी पारी में ठिकाने लगा देंगे और इसमे उन्हें कोई दिक्कत भी नही होनो चाहिए, इस बात को पुनः में दोहरा देता हूँ कि प्रदेश में तीसरी बार शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार  बनने जा रही है और यही सच है और सच को बदला  नही जा सकता है, सच को तो स्वीकारना पड़ेगा.      

Monday, July 08, 2013

जिले में महामारी न फैले, स्वास्थ्य विभाग ने उठाये है कदम, जनता भी रहे जागरूक

कटनी -  पिछले साल बारिश के मौसम में जिले में कुछ जगहों पर महामारी फैली थी, इसको ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने जिला और विकास खण्ड स्तर पर महामारी नियंत्रण केन्द्र की स्थापना कर स्वास्थ्य से जुड़ी अप्रिय स्थितियों से निपटते कमर कस  ली है. बारिश के मौसम में ध्यान देने वाली बात यह भी रहती है कि जलप्रदूषण एवं वातावरण में नमी बढ़ जाने से अनेक प्रकार की संक्रामक बीमारियाँ फैलने की संभावना बढ़ जाती है, ज्यादातर बीमारियाँ जागरूकता के अभाव से फैलती है, अगर इस दिशा में समय रहते कुछ बातों पर ध्यान भर दिया जाए तो इसे रोका जा सकता है .जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस दिशा में अपनी जिम्मेदारी के तहत बीमारियों के प्रसार को रोकने एवं महामारी से निपटने के लिये सभी अधीनस्थ स्वास्थ्य संस्थाओं में चिकित्सा  व्यवस्था एवं आपदा नियंत्रण संबंधी तैयारी कर दी गई है। 
जिला मुख्यालय एवं सभी विकासखण्डो में 24 घंटे संचालित होने वाला कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है जिसमें नियमित रूप से कर्मचारियों की डयूटी लगाई गई हैं, जनता से अपील है कि किसी भी प्रकार की महामारी फैलते ही इसकी सूचना अपने विकासखण्ड के महामारी नियंत्रण कक्ष में तत्काल देवें. विकासखण्ड महामारी नियंत्रण कक्ष का फोन नं. इस प्रकार है- कन्हवारा 07622269275, बड़वारा 9479900257, बहोरीबंद 9479898340, विजयराघवगढ़ 9479897095, रीठी 9630065961, उमरियापान 9302503456,8965562920, कटनी मुख्यालय 07622-231102 है. 
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा यह भी जानकारी दी गई है, कि सभी डिपोहोल्डर्स के पास आवश्यक दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में महामारी की रोकथाम हेतु उचित प्रसार-प्रसार की समाग्री, ग्रामीणों को स्वास्थ्य शिक्षा, साथ ही संभावित अस्थाई राहत शिविरों हेतु मेडिकल टीमों का गठन का चिकित्सा व्यवस्था एवं संक्रामक रोगों की रोकथाम की पर्याप्त व्यवस्था की गई. मलेरिया एवं अन्य मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम हेतु दवाईयों का छिड़काव किया जाना साथ ही आवश्यक जीवनरक्षक दवाईयों की पर्याप्त मात्रा में सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में उपलब्ध सुनिश्चित की गई है. नोडल आफीसर को परिस्थिति की गंभीरता से सजग रहने एवं प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा हेतु अस्थाई चिकित्सालय खालेने की व्यवस्था हेतु निर्देश दिए गए है .
जिला चिकित्सालय में 50 अतिरिक्त बिस्तरों की व्यवस्था की गई है, मैदानी कार्यकर्ता से लेकर चिकित्सकों की उपस्थिति एवं उनके कार्यक्षेत्र सुनिश्चित कर आवश्यकतानुसार पर्यवेक्षकों की संख्या बढ़ाने हेतु निर्देशित किया गया है. वर्षा ऋतु में मार्ग अवरूद्ध  होने की संभावना वाले ग्रामों मे कम से कम तीन माह के लिये दवाईयों की उपलब्धता तथा जिला एवं  विकासखण्ड स्तर पर विभिन्न काम्बेट टीम को किसी भी परिस्थिति में अलर्ट रहने हेतु निर्देशित कर मच्छरों की उत्पत्ति को रोकने के लिये रूके हुए पानी के निष्कासन एवं गड्ढ़ों में एकत्रित पानी में आशा कार्यकर्ताओं को उन स्थानों पर  तेल डालने हेतु निर्देशित किया गया है। पेय जल के स्त्रोत जैसे कुआ हैण्डपंप की शुद्धिकरण के लिए हेतु आशाओ के पास पर्याप्त मात्रा मे दवाईयों उपलब्ध कराई गई है तथा पेयजल स्त्रोंतो के आस-पास सफाई कराने बजट उपलब्ध कराया गया है। 

पुनर्वास भूमि समस्या निर्णायक सुलझाने, मुख्यमंत्री जी सिर्फ़ आप से है एकमात्र आशा

कटनी ( मध्य प्रदेश ) अखंड भारत देश के विभाजन की त्रासदी का दर्द आज भी सिंधी समाज को भुगतना पड़ रहा है, यह दर्द क्या है इसे सिर्फ़ वही अच्छी तरह से समझ सकते है जिन्होंने उस दौर को भीषण परिस्थितियों के बावजूद गुज़ारा है, विभाजन के कठिन हालात में अपना घर-मकान, खेती - व्यवसाय सब कुछ छोड़ कर पश्चिमी पाकिस्तान से विस्थापित परिवारों को भारत देश के अलग अलग शहरों में पुनर्वास नीति के तहत बसाया गया था. म प्र के कटनी जिले (तब जबलपुर जिला ) में तत्कालीन केन्द्र सरकार ने 399 एकड़ भूमि विस्थापित परिवारों के पुनर्वास के लिए दी थी, जिसके पट्टे 1976, 1979, 1983 आदि के वर्षो में दिए भी गए लेकिन बाद में यह संपूर्ण प्रक्रिया ही ठंडे बस्ते में दल दी गई, जिसकी वजह से आज भी तरह तरह की समस्याओं का सामना हजारों परिवारों को करना पड़ता है. 

म्र प्र के यशस्वी और दूसरों के दर्द को समझने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से " प्रबल सृष्टि " व्यापक जनहित में यह जनअपेक्षा करता है कि आप इस और ठोस और निर्णायक कार्यवाही करते हुए, वर्षो से लंबित समस्या का समाधान अब अवश्य करेंगे . पूर्व की काँग्रेस सरकारें इस समस्या को सुलझाने में नाकाम रही है या इसे साफ़ तौर पर कहे तो लंबित पुनर्वास समस्या सुलझाने में कभी गंभीरता बरती ही नही गई है. 

मुख्यमंत्री जी आप पर समाज का विश्वास स्थापित है, विस्थापन के बाद इस भूमि पर लोगो ने अपना अपना घर - संसार बसाया है, व्यवसाय - उद्योग आदि स्थापित कर ख़ुद और दूसरे हजारों जनों को रोजगार भी दिया है, भूमि से सबका भावनात्मक सम्बन्ध जुड़ा हुआ है, अब हजारों परिवारों की एकमात्र आशा की किरण सिर्फ़ आप ही है, आपमें पूरे प्रदेश की जनता को खुशहाल रखने की क्षमता है, कटनी के माधव नगर में बसे हजारों सिंधी परिवार आप  से ही यह अपेक्षा रखते है कि आप उन्हें भूमि के सम्बन्ध में कोई स्थाई हक दे जिससे वे इस और बेफिक्र होकर प्रदेश के विकास में अपना सहयोग अपने तरीके से दे सके         

Friday, June 28, 2013

संसदीय गरिमा को उन्होंने है बढ़ाया - विधानसभा अध्यक्ष श्री ईश्वरदास रोहाणी के जन्म-दिन 30 जून पर विशेष



मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष श्री ईश्वरदास रोहाणी जीवन के 67 बसंत देखने के बाद 30 जून को 68 वे वर्ष में प्रवेश कर रहे है।  मध्यप्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर से जुड़े श्री रोहाणी ने विधानसभा अध्यक्ष के रूप में अपने संसदीय ज्ञान वाकपटुता, हाजिरजवाबी और विद्वता से संसदीय गरिमा में व्रद्धि की है। उनके नेतृत्व में मध्यप्रदेश विधानसभा की गिनती ऐसी विधानसभाओं में होने लगी है, जहा  आम सहमति से कार्य संपादित होते है। लोकतांत्रिक व्यवस्था में विधानसभा में तनाव के क्षण आते ही रहते हे और अनेक ऐसे मुद्दे होते है जिन पर बहुत गरमा-गरमी हो जाती है। ऐसे नाजुक क्षण में सदन का संचालन बिना तनाव लिये और बिना तनाव दिये करना बहुत कुशलता की बात है। श्री रोहाणी ने अपने इस गुण का बखूबी परिचय दिया है सभी राजनीतिक दलों के विधायक श्री रोहाणी की कार्यकुशलता और सहजता के कायल है। सार्वजनिक जीवन के लगभग 4 दशक पूरा करने वाले श्री ईश्वरादास रोहाणी के मन में हमेशा आम आदमी की पीड़ा रही है। विधानसभा की कार्यवाही के संचालन के दौरान अनेक मौको पर इसकी झलक देखने को हमे मिलती है। वे आम आदमी से जुडे़ मुद्दों  को उठाने वाले विधायकों को सहयोग करने में कोई कोताही नहीं बरतते है। अनेक बार ऐसे मौके आते है जब वे इसके लिये संसदीय नियमों को भी दरकिनार करने में नहीं हिचकते।


 श्री रोहाणी का सार्वजनिक जीवन ऐसी है कि वे युवाओं के लिये प्रेरणा-स्त्रोत बने हुए है। 30 जून 1946 को अविभाजित भारत के प्रमुख नगर कराची में जन्में श्री ईश्वरदास रोहाणी का गहरा नाता संस्कारधानी जबलपुर से रहा है। श्री रोहाणी के परिजन ने देश के विभाजन की पीड़ा को भोगा है। हालांकि श्री रोहाणी के परिजन जब भारत आये, उनकी उम्र मात्र एक वर्ष थी उन्होनें अपने परिवार की पीड़ा को अपने पिताजी और बुजुर्गो से सुना इसी पीड़ा ने उनके मन में सार्वजनिक जीवन में आने की प्रेरणा दी। श्री रोहाणी युवा अवस्था तक आते-आते भारतीय जनसंघ एवं राष्ट्रीय स्वंसेवक संघ  से जुड़ गये। उन्होंने अपने सार्वजनिक जीवन की शुरूआत में जबलपुर की पानी, सड़क, बिजली जैसी मूलभूत समस्याओं को सार्वजनिक मंचों पर निर्भीकता से उठाया। वे पार्षद से लेकर विधायक और फिर संवौधानिक विधानसभा अध्यक्ष के पद तक पहुचें उन्होनें राजनीति में आम आदमी के दर्द को हर-स्तर पर देखा और समझा। इन्हीं सब परिस्थियों ने उन्हें कुशल वक्ता  भी बनाया। आज विधानसभा में श्री ईश्वरदास रोहाणी की वाक-पटुता और हाजिर-जवाबी के सभी कायल हैं। 

उनके राजनीतिक जीवन की चर्चा करें तो वे जबलपुर क्षेत्र से 1993 में पहली बार विधायक बने। इसके बाद 1998 में विधानसभा के लिये दोबारा चुने गये। 11 फरवरी 1999 को मध्यप्रदेश विधानसभा के उपाध्यक्ष चुनें गये। श्री रोहाणी वर्ष 2003 में जब तीसरी बार भारी बहुमत से जीतकर विधानसभा पहुचे तो उनके विधायी ज्ञान को देखते हुए उन्हें 16 दिसम्बर 2003 विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए चुना गया। श्री रोहाणी के वर्ष 2008 में चैथी बार विधानसभा में जीतकर आये और उन्हें 7 जनवरी 2009 को विधानसभा अध्यक्ष पद के लिये दोबारा चुना गया। श्री रोहाणी की विधानसभा संचालन की अपनी ही एक अलग कार्यशैली है। वे उन विधायकों का विशेष ध्यान रखते है। जो निर्वाचन होकर पहली बार विधानसभा पहुचते है। अनेक मौकों पर वे नियमों से हटकर इन विधायको को प्रोत्साहित करते है और सार्वजनिक मुद्दो को उठाने के लिये मौका देते है। उनके मन में महिला विधायकों के प्रति भी विशेष सम्मान है, जिसे देखने का मौका विधानसभा की कार्यवाही के दौरान मिलता हैं। वे हमेशा सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष के बीच संतुलन बनाये रखने का कार्य कुशलतापूर्वक करते है।। वे हमेशा संसदीय प्रणाली की मर्यादा को तरजीह देते है। देश की अनेक विधानसभा ऐसी है जहा पर अनेक बार कुर्सिया, माइक एवं अन्य सामग्री उठाकर फेंकने के दृश्य देखने को मिलते है। इससे न केवल विधायकों की छवि खराब होती है, बल्कि देश की संसदीय प्रणाली को भी ठेस पहुचती है। उन्होंने विधायको को अनेक बार संसदीय प्रणाली की मर्यादा में रहकर अपनी बात कहने की समझाइश दी हैं इसका असर विधायको के आचरण में देखने को मिला है। वे गंभीर मुद्दों पर बहसे के दौरान सदन में अपने विनोदी स्वभाव से सदन के महौल को सहज और सरल बनाये रखते है। 

विधानसभा अध्यक्ष श्री ईश्वरदास रोहाणी के मन में संसदीय प्रणाली एवं उसके मान्य नियमों में गहरी आस्था है। वे इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा ज्ञानार्जन के हिमायती भी है। उन्होंने आने के देशों में जाकर संसदीय कार्य-प्रणाली को समझा है। श्री रोहाणी ने 1998 में भारतीय संसदीय संघ के तत्वाधान में आयोजित युनाईटेड किंगडम, फ्रांस, बेल्जियम, जर्मनी, नीदरलैंड स्विटजरलैण्ड, आस्ट्रिया और इटली देश का दौरा कर वहा  की संसदीय प्रणाली को समझा। वे वर्ष 2007 में इस्लामाबाद में आयोजित तीसरे राष्ट्रकुल संसदीय संघ एशिया क्षेत्र के सम्मेलन में भी शामिल हुए। श्री रोहाणी ने वर्ष 2008 में मलेशिया की राजधानी क्वालालंपुर में संसदीय सम्मेलन के दौरान अपने विचारों को रखा, जिसकी सराहना भी हुई। एक विशेष उपलब्धि भी उनके कार्यकाल की रही, जिसमे उन्होंने भोपाल में 74 वें पीठासीन अधिकारी का सम्मेलन भोपाल विधानसभा में किया। इस सम्मेलन में लोक अध्यक्ष श्रीमती मीरा कुमार भी शामिल हुई और उन्होनें इस आयोजन की सार्वजनिक मंच से प्रशंसा भी की।  

Tuesday, June 11, 2013

ईमानदारी से होगा मनरेगा सामाजिक अंकेक्षण ? कटनी जनपद ग्राम पंचायतों में हुए है सिर्फ़ कागजों में कार्य, जमकर भ्रष्टाचार

कटनी - जिले में महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजागर गारंटी योजना के तहत कराये गए ज्यादतर कार्य कागजों में ही सम्पन हुए है, वृक्षारोपण, नालाबंधान, बाड़ नियंत्रण रिटर्निंग एव वेस्ट वियर

निर्माण, सड़क निर्माण आदि जैसे कई कार्यक्रम सिर्फ़ कागजों में ही पुरे किए गए जबकि वास्तविकता इससे कोसों दूर है, ज्यादा नही सिर्फ़ जिला मुख्यालय के आस पास की ग्राम पंचायतों पर ही ऐसे कार्यों का ईमानदारी से भौतिक सत्यापन किया जाए तो सब साफ़ साफ़ हो जायेगा.  कई कार्यों में मज़दूरी से ज्यादा सामग्री के नाम पर भुगतान किया गया है जो की योजना की मूल भावना के खिलाफ है. प्रबल सृष्टि के पास ऐसे कई कार्यों का लेखा जोखा मौजूद है जो कार्य वास्तविकता में हुए ही नही है, इस बात से इनकार नही किया जा सकता कि स्थानीय पदो पर पदस्थ अधिकारियों ने भ्रष्टाचार की इस गंगा में अपने हाथ साफ़ नही किए हो . क्या जिला पंचायत के कार्यपालन अधिकारी इस सबसे अंजान है या वे अंजान ही बना रहने चाहते है ? अब सामाजिक अंकेक्षण से कुछ आस जगी है कि कागजों में हुए कार्यों की पोल खुलेगी लेकिन इसपर नजर रखना भी बहुत जरूरी हो जाता है कि कही ऐसा ना हो कि अंकेक्षण के  नाम पर कुछ लोग अपना उल्लू न सीधा करने लगे                  


मध्यप्रदेश राज्य रोजगार गारंटी परिषद भोपाल के सामाजिक अंकेक्षण के संचालक अभय पाण्डेय ने जिले की जनपद पंचायत कटनी अंतर्गत महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी स्कीम-मध्यप्रदेश (मनरेगा) के तहत किये जा रहे कार्यो की समीक्षा की है, मनरेगा अंतर्गत किये गये कार्यो की समीक्षा के लिए जनपद पंचायत कटनी के बी0आर0सी0भवन में 08 जून को बैठक आयोजित की गई थी इस बैठक में संचालक ने ग्रामो में सामाजिक अंकेक्षण कराने के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी दी, उन्होने सामाजिक अंकेक्षण के संबंध में जानकारी देते हुए बताया की सामाजिक अंकेक्षण से तथ्यों का पता चलता है। उन्होंने कहा कि इसके लिए ग्राम पंचायतो में समपरीक्षा समितियों का गठन किया जावें तथा ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम सभा का आयोजन करते हुए सामाजिक अंकेक्षण कराया जावें । सामाजिक अंकेक्षण के दौरान सरपंच,सचिव तथा उपंयत्री अनिवार्य रुप से उपस्थित रहें तथा ग्राम सभाओं का समय भी ऐसा रखा जावें जिससे अधिक से अधिक संख्या में ग्रामीण जन मौजूद रहें। उन्होंने समीक्षा के दौरान कहा कि ग्राम पंचायतों में रिकार्ड संधारण किया जावें तथा सामाजिक अंकेक्षण में ग्रामीणों को ग्राम में किये गये कार्यो की जानकारी तथा रिकार्ड का अवलोकन कराया जावें। समीक्षा बैठक में सामाजिक अंकेक्षण के संचालक  अभय पाण्डेय ने ई-मस्टर रोल , एफ0टी0ओ0, किये जाने , वित्तीय वर्ष 2012-13 के लंबित भुगतान , वार्षिक कार्य योजनानुसार कार्यो की तकनीकी एंव प्रशासकीय स्वीकृति तथा मनरेगा साफ्ट में अपलोड कराये जाने की समीक्षा की तथा आवश्यक निर्देश दिये गये। 
बैठक में जनपद पंचायत कटनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी , के0के0पाण्डेय, मनरेगा के अतिरिक्त कार्यक्रम  अधिकारी अनुराग सिंह,सहायक यंत्री,आर एम खान उपंयत्री , डी0एस0बघेल , ओम प्रकाश गुप्ता , नीलेश शुक्ला , मनीष हल्दकार,  मुकेश चक्रवर्ती , अतीक खान , आर आर खान सहायक मानचित्रकार , श्रीमति सीमा सिंह बघेल , सहायक ग्रेड-2 अशोक ठाकुर , डाटा एन्ट्री आपरेटर  विवेक तिवारी, मुकेश नामदेव , जीपी पाण्डेय, सचिव दयाशंकर गर्ग एंव अन्य , सरपंच ,रोजगार सहायक उपस्थित रहे।

Saturday, June 08, 2013

पुलिस की पुलिस पर कार्यवाही - गैरजिम्मेदार सस्पेंड

कटनी - ऐसा ध्यान में नही आता कि इससे पूर्व लापरवाह पुलिस आरक्षको पर लगातार कार्यवाही हुई हो लेकिन वर्तमान में ऐसा कटनी जिले में हो रहा है. थाने पहुचे फरियादियो की अगर सुनवाई नही होती तो इसकी शिकायत मिलने पर पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर तत्काल संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही करते है साथ ही दर्ज किए गए मामलों में संबंधित जाँच अधिकारी की सुस्ती भी पुलिस अधीक्षक बिलकुल बर्दाशत नही कर रहे है. जिस तरह से लापरवाह पुलिस आरक्षको पर सख्ती बरती जा रही है इससे धीरे धीरे समूचे जिले के थानों की कार्यप्रणाली पर उचित असर पड़ेगा जिससे फायदा आम जन को ही होगा. इस बार भी गैर जिम्मेदाराना  आरक्षको पर कार्यवाही हुई है             

गांजा तस्कर से मारपीट कर एक लाख रूपये लेने पर आरक्षक निलंबित 
 बड़वारा निवासी  पुसउराम  द्वारा दिनांक 30.05.13 को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में उपस्थित होकर आवेदन दिया कि लगभग 7-8 दिन पहले उसके पुत्र करिया उर्फ महादेव पटेल को दो पुलिस वाले और दो प्रायवेट कपड़े पहने व्यक्तियों ने गांजा सहित रूपौंद स्टेशन में पकड़ा तथा उसे अपने साथ मोटर साइकिल से हिरवारा गाताखेड़ा रोड पर ले जाकर मारपीट की गई तथा उससे एक लाख रूपये की मांग की गई। करिया पटेल को छुड़वाने के लिये पुलिस वालों को श्यामलाल यादव ग्राम केवलारी के साथ जाकर सुबह पाँच बजे एक लाख रूपये दिये तब पुलिस वालों ने आवेदक के पुत्र को छोड़ा, साक्षी श्यामलाल ने चार अनावेदकों में से आरक्षक 222 सतीश तिवारी द्वारा रूपयों की मांग करने की पुष्टि की, शिकायत पत्र की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित सांघी द्वारा की गई जिनके जांच निष्कर्ष पर प्रथम दृष्टया आरक्षक 222 सतीश तिवारी द्वारा अपने अन्य 3 साथियों के साथ अवैधानिक रूप से आवेदक के पुत्र के साथ मारपीट कर एक लाख रूपये लेने की पुष्टि होना पाया गया। आरक्षक 222 सतीश तिवारी थाना कोतवाली को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर रक्षित केन्द्र कटनी में संबद्ध किया गया है।

लोकसेवक से अभद्र व्यवहार करने पर आरक्षक निलंबित
दिनांक 05.06.13 को आवेदक बी.के.द्विवेदी मध्यप्रदेश उप क्षेत्रीय विद्युत वितरण केन्द्र शहर संभाग कटनी के द्वारा एक लिखित आवेदन पत्र थाना प्रभारी माधवनगर को दिया गया कि  पुलिस लाईन झिंझरी स्थित आवासीय कालोनी के मीटरों में अनियमितता की शिकायत पर पुलिस लाईन स्थित आरक्षक कृष्ण कुमार शुक्ला का मीटर चैक करने पर अनियमितता पाई गई जिसका पंचनामा बनाया गया, उसी समय आरक्षक कृष्ण कुमार शुक्ला आये और उन्होंने कहा कि अन्य क्वार्टर चैक न कर मेरा क्वार्टर क्यों चैक कर रहे हो, इसी बात को लेकर कृष्ण कुमार शुक्ला ने गाली गलौच कर विवाद किया तथा अपमानित किया।
नगर पुलिस अधीक्षक कटनी एवं थाना प्रभारी माधवनगर से इस संबंध में प्रतिवेदन प्राप्त किया गया, जिसमें उन्होंने आरक्षक कृष्ण कुमार शुक्ला का आचरण एवं व्यवहार एक लोकसेवक के अनुरूप न होना तथा इससे पुलिस की छवि धूमिल होना पाया गया।
इस प्रकार एक लोकसेवक से गाली गलौज कर विवाद करने, उसे अपमानित करने तथा पुलिस की छवि धूमिल करने पर आरक्षक क्रमांक 66 कृष्ण शुक्ला को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

कटनी जिले में अन्नपूर्णा योजना शुरू, गरीब वर्ग को होगा फायदा

कटनी / कोई गरीब भूखा न रहे इसे लेकर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई महत्वपूर्ण अन्नपूर्णा योजना का लाभ अब कटनी की गरीब जनता भी प्राप्त कर सकेगी, प्रदेश शासन की इस महत्वकांक्षी योजना के तहत 7 जून को जिले के प्रभारी मंत्री व किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री डा रामकृष्ण कुसमरिया ने अन्नपूर्णा योजना के द्वितीय चरण का शुभारंभ मंडी प्रागण में किया। गरीबो के जीवन को उन्नत करने तथा उन्हे भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रभारी मंत्री ने कृषि उत्पादन उन्नत तकनीक के साथ प्रसंस्करण

पर बल देते हुये कहा कि कृषको को कृषि उत्पादन का  तभी सही मूल्य मिलेगा। उन्होने जानकारी देते हुये बताया कि पीले राशन कार्ड वालों को हर माह  30 किलो गेंहूँ  और 5 किलो चांवल तथा नीले राशन कार्ड वाले को 18 किलो गेंहूँ, 1 किलो नमक दिया जायेगा।  जिसमें गेंहूँ 1 रूपया किलो चांवल 2 रूपया किला व नमक 1 रूपया किलो के भाव से दिया जायेगा। इस योजना के शुभांरभ प्रतिकात्मक रूप से लगभग 20 हितग्राहियो को लाभ देकर किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्कृत बोर्ड के अध्यक्ष डा. मनमोहन उपाध्याय ने किया। प्रभारी मंत्री ने अधिकारियो को निर्देशित किया कि गरीबो को सही ढ़ग से राशन समय पर उपलब्ध कराये तथा जिनके राशन कार्ड नही बने है उन्हे नियमानुसार तत्काल बनवाये कोई भी अधिकारी इस दिशा में गड़बड़ी करता है तो उनके विरूद्ध सक्त अनुसशात्मक कार्यवाही की जाये। इस योजना की उपयोगिता के साथ ही आगे उन्होने प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी दी । इसके साथ ही उन्नत कृषि को बढ़ावा देन के लिए प्रभारी मंत्री ने कुछ कृषको को मक्का बीज का वितरण किया साथ ही नवनिर्मित कृषक विश्राम भवन को कृषको को लोकार्पित किया इसके पूर्व गल्ला व्यापारी तथा पल्लेदार समिति द्वारा प्रभारी मंत्री का स्वागत किया गया। अन्नपूर्णा योजना के द्वितीय चरण का शुभारंभ के अवसर पर बीजेपी जिला अध्यक्ष विजय शुक्ला, सांसद प्रतिनिधि मिटठूलाल जैन सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि तथा प्रशासनिक अधिकारी थे। जिनमें कलेक्टर ए.के.सिंह, एस.पी. राजेश हिंगणकर, जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी  जेडयू शेख तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Wednesday, June 05, 2013

सुचारु बिजली व्यवस्था के लिए कलेक्टर ने दिए निर्देश

कटनी/ इसी महीने की 22 तारीख से जिले में 24 घंटे बिजली मिलने लगेगी इसके लिए जिला प्रशासन लगातार प्रयासरत है . कलेक्टर  ए के सिंह ने 4 जून को  फीडर सेप्रेशन की प्रगति का जायजा लिया और  जिले के प्रत्येक क्षेत्र में जहां जहां फीडर सेप्रेशन कार्य हुआ है इसकी  जानकारी हासिल की तथा बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देश भी दिए कि सभी विद्युत उपभोक्ताओं को नियमित विद्युत प्रदाय की जाए, टूटे खंबे, झूलते तार, घरों से सटे हुए तार, अनुपयुक्त जगह लगे विद्युत खंबों को शीघ्र ठीक करने के साथ-साथ पावर सब स्टेशन स्थापित करने के लिए भी निर्देशित किया और 22 जून के पहले तक जिले में अबाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित हो सके इसके लिए शीघ्र ही प्रभावी कदम उठाने को कहते हुए मंगल नगर में झूलती तार को तत्काल ठीक करने को निर्देशित किया । इसी तारतम्य में केबल कनेक्शन तथा ओव्हर ब्रिज के आसपास लाइनों की सु्दृढ़ीकरण करने पर जोर दिया । फीडर नं. 5 घंटा घर तथा फीडर नं. 7 हास्पिटल में विद्युत खंबों को भी शीघ्र शिफ्ट करने को कहा गया  । बैठक में अधीक्षण यंत्री  सहित समस्त विद्युत अधिकारी उपस्थित थे। 

Wednesday, May 29, 2013

पुलिस को सूचना न देने वाले लापरवाह मकान मालिकों के विरुद्ध मामले दर्ज



कटनी - दूसरे जिलों के अपराधी, किराएदार बनकर आसानी से अपना कोई ठिकाना कटनी जिले में बना लेते है, यह तभी मुमकिन होता है जब मकान मालिक बिना पुख्ता जानकारी के उन्हें अपना मकान आदि रहने के लिए दे, मकान मालिकों की इस घोर लापरवाही  का नतीजा यह निकलता है कि अपराधी अपराध कर आसानी से निकल जाते है और पुलिस को अपराधी को तलाशने में काफ़ी मशक्कत करनी पड़ती है . रेल्वे का प्रमुख जंक्शन होने के कारण कटनी में रोजाना बाहरी व्यक्तियों का आगमन होता है। अपराधिक प्रवृत्ति के लोग जिले में आकर कुछ समय के लिये रूकते हैं व अपराध घटित करके अन्यत्र चले जाते हैं, बाहरी व्यक्तियों के बारे में कोई पुख्ता  जानकार नहीं होने से पुलिस की जांच प्रभावित होती है. इसी को ध्यान में लाते हुए पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर की पहल पर अपर जिला मजिस्ट्रेट कटनी दिनेश श्रीवास्तव द्वारा कटनी जिले की राजस्व सीमा के अंतर्गत आदेश क्रमांक/2201/एस.डब्ल्यू./13 कटनी, दिनांक 19/20 फरवरी 2013 को दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये गये थे, जिसके संबंध में सभी समाचार पत्रों में इसकी अधिसूचना जारी की गई थी, उक्त आदेश में निम्न बातों का पालन किया जाना अनिवार्य किया गया है:-
1. मकान/दुकान मालिक द्वारा संबंधित थाने को निर्धारित प्रारूप में किरायेदारों की सूचना दिये बगैर मकान/दुकान न दी जावे।
2. घरेलू नौकरों एवं व्यवसायिक नौकरों की सूचना संबंधित थाने को निर्धारित प्रारूप में दिये बगैर काम पर न रखा जावे।
3. निजि छात्रावासों में छात्र एवं छात्राओं की सूचना संबंधित थाने को निर्धारित प्रारूप में दिये बगैर प्रवेश न दिया जावे।
4. होटल, लॉज, धर्मशाला में रूकने वाले व्यक्तियों को बगैर पहचान पत्र के न ठहराया जावे तथा ठहरने वाले व्यक्तियों की सूची निर्धारित प्रारूप में प्रतिदिन थाने पर दी जावे।
5. भवन निर्माण एवं अन्य निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों/कारीगरों की सूचना ठेकेदार द्वारा निर्धारित प्रारूप में थाने में दिये बगैर कार्य नहीं कराय जावेंगे।
6. पेईंग गेस्ट की सूचना संबंधित मकान मालिक द्वारा निर्धारित प्रोफार्मा में थाने पर दिये बगैर पेईंग गेस्ट नहीं रखे जावेंगे।

इसके बावजूद कुछ मकान मालिकों/ ठेकेदारों  ने पुलिस को इसकी सूचना नही दी थी जिसपर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए
दिनांक 27.05.2013 को निम्न अपराध पंजीबद्ध किये गये हैं:-

1 माधवनगर 315/13 धारा 188 ता.हि. राजा दत्ता(बंगाली) मकान नंबर 402 एल.आई.जी. मानसरोवर कालोनी, माधवनगर, कटनी
2 माधवनगर 316/13 धारा 188 ता.हि. वीरेन्द्र खन्ना, मकान नंबर 417 एल.आई.जी. मानसरोवर कालोनी, माधवनगर, कटनी
3 कोतवाली 472/13 धारा 188 ता.हि. सुदामा प्रसाद पिता बाबूलाल राव उम्र 55 वर्ष साकिन सी.एल.पी.स्कूल के पास, भट्टा मोहल्ला, कटनी
4 कोतवाली 473/13 धारा 188 ता.हि. हजारी सिंह पिता किशोरी सिंह ठाकुर भट्टा मोहल्ला, पाठक वार्ड, कटनी
5 स्लीमनाबाद 137/13 धारा 188 ता.हि. प्रेमा राम जाट पिता रम्मू राम जाट उम्र 35 वर्ष साकिन ग्राम चंदई थाना लाईन जिला नगौर राजस्थान हाल वेंकटेश्वर मार्बल हरदुआ थाना स्लीमनाबाद, जिला कटनी
6 स्लीमनाबाद 138/13 धारा 188 ता.हि. सौरभ गांग पिता सुरेश कुमार गांग उम्र 30 वर्ष साकिन प्लाजा मार्बल हरदुआ थाना स्लीमनाबाद जिला कटनी
आमजनता को पुनः सूचित किया जाता है कि सभी मकान मालिक/ठेकेदार/व्यवसायी/ दुकान मालिक आदि अपने अधीनस्थ काम करने वाले मजदूर/नौकर अथवा अपने किरायेदारों के संबंध में निर्धारित प्रोफार्मा में जानकारी थाना को उपलब्ध करायें। अन्यथा पुलिस द्वारा वैधानिक कार्यवाही की जावेगी।

Saturday, May 25, 2013

पुलिस की राडार में नही आये क्रिकेट के मुखिया सट्टेबाज


कटनी - क्रिकेट सट्टेबाजी में सफेद पोश जन भी शामिल है इसका खुलासा रोजाना हो रहा है लेकिन अपने शहर में चल रहे क्रिकेट के मुखिया सटोरिये पुलिस की गिरफ्त से बाहर है हालाँकि पिछले दिनों माधव नगर पुलिस ने एक स्थानीय युवक को साजो समान सहित पकड़ा था लेकिन उस युवक के बारे में बताया जाता है कि वह इस खेल में नया नया था और पुलिस से उसकी कोई सेटिंग नही थी. जबकि माधव नगर आटो स्टैंड के पास स्थित एक होटल संचालक का नाम इस खेल में काफ़ी पुराना है इसके साथ ही खैबर लाईन क्षेत्र में भी एक क्रिकेट सट्टेबाजी का अड्डा संचालित होने की ख़बर है लेकिन पुलिस की पहुँच से काफ़ी दूर है इसी तरह से नगर में भी कुछ नामचीन लोग मौजूद है जिनके बारे भी चर्चे खूब है लेकिन पुलिस ने कभी कोई मौके की जाँच या कार्यवाही की हो ऐसा कभी देखने सुनने को नही मिला है जबकि कुछ सटोरियो ने बाकायदा काली कमाई से नगर के बीच में सम्पत्तिया भी खड़ी कर ली है. क्या ऐसा हो सकता है कि स्थानीय पुलिस इससे बेखबर हो ? क्या पुलिस का मुखबिर तन्त्र इन सबसे अंजान है या अपने शहर के सट्टेबाज पुलिस तन्त्र से ज्यादा चालाक है जो पुलिस के राडार में नही आ पाते. सूत्रों के अनुसार करोड़ों रुपये इस आईपीएल सीज़न में इधर से उधर हो गए अब तो सिर्फ़ फाइनल मैच बचा है, इस सीज़न में दो माह बीतने को आए लेकिन पुलिस को कोई उल्लेखनीय सफलता नही मिल पाई. कुल मिलाकर जहां अन्य शहरों से पुलिस की व्यापक कार्यवाही की खबरें आई वही अपने कटनी जिले में पुलिस के हिस्से सट्टेबाजों पर कार्यवाही नगण्य रही है  

Thursday, May 23, 2013

नशा करता है तन, मन, धन बर्बाद, 31 मई को तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस का आयोजन



कटनी - नशा करने वाला व्यक्ति पहले तो ख़ुद बर्बाद होता फिर परिवार को बर्बाद कर देता है, नशे से तन, मन धन सब पर व्यापक असर पड़ता है हमारे आस पास ऐसे परिवारों की संख्या बहुत है जिनका सब कुछ नशे की वजह से अब खत्म हो चुका है . लोग किसी भी प्रकार का नशा न करे इसके लिए शासन भी समय समय पर जागरूकता अभियान चलाता है लेकिन इसमे आम नागरिकों को भी अपनी सहभागिता देनी होगी ताकि ऐसे अभियानों को पूर्ण सफलता मिलें क्योंकि सिर्फ़ बातों से ही कोई काम नही बनता . इस वर्ष भी पंचायत एवं सामाजिक न्याय विभाग के निर्देश पर 31 मई को अन्र्तराष्ट्रीय तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस का आयोजन किया जाना है । इस आयोजन का उद्देश्य युवाओं, छात्र, छात्राओं एवं जनजन में बढ़ती हुई तम्बाकू व धूम्रपान के सेवन की प्रवृत्ति की रोकथाम के लिये तम्बाकू एवं बीड़ी सिगरेट के दुष्परिणामों से इन्हे अवगत कराना है ताकि तम्बाकू एवं गुटखा, बीड़ी सिगरेट के सेवन की बढ़ती प्रवृत्ति से युवा पीढ़ी एवं जनजन को केंसर, टी.बी हृदयाघात आदि गंभीर बीमारियों से युवा वर्ग तथा जन-जन को बचाया जा सके तथा तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन की रोकथाम हेतु वातातरण व चेतन का निर्माण हो सके ।  राज्य शासन द्वारा तम्बाकू तथा तम्बाकू से बने उत्पाद विक्रय पर प्रतिबंध लगाया गया है जिसके व्यापक पैमाने पर असर देखने को मिल रहा है । इस अभिययान को सफल बनाने के लिये जिला स्तर पर नशामुक्ति के लिये पहल प्रारम्भ कराई जावे ।  तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन के दुष्परिणामों पर आधारित कार्यक्रम जैसे सेमीनार, रैली, पोस्टर, प्रदर्शनी, वाद-विवाद, निबंध-लेखन, प्रश्नमंच, चित्रकला प्रतियोगिताएं व नुक्कड़ नाटक, गीत, नृत्य आदि आयोजित किये जावे । इन कार्यक्रमों में विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, स्कूलों, नगर पालिका, नगर निगम जिला पंचायत, जनपद पंचायत स्वैच्छिक संस्थाएं तथा स्थानीय जन प्रतिनिधि सम्मिलित हों । यह हमारा दायित्व है कि बढ़ती नशा प्रवृत्ति  से बचाव के लिये प्रदेश के हर युवा, वृद्ध नागरिकों को पहल करना होगी ।