Saturday, December 30, 2017

मुनीर गांव में झोपड़ी में रहता था, आज खुद का मकान बन गया

कटनी / खुद का अपना घर हो, यह सपना हर अमीर और हर गरीब व्यक्ति का होता है। जो आर्थिक रुप से मजबूत होते हैं, उनके लिये ये ख्वाह पूरा करना आसान होता है। लेकिन जिन्हें प्रतिदिन मेहनत, मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करना हो, उनके लिये यह दूर की कौड़ी होता है।
             
            प्रधानमंत्री आवास योजना ने रीठी जनपद पंचायत के ग्राम डांग में रहने वाले मुनीर के जीवन में भी अपार खुशियों के क्षण दिये। क्योंकि मुनीर बुजुर्ग हैं। साथ ही अब तक का जीवन उन्होने कच्चे मकान में गुजारा है। उन्होने तो कभी पक्की छत नसीब होगी, यह सोचा भी नहीं था। उनके लिये यह महज सपनों जैसा था।

            मुनीर ने बताया कि कच्चे घर में बरसात के समय बहुत परेशानियॉं होती थीं। हमेंशा बारिश का पानी घर के अंदर टपकने की समस्या बनी रहती थी। कई बार तो रात-रात भर जाग कर बितानी पड़ती थी। तब से मैं हमेंशा पक्का मकान बनाने का सपना देखता रहा।

            लेकिन प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के आने से मुनीर की ऑंखों में भी उम्मीद की किरण जागी। सर्वे में वे पात्र पाये गये। आवास के भौतिक सत्यापन और चयन प्रक्रिया के बाद जनपद पंचायत द्वारा क्रमशः जियोटैग के आधार पर मुनीर को किश्तें दी जानें लगीं और सितंबर 2017 में मुनीर के सपनों का आशियाना, जो  बचपन में देखा था, वो इस उम्र में आकर पूरा हुआ है।

            इसमें भी सोने पर सुहागा तब हुआ, जब खुद जिले के प्रभारी मंत्री और प्रदेश शासन के वित्त एवं वाणिज्यकर मंत्री  ने एक शासकीय कार्यक्रम के दौरान डांग पहुंचकर खुद उनके हाथों में घर की चाबी सौंपी और फीता काटकर उनका गृहप्रवेश कराया।

मुनीर के घर का लोकार्पण करते हुये प्रभारी मंत्री ने उस समय उससे पूछा कि आपको खुद का पक्का घर मिल गया, कैसा लग रहा है। जिस पर अपनी बात कहते हुये मुनीर ने कहा कि इस गांव में मैं झोपड़ी में रहता था। आज मेरा खुद का मकान बन गया, बहुत अच्छा लग रहा है। अब कम से कम बारिश में घर में पानी घुसने का डर तो नहीं रहेगा।


Friday, December 29, 2017

14-15 लोगों के कब्जे से चार एकड़ शासकीय भूमि खाली कराई गई

कटनी / इमलिया गांव में राजस्व अमले ने अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही को अंजाम दिया। इस दौरान राजस्व व माधवनगर पुलिस के अमले के द्वारा चार एकड़ शासकीय भूमि मुक्त कराई गई। तहसीलदार कटनी संदीप श्रीवास्तव ने बताया कि इमलिया ग्राम में शुक्रवार को 14-15 लोगों के कब्जे से चार एकड़ शासकीय भूमि खाली कराई गई है। अतिक्रमणकारियों द्वारा मकान और खाली भूमि में बाउंड्री बनाई गई थी। जिसे तोड़ा गया। इसमें मुख्यता भोला गर्ग, कमल और कमलेश यादव के अतिक्रमण थे। जिन्हे तोड़ा गया हैं।

गाडि़यों की हैडलाईट पर काली पट्टी लगवाने चलेगा अभियान, सुभाष चौक से हटाया जायेगा ऑटो स्टेंड

कटनी / एसपी ऑफिस परिसर में स्थित पुलिस कंट्रोल रुम में सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित हुई। जिसमें कलेक्टर विशेष गढ़पाले और पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह मौजूद थे। बैठक के प्रस्तावित बिन्दु एआरटीओ ने रखे। जिस पर दोनों ही वरिष्ठ अधिकारियो द्वारा निर्णय लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया।
         
           

 बैठक में प्राथमिकता पर कलेक्टर ने स्कूलों में पढ़ने वाले एैसे स्टूडेन्ट्स, जो बाईक से स्कूल जाते हैं और उनके पास लाईसेन्स नहीं है, एैसे विद्यार्थियों को स्कूल परिसर में एन्ट्री ना देने के निर्देश स्कूल प्रबंधन को जारी करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि यदि इसके बावजूद भी स्कूल प्रबंधन एैसे विद्यार्थियों को बाईक सहित परिसर में एन्ट्री कराये, तो यातायात विभाग स्कूल प्रबंधन पर कार्यवाही करे। साथ ही यातायात पुलिस व यातायात विभाग के अधिकारियों को अभियान चलाकर गाडि़यों की हैडलाईट पर काली पट्टी लगवाने के निर्देश भी बैठक में कलेक्टर ने दिये।

            सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में बताया गया कि मिशन चौक में सागर पुलिया तक प्रयोग के लिये डिवाईडर के रुप में एवं लैफ्ट टर्न के रुप में स्टापर्स लगवाये गये थे, जिसका प्रयोग सफल रहा। इसलिये लेफ्ट टर्न में परमानेंट रैलिंग एवं डिवाईडर के रुप में सागर पुलिया के दोनों ओर आठ-आठ के गैप में पर्मानेन्ट रैलिंग लगवाई जाये। जिस पर पुलिस अधीक्षक ने नगर निगम के अधिकारियों को रिमूवेबल एवं कोलेक्सेबल रैलिंग लगवाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि रैलिंग लगवाने के पहले एक बार चर्चा जरुर करें। यातायात की टीम के साथ स्पॉट समझने के बाद भी रैलिंग लगवाने का कार्य करायें।

            मीटिंग में यह भी बताया गया कि थाना तिराहा से एसबीआई बैंक तिराहा में भी सटापर्स लगाकर डिवाईडर बनाया गया। जिससे उस क्षेत्र में लगने वाले जाम से निजात मिली है। अतः यहां पर भी पर्मानेन्ट रैलिंग लगाई जाये। ताकि उन स्टॉपर्स का उपयोग अन्य जगह किया जा सके। बैठक में गांधी द्वार के अंदर लगने वाली दुकानों पर भी चर्चा हुई। जिस पर अतिक्रमित दुकानों को हटाने की कार्यवाही करने की बात कलेक्टर ने कही। वहीं गांधी द्वार के पास अस्थाई यूरिनल रखवाने का निर्णय भी लिया गया।

            लल्लू भैया की तलैया में अस्थाई अतिक्रमण को हटाने का निर्णय भी सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में हआ। वहीं सुभाष चौक में ऑटो स्टेंड हटाने का निर्णय भी बैठक में लिया गया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पूर्व में सुभाष चौक में ऑटो स्टेंड दिया गया था। वर्तमान में थाना तिराहा से स्टेंशन चौराहे तक ऑटो को प्रतिबंधित किया जा चुका है। इस कारण इस ऑटो स्टेंड की उपयोगिता समाप्त हो चुकी है। इसके मद्धेनजर इस स्टेंड को हटाने का निर्णय लेते हुये नगर निगम को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश कलेक्टर व एसपी ने दिये। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रमोद सोनकर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मजदूरों को स्वच्छता के महत्व और जरुरत के विषय में बताया

कटनी / जिले में सभी माईंस में स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। शुक्रवार को नन्हवारा के सिमकों माईंस पहुंचे कलेक्टर विशेष गढ़पाले भी स्वच्छता पखवाड़े के कार्यक्रम में शामिल हुये। इस दौरान उन्होने माईंस मैनेजर को कार्य कर रहे मजदूरों का प्रत्येक माह स्वास्थ्य परीक्षण कराने की बात कही। इस दौरान उप संचालक खनिज दीपमाला तिवारी ने माईन्स सहित अपने घरों में भी स्वच्छता रखने का आग्रह उपस्थित मजदूरों से किया। श्रीमती तिवारी ने स्वच्छता के महत्व और जरुरत के विषय में विस्तार से बताया। इस अवसर पर माईन्स के मैनेजर ने भी उपस्थित मजदूरों को स्वच्छता अभियान के विषय में जानकारी दी। साथ ही माईंस द्वारा पास के गांव में स्वच्छता पखवाड़े के तहत की जा रही गतिविधियों के विषय में भी बताया। उन्होने कहा कि पास के गांव में जाकर भी हमारी टीम ने ग्रामीणों और स्कूलों में विद्यार्थियों को स्वच्छता के प्रति प्रेरित किया है।

उल्लेखनीय है कि खनन क्षेत्र में स्वच्छता के संबंध में 7 एक्शन पाइंट निर्धारित कर कार्य करने के निर्देश दिये गए हैं। इनमें स्वच्छ खदानें, खनन क्षेत्र से लगे ग्रामीण-नगरीय क्षेत्र को खुले में शौचमुक्त बनाना, जीरो वेस्ट माइन के लिये पॉयलेट योजनाएँ आरंभ करना, बैनर-पोस्टर के माध्यम से स्वच्छता के संदेश का प्रचार-प्रसार, स्वच्छता के आधार पर खदानों का क्रम निर्धारण, खनन श्रमिकों को स्वच्छता किट उपलब्ध कराना तथा वृक्षारोपण और श्रमदान कार्यक्रमों का आयोजन करने को कहा गया है।

उसे जब आवाज सुनाई दी तो उसके चेहरे पर हंसी खिल गई

कटनी / लगभग 9 वर्ष के चतुर सिंह के कानों में जब पहली बार आवाज शासन के सामाजिक न्याय विभाग की मदद से पहुंची। तब चतुर की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। यह तब संभव हुआ, जब सामाजिक न्याय विभाग द्वारा एक दिव्यांग शिविर में चतुर को श्रवण यंत्र प्रदान किया गया। बहोरीबंद की ग्राम पंचायत मझगवां निवासी चतुर सिंह अपने दादा राम प्रसाद के साथ दिव्यांग शिविर में आया था। जहां उन्हें श्रवण यंत्र मिला। इस श्रवण यंत्र को जब चतुर सिंह के कानों में लगाया और चुटकी बजाते हुये पूछा, आवाज सुनाई दी। तो उसने मुस्कुराते हुये इशारे में सिर हिलाकर जवाब दिया। उसे जब आवाज सुनाई दी, तो उसके चेहरे पर हंसी खिल गई।

  चतुर सिंह के दादा राम प्रसाद ने बताया कि उन्हें इस मशीन के बारे में पहले नहीं पता था। जब जिले में लगने वाले दिव्यांग परीक्षण शिविर में चतुर सिंह का परीक्षण कराया, तब डॉक्टरों ने परीक्षण करते हुये पर्ची दी और बताया उसे उपकरण की मदद से सुनाई देने लगेगा। उसे अब वह उपकरण मिला है और चतुर सिंह के कानों में लगाया है। जिससे उसकों आवाज सुनाई दे रही है। हमारी आर्थिक स्थिति भी इतनी नहीं थी कि, हम इसका इलाज बेहतर अस्पतालों में करायें और इसे एैसे उपकरण दिला सके। लेकिन सामाजिक न्याय विभाग द्वारा दिव्यांगों के लिये लगाये जाने वाले शिविरों और वितरित किये जाने वाले यंत्रों व उपकरणों के माध्यम से कान में सुनने वाली मशीन मिली है। जिससे हमारा नाती चतुर सिंह सुन सकेगा, जान और समझ सकेगा।

Thursday, December 28, 2017

बेटियां नाम रोशन करती हैं, स्वर्गीय पिता और अपनी माता का सपना किया पूरा

कटनी / ढृढ़ इच्छाशक्ति, आत्मविश्वास और दृढ़ संकल्प के आगे बड़ी-बड़ी मुसीबतें भी घुटने टेक देतीे हैं। यदि ईमानदारी और निष्ठा व लगन के साथ तैयारी की जाये, तो जीत मिलती ही है। इन्ही बातों को अक्षरशः सही साबित किया है कटनी शहर के राजीव गांधी वार्ड में रहने वाली कोमल रैकवार ने। जोकि आज ना महज अपनी माता के लिये बल्कि पूरे मोहल्ले व शहर के लिये गौरव बन गई हैं। कोमल का सिलेक्शन एमपी पीएससी के गत दिनों आये परिणामों में नायब तहसीलदार के पद पर हुआ है।

            गुरुवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने भी कोमल से मुलाकात कर उन्हें बधाई दी।  कलेक्टर ने कोमल से उनकी तैयारियों और आई चुनौतियों के विषय में भी जाना। साथ ही भविष्य में नौकरी के दौरान आने वाली चुनौतियों के विषय में बताया भी। मुलाकात के दौरान कोमल ने कलेक्टर से आईएएस की तैयारी करने की ट्रिक्स भी पूछी। जिस पर  कलेक्टर ने जानकारी भी दी। साथ ही कलेक्टर ने जिला प्रशासन द्वारा जिले के विद्यार्थियों को पीएससी व प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों के लिये प्रारंभ की गई भारत निर्माण कोचिंग में अपने अनुभव साझा करने के लिये आमंत्रित भी किया। जिस पर 30 दिसंबर को कोमल भारत निर्माण कोचिंग पहुंचकर अध्ययनरत् विद्यार्थियों के साथ अपने अनुभव साझा करेंगी।

उल्लेखनीय है कि सिर से पिता का साया उठने के बाद मां ने मजदूरी और घरों में काम कर मुश्किलों से बेटी को पाला और उसे पढ़ाकर योग्य बनाने का सपना संजोया। जिसे बेटी ने पूरा करके दिखाया है। जिस पर उनकी मां भी बेहद प्रसन्न हैं। कलेक्टर  से मुलाकात के दौरान अपने संघर्ष के दिनों की बात भी कोमल की मां ने बताई। जिस पर उनके संघर्ष की सराहना भी  कलेक्टर ने की। उन्होने कहा कि बेटियां नाम रोशन करती हैं। इसीलिये बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ की दिशा में राज्य सरकार भी कार्य कर रही है। कलेक्टर के पहले कोमल ने अपर कलेक्टर डॉ सुनन्दा पंचभाई से भी मुलाकात की। उन्होने भी कोमल को बधाई देते हुये आंगे भी तैयारी करने की बात कही।


एमपी पीएससी में हासिल किए 894 अंक

कोमल का कहना है कि उन्हें संयम, साहस, आदर जैसे पारिवारिक दायित्व का ज्ञान उन्हें मां से मिला। मां ने हमेशा आत्मविश्वास से आगे बढने की प्रेरणा दी और परीक्षा की तैयारी के समय भी बराबर हौसला बढ़ती रहीं जो सफलता के रूप में सामने है। कोमल रैकवार ने मुख्य परीक्षा में 773 एवं साक्षात्कार परीक्षा में 121 अंक, कुल 894 अंक प्राप्त कर नायब तहसीलदार पद के लिए अपना स्थान बनाया।

Wednesday, December 27, 2017

बिल्डर रेरा में पंजीयन कराये बिना नहीं कर सकता मार्केटिंग और बुकिंग, वेबसाइट पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है

कटनी / प्रदेश सहित देश में 1 मई 2016 से रेरा-एक्ट प्रभावी हो चूका हैं। इसके अनुसार सभी प्रचलित और नयी आवासीय कॉलोनी, प्रोजेक्ट का रेरा में पंजीयन कराना संबंधित बिल्डर्स को अनिवार्य हो गया हैं। रेरा में पंजीयन नहीं करने वाले कॉलोनी, प्रोजेक्ट अवैध प्रोजेक्ट की श्रेणी में आएंगे।
सचिव रेरा चन्द्रशेखर वालिम्बे ने बताया कि वर्तमान में कटनी जिले में कॉलोनी, प्रोजेक्ट के 11 प्रोजेक्ट पंजीयन की प्रक्रिया में हैं। जिनमें से दो प्रोजेक्ट को रेरा की स्वीकृति मिल चुकी है। वहीं 9 के पंजीयन पश्चात स्वीकृति की प्रक्रिया प्रगतिरत् है। इनमें पुष्पगिरी सांई अपार्टमेन्ट और मित्तल मॉल (मल्टीप्लेक्स एण्ड कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स) को रेरा द्वारा स्वीकृति दी जा चुकी है।

वहीं कंस्ट्रक्शन ऑफ 38 एसआर एमआईजी हाउसेस, मानसरोवर कॉलोनी, श्री परिसर में कन्ट्रक्शन ऑफ 64 एलआईजी, 36 ईडब्ल्यूएस फ्लेट व नाईन शॉप्स, शारदा प्रोजेक्ट में कंस्ट्रक्शन ऑफ 49 एलआईजी सेकेंड फेस, 44 एलआईजी फर्स्ट फेस, 21 ईडब्ल्यूएस हाउसेस, 21 एमआईजी प्लॉट्स व 8 शॉप्स, शिवा फॉर्चून सिटि, शिवा फॉर्चून टॉवर, शिवा फॉर्चून होम्स, विलेज कछगवां, द्वारका सिटी और सांई सागर प्रेजेक्ट्स की स्वीकृति की प्रक्रिया प्रगतिरत् है।

यदि कोई प्रचलित आवासीय-कॉलोनी, प्रोजेक्ट, जिसमे अभी विकास कार्य पूरे ना हुए हों,  आमजन की जानकारी में आये, जो रेरा में पंजीकृत ना हो, ऐसे प्रोजेक्ट्स व कॉलोनी की जानकारी रेरा-प्राधिकरण को भोपाल स्थित पते, रेरा-भवन बोर्ड-ऑफिस कैंपस, मेन रोड नंबर-1, भोपाल-462011 तथा secretaryrera@mp.gov.in पर भेजने का अनुरोध आमजनमानस से भी सचिव रेरा ने किया है।

रेरा-एक्ट के लागू होने के बाद किसी भी आवासीय कॉलोनी, प्रोजेक्ट की तब तक मार्केटिंग और बुकिंग नही की जा सकती, जब तक उसका रेरा में पंजीयन ना हो जाये। रेरा एक्ट के अंतर्गत आवंटियों के साथ जो भी अनुबंध ठेकेदार, बिल्डर्स व प्रमोटर्स करेंगे, उसका पालन उन्हें करना होगा। साथ ही अपने निर्माण कार्य की 05 वर्ष की गारंटी भी लेनी होगी। उन्हें समय पर आवंटितों को डिलीवरी देनी होगी। विज्ञापन ओर ब्रोशर में जो-जो दावे किये जाऐंगे, उनकी पूर्ति बिल्डर्स को करनी होगी। प्रावधान का पालन नहीं करने पर आवंटी उनसे ब्याज सहित भुगतान तथा मुआवजा प्राप्त कर सकेगें।

            उल्लेखनिय है कि रेरा प्राधिकरण में विभिन्न जिलो से बिल्डर्स व संप्रवर्तक के विरुद्ध प्राप्त शिकायतों की त्वरित सुनवाई की जाकर उनका निराकरण किया जाता है। कोई भी आवंटी, घर बैठे, रेरा-प्राधिकरण की वेबसाइट www.rera.mp.gov.in पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है।

Tuesday, December 26, 2017

एकात्म यात्रा- मैं और तुम के भेद को समाप्त करने का यह आध्यात्मिक प्रयास है

कटनी /  बरही पहुंची एकात्म यात्रा का उत्साह और उमंग के साथ स्वागत बरही वासियों ने किया। यात्रा के अभिनन्दन के लिये जनसैलाब उमड़ पड़ा। जगह-जगह यात्रा का अभिनन्दन और चरणपादुका का पूजन स्थानीयजनों द्वारा किया गया। बरही में एकात्म यात्रा में प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक भी शामिल हुये। उन्होने भी चरण पादुका का पूजन कर ध्वज थामा।
स्थानीय राम मंदिर परिसर में जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिसमें पूज्यनीय संत ब्रम्हानन्द दास जी महाराज, मुख्य क्क्ता डॉ कुष्णकान्त चतुर्वेदी ने अपने विचार रखे। प्रारंभ में यात्रा की रुपरेखा के विषय में अमरकंटक से प्रारंभ हुई एकात्म यात्रा के सह संयोजक  शिव नारायण पटेल ने विस्तार से जानकारी दी।
जन संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ब्रम्हानन्द महाराज जी ने कहा कि एकात्म यात्रा का उद्देश्य अद्वेतवाद् है। एकात्म और अद्वैत एक दूसरे के पूरक हैं। इसके मूल में एकौ ब्रम्ह द्वितीयो नास्ति की संकल्पना है। इस यात्रा के माध्यम से मैं और तुम के भेद को समाप्त करने का यह राज्य सरकार द्वारा प्रारंभ किया गया आध्यात्मिक प्रयास है। वास्तविक में यही अद्वैतवाद् है। जिसकी संकल्पना आदिगुरु शंकराचार्य जी ने दी है।
वहीं यात्रा के मुख्य वक्ता डॉ कुष्णकान्त चतुर्वेदी ने एकात्म यात्रा को सामान्य नहीं विलक्षण यात्रा बताया। उन्होने आदिगुरु शंकराचार्य के जीवन पर प्रकाश डाला। साथ ही विभिन्न वृतान्त भी बताये। उन्होने कहा कि आदिगुरु शंकराचार्य ने कम उम्र में चार वेद, सारे शास्त्र पढ़े। जिस उम्र में बच्चे खेलना नहीं भूलते हैं, उस उम्र में उन्होने राष्ट्र के मानक स्थापित किये। चारो धाम बनाये। संसार के सारे दार्शनिक संतों में जगतगुरु शंकराचार्य सबसे लोकप्रिय संत हैं।
जनसंवाद कार्यक्रम में शामिल हुये पूज्यनीय संत समाज का अभार प्रदर्शन राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने किया। उन्होने कहा कि संतों की शरण में हम सबको बैठने का अवसर मिला, यह हम सबका सौभाग्य है। एक भारत-श्रेष्ठ भारत की तर्ज पर सम्पूर्ण कुरुतियां दूर हों, समाज और जाति भेद मिटे, हम सभी एक सूत्र में बंधें, यही उद्वेश्य एकात्म यात्रा का है। जिसमें हम सबको अपनी सहभागिता करनी चाहिये। राज्य सरकार ने एैसे आदिगुरु शंकराचार्य जिन्होने एकात्म अद्वैत का सिद्धान्त दिया। चारों मठों की स्थापना की। उनके गुरु उन्हें मध्यप्रदेश में मिले। उस स्थान पर आदिगुरु शंकराचार्य जी की विशाल प्रतिमा स्थापित हो, इसमें जनसहभागिता हो, इसलिय धातु संग्रहण के माध्यम से जनजागरुकता का यह अभियान चलाया है। राज्यमंत्री  ने उपस्थित जनमानस को इस अभियपन में जुड़ते हुये अपनी सक्रिय सहभागिता के लिये प्रेरित भी किया।


इस अवसर पर प्रदेश की समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती पद्मा शुक्ला, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, बरही नगर परिषद् अध्यक्ष श्रीमती सरस्वती तिवारी सहित अन्य गणमान्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Monday, December 25, 2017

व्यवस्थाओं का जायजा लेने कार्यक्रम स्थल पहुंचे राज्यमंत्री

कटनी / एकात्म यात्रा का जिले में प्रवेश सोमवार 25 दिसंबर को बड़वारा जनपद के ग्राम विलायतकला से हो चुका है। यह यात्रा जिले में इस दौरान निर्धारित रुट के अनुसार भ्रमण करेगी। जिले में एकात्म यात्रा के तीसरे दिन बहोरीबंद में यह यात्रा पहुंचेगी। जहां वृहद् जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन होगा। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल होंगे। जिसकी तैयारियां भी जिला प्रशासन द्वारा प्रारंभ कर दी गई हैं।
   इसी के मद्धेनजर सोमवार को प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक बहोरीबंद पहुंचे। यहां उन्होने एकात्म यात्रा के तहत आयोजित होने वाले वृहद् जनसंवाद के कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया। इस अवसर पर राज्यमंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों को कार्यक्रम के बेहतर आयोजन के लिये आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये। साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों से टेलीफोनिक चर्चा कर उनसे भी कार्यक्रम की कार्ययोजना का जायजा लिया।

आदिगुरू शंकराचार्य के चरणपादुका के पूजन पश्चात एकात्म यात्रा ने जिले में प्रवेश किया

कटनी / आदि गुरूशंकराचार्य के विचारों को जन-जन तक पहुँचाने के उद्देश्य से अमरकंटक से 19 दिसम्बर को प्रारंभ हुई एकात्म यात्रा का आज सोमवार को कटनी जिले के विलायतकला पहुँचने पर जिले के नागरिकों ने हर-हर महादेव के जयकारों के साथ एकात्म यात्रा का श्रद्धा और भक्ति के साथ स्वागत किया। वहीं वैदिक मंत्रों के उच्चारण से वातावरण भी भक्तिमय हो उठा। विलायतकला में जिले प्रवेश सीमा में एकात्म यात्रा की विधिवत पूजा पाठ विधायक मोती कश्यप ने की।
इसके बाद विलायतकला में विधायक संदीप जायसवाल, प्रदेश के समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमति पद्मा शुक्ला, यात्रा के जिला समन्वयक व महापौर शशांक श्रीवास्तव, जिला योजना समिति के सदस्य पीताम्बर टोपनानी व कलेक्टर विशेष गढ़पाले एवं गणमान्य नागरिकों ने एकात्म यात्रा की अगुवानी की तथा आदि गुरूशंकराचार्य के चरणपादुका के पूजन पश्चात एकात्म यात्रा ने जिले में प्रवेश किया। यात्रा के साथ पूज्यनीय केशवानंद सरस्वती जी महाराज, गणेश गिरी जी महाराज, मुख्यवक्ता श्री आलोक और अमरकंटक से प्रारंभ हुई यात्रा के सह संयोजक शिव नारायण भी कटनी पहुंचे हैं।
इस अवसर पर युवाओं ने रैली निकाली तथा हर-हर महादेव  के नारों का उद्घोष किया। एकात्म यात्रा का जिले के विलायतकला में विभिन्न स्थलों में फूल बरसा कर नागरिकों ने स्वागत किया। इस अवसर पर एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Sunday, December 24, 2017

आई.जी. पुलिस को नियमित प्रेस ब्रीफिंग करने के निर्देश

कटनी / गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने प्रदेश के सभी जोन के आई.जी. पुलिस को निर्देश जारी किये हैं कि वे कानून व्यवस्था एवं अपराधों को रोकने के लिये की गई कार्यवाही की नियमित प्रेस ब्रीफिंग करें। आई.जी. पुलिस से कहा गया है कि वे ब्रीफिंग के दौरान पुलिस के साहसिक कार्यों और उपलब्धियों की जानकारी भी प्रिंट मीडिया के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को भी उपलब्ध करवायें। आई.जी. पुलिस की अनुपस्थिति में यह प्रेस ब्रीफिंग क्षेत्र के राजपत्रित अधिकारी द्वारा अनिवार्य रूप से की जाये।

Saturday, December 23, 2017

स्कूल संचालकों पर भारी पड़ रहा नए नियमों का दबाव, मांगी मोहलत

कटनी। निजी स्कूल संचालकों ने अपनी विभिन्न समस्याओं को लेकर जिला शिक्षा समिति अध्यक्ष व जिला पंचायत उपाध्यक्ष अशोक कुमार विश्वकर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। उन्होंने मांग की है कि विगत 1 वर्ष से आरटीई की फीस प्रतिपूर्ति नही मिली है। जबकि
सत्र समाप्त होने वाला है। इस संबंध  में अधिकारियों से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि अब आरटीई के तहत निजी स्कूलों को दी जाने वाली फीस बायोमेट्रिक्स प्रणाली के अनुसार दी जाएगी। जबकि आरटीई के तहत शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्रों का चयन कर प्रशासन द्वारा शिक्षण कार्य के लिए आदेशित किया गया है। एसोसिएशन चाहता है कि सत्र समाप्ति के 9 महिने बाद भी वर्ष 2016-17 की फीस प्रतिपूर्ति न करने के लिए बायोमेट्रिक प्रणाली को बाधक बनाना उचित नही है। साथ ही बायोमेट्रिक प्रणाली के तहत दस्तावेजो का सत्यापन व सुधार की जिम्मेदारी निजी स्कूलों को न सौंपी जाए। क्योंकि आरटीई के तहत बच्चों के दस्तावेजो में पायी गई किसी भी प्रकार की त्रुटि के लिए शासन या पालकगण जिम्मेदार है निजी स्कूल संचालक नही। एसोसिएशन ने बताया कि आरटीई फीस भुगतान ना होने से स्कूल संचालकों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। ऐसे समय मे सीसीटीव्ही कैमरों को लगाने के लिए  प्रशासन द्वारा 2 हफ्ते का समय दिया गया है जो कि यह अवधि काफी कम है। एसोसिएशन की मांग है कि इसके लिए उन्हें कुछ समय दिया जाना आवश्यक है जो लगभग 6 माह का हो। जिलापंचायत अध्यक्ष व शिक्षा समिति के अध्यक्ष अशोक कुमार विश्वकर्मा ने एसोसिएशन की मांग को शासन और प्रशासन तक पहुंचाने के लिए कहा है एवं जो भी संभव प्रयास है वे किए जाएंगे।

Friday, December 22, 2017

ग्रामीण क्षेत्र में पहुँचे विधायक ने मानी कई मांगे, किया विकास कार्यो का लोकार्पण व् भूमिपूजन

कटनी/ ग्राम पहाडी (निवार) में कस्‍तूरबा गांधी बालिका छात्रावास वार्षिक उत्‍सव सत्र 2017-18 कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमें मुख्‍य अतिथि मुडवारा विधायक संदीप जायसवाल, श्रीमति ममता पटेल अध्‍यक्ष जिला पंचायत, विशिष्‍ट अतिथि अशोक विश्‍वकर्मा उपाध्‍यक्ष जिला पंचायत, कन्‍हैया तिवारी अध्‍यक्ष जनपद पंचायत, जिला परियोजना समन्‍वयक, विजय शुक्‍ला पूर्व भाजपा जिलाध्‍यक्ष, रामू साहू, ग्रामीण मंडल अध्‍यक्ष भाजपा, शिवकुमार सेन सरपंच पहाडी, अखिल पाण्‍डेय विधायक प्रतिनिधि की उपस्थिति में किया गया,
बांटे गये छात्रावास में 152 विघार्थियों को चैक 
विधायक संदीप जायसवाल द्वारा पूर्व में की गयी घोषणा अनुसार कस्‍तूरबा गांधी बालिका छात्रावास में 152 विघार्थियों को 200 रूपये प्रति बच्‍चें के हिसाब से कुल राशि 33000 रूपये विधायक स्‍वेच्‍छानुदान निधि से बांटे गये


मंगल भवन पहाडी का हुआ भूमिपूजन
विधायक ने  ग्राम पहाडी में मंगल भवन के लिए  10 लाख रूपये स्‍वीकृत किये गये व्  भवन का भूमिपूजन  किया
 होगा घाटो का निर्माण 
नागरिकों एवं सरपंच की मांग पर निवार देवरीसानी के शांतिधाम में घाट निर्माण हेतु राशि 1.00 लाख एवं टूडहा घाट के निर्माण हेतु राशि 1.50 लाख रूपये विधायक विकास निधि से अनुशंसा की गयी व् भूमिपूजन किया गया.
 सीसी रोड एवं नाली निर्माण कार्य का लोकार्पण
ग्राम पहाडी निवार में 7.21 लाख से निर्मित सीसी रोड एवं नाली का लोकार्पण विधायक  द्वारा किया गया व् जनपद पंचायत कटनी से स्‍वीकृत राशि 2.70 लाख की लागत से निर्मित होने वाले रंगमंच का भूमिपूजन भी विधायक द्वारा किया गया.
ग्रामीण नागरिकों की मांग पर चंदी मोहल्‍ला में एवं चौधरी मोहल्‍ला में रंगमंच निर्माण कार्य कराये जाने की भी घोषणा की गयी, पानी की समस्‍या से अवगत कराते हुए उन्हें बताया गया कि ग्राम में एक पूराना कुंआ है, जो पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्‍त हो चुका है इसलिये एक नवीन कुंआ की आवश्‍यकता है, जिसपर विधायक द्वारा पंचायत के इंजीनियर को प्राक्‍कलन बनाकर प्रस्‍तुत किये जाने के निर्देश भी दिये गये,
पानी की टंकी को शीघ्र चालू कराने के दिये निर्देश 
ग्रामीण नागरिकों द्वारा उन्हें अवगत कराया गया कि ग्राम में पानी की टंकी काफी समय से बनकर तैयार है, किंतु यह चालू नही है, जिसपर विधायक द्वारा कार्यपालन यंत्री लोक स्‍वास्‍थ्‍य यांत्रिकी विभाग कटनी को शीघ्र चालू कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया,
विधायक निधि से हाई स्‍कूल में अति; कक्ष के निर्माण की घोषणा
विधायक ने पहाडी हाई स्‍कूल में स्‍कूली बच्‍चों एवं प्राचार्य, शिक्षकों की मांग पर विधायक विकास निधि से एक अतिरिक्‍त कक्ष निर्माण कराये जाने की भी घोषणा की गयी तथा इसके निर्माण की राशि प्राक्‍कलन राशि से अवगत कराये जाने हेतु निर्देश दिये गये,
सुदूर सडक की अनुशंसा हेतु प्रस्‍ताव
ग्राम पहाडी निवार में सरपंच एवं स्‍थानीय नागरिकों की मांग पर मुरली मंदिर से पंचायत भवन तक रोड जोडने हेतु सुदूर सडक की अनुशंसा हेतु प्रस्‍ताव भेजने की बात भी विधायक संदीप जायसवाल द्वारा रखी गयी,
इनकी रही उपस्थिति
विजय दुबे, कौशल दुबे, रमाकांत गौतम, संदीप दुबे, मनोज तिवारी, लटोरा यादव, घसीटा यादव, फूलचंद पटेल, आशीष सोनी, उस्‍ताज सिंह, सुरेन्‍द्र सिंह एवं बडी संख्‍या में स्‍थानीय ग्रामीण जन एवं स्‍कूली बच्‍चों की उपस्थिति रही

Thursday, December 21, 2017

25 को जिले में प्रवेश करेगी एकात्म यात्रा

कटनी / 19 दिसंबर से प्रारंभ होकर 22 जनवरी तक चलने वाली एकात्म यात्रा की तैयारियां जिले में जोरो-शोरों से जारी हैं। जनमानस तक एकात्म वेदान्त का संदेश देने वाले आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के लिये धातु संग्रहण के लिये होने वाली एकात्म यात्रा, जनजागरण अभियान बने, इस दिशा में कार्य किया जा रहा है।

            उल्लेखनीय है कि 25 दिसंबर को अमरकंटक से प्रारंभ हुई एकात्म यात्रा जिले में प्रवेश करेगी। जिसकी तैयारियों का जायजा लेने गुरुवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले विलायतकला के पास यात्रा प्रवेश स्थल में पहुंचे। साथ ही वहां से बड़वारा तक के रुट का जायजा भी लिया। इस दौरान उन्होने पड़ोसी जिले उमरिया से कटनी में यात्रा के प्रवेश स्थल की व्यवस्थायें भी जानीं। उन्होने जन अभियान परिषद् के जिला समन्वयक आनन्द पाण्डेय को बेहतर आयोजन और यात्रा के भव्य स्वागत के लिये स्पॉट पर ही निर्देशित किया। कलेक्टर ने कहा कि यात्रा का स्वागत भव्य होना चाहिये। इसके लिये हम अभी से तैयारियों में जुटें। इस दौरान तहसीलदार बड़वारा एन्तोनिया एक्का वानखेड़े भी मौजूद थीं।

            गौरतलब है कि यह यात्रा 25, 26, 27 और 28 दिसंबर तक जिले में रहेगी। सम्पूर्ण प्रदेश में 4 जोनों से यह यात्रा प्रारंभ की हो चुकी है। जिसमें आदिगुरु शंकराचार्य की मूर्ति निर्माण के लिये धातु संग्रह किया जायेगा। चार जोन ओंकारेश्वर, उज्जैन, अमरकंटक और पचमठा है।

            जिले में अमरकंटर से प्रारंभ हुई एकात्म यात्रा 25 दिसंबर को पहुंचेगी। बड़वारा के विलायतकला के पास से इसका आगमन जिले में होगा। जिसके बाद बरही के बाद कैमोर पहुंचकर यात्रा रात्रि विश्राम करेगी। 26 दिसंबर को विजयराघवगढ़ में जनसंवाद होगा। जिसके बाद कन्हवारा, चाका और नगर निगम क्षेत्र होते हुये हाउसिंग बोर्ड मैदान में मुख्य कार्यक्रम आयोजित होगा। 27 दिसंबर को रीठी, देवगांव, बिलहरी, स्लीमनाबाद और बहोरीबंद पहुंचकर यात्रा का रात्रि विश्राम होगा। जिसके बाद 28 दिसंबर को सिंदुरसी होते हुये दोपहर में अमरगढ़ यात्रा जायेगा। जहां से जबलपुर जिले में इसका प्रवेश होगा। जिले में यात्रा की अगवाई पूज्यनीय हरिहरानंद महाराज करेंगे। यात्रा के दौरान विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी होगा।

Wednesday, December 20, 2017

बालिकाओं की सुरक्षा और व्यक्तिगत स्वच्छता पर जागरुकता कार्यक्रम

कटनी / बालिकाओं की लैंगिक अपराधों से सुरक्षा एवं व्यक्तिगत स्वच्छता पर जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन उत्कृष्ट विद्यालय माधवनगर में किया गया। जिसमे बालिकाओं को लघु फिल्म कोमल एवं हक के माध्यम से गुड टच, बैड टच के बारे में बतलाया गया और उन्हें लैंगिक अपराधों से बालको का संरक्षण अधिनियम 2012 के विभिन्न प्रावधानों की विस्तार से जानकारी दी गयी। साथ ही विपरीत परिस्थितियों में सहायता प्राप्त करने चाइल्ड नं 1098 एवं पॉक्सो ई-बाक्स से अवगत करवाया गया। बालिकाओं को बदलते समय में इंटरनेंट एवं सोशल मीडिया के सकारात्मक एवं नकारात्मक पक्षों के बारे मे जानकारी दी गयी।
कार्यक्रम में बालिकाओं से माहवारी स्वच्छता के बारे में विस्तार से चर्चा की गयी। उन्हें सेनेटरी नैपकिन के प्रयोग के महत्व से अवगत करवाया गया। साथ ही उन्हें मासिक धर्म से जुडी सामाजिक वर्जनाओं के संबंध में जागरुक किया गया। उन्हें बतलाया गया कि किस तरह माहवारी स्वच्छता उनके स्वास्थ्य हेतु महत्वपूर्ण है। कार्यक्रम के आयोजन में प्राचार्य विभा श्रीवास्तव, अर्पणा अग्निहोत्री व अन्य विद्यालयीन शिक्षक गणों का सहयोग रहा। कार्यक्रम महिला सशक्तिकरण, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित किया गया था .


Tuesday, December 19, 2017

13 हजार 210 बुजुर्गो ने देवस्थलों में दर्शनों का लाभ लिया, मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना

कटनी /  जिले में मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना शुरु होने से लेकर अब तक 58 तीर्थदर्शन विशेष ट्रेन जा चुकी हैं। जिसके माध्यम से वैष्णव देवी, जगन्नाथ पुरी, शिर्डी, तिरुपति, रामेश्वरम, सम्मेदशिखर, अजमेर, बेलांगड़ी चर्चा, द्वारिकाधीश और कामाख्या देवी जैसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थानों पर तीर्थ यात्री पहुंचे है।  इसके तहत जिले की सभी विकासखण्डों के 13 हजार 210 बुजुर्गो ने देवस्थलों में दर्शनों का लाभ लेकर आर्शीवाद प्राप्त किया है।
योजना के तहत जिले की पहली तीर्थ यात्रा 29 सितंबर 2012 को रवाना हुई। जिसमें जिले के 155 तीर्थ यात्री वैष्णवदेवी की यात्रा के लिये रवाना हुये थे। इसके बाद वर्ष 2012 में ही जगन्नाथपुरी, शिर्डी और तिरुपति के लिये कुल 4 तीर्थ यात्रा विशेष ट्रेन रवाना हुईं।
इसी तरह वर्ष 2013 में 19 यात्राओं के माध्यम से तीर्थस्थलों के लिये तीर्थ यात्री गये। जिनमें रामेश्वरम, शिर्डी, तिरुपति, जगन्नाथ पुरी, सम्मेदशिखर, अजमेर, बेलांगड़ी चर्च, द्वारिकाधीश और वैष्णवदेवी के लिये तीर्थ यात्री रवाना हुये। वर्ष 2015 में 15 तीर्थ यात्रायें, वर्ष 2016 में 9 और वर्ष 2017 में अब तक 12 तीर्थ दर्शन यात्रायें जिले से रवाना हो चुकी हैं।

Monday, December 18, 2017

कलेक्टर ने पकडे लोकसेवक एप में फर्जी अटेन्डेन्स, कहा शासकीय सिस्टम में आप जैसे लोग बोझ बने हुये हैं

कटनी / लोकसेवक एप कामचोरी करने वालों के लिये खासा मुसीबत का सबब बना हुआ है। जहां निष्ठा और ईमानदारी से अच्छा काम करने वाले शासकीय सेवक मॉनीटरिंग की इस ई-तकनीक से खुश हैं, वहीं फर्जीवाड़ा करने वाले दुखी। इसका उदाहरण सोमवार को भी देखने को मिला, जब कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने फर्जी अटेन्डेन्स लगाकर अपनी उपस्थिति दर्ज कर रहे आत्मा और माईनिंग विभाग के शासकीय सेवकों को पकड़ा। इस पर सभी संबंधित शासकीय सेवकों को बुलाकर बैठक में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने जमकर क्लास ली। उन्होने कहा कि काम करने में आपको फक्र महसूस होना चाहिये, नाकि समस्या होनी चाहिये। शासकीय सिस्टम में आप जैसे लोग बोझ बने हुये हैं। जिन्हें आठ घंटे की नौकरी करने में भी तकलीफ होती है।

            आत्मा प्रोजेक्ट और माईनिंग विभाग के जिला अधिकारियों को सख्त मॉनीटरिंग के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि यदि आप लोग लोकसवेक एप और लोकसेवक पोर्टल जैसा बेहतर टूल होने के बाद भी फर्जियों को नहीं पकड़ेंगे, तो किस तरीके से आप मॉनीटरिंग कर पायेंगे। उप संचालक कृषि को आत्मा के संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को और जिला खनिज अधिकारी को माईनिंग विभाग के संबंधित कर्मचारियों को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। साथ ही लोकसेवक पोर्टल से इनका पूरा रिकॉर्ड खंगालकर इनके द्वारा जितने दिनों तक फ्रॉड अटेन्डेन्स लगाई गई हो, उतने दिन अवैतनिक करने के स्पष्ट आदेश दिये। कलेक्टर ने कहा कि जो भी अधिकारी और कर्मचारी इस कोताही में संलिप्त हैं और संविदा पर हैं, उनकी संविदा रिनीवल ना की जाये, एचओडी इसका भी ध्यान रखें।

            पूरे मामले के अनुसार आत्मा परियोजना और माईनिंग विभाग के कुछ लोकसेवकों द्वारा लोकसेवक एप में अटेन्डेन्स लगाने में फर्जीवाड़ा किया जा रहा था। एक ही कर्मचारी अपने अन्य सहकर्मियों की अपने ही मोबाईल से अटेन्डेन्स लगा रहा था। जिसके लिये वो कभी आसमान तो कभी धरती या कभी दीवार की फोटो खींचकर अटेन्डेन्स लगाता था। जब कलेक्टर रेन्डमली रुप से अपने पोर्टल में विभिन्न विभागों की मॉनीटरिंग कर रहे थे, तब उन्हें आत्मा परियोजना और खनिज विभाग में इस तरह की अटेन्डेन्स लगाने का तथ्य सामने आया। जिसके बाद कंटिन्यू 8-10 दिनों तक उन्होने संबंधित लोकसेवकों को फॉलोअप किया। जिसमें लोकसेवक पोर्टल से यह तथ्य भी सामने आया कि एक ही मोबाईल के मॉडल से सभी लोगों की अटेन्डेन्स लग रही है। पहले अटेन्डेन्स लगाने वाला कर्मी दो मिनिट में अपनी अटेन्डेन्स लगाकर लॉगआउट होता है। फिर अपने सभी सहकर्मियों की अटेन्डेन्स लगाता है। इस पर कार्य में कोताही, लापरवाही और चार सौ बीसी करने पर संबंधित लोकसेवकों के विरुद्ध कार्यवाही के यह निर्देश कलेक्टर ने दिये हैं।

            साथ ही सभी विभागों के विभाग प्रमुखों को पोर्टल के माध्यम से उपस्थिति और टूर मॉनीटरिंग करने के लिये भी कलेक्टर ने निर्देशित किया। उन्होने स्पष्ट निर्देश देते हुये कहा कि इस माह की सैलरी बिना आहरण संवितरण अधिकारी के प्रमाण पत्र के टीओ ना निकालें। सभी डीडीओ लोकसेवक एप से संबंधित कर्मियों की उपस्थिति व टूर मॉनीटरिंग कर ली गई है, इस आशय का प्रमाण पत्र टेªजरी में बिल के साथ लगायें। इसके आधार पर ही वेतन का आहरण किया जायेगा।

बिना ड्राईविंग लाईसेन्स के विद्यार्थियों को स्कूलों में न मिले एन्ट्री

कटनी / कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने जिला शिक्षा अधिकारी को जिले के सभी अशासकीय एवं शासकीय विद्यालयों के प्राचार्यों को बिना ड्राईविंग लाईसेन्स के विद्यार्थियों को टूव्हीलर्स के साथ विद्यालय परिसर में एन्ट्री ना कराने के आदेश जारी करने को कहा। उन्होने कहा कि सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में भी इस विषय पर गंभीरता से विमर्श कर इसका इम्प्लीमेन्टेशन कराया जायेगा। यदि बिना ड्राईविंग लाईसेन्स वाले विद्यार्थियों को भी स्कूल प्रबंधन विद्यालय परिसर में एन्ट्री कराता है, तो संबंधित प्राचार्य और स्कूल प्रबंधन के विरुद्ध कार्यवाही की जाये। आरटीओ को गाडि़यों की हेडलाईट पर काली पट्टी लगवाने का अभियान चलाने के निर्देश भी टाईम लिमिट की बैठक में कलेक्टर ने दिये।
 शहर में बढ़ रही आवारा कुत्तो की तादात की समस्या को देखते हुये नगर निगम आयुक्त को स्ट्रीट डॉग्स के लिये टेन्डर जारी करने के निर्देश टीएल मीटिंग में कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि इसे फॉलोअप कराकर करायें। 

Sunday, December 17, 2017

80 की उम्र में कर रहे सब्जियों की खेती, कहते है किसान साथी भी आगे बढ़कर योजनाओं का लाभ लें

कटनी / जोश और जुनून की बहुत सी कहानियां हमने पढ़ी और सुनीं हैं। लेकिन जिले के किसान अट्ठी लाल अपने आप में जज्बे की खुद एक मिसाल हैं। मझगवां में रहने वाले 80 साल के अट्ठी लाल कुशवाहा अब भी उम्र के इस पड़ाव में उत्साह के साथ अपनी जमीन में सब्जियों की खेती करते हैं। इतना ही नहीं स्वयं को आत्मनिर्भर बनाते हुये सालाना 4 लाख से अधिक की आय भी कमाते हैं। बेहतर सब्जी उत्पादन हो, इसके लिये शासन की योजनाओं का लाभ भी बढ़-चढ़कर अट्ठी लाल कुशवाहा ले रहे हैं। जिससे उन्हें उत्पादन में खासा लाभ भी मिल रहा है।

            अट्ठी लाल बताते हैं कि वर्तमान में वो भिंडी, मटर, मिर्ची, बंधागोभी और शिमला मिर्च की खेती कर रहे हैं। आउट सीजन में सब्जियों का उत्पादन हो और अधिक मूल्य में सब्जियों का विक्रय कर लाभ कमाया जा सके, इसके लिये अट्ठी लाल ने अपने खेत में एक एकड़ पर संरक्षित खेती योजना के तहत शैडनेट हाउस लगवाया है। जिसके लिये उन्हें उद्यानिकी विभाग द्वारा 14 लाख 20 हजार रुपये की अनुदान राशि भी दी गई है। शैडनेट हाउस के साथ ही मल्चिंग और ड्रिप का उपयोग भी सब्जी के बेहतर उत्पादन के लिये अट्ठी लाल द्वारा किया जा रहा है। जोकि शासन मदद से संभव हो पाया है।

            मल्चिंग और ड्रिप एरिगेशन से होने वाले फायदे बताते हुये अट्ठी लाल ने बताया कि इसके उपयोग से ओपी खेती से सौ गुना फायदा उन्हें हो रहा है। जहां ड्रिप के माध्यम से पानी देने पर पानी का बचाव हो रहा है, वहीं मल्चिंग के उपयोग से निदाई में भी लाभ हो रहा है। 4 घंटे का काम एक घंटे में हो जाता है। ड्रिप के माध्यम से घोल बनाकर पौधों में दवाईयों का छिड़काव भी सुगमता से हो रहा है। इससे मजदूरी भी बची है। क्योंकि मजदूर बड़ी मुश्किल से मिलते हैं और कुशल मजदूर तो कम ही मिलते हैं।

            इन सब बचत से लाभ की राशि में इजाफा होता है। मध्यप्रदेश में उद्यानिकी की दिशा में संचालित योजनाओं की सराहना भी अपना अनुभव साझा करते हुये अट्ठी लाल ने की। श्री कुशवाहा ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि मुख्यमंत्री ने खेती को लाभ का धंधा बनाने की दिशा में सार्थक प्रयास किये हैं। लेकिन जरुरत है कि हम किसान साथी भी आगे बढ़कर योजनाओं का लाभ लें और खेती से लाभ अर्जित करें। मेरे द्वारा तो सब्जी का बेहतर उत्पादन किया जा रहा है। अधिक लाभ खेती से मिले, इसके लिये आउट सीजन की सब्जी का उत्पादन का प्रयास भी मैं करता हूँ। क्योंकि कटनी के मार्केट के साथ ही हम उमरिया और शहडोल के बाजारों में भी सब्जी का व्यवसाय करते हैं। आउट सीजन सब्जी के उत्पादन में प्रारंभ में कुछ तकनीकी समस्यायें भी आई। लेकिन उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों और प्रगतिशील सब्जी उत्पादकों के गाईडेन्स से इससे निजात भी मिली।

Friday, December 15, 2017

एकात्म यात्रा के दौरान बलात्कारी को फांसी की सजा के कानून के लिए चलेगा हस्ताक्षर अभियान

कटनी / मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि एकात्म यात्रा सामाजिक सरोकारों से जुड़ा सांस्कृतिक अभियान है। यात्रा के दौरान आगामी 19 दिसम्बर से 22 जनवरी तक सामाजिक समरसता का संदेश दिया जायेगा। इस अभियान में बेटी बचाओ और महिला सुरक्षा को भी जोड़ा गया है। यात्रा के दौरान बलात्कारी को फांसी की सजा का कानून लागू कराने के लिए हस्ताक्षर अभियान भी चलाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने गुरुवार की शाम वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से एकात्म यात्रा की तैयारियों की विस्तृत समीक्षा की। जिले से इसमें वीसी के द्वारा एकात्म यात्रा के जिला समन्वयक व महापौर शशांक श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, नोडल अधिकारी व अपर कलेक्टर डॉ सुनन्दा पंचभाई और नगर निगम आयुक्त संजय जैन सहित अन्य संबंधित अधिकारी जुड़े।

वीसी में मुख्यमंत्री ने कहा कि इस महत्वाकांक्षी यात्रा को सर्वव्यापी बनाने के लिए समाज के हर वर्ग को इससे जोड़ें। इस अद्वितीय और अदभूत अभियान का नेत्तृव संत गण करेंगे। आदि शंकराचार्य ने भारत को सांस्कृतिक रूप से एक किया था। उन्होंने अद्वेत दर्शन दिया और देश की चारों दिशाओं में चार धामों की स्थापना की। ओंकारेश्वर में उनकी विशाल प्रतिमा स्थापित की जायेगी। एकात्म यात्रा के दौरान प्रदेश की प्रत्येक पंचायत और नगरों के वार्डो से धातु के कलश में मिट्टी एकत्रित की जायेगी जिसका उपयोग प्रतिमा के आधार निर्माण में किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यात्रा का उद्देश्य समाज को एकात्म करना है। प्रदेश के उज्जैन, ओंकारेश्वर, पचमठा और अमरकंटक से यह यात्रा निकलेगी । यात्रा के दौरान जनसंवाद के कार्यक्रम होंगे। इस दौरान स्थानीय भजन मंडलिया प्रस्तुति देंगी। संकल्प पत्र का वाचन किया जायेगा। हर जिले में दो मुख्य जनसंवाद के कार्यक्रम होंगे। संभाग मुख्यालय पर आदि शंकराचार्य स्त्रोत का समूह गायन होगा। इसके अलावा चित्रकला, निबंध और श्लोक गायन प्रतियोगिता भी होगी।

           जनअभियान परिषद यात्रा का समन्वय करेगी। संत गण, समाजसेवी, बुदिजीवी सहित समाज के हर वर्ग को इससे जोड़ा जायेगा। आगामी 22 जनवरी को ओंकारेश्वर में पूरे प्रदेश की सहभागिता से प्रतिमा स्थापना का कार्यक्रम आयोजित होगा। यह यात्रा प्रदेश में सामाजिक समरसता और एकता का जन-जागरण अभियान है। इसके माध्यम से संस्कार देने की प्राचीन परम्परा को पुनर्जीवित किया जा रहा है। बताया गया है कि यात्रा के साथ युवा बैंड भी रहेगा।

नर्मदा जयंती 24 जनवरी को मनेगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि 24 जनवरी को नर्मदा जयंती दिवस पर नर्मदा सेवा यात्रा के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए समाज और नर्मदा सेवा समितियों को प्रेरित करने के कार्यक्रमों का आयोजन किया जायें। उन्होंने वृक्षारोपण कार्यक्रम की सफलता के लिए बधाई देते हुए कहा कि 24 जिलों में वृक्षारोपण की जीवितता का प्रतिशत 92 रहा है। यह उल्लेखनीय सफलता है। उन्होंने फलदार वृक्षों का रोपण करने वाले कृषकों को फरवरी माह में राहत राशि 20 हजार रूपये उपलब्ध करवाने के लिए कहा। उन्होंने नर्मदा घाटों के सौंदर्यीकरण और स्वच्छता संबंधी कार्यों पर भी विशेष ध्यान दिए जाने की जरूरत बताई। वीडियो कांन्फ्रेंस के दौरान यात्रा के संबध में सुझाव और तैयारियों की जानकारी दी गई।

कटनी गर्ल्स कॉलेज के नये भवन के लिए पुलिस लाइन झिंझरी के पास भूमि आवंटित

कटनी/ जिले में संचालित एकमात्र गर्ल्स कॉलेज के नये सर्वसुविधायुक्त भवन निर्माण के लिए कलेक्टर ने पुलिस लाइन झिंझरी के पास 1.940 हेक्टे्यर भूमि रकबा आवंटित कर रिकार्ड दुरुस्त करने के आदेश जारी कर दिए है. उल्लेखनीय है कि वर्तमान में कटनी के एकमात्र शासकीय कन्या महाविघालय में आवश्यवक संसाधनों एवं विस्तारीकरण के लिए भवन तथा भूमि का अभाव है, अनेक वर्षो से कॉलेज भवन हेतु शासन प्रशासन से मांग की जाती रही है, विघार्थियों के भविष्य को द़ष्टिगत रखते हुए विधायक संदीप जायसवाल ने प्रमुखता से इस कार्य को कराने हेतु सभी स्तर पर पत्राचार कर मांग की थी व् विधानसभा में दो बार प्रश्न भी उठाया था. आखिरकार 12 नवम्बर 2017 को  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कटनी प्रवास के दौरान शासकीय कन्या महाविघालय के लिये शानदार भवन की स्वीकृति की घोषणा की थी. 

Thursday, December 14, 2017

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना ने आठ महीने में 144 नवदंपत्तियों को सात जन्मों के रिश्तों में बांधा

कटनी / मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं निकाह योजना में 1 अप्रैल से लेकर आज तक विभिन्न जनपद निकायों नगरीय निकायों द्वारा 11 सामूहिक विवाह समारोह आयोजित किये गये जिसमें 144 नवदंपत्ति दाम्पत्य सूत्र में बंधे। इस दौरान नव युगलों को प्रारंभिक गृहस्थी की शुरूआत के लिये सामाजिक न्याय विभाग के द्वारा 40 लाख 32 हजार रूपये सहायता राशि के रूप में दिये गये। इसमें प्रत्येक जोड़े को 25 हजार रूपये की सामग्री व नकद राशि दी गई। इसमें 5 हजार रूपये की सामग्री, 17 हजार रूपये नकद और स्मार्ट कार्ड के लिये भी 3 हजार रूपये की राशि कन्या के खाते में ई-पेमेंट के माध्यम से दी गई।
प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रारंभ की योजना के तहत् नवंदपत्तियों को 5 हजार रुपये से वर वधु के कपड़े, चांदी की बिछिया, पायजेब, तथा आवश्यक बर्तन शासन की ओर सौंपे गये। साथ ही विशेष रूप से मुख्यमंत्री जी का बिटिया के नाम बधाई संदेश भी नवयुगलों को दिया गया।
जिले में जनपद पंचायत कटनी द्वारा ग्राम पंचायत इमलिया में आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन में 32 नवदंपत्तियों का विवाह संपन्न हुआ। सामूदायिक भवन बड़वारा में 11, जनपद पंचायत विजयराघवगढ़ 15 अप्रैल को आयोजित सम्मेलन में 06, 29 अप्रैल को आयोजित सम्मेलन में 14, 27 जून को आयोजित सम्मेलन में 11, बेटियों की शादी इस योजना के तहत् कराई गयी। जनपद पंचायत बहोरीबंद के ग्राम मोहाई में 11 नवदंपत्ति विवाह बंधन में बंधे। 29 अप्रैल को ढीमरखेड़ा में आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन में 17 नवयुगलों की शादी हुई। जनपद पंचायत रीठी में 23 नवदंपत्तियों ने 7 फेरे लिये। 29 अप्रैल और 31 मई को नगर निगम द्वारा भी सम्मेलन का आयोजन कराया गया जिसमें 10 और 9 युगलों के विवाह संपन्न हुये जिन्हें उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने भी आशीष दिया।

Wednesday, December 13, 2017

महिलाओं के जीवन में आया सकारात्मक बदलाव, आर्थिक और सामाजिक सम्मान हासिल किया

कटनी / जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर बहोरीबंद विकासखंड की ग्राम पंचायत बहोरीबंद में शासन के प्रयासों ने महिला समूह को सबल बनाया है। जिसके मद्धेनजर आजीविका मिशन से जुड़कर जागृति महिला स्वसहायता समूह ने आर्थिक और सामाजिक सम्मान हासिल किया है। 13 सदस्यीय इस समूह की महिलायें अब टिफिन बनाकर अपना आर्थिकोपार्जन कर रही हैं।
उल्लेखनीय है कि जागृति महिला स्वसहायता समूह गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली 13 महिला सदस्यों का समूह है। जिसमें 5 विधवा महिलायें शामिल हैं। समूह में जुड़ने के पहले विभिन्न विषम परिस्थितियों तथा आर्थिक एवं सामाजिक अपमान को सहन करने के अलावा इनके पास कोई रास्ता न था। अपने अनुभव साझा करती हुईं समूह की सदस्य बताती हैं कि पहले एैसा लगता था कि यही जिल्लत भरा जीवन ही जीना होगा। न ही आपनी मदद कर पायेंगे, न ही परिवार की। दूसरों पर आश्रित रहकर जीवन जीना मजबूरी हो गई थी।
            लेकिन समय बदला, अंधेरा छटने लगा सूरज की लाल रोशनी भी हम सब तक आशा की किरण बनकर स्वसहायता समूह के रूप में पहुंचने लगी। सभी सदस्य समूह से जुड़कर आगे की ओर बढ़ने लगे। धीरे-धीरे शासन का सहयोग मिलने लगा। जिससे इन 13 महिलाओं के जीवन में सकारात्मक बदलाव शासन के प्रयास से आया। जिसने इन्हें ना महज आर्थिक रुप से मजबूत बनाया। बल्कि समाज में सम्मान भी दिलाया। आज जागृति स्वसहायता समूह एक विद्यालय एवं तीन आंगनबाड़ी केन्द्रों में मध्यान भोजन संचालित कर रहा है। साथ ही और अधिक बचत के लिये जुलाई 2017 से आजीविका मिशन विकासखंड बहोरीबंद की टीम सदस्यों से मिलकर बनाई गई समूह की आर्थिक विकास की योजना व बैंक के सहयोग से समूह को एक लाख रुपए का आर्थिक सहयोग सीसीएल के रूप में प्राप्त हुआ। जिसके बाद अब इस आर्थिक सहायता का सदुपयोग करके बहोरीबंद में ही जागृति स्वसहायता समूह द्वारा टिफिन सेंटर प्रारंभ किया गया है।

Tuesday, December 12, 2017

अनूपपुर जिले में किसानों ने लगाए 58 हजार नाशपाती फल के पौधे

भोपाल /अनूपपुर जिले की 23 ग्राम पंचायतों में 454 किसानों ने 58 हजार नाशपाती फल के पौधे रोपित किये हैं। जिले में नर्मदा सेवा यात्रा मिशन के तहत 792 किसानों का चयन नाशपाती फल पौधारोपण के लिये किया गया था। इन किसानों द्वारा 516 हेक्टेयर क्षेत्र में एक लाख 29 हजार नाशपाती फल के पौधों का रोपण किया जाना है।

अमरकंटक बायोस्फियर जोन नाशपाती फल के व्यापारिक उत्पादन के लिये अनुकूल है। जिले में पहले चरण में मेरठ (उत्तरप्रदेश) से 38 हजार पौधे और मजीठा नर्सरी (जबलपुर) से 18 हजार पौधे क्रय किये गए। शेष पौधे उद्यानिकी विभाग की नर्सरियों में तैयार करवाये गये। नाशपाती पौधरोपण के लिये वर्ष में दिसम्बर और जनवरी की जलवायु सबसे अधिक उपयुक्त होती है। इस वजह से 51 हजार नाशपाती पौधरोपण का कार्य शीघ्र शुरू किया गया। चयनित किसानों ने अपने खेतों में नाशपाती के पौधे लगाये हैं, उन्हें
उद्यानिकी विभाग की योजना के मुताबिक अनुदान राशि भी उपलब्ध करवायी गई है। चयनित किसानों को मनरेगा योजना में नाशपाती पौधरोपण, रख-रखाव और सिंचाई व्यवस्था के लिये 3 वर्ष में 3 लाख 62 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान उपलब्ध करवाया जा रहा है।

नाशपाती सेव की प्रजाति का फल है। अमरकंटक की जलवायु इसके उत्पादन के लिये बेहद अनुकूल है। जहाँ अन्य फलदार पौधे बड़े होने पर तेज ठंड के कारण नष्ट हो जाते हैं, वहीं नाशपाती के पौधे के जीवित रहने की दर इस वातावरण में सर्वाधिक होती है। नाशपाती पौध रोपने के 4 साल बाद इसमें फल आना शुरू हो जाते हैं। नाशपाती के प्रत्येक पेड़ में 50 से 60 किलो तक फल लगते हैं। नाशपाती फल की माँग मध्यप्रदेश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में भी काफी है। अनूपपुर जिले की पुष्पराजगढ़ तहसील में कई किसान इसका व्यापारिक स्तर पर उत्पादन कर रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा नाशपाती फल की मार्केटिंग की योजना भी तैयार की गई है।

Monday, December 11, 2017

नर्मदा नदी में मल-जल की एक बूंद भी नहीं मिलने देंगे

भोपाल / नर्मदा नदी मध्यप्रदेश की जीवन-रेखा है और इसे स्वच्छ और निर्मल रखने के लिए हर संभव प्रयास किये जायेंगे। नर्मदा नदी में नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों से मल-जल की एक बूंद भी नहीं मिलने देंगे। प्रदेश के हर नागरिक को नर्मदा नदी को स्वच्छ बनाये रखने का संकल्प लेना चाहिए। यह हम सबका कर्त्तव्य है कि नर्मदा मैया को प्रदूषित न होने दें। माँ नर्मदा को साफ-सुथरा बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने माँ नर्मदा के किनारे बसे 18 शहर में सीवरेज प्लांट बनाने के लिए 1400 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की है। यह बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज जबलपुर के भटौली में अमृत योजना में 324 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले सीवरेज प्लांट एवं 149 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली जल प्रदाय योजना के भूमि-पूजन कार्यक्रम में उपस्थित जनसमूह से कही। मुख्यमंत्री ने जन-समूह को नर्मदा नदी को स्वच्छ बनाने का संकल्प दिलाया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों को रहने के लिए जमीन उपलब्ध करवाएगी। प्रदेश में किसी भी गरीब को आवासीय जमीन के बिना नहीं रहने दिया जाएगा, जिनके पास आवास के लिए जमीन नहीं है उन्हें आवासीय जमीन का पट्टा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि गरीबों को भी रहने और मुस्कुराने का हक है, उनके सर पर भी पक्की छत होना चाहिए। प्रधानमंत्री आवास योजना में नगरीय क्षेत्रों में भी आवासों का निर्माण किया जा रहा है। 

Saturday, December 09, 2017

नेशनल लोक अदालत में पक्षकारों के आपसी राजीनामे से प्रकरणों का निराकरण

कटनी / राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं म.प्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेशानुसार  जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनिल मोहनिया के मागर्दशन में जिले के समस्त न्यायालयों एवं अन्य विभागों में शनिवार 09 दिसंबर को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत प्रातः 10:30 बजे से सायं 5.30 बजे तक हुई। जिसका शुभारंभ  अनिल मोहनिया जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष, द्वारा सरस्वती माँ की प्रतिमा पर मार्ल्यापण कर एवं दीप प्रज्जवलित कर किया। लोक अदालत में प्रि-लिटिगेशन, बिजली, आपराधिक, मोटर दुर्घटना दावा समेत पक्षकारों के आपसी राजीनामे से प्रकरणों का निराकरण किया गया।
जिला विधिक सहायता अधिकारी सुश्री प्रियंका सुमन ने जानकारी देते हुये बताया कि माननीय जिला न्यायाधीश के निर्देशानुसार जिले में लोक अदालतों की 25 खण्डपीठों का गठन किया गया था। लोक अदालत में प्रीलिटिगेशन के लगभग 9440 प्रकरण एवं न्यायालय के 5613 प्रकरणों को रखा गया। प्रिलिटिगेशन में 283 प्रकरण निपटे, जिससे 326 लोग लभान्वित हुए एवं इन प्रकरणों में 4795361 रूपए की राशि अवार्ड की गई। इसी तरह न्यायालय में लंबित प्रकरणों में पिछली तीन लोक अदालतों का रिकार्ड तोड़ते हुए 539 प्रकरण निपटाये गए, जिससे 1338 लोग लभान्वित हुए एवं जिसमें राशि रूपए 19738824 अवार्ड की गई।
इसी तरह जिले में आयोजित लोक अदालत के अन्य विभाग जैसे कलेक्टेड में रखे गए 4877 प्रकरणों में 1925 प्रकरणों को निपटाया गया। परिवार परामर्श केन्द्र द्वारा 21 प्रकरणों को लोक अदालत के माध्यम से निपटाया गया। अतः जिला न्यायालय कटनी द्वारा लोक अदालत में कुल 822 प्रकरणों को निपटाया गया, जिसमें 1664 लोग लभान्वित हुए और कुल राशि रूपए 24534187 अवार्ड की गई अन्य विभागों द्वारा लोक अदालत में 1946 प्रकरणों को निपटाया गया। लोक अदालत में पक्षकारों ने कॉफी बढ़-चढ़ कर भाग लिया एवं लोक अदालत को सफल बनाया।

लोक अदालत में नगर निगम को मिले 14 लाख रुपये

कटनी / नगर पालिक निगम कम्युनिटी हाॅल में प्रातः 10 बजे से लोक अदालत का आयोजन किया गया. कम्यूनिटी हाॅल में वार्ड क्रमांक 1 से 36 तक के वार्डो में वार्डवार स्टाल लगाकर अधिभार में निर्धारित छूट प्रदान कर उनके संपत्तिकर एवं जलकर की राशि जमा कराई गई। इसी तरह माधवनगर स्थित उपकार्यालय में वार्ड क्रमांक 39 से 45 तक के वार्डो में शासन नियमानुसार बकाया अधिभार में छूट प्रदान की गई। 
लोक अदालत के दौरान संपत्तिकर के अंतर्गत नगर निगम कटनी स्थित वार्ड क्रमांक 1 से 36 तक के काउन्टरों से लगभग 11 लाख 15 हजार की राशि एवं उपकार्यालय में वार्ड क्रमांक 38 से 45 तक लगभग 3 लाख की राशि दोपहर 4 बजे तक जमा हो चुकी है। 
महापौर शशांक श्रीवास्तव, निगमाध्यक्ष संतोष शुक्ला, आयुक्त संजय जैन, मेयर इन काउन्सिल सदस्य विजय डब्बू रजक, पार्षद श्रीमती ऋचा गेलानी उपायुक्त अशफाक परवेज कुरैशी,  भाजपा नेता आशीष कंदेले, सतीष पटैल, पूर्व पार्षद रजेन्द्र गेलानी द्वारा निगम के राजस्व विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों की उपस्थिति में प्रत्येक काउन्टर में जाकर जानकारी प्राप्त की गई।

Friday, December 08, 2017

दुगाडी नाला पुल एवं वैकल्पिक मार्ग का निरीक्षण करनें पहुंचें महापौर एवं निगमायुक्त

कटनी / दुगाडी नाला पुल के वर्तमान में चल रहे कार्य एवं वैकल्पिक मार्ग का निरीक्षण विगत दिवस महापौर शशांक श्रीवास्तव निगमायुक्त संजय जैन, मेयर इन काउन्सिल सदस्य मनीष पाठक, पार्षद अभिषेक ताम्रकार, कमलेश चौधरी की उपस्थिति में किया गया। महापौर ने वैकल्पिक मार्ग से आवागमन में जनता को होंनें वाली परेशानियों को दृष्टिगत रखते हुए शीध्र ही सडक मरम्मत कार्य डामलीकरण एवं प्रकाश व्यवस्था कराये जानें के निर्देश दिए। पुलिया निर्माण की प्रगति की जानकारी लेकर ठेकेदार को पहुंच मार्ग में तत्काल ही सुधार कार्य कराये जानें के निर्देश दिए । 

मनरेगा में पकड़ा फर्जीवाड़ा, उपयंत्री से वसूली के दिये निर्देश, सचिव निलंबित

कटनी / ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं की जमीनी हकीकत से वाकिफ होने कलेक्टर विशेष गढ़पाले बहोरीबंद विकासखण्ड क्षेत्र पहुंचे। जहां उन्होने सिंहुड़ी छपरा, छपरा, अमोच, छोटा कछारगांव, सलैया खड़रा, कुआं, भिड़की, पोंड़ी, रुपनाथ, ककरहटा, हथियागढ़ और तमुरिया सहित एक दर्जन ग्रामों में पहुंचकर कार्यों का जायजा लिया। पोंड़ी में मनरेगा के कार्यों में गफलत कलेक्टर ने पकड़ी। उन्होने कहा कि जो सड़क बनी हुई है, उस सुदूर सड़क का निर्माण आप कैसे करा रहे हैं। वो भी आज से काम प्रारंभ किया है। यह फर्जीवाड़ा नहीं चलेगा। उपयंत्री, सचिव और रोजगार सहायक पर बिफरते हुये आज हुये कार्य का मूल्यांकन दूसरे उपयंत्री से कराने के निर्देश सीईओ जनपद को कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि आज की मजदूरी का भुगतान स्पॉट पर खड़े होकर गलत काम करा रहे दोषी उपयंत्री से रिकवरी कर करायें।
पोंड़ी ग्राम में व्याप्त अनियमितताओं पर सचिव को स्पॉट पर निलंबित करने के आदेश भी कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि इस सचिव के द्वारा ना सीसी रोड बनवाई जा रही है, ना ही पीएमएवॉय और खेल मैदान की स्थिति भी खराब है। इसकी डीई भी प्रारंभ करें। वहीं ग्राम पंचायत के जीआरएस को भी टर्मिनेशन का नोटिस जारी करने के आदेश सीईओ जनपद को कलेक्टर ने दिये।
छपरा में भी सुदूर सड़क निर्माण की सही साईट का चयन ना करने पर उपयंत्री को कलेक्टर ने फटकारा। उन्होने कहा कि शासन के पैसे को अनावश्यक खर्च ना करें। जहां बेहतर काम हो सकता है, वहीं पर कार्य करायें।
छोटा कछारगांव पहुंचे कलेक्टर ने विद्यार्थियों से चर्चा की। उनकी पढाई के विषय में जाना। साथ ही मासिक टेस्ट की कॉपियां भी देखीं। इस दौरान यह तथ्य सामने आया कि स्कूल परिसर में किचिन शैड भवन नहीं है। जिस पर सीईओ जनपद को प्राथमिक शाला छोटा कछारगांव में किचिन शैड निर्माण के निर्देश कलेक्टर ने दिये।
सलैया खड़़रा में पहुंचकर सीसी रोड निर्माण का जायजा भी कलेक्टर ने लिया। इस दौरान पंचायत में मनरेगा के कार्य के साथ ही अन्य कार्य प्रारंभ नहीं थे। जिस पर नाराजगी भी उन्होने जाहिर की। सचिव को आगामी 10 दिनों में दो सीसी रोड, तीन आवास और मनरेगा के तहत पांच लाख की मजदूरी के कार्य कराने के निर्देश कलेक्टर ने दिये।
कुआं ग्राम पंचायत के भिड़की में नवीन तालाब निर्माण का कार्य भी कलेक्टर ने देखा। हथियागढ़ में भी मनरेगा के तहत हो रहे तालाब विस्तारीकरण के कार्य की जांच कलेक्टर ने की। इस दौरान तकनीकी मार्गदर्शन सही रुप से ना देने पर उपयंत्री को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश उन्होने दिये। साथ ही हथियागढ़ पहुंचकर निर्माणाधीन आंगनबाड़ी भवन और प्रधानमंत्री आवासों का जायजा भी लिया।
सिंहुड़ी छपरा में तालाब विस्तारीकरण के कार्य का जायजा सर्पप्रथम अपने विजिट में कलेक्टर ने लिया। अच्छा कार्य होने पर उसकी सराहना भी उन्होने की। साथ ही मस्टर लेकर उपस्थित मजदूरों की हाजिरी भी लगाई। ककरहटा में भी खेत तालाब का कार्य कलेक्टर ने देखा। साथ ही आवश्यक दिशा-निर्देश संबंधितों को दिये।

Thursday, December 07, 2017

भू-भाटक की राशि करें जमा, अन्यथा लीज निरस्त की होगी कार्यवाही

कटनी / तहसीलदार नजूल ने सूचना पत्र जारी कर सभी लीजधारकों को भू-भाटक की चालू वर्ष 2017-18 एवं बकाया भू-भाटक की 15 प्रतिशत प्रब्याजि राशि जमा करने के निर्देश दिये हैं। तहसीलदार नजूल संदीप श्रीवास्तव ने बताया कि लीजधारक नियत समय में भू-भाटक की चालू एवं बकाया राशि जमा नहीं करते हैं, तो संबंधित खाताधारकों की लीज पट्टों की शर्तों को इसका उल्लंघन मानते हुये लीज निरस्त करने की कार्यवाही की जायेगी। लीजधारक सोमवार, मंगलवार, बुधवार को तहसील कार्यालय कटनी में 11 बजे से शाम 5.30 बजे तक भू-भाटक राशि जमा करा सकते हैं। वहीं गुरुवार और शुक्रवार को 11 बजे से शाम 5.30 बजे तक माधवनगर कटनी पंचायत भवन में राशि जमा की जा सकती है।

भूतपूर्व सैनिक एवं विधवाओं के सहयोग के लिये लोगो को करे प्रेरित

कटनी / गुरुवार को देश व प्रदेश के साथ-साथ जिले में भी सशस्त्र सेना झण्डा दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जिला वेल्फेयर ऑफीसर व भूतपूर्व सैनिक परमानन्द चतुर्वेदी ने कलेक्टर विशेष गढ़पाले को ध्वज लगाया। वहीं पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह को झण्डा दिवस के अवसर पर ध्वज लगाया गया। इसके साथ ही भूतपूर्व सैनिक एवं विधवाओं के सहयोग

के लिये प्रेरित किये जाने का जिला वेल्फेयर ऑफीसर परमानंद चतुर्वेदी ने अनुरोध किया।
            सशस्त्र सेना झण्डा दिवस के अवसर भूतपूर्व सैनिक परमानन्द चतुर्वेदी ने निगमायुक्त संजय जैन सहित अन्य अधिकारियों को भी झण्डा लगाया।

Tuesday, December 05, 2017

प्राईवेट बैंक ने बिना पूछे खाता खोल कर दिया वित्तीय लेन-देन, जांच के निर्देश

कटनी / मंगलवार को जनसुनवाई में जिले भर से आये लगभग 160 आवेदकों ने अपने आवेदन दिये।  बड़वारा तहसील अंतर्गत ग्राम रोहनिया से आये आवेदक ने प्राईवेट बैंक द्वारा बिना जानकारी अकाउंट खोलने की शिकायत कलेक्टर से की। उसने बताया कि उसका खाता प्राईवेट बैंक द्वारा खोला गया है। साथ ही उस अकाउंट में वित्तीय लेन-देन भी किया गया। जोकि उसके द्वारा नहीं किया गया है। इस पर कलेक्टर ने शिकायत की जांच के निर्देश वित्त एवं संस्थागत अधिकारी को दिये। उन्होने कहा कि शीघ्र ही प्रकरण की जांच करें और इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। ग्राम हिरवारा से आये रामप्यारे नोनिया ने पात्रता पर्ची न होने से राशन ना मिलने की बात बताई। ढीमरखेड़ा के ग्राम बड़खेड़ा से आये भल्लो राम साहू ने बताया कि जुलाई माह में उसका घर बारिश के कारण गिर गया था। जिस पर अब तक उसे किसी प्रकार की आर्थिक सहायता नहीं मिली है। वहीं तेवरी निवासी बंशीलाल ने आवेदन देते हुये बताया कि पंचायत द्वारा उसकी निजी भूमि पर प्रधानमंत्री आवास का निर्माण कराया जा रहा है। जिस पर कलेक्टर ने वीसी के माध्यम से नायब तहसीलदार स्लीमनाबाद को जांच सहित भूमि की नाप कर, शीघ्र अवगत कराने के निर्देश दिये।
            बरही तहसील के ग्राम कन्नौर से आये शंकर तिवारी ने ग्राम में कराये जा रहे शासकीय भूमि से अवैध उत्खनन और अतिक्रमण की बात कलेक्टर को बताई। उसने बताया कि उसके ग्राम में शासकीय तालाब से मिट्टी का उत्खनन किया जा रहा है। जिसे बेचने की बात भी शंकर ने बताई। इस पर कलेक्टर ने एसडीएम विजयराघवगढ़ से प्रकरण की जांच कर आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये।
       बहोरीबंद के ग्राम छपरा निवासी रुबेदा खातून ने कलेक्टर को बताया कि उसके पति जमाल अंसारी की मृत्यु अप्रैल माह में हो गई थी। लेकिन उसे अब तक किसी प्रकार की आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं हुई है। इस पर कलेक्टर ने सीईओ जनपद बहोरीबंद को वीसी के माध्यम से पात्रता अनुसार आर्थिक सहायता योजना का लाभ देने के लिये निर्देशित किया।
            धुरी निवासी रामस्वरुप विश्वकर्मा ने बीमारी के इलाज के लिये आर्थिक सहायता का आवेदन  कलेक्टर को दिया। उसने बताया कि नायब तहसीलदार कार्यालय में पूर्व में आर्थिक सहायता के लिये आवेदन दिया गया था। लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। इस पर कलेक्टर ने वीसी के माध्यम से नायब तहसीलदार स्लीमनाबाद को जल्द ही प्रकरण भेजने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होने इस तरह के प्रकरणों को अविलंब प्रस्तुत करने की बात कही।
         इस दौरान सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए, अपर कलेक्टर डॉ सुनन्दा पंचभाई और निगमायुक्त संजय जैन ने भी आवेदकों की समस्यायें सुनीं। साथ ही संबंधित अधिकारियो को वीसी और मोबाईल के माध्यम से निराकरण करने के लिये निर्देशित भी किया।