Monday, October 16, 2017

किसानों को सीधे लाभ मिले, किसी तरह का भ्रष्टाचार और बिचौलिये ना आयें

कटनी/  मध्यप्रदेश में किसानों के फसलों के लिए भावांतर भुगतान योजना 16 अक्टूबर 2017 से लागू की गई है, जिले में भी सोमवार को मण्डी प्रांगण में भावांतर भुगतान योजना का जिला स्तरीय शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित किया गया।
      कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा भगवान श्री बलराम जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम को विधायक संदीप जायसवाल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि किसानों को लाभ की अनिवार्यता ही भावान्तर भुगतान योजना का मुख्य उद्वेश्य है। किसानों को सीधे लाभ मिले, इसमें किसी तरह का भ्रष्ठाचार और बिचौलिये ना आयें, इसलिये भाव के अन्तर की शेष राशि सीधे किसानों के खाते में जायेगी।
             बड़वारा विधायक मोती कश्यप ने कहा कि यह योजना किसानों के हित के लिये है। जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री सतत् रुप से किसानों के लिये चिन्तित हैं और सरकार कृषकों के हित के लिये योजनायें बना रही है।
            महापौर शशांक श्रीवास्तव ने  कहा कि सरकार का मुख्य उद्देश्य  अन्त्योदय है। जिस पर ही आधारित योजनायें शासन द्वारा बनाई व चलाई जा रही है।
           योजना के शुभारंभ कार्यक्रम के दिन कटनी कृषि उपज मंडी में 3 कृषकों ने अपनी उपज इस योजना के तहत विक्रय की। इसमें ग्राम देवडोंगरा के कृषक सुनील पाण्डेय ने 15 बोरी उड़द की बिक्री की। तो वहीं ग्राम सहसपुरा के कृषक रुद्र प्रताप सिंह ने 2 बोरीे उड़द का विक्रय कर इस योजना का लाभ लिया। इसके साथ ही पडुवा निवासी पुरषोत्तम पटेल ने भी 27 बोरा उड़त भावांतर भुगतान योजना के शुभारंभ अवसर पर बेची।
          कार्यक्रम को कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष संतोष राय और जिला योजना समिति के सदस्य पीताम्बर टोपनानी ने भी संबोधित किया।समारोह में मुड़वारा विधायक संदीप जायसवाल, बड़वारा विधायक  मोती कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, महापौर शशांक श्रीवास्तव, कलेक्टर विशेष गढ़पाले, नगर निगम अध्यक्ष संतोष शुक्ला, मण्डी उपाध्यक्ष श्रीमती रेखा निषाद, केडीए उपाध्यक्ष सत्यव्रत त्रिपाठी, सहित अन्य मंडी सदस्य, पूर्व विधायक सुकीर्ति जैन, सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए, एसडीएम राजेन्द्र पटेल, प्रभारी मंडी सचिव संदीप श्रीवास्तव सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी एवं कृषकगण उपस्थित थे।

Saturday, October 14, 2017

वैश्य महासम्मेलन द्वारा आयोजित हुआ अस्थि जांच एवं निदान शिविर

कटनी / वैश्य महासम्मेलन के चिकित्सा प्रकोष्ठ द्वारा शनिवार को अस्थि रोग जांच एवं निदान शिविर का आयोजन किया गया। शहर के श्री हॉस्पिटल में आयोजित इस शिविर में प्रदेश के राजस्व व विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री उमाशंकर गुप्ता शामिल हुये। उन्होने शिविर के उद्घाटन सत्र में अपनी बात रखते हुये कहा कि मानव सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है। यह कर्म श्रेष्ठ कर्म है। पीडि़त मानवता की सेवा से जो संतोष मिलता है, वह किसी अन्य कार्य से कभी नहीं मिलता। वैश्य महासम्मेलन का यह संगठन सदैव परोपकार के कार्यों में तत्पर रहता है, जोकि सराहनीय है।
            महापौर शशांक श्रीवास्तव ने भी इस मौके पर शिविर की सराहना की। साथ ही कहा कि कटनी के लिये शैल्वी के चिकित्सकों की सेवायें मिलना हर्ष की बात है। शिविर में शैल्वी हॉस्पिटल अहमदाबाद से आये चिकित्सक ने नागरिकों का परीक्षण किया। शिविर का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस दौरान पूर्व विधायक एवं प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष वैश्य महासम्मेलन गिरिराज किशोर पोद्दार, संगठन के चिकित्सा प्रकोष्ठ के संयोजक डॉ अशोक चौदहा, दयाशंकर कनकने, शैल्वी हॉस्पिटल के वरिष्ठ चिकित्सक वरिष्ठ जोड़ एवं प्रत्योरोपण सर्जन डॉ विकास चावला, वरिष्ठ स्पाईन सर्जन डॉ अभिषेक मनु, वरिष्ठ शिशु अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ गौरव जैन मौजूद रहे।
            विशेषज्ञों द्वारा जोड़ एवं स्पाईन से संबंधित बीमारियों की जानकारी दी गई। साथ ही अत्याधुनिक तकनीक के माध्यम से उपचार के विषय में भी विस्तार से बताया गया। विशेषज्ञों ने बताया कि घुटने और जोड़ों के ऑपरेशन को लेकर लोगों में कई तरह की भ्रांतियॉं हैं। लेकिन बहुत ही सहूलियत से इसका इलाज अब संभव है।
            शिविर में जिला योजना समिति के सदस्य व भाजपा जिलाध्यक्ष पीताम्बर टोपनानी, वैश्य महासम्मेलन के उपाध्यक्ष सुरेश सोनी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मुकेश चन्देरिया, जिलाध्यक्ष बाल मुकुन्द गुप्ता, जिला महामंत्री आशीष गुप्ता सहित वैश्य महासम्मेलन के सदस्य व समाज के वरिष्ठजन मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में आभार जिलाध्यक्ष बालमुकुन्द गुप्ता ने किया।

Thursday, October 12, 2017

किसानों के कम पंजीयन करवाने पर मुख्यमंत्री ने की चिंता व्यक्त,अपील कर कहा अंतिम तिथि से पूर्व पंजीयन जरूर करवायें

कटनी / भावांतर योजना का लाभ जिले के कृषकों को मिल सके, उन्हें योजना के विषय में विस्तार से जानकारी दी जा सके। अधिक से अधिक किसान इसके लिये अपना पंजीयन करायें। इस उद्वेश्य से गुरुवार को जिले की सभी ग्राम पंचायतों में विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन हुआ। जिसमें कृषकों का भावांतर योजना के तहत पंजीयन भी कराया गया। ग्राम सभाओं के लिये नियुक्त नोडल अधिकारी अपने-अपने सेक्टर में पहुंचे। ग्राम सभाओं में उपस्थित ग्रामीणों को मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना की जानकारी दी। साथ ही उनका पंजीयन करने हेतु किसानों से उनके दस्तावेज प्राप्त कर पंजीयन भी कराया। उल्लेखनीय है कि जिले के कृषक इस योजना के लाभ के लिये 15 अक्टूबर तक अपना पंजीयन करा सकते हैं। इसके लिये 56 पंजीयन केन्द्र स्थापित किये गये है। पंजीयन के लिए किसानों को अपना आधार कार्ड, भू अधिकार पुस्तिका, मोबाइल नंबर, बैंक खाता पासबुक की फोटो कॉपी, समग्र आईडी प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा।
किसानों ने देखा लाईव टेलीकास्ट
            विशेष ग्राम सभाओं में टेलीविजन के माध्यम से उपस्थित किसानों ने भोपाल में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम का सीधा टेलीकास्ट देखा। जिसमें उन्होने किसानों के लिये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संदेश भी सुना। जिले की सभी ग्राम पंचायतों में राज्यस्तरीय कार्यक्रम को दिखाने के लिये व्यवस्था की गई थी।


भावांतर भुगतान योजना किसानों के लिए महाबोनस
ग्राम सभाओं को लाईव संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरकार ने किसानों के लिए महाबोनस की व्यवस्था भावांतर भुगतान योजना द्वारा की है। इसका लाभ लेने के लिए पंजीयन करवाना अनिवार्य है। उन्होंने किसानों से भावांतर भुगतान योजना, उसकी प्रक्रियाओं और प्रभावों पर विस्तार से चर्चा करते हुये बताया कि मक्का उत्पादक किसानों की समस्याओं का समाधान करवाया जाएगा। जले ट्रांसफार्मर को बदलवाने के लिए उपभोक्ताओं की संख्या 75 से घटाकर 50 प्रतिशत कर दी गई है। साथ ही जमा की जाने वाली बकाया राशि भी 40 प्रतिशत से घटाकर 20 प्रतिशत कर दी गई है। दीवाली के बाद कपास उत्पादक जिलों में 16 खरीदी केन्द्र शुरू हो जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने किसानों द्वारा योजना में कम पंजीयन करवाने पर चिंता व्यक्त करते हुये अपील की कि वे अंतिम तिथि से पूर्व पंजीयन जरूर करवायें। प्रदेश सरकार आम आदमी और गरीब किसान की सरकार है, जो संकट के समय हमेशा किसानों के साथ रही है। खेती को लाभकारी बनाने के लिए हर उपाय करती है। उन्होंने कहा कि बंपर उत्पादन के कारण फसलों के बाजार मूल्य में गिरावट हो गई थी। सरकार ने भंडारण आदि की दिक्कतों के बावजूद 8 रूपए प्रति किलो की दर से प्याज की खरीदी कर, किसानों का नुकसान नहीं होने दिया।
मूंग, तुअर आदि की बाजार मूल्य से करीब डेढ़ हजार रूपए अधिक पर खरीदी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान की फसल कम मूल्य पर नहीं बिकने देने की प्रतिबद्धता का सरकार ने पालन किया था जिस पर एक हजार करोड़ रूपये से अधिक राशि का व्यय किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार किसानों की मदद के लिए पैसों की चिंता नहीं करती है। किसान को फसल का उचित मूल्य मिले, इसके लिये राज्य सरकार कटिबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि फसलों के उचित दाम किसानों को मिलें, इसकी गारंटी के लिए भावांतर योजना लागू की है। योजना का लाभ उन्हीं किसानों को मिलेगा जो 15 अक्टूबर तक योजना के पोर्टल पर पंजीयन करवा लेंगे। उन्होंने बताया कि ग्राम सभा में पंजीयन का कार्य किया जा रहा है। पंजीयन करवाने वाले किसानों को उनके मोबाइल पर शार्ट मैसेज सर्विस (एस.एम.एस) के द्वारा सूचना दी जाएगी। हर किसान को यूनिक आई डी नम्बर दिया जाएगा जिसे कृषि उपज मंडी में विक्रय करते समय किसानों को देना होगा। तभी उन्हें भावांतर योजना का लाभ मिलेगा। किसान द्वारा फसल बोनी का राजस्व विभाग द्वारा सत्यापन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले के फसलवार पाँच वर्षों में सर्वश्रेष्ठ तीन वर्षों की फसल कटाई प्रयोगों के परिणामों के आधार पर उत्पादकता की गणना की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने भावांतर भुगतान योजना में फसल के मूल्य निर्धारण की प्रक्रिया की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आठ फसलों में से किसी फसल का मंडी में निर्धारित अवधि के दौरान विक्रय न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम और मॉडल विक्रय दर से अधिक पर होता है, तो विक्रय की दर तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य के बीच के अंतर की राशि किसान के खाते में जमा की जाएगी। इसी तरह यदि निर्धारित फसलों में से कोई फसल मॉडल विक्रय मूल्य से कम में विक्रय की जाती है, तो न्यूनतम समर्थन मूल्य और मॉडल विक्रय मूल्य के भावांतर की राशि सीधे किसान के बैंक खाते में जमा की जाएगी जिसकी सूचना मोबाईल पर भी दी जाएगी। किसान फसल की बिक्री मंडियों में व्यापारी को करेंगे। व्यापारी उन्हें तत्काल राशि देगा। भावांतर की राशि दो माह की अवधि में उनके बैंक खातों में जमा हो जाएगी।
मुख्यमंत्री ने बताया कि 16 अक्टूबर से 15 दिसम्बर 2017 के मध्य 7 फसलों सोयाबीन, मूंगफली, तिल, रामतिल, मक्का, मूंग, उड़द और 1 फरवरी से 30 अप्रैल 2018 तक अरहर (तुअर) का विक्रय करते समय यूनिक आई.डी. देना होगी। मंडी में क्रय-विक्रय, खरीदी के समय अनुबंध पत्र, तौल पर्ची, भुगतान पत्रक मंडी कर्मचारियों द्वारा तैयार किया जाएगा। उन्होंने किसानों से अपील की कि योजना में पंजीयन का अवसर गवांए नहीं। ग्राम सभा में ही पंजीयन का कार्य करवा लें। योजना का सबको लाभ मिलेगा, व्यवस्था में सहयोग करें। स्वयं का और अपने आस-पास के किसानों का पंजीयन करवाने में सहयोग करें।

Monday, October 09, 2017

21 से 25 अक्टूबर तक ’’कटनी पुस्तक मेले’’ का होगा आयोजन

कटनी / 21 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक ’’कटनी पुस्तक मेले’’ का आयोजन किया जा रहा है। यह मेला नगर निगम परिसर में स्थित कम्युनिटी हॉल में आयोजित होगा। जिसकी रुप-रेखा तैयार करने के उद्वेश्य से  कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने सभी संबंधित विभगाों के अधिकारियों के मध्य कार्य विभाजन किया।
            पुस्तक मेले के विषय में विस्तार से जानकारी देते हुये कलेक्टर ने कहा कि इस मेले में ही बुक डोनेशन कैम्प भी प्रशासन द्वारा आयोजित किया जायेगा। जिसमें नागरिक स्वेच्छा से पुस्तकें दान कर सकेंगे। कटनी पुस्तक मेले में देश के नामी प्रकाशक भी शामिल होने जा रहे हैं, जिनके कन्फर्मेशन प्राप्त भी हो चुके हैं। पुस्तक मेला में शैक्षणिक, सामाजिक, व्यक्तित्व विकास, कैरियर मार्गदर्शन और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये उपयोगी पुस्तकें उपलब्ध होंगी। साथ ही हिन्दी के समकालीन और प्राचीन साहित्य, धार्मिक, आध्यात्मिक पुस्तकों का संग्रह भी उपलब्ध होगा।
            पुस्तक मेले में शामिल होने के लिये अब तक देश के नामी प्रकाशकों ने अपनी स्वीकृति दी है। जिनमें पटना के किरण प्रकाशन, नई दिल्ली के जवाहर पब्लिकेशन, नई दिल्ली के ही मानसी पब्लिकेशन, गणपति पब्लिकेशन, चंपक का प्रकाशन करने वाले डेल्ही प्रेस, राजपाल प्रकाशन, पंचतंत्र प्रकाशित करने वाले शांति पब्लिकेशन, हैदराबाद के वाणी प्रकाशन, ज्ञानदीप प्रकाशन, साहित्य अकादमी, तक्षशिला प्रकाशन, इंदिरा प्रकाशन, एकलव्य प्रकाशन, हितपाल प्रकाशन, एमबीडी प्रकाशन और भारती ज्ञानपीठ पब्लिकेशन शामिल हैं।
            बुक फेयर की तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक में कलेक्टर ने सीईओ जिला पंचायत को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। साथ ही नगर निगम आयुक्त, जिला शिक्षा अधिकारी, डीपीसी, संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग, एपीसी, महिला सशक्तिकरण अधिकारी, कमाण्डेन्ट होमगार्ड, विद्युत विभाग सहित अन्य संबंधित अधिकारियों के मध्य कार्य विभाजन किया। साथ ही पुस्तक मेले के सफल आयोजन के लिये अपने दायित्वों का निर्वहन जवाबदेही से करने के लिये निर्देशित किया।

Sunday, October 08, 2017

वृद्धाश्रम पहुंचे अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नरेन्द्र मरावी

कटनी / अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नरेन्द्र मरावी शाम को बैंक ऑफ बड़ौदा की इंडस्ट्रियल शाखा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुये। झिंझरी स्थित बच्चन नायब वृद्धाश्रम में आयोजित कार्यक्रम में नरेन्द्र मरावी ने वृद्धजनों का सम्मान करते हुये उन्हें कंबल और फल वितरित किया। इस दौरान जिला पंचायत उपाध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा और शिक्षा के क्षेत्र के जानकार डॉ0 अनिल सौमित्र भी मौजूद थे।
      कार्यक्रम में शासन की योजनाओं की जानकारी भी नरेन्द्र मरावी ने दी। इसके बाद वे स्थानीय ग्रामीणों की शिकायत पर लखापतेरी भी पहुंचे। जहां उनकी समस्याओं को सुनकर उसके विधिसम्मत यथोचित् निराकरण के लिये उन्हें आश्वस्त भी किया। वृद्धाश्रम के कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य एम ए खान, पर्यटन विकास समिति के सदस्य पद्मेश गौतम और एसडीएम बहोरीबंद विमलेश सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

Monday, October 02, 2017

स्वच्छता अभियान की सफलता के लिये जनसहभागिता महत्वपूर्ण

कटनी / 15 सितंबर से प्रारंभ हुये स्वच्छता ही सेवा अभियान का सोमवार को समापन हुआ। जिलास्तरीय कार्यक्रम का आयोजन नगर निगम कम्युनिटी हॉल में किया गया। समापन समारोह में प्रदेश के वित्त एवं वाणिज्यकर और जिले के प्रभारी मंत्री जयंत मलैया के साथ ही प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक भी शामिल हुये। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री  ने स्वच्छता अभियान की सफलता के लिये जनसहभागिता को सबसे महत्वपूर्ण कड़ी बताया। उन्होने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहले एैसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होने देश की प्राचीर से स्वच्छता की बात की। उन्होने स्वच्छता को अभियान बनाया। अपने गांव में इस दिशा में बेहतर काम करने वालों को हम आज सम्मानित भी कर रहे हैं। स्वच्छता के लिये सबसे बड़ा द्वंद मानसिकता में बदलाव लाने का है। हमें इस दिशा में प्रेरित होते हुये कटनी को और अधिक स्वच्छ बनाने का संकल्प लेकर कार्य करना होगा।
            विधायक संदीप जायसवाल, महापौर शशांक श्रीवास्तव और राज्यमंत्री की मांग पर नगर निगम कम्युनिटी हॉल को सर्व सुविधायुक्त बनाने की घोषणा भी प्रभारी मंत्री ने की। उन्होने कहा कि इस कार्य के लिये धनराशि की कमी नहीं होगी।
            समापन कार्यक्रम में राज्यमंत्री ने अपनी बात रखते हुये कहा कि महज सरकार के द्वारा स्वच्छता नहीं लाई जा सकती। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा स्वच्छता को बनाये गये इस मिशन में जनता की भागीदारी जरुरी है। हमें उदाहरण पेश करने चाहिये। प्रधानमंत्री की पहल पर कई उदाहरण सामने आये हैं, जिन्होने समाज को इस दिशा में प्रेरित किया है। उदाहरण कोई भी हो सकता है, तो हम आप क्यों नहीं।
            विधायक जायसवाल ने भी स्वच्छता के प्रति जन-चेतना की बात स्वच्छता ही सेवा अभियान के समापन समारोह में कही। कार्यक्रम में समग्र स्वच्छता की दिशा में जिले में काम करने वालों के अनुभव को सुनते हुये जनप्रतिनिधियों को भी उनसे प्रेरणा लेने की अपील उन्होने की। साथ ही नगर निगम कम्युनिटी हॉल के भव्य स्वरुप के लिये विधायक निधि के साथ ही शासन स्तर पर भी राशि मुहैया कराने की मांग प्रभारी मंत्री से विधायक जायसवाल ने की।
           
            जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल ने भी कार्यक्रम के समापन के अवसर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के स्वप्न को साकार करने के लिये अपनी जिम्मेदारियों को निभाने का आग्रह जनमानस से किया। उन्होने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का सपना था स्वच्छता। प्रधानमंत्री जी ने उसे अभियान बनाया है। पर यह तब तक सफल नहीं होगा, जब तक इसमें सभी नागरिकों की सहभागिता ना हो। क्योंकि ’’जब हम सुधरेंगे, तभी देश सुधरेगा’’।
            कार्यक्रम में अपने गांव चरी को खुले में शौचमुक्त कराने में सक्रिय भूमिका निभाने वाली शकुन बाई पटेल ने मंच से अपने अनुभव साझा किये। उन्होने कहा कि काम कठिन नहीं है, लेकिन लोगों की सोच बदलना बड़ा मुश्किल होता है। लेकिन असंभव नहीं। यदि हम चाह लें, तो सब हो सकता है। उसके लिये कठोर इच्छाशक्ति के साथ काम करना होता है। इस अवसर पर जिला योजना समिति सदस्य  पीताम्बर टोपनानी ने भी अपने विचार रखे।
            जिलास्तरीय कार्यक्रम में स्वच्छता ही सेवा अभियान के विभिन्न निर्धारित बिन्दुओं में उत्कृष्ट कार्य करने वाले सरपंचों, पालक शिक्षा संघों, प्रेरकों और सफाई कर्मियों को भी विकासखण्डवार प्रभारी मंत्री सहित उपस्थित अतिथियों ने सम्मानित किया। इस दौरान अध्यक्ष नगर निगम संतोष शुक्ला, केडीए उपाध्यक्ष सत्यव्रत त्रिपाठी व श्रीमती आशा कोहली, विभिन्न जनपदों के अध्यक्षों और उपाध्यक्षों सहित कलेक्टर विशेष गढ़पाले, सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए और नगर निगम आयुक्त  संजय जैन सहित जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण उपस्थित थे।

Friday, September 29, 2017

दुर्गा प्रतिमा विसर्जन की मॉनीटरिंग के लिये सीसी टीव्ही कैमरा लगाने के निर्देश


कटनी /दुर्गा प्रतिमा विसर्जन की तैयारियों का जायजा लेने शुक्रवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले विभिन्न घाटों में पहुंचे। जहां पर उन्होने व्यवस्थाओं का जायजा लिया। अपने विजिट में कलेक्टर ने गाटर घाट, मसुरहा घाट, मोहन घाट, माई नदी घाट, बाबा घाट और पीरबाबा घाट सहित अन्य विसर्जन स्थलों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने नगर निगम के अधिकारियों को मूर्ति विसर्जन के लिये बनाये जा रहे कुण्डों के विषय में आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये। उन्होने कहा कि सभी विसर्जन कुण्डों के चारो तरफ सुरक्षा की पर्याप्त रखें। माई नदी घाट में विसर्जन कुण्ड में बेरिकेटिंग कराने के निर्देश भी उन्होने दिये। चौपाटी ग्राउंड पहुंचकर रावण दहन की व्यवस्थायें भी अपने विजिट में कलेक्टर ने देखीं। उन्होने कहा कि इस बात का विशेष ध्यान रखें कि, रावण दहन के दौरान कोई अप्रिय स्थिति ना बनें। रावण की चारो तरफ की परिधि में कोई भी व्यक्ति ना आ पाये, ताकि रावण दहन के समय कोई भी अप्रिय घटना ना घटित हो।
गाटर घाट पहुंचकर सर्वप्रथम कलेक्टर ने विसर्जन कुण्ड का जायजा लिया। उन्होने नगर निगम के अधिकारियों को इसमें नीचे पन्नी बिछाकर पानी भरने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि स्लोब का भी ध्यान रखें। साथ ही विसर्जन स्थल पर निर्बाध विद्युत व्यवस्था बनी रहे। विद्युत की वैकल्पिक व्यवस्था की पूरी तैयारी की जाये। प्रतिमा विसर्जन की मॉनीटरिंग के लिये सीसी टीव्ही कैमरा लगाने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये।
इसके बाद मसुरहा घाट पहुंचकर भी कलेक्टर  ने व्यवस्थायें देखीं। उन्होने विद्युत व्यवस्था पर्याप्त करने और विसर्जन कुण्ड को समय पर तैयार करा लेने के निर्देश दिये। मोहन घाट में भी विसर्जन कुण्ड को प्रॉपर रुप से बनाने की बात उन्होने कही। कलेक्टर ने कहा कि गाटर घाट, मसुरहा घाट, मोहन घाट इन सभी घाटों में टर्निंग बहुत सकरी है। इसलिये विसर्जन के दौरान यातायात की व्यवस्था पर मैदानी अमला विशेष ध्यान दे। ताकि निर्बाद्ध रुप से विसर्जन होते रहें। साथ ही पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था रखने के लिये भी कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।
माई नदी घाट और बाबा घाट सहित अन्य विसर्जन स्थालों का भी निरीक्षण कलेक्टर ने किया। इस दौरान नगर निगम आयुक्त संजय जैन, एसडीएम राजेन्द्र पटेल, तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव भी मौजूद थे।

Tuesday, September 26, 2017

बाबा माधवशाह, बाबा नारायण शाह बरसी मेले के दौरान नगर निगम करेगा विशेष व्यवस्थायें

कटनी / महापौर शशांक श्रीवास्तव  के निर्देश पर नगर निगम सतगुरू बाबा माधव शाह साहिब सतगुरू बाबा नारायण शाह साहिब जी का वर्सी मेले 09 एवं 10 अक्टूबर 2017 को विशेष प्रकाश, जल, एवं सफाई व्यवस्था कराई जायेगी । इसके  साथ ही मेला अवधि के दौरान नगर निगम द्वारा एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जावेगा जिसमें व्यवस्थाओं से जुडे हुये अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहकर तत्काल समस्याओं का समाधान करावेंगे।
 जानकारी देते हुये निगमायुक्त संजय जैन ने बताया कि बाबा माधवशाह, बाबा नारायणशाह जी के दो दिवसीय वर्सी मेले में, नगरपालिक निगम द्वारा की जाने वाली समस्त व्यवस्था के प्रभारी अधिकारी अशफाक परेवज कुरैशी, उपायुक्त को बनाया गया है, इनके निर्देशन में सभी अधिकारी कर्मचारी अपने-अपने विभाग की समुचित व्यवस्था संपादित करेगें। नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाकर आर.पी.पटैल प्रभारी जनसम्पर्क अधिकारी, संजय चैदहा सहा ग्रेड 3, पंकज निगम समयपाल, सुखदेव दुबे सहायक राजस्व निरीक्षक की डियूटी लगाई गई है।
शैलेष जायसवाल कार्यपालन यंत्री, आदेश जैन उपयंत्री सुनील पाठक सहा ग्रेड बर्सी मेले, कार्यक्रम स्थल, जुलूस रूट, माधवनगर रेल्वे स्टेशन से माधव नगर मुख्य गुरूद्वारा एवं माधवनगर क्षेत्र के सभी मुख्य मार्गो की बंद स्ट्रीट लाईट चालू कराये तथा कार्यक्रम मेला स्थल एवं आसपास के क्षेत्र में अतिरिक्त लाईट लगाकर प्रकाश की समुचित व्यवस्था कराना सुनिश्चित करेगें। तथा
फायर नियंत्रण अधिकारी मो शरीफ खान बर्सी मेला में एक फायर ब्रिगे्रड मय स्टाफ के साथ उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेगें तथा माधवनगर स्थित धर्मशाला गुरूद्वारा की टंकियों में आवश्यकतानुसार फायर ब्रिगेड से पानी भरवाने की व्यवस्था करावेगे।
वर्सी मेले के 02 दिवसीय क्रार्यक्रम हेतु बर्सी मेले के पूर्व प्राथमिकता के आधार पर शोभायात्रा रूट एवं माधवनगर की मेन रोड, कटनी रेल्वे स्टेशन से माधवनगर रेल्वे स्टेशन तक व माधवनगर गुरूद्वारा के आसपास की सड़को की आवश्यक मरम्मत एवं गडढो को भरवाने का दायित्व  उपयंत्री सर्व सुरेन्द्र मिश्रा मो0 8989911055, अनिल जायसवाल 8989911080, आदेश जैन 8989911056 संजय मिश्रा मो 8989911058, अश्विनी प्रसाद पाण्डेय 8989911059, को सौंपा गया है।
माधवनगर क्षेत्र के होटल रेस्टारेन्टों एवं सार्वजनिक स्थानों एवं माधवनगर क्षेत्र के मीट मार्केट में मांस विक्रय प्रतिबंधित करने की कार्यवाही सुनिश्चित करनें के साथ ही माधवनगर क्षेत्र के मेन रोड, शोभायात्रा रूट, कार्यक्रम स्थल तथा कटनी रेल्वे स्टेशन से कार्यक्रम स्थल एवं माधवनगर स्टेशन से कार्यक्रम स्थल तक, सभी पहुंच मार्गो की विशेष साफ-सफाई, नालियों की सफाई, चूने की लाईनिंग, कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराने का दायित्व एम.एल.निगम प्रभारी स्वा अधिकारी, महेन्द्र सिंह परिहार 8989911131,  नसीम खान प्र स्वच्छता निरीक्षक 8989911161 तेजभान सिंह प्रभारी स्वा निरीक्षक  8989911142 रमाकान्त रावत 8989911145, लवकुश तिवारी 8989911137 को सौपा स्थल के पास आयोजन अवधि में कहीं भी कचरे के ढेर न रहे, वर्सी मेले के आयोजन हेतु कार्यक्रम स्थल एवं आसपास आवारा जानवरों के नियंत्रण रोकथाम हेतु पर्याप्त कर्मचारियों की डियूटी लगाये जानें हेतु निर्देशित किया गया है।  सुधीर मिश्रा सहा यंत्री  8989910980  अनिल कुमार त्रिपाठी  टैंकर इंचार्ज 8989911079 वर्सी मेले के 02 दिवसीय क्रार्यक्रम में पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष भी  जनसमुदाय को देखते हुए पेयजल हेतु आवश्यकतानुसार टेंकरों से वर्सी मेला स्थल पर पेयजल की आपूर्ति की व्यवस्था संपादित करेगें।  
महेन्द्र शर्मा, प्रशांत परौहा, प्रदीप सोलंकी अतिक्रमण प्रभारी प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी माधवनगर बर्षी मेला कार्यक्रम स्थल तथा शोभायात्रा रूट एवं सभी पहुंच मार्गो में पैट्रोलिंग कर अस्थायी अतिक्रमण हटवाकर दो दिवसीय मेला स्थल के पास उपस्थित रहकर यातायात व्यवस्था को सुव्यवस्थित संचालित करावेंगें।
निगमायुक्त  संजय जैन ने सभी विभागाध्यक्षों को सौंपी गई व्यवस्थाऐं मेला अवधि के पूर्व पूर्ण कर पालन प्रतिवेदन से अवगत कराने के निर्देश दियें है। 

दिव्यांग अजीता को जनसुनवाई में ही मिली व्हीलचेयर

कटनी / कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जनसुवाई में जिले भर से आये लगभग 235 आवेदकों ने अपने आवेदन दिये।  जनसुनवाई में आई दिव्यांग अजीता को कलेक्टर ने व्हीलचेयर दिलाई। साथ ही बहुविकलांग पेंशन योजना का लाभ दिलाने के लिये सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया।
        ग्राम बिलहरी से आई रंची बाई चौधरी ने अपनी समस्या बताते हुये कलेक्टर से कहा कि मुझे एक-दो वर्षों की वृद्वावस्था पेंशन नहीं मिली है। गांव में भी कोई मदद और जानकारी नहीं मिल रही है। इस पर कलेक्टर ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुये इसकी रिपोर्ट कम्प्यूटर से निकालने के निर्देश दिये। जिस पर यह तथ्य सामने आया कि ग्राम पंचायत के जीआरएस की गलती के कारण नवंबर 2015 में इनका नाम कट गया था। जिसके बाद इन्हें अगस्त 2017 से पुनः पेंशन प्रारंभ हो चुकी है। कलेक्टर ने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुये अक्टूबर 2015 से जुलाई 2017 तक की पेंशन जीआरएस और ग्राम पंचायत सचिव के वेतन से रंची बाई को दिलाने के आदेश दिये।
            जनपद पंचायत रीठी अंतर्गत ग्राम पंचायत पोंड़ी से अपने पिता रामस्वरुप यादव और माता तुलसा बाई के साथ आई दिव्यांग अजीता यादव ने सहायता के लिये आवेदन जनसुनवाई में दिया। अजीता ने बताया कि वह चलने फिरने में असमर्थ है। इस पर कलेक्टर ने जनसुनवाई में ही सामाजिक न्याय विभाग के माध्यम दिव्यांग अजीता को व्हीलचेयर उपलब्ध कराई। साथ ही बहु-विकलांग पेंशन योजना के तहत पेंशन दिलाने के लिये निर्देशित किया।
            इस दौरान सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए और नगर निगम आयुक्त संजय जैन ने जनसुनवाई में आये आवेदकों की समस्यायें सुनीं। साथ ही उनके निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकरियों को दिये।

Friday, September 22, 2017

सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार से बचें, ना फैलायें अफवाह - कटनी एसपी

कटनी / शांति और साम्प्रदायिक सौहार्द के साथ दशहरा और मोहर्रम के त्यौहार का आयोजन हो। इसके मद्देनजर शुक्रवार को स्लीमनाबाद, बहोरीबंद, बाकल और रीठी पहुंचकर कलेक्टर विशेष गढ़पाले और पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह शांति समिति की बैठक में शामिल हुये। इस दौरान दोनों ही अधिकारियों ने शांति समिति के सदस्यों के सुझाव लिये। साथ ही उन पर क्रियान्वयन के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिये।
            शांति समिति की बैठक में स्लीमनाबाद, बहोरीबंद, बाकल और रीठी में कलेक्टर ने सभी संबंधित विभाग के अधिकारियों को त्यौहार के मद्वेनजर व्यवस्थायें दुरुस्त करने के निर्देश दिये। विद्युत विभाग के अधिकारियों को शीघ्र ही, जहां ट्रान्सफार्मर खराब हो, रिप्लेस करने की बात उन्होने कही। दुर्गा प्रतिमा विसर्जन और ताजिया विसर्जन के दिन विद्युत विभाग के अमले को साथ में ही रखने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि जितने भी आदेश जारी हों, तहसीलदार, एसडीएम व टीआई मोबाईल नंबरों सहित जारी करें। संबंधित विभाग भी आदेशों की प्रति एसडीएम और तहसीलदार को जरुर दें।
            दुर्गा उत्सव समितियों से रुबरु होते हुये शांति समिति की बैठक में कलेक्टर ने रात्रि में दुर्गा पंडालों में अपने वॉलियंटियर्स जरुर रहने की बात कही। साथ ही प्रतिमा व ताजिया विसर्जन स्थल पर पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था के निर्देश दिये। ग्राम पंचायतों को सफाई वालों को अलर्ट करने की बात भी उन्होने कही। बीएमओ को स्वास्थ्य दल अलर्ट रखने और एम्बुलेन्स का अरेन्जमेन्ट रखने के निर्देश भी उन्होने दिये। जुलूस के दौरान समिति के सक्रिय सदस्यों को अपनी सहभागिता निभाने की अपील भी कलेक्टर ने की। उन्होने कहा कि जुलूस के दौरान सक्रिय सदस्य साथ में रहें। दुर्गा समितियों को बिजली के तारों के नीचे और मुख्य मार्ग पर दुर्गा प्रतिमा स्थापित ना करने का आव्हान भी उन्होने किया।
            रीठी में शांति समिति की बैठक में सड़कों में प्रकाश व्यवस्था करने की बात समिति सदस्यों ने रखी। जिस पर ग्राम पंचायत को प्रकाश व्यवस्था कराने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। वहीं नये स्थलों पर प्रतिमा स्थापना अनुमति के बाद ही करने की बात कही।
            इसी तरह पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह ने शांति व सद्भावना के साथ दशहरा और मोहर्रम मनाने की बात आयोजित शांति समिति की बैठकों में कही। साथ ही त्यौहारों के दौरान सोशल मीडिया पर किसी भी तरह के भ्रामक प्रचार से बचने और अफवाह ना फैलाने की अपील भी एसपी ने की। किसी को तकलीफ ना हो, इस बात को ध्यान में रखते हुये डीजे संचालन की बात कही। टीआई समितियों के संरक्षित सदस्यों को आईकार्ड जारी करें।
            पुलिस अधीक्षक ने स्लीमनाबाद, बहोरीबंद, बाकल और रीठी में शांति समिति के सदस्यों से धार्मिक स्थलों की सामाजिक जिम्मेदारी लेने की अपील की। उन्होने कहा कि टीआई भी अपने थाना क्षेत्रों में स्टाफ को भेजकर सतत् रुप से व्यवस्थाओं की मॉनीटरिंग करें। साथ ही दुर्गा पण्डालों में पहुंचकर भी व्यवस्थायें देखें।
            गांव से दशहरा व ताजिया का जुलूस देखने आने वाली महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के प्रति चौकन्ना रहने की बात भी उन्होने कही। उन्होने कहा कि विसर्जन स्थल पर बच्चे ना जायें, इसका भी ध्यान समिति के सदस्य और प्रशासनिक अमला रखे। साथ ही पंडालों में और विसर्जन जुलूस में प्रकाश की वैकल्पिक व्यवस्था रखने के निर्देश भी उन्होने दिये।

Wednesday, September 20, 2017

बिना ड्रायविंग लायसेन्स के छात्र बाईक से पहुंचे स्कूल तो प्राचार्य पर होगी कार्यवाही

कटनी / यातायात व्यवस्था के लिये सभी संबंधित विभागों के अधिकारी तत्परता से काम करें। यह बात  जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में महापौर शशांक श्रीवास्तव ने कही। इस दौरान कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने विगत माह आयोजित बैठक के पालन प्रतिवेदन की समीक्षा की।  बैठक में महापौर ने बिना लायसेन्स स्कूली विद्यार्थियों द्वारा बाईक दौड़ाने की बात रखी गई। उन्होने कहा कि एैसी स्थिति में कभी भी अप्रिय घटना घट सकती है। जिसे गंभीरता से लेते हुये कलेक्टर ने डीईओ को सभी विद्यालयों के प्राचार्यों को इस विषय में आदेश जारी करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि यदि कोई विद्यार्थी, जिसके पास ड्राईविंग लायसेन्स नहीं है, वे बाईक से स्कूल पहुंचता और स्कूल उसे अलाउ करते हैं, तो प्रिन्सिपल के विरुद् भी कार्यवाही होगी। सभी शैक्षणिक संस्थानों के प्राचार्य यह सुनिश्चित करें कि एैसे विद्यार्थियों को बाईक अलाऊ ना करें।
            इसके साथ ही कलेक्टर ने सभी विद्यालयों के प्रबंधन को विद्यार्थियों को परिसर के अन्दर से ही वाहनों से उतारने और बैठाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि 8वीं तक के विद्यार्थियों को वाहन में चढ़ाते और उतारते समय विद्यालयीन स्टाफ मौजूद रहे। साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से अनावश्यक व्यक्ति को कम्पाउन्ड में अलाउ ना करें। इसका लिखित आदेश जिला शिक्षा अधिकारी को जारी कराने के निर्देश भी सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में कलेक्टर ने दिये।
            दुगाड़ी नाला में चल रहे निर्माण कार्य के मद्वेनजर डायवर्टेड रुट में बस चालकों द्वारा स्पीड से बस चलाने की शिकायत समिति सदस्यों द्वारा की गई। इस पर आरटीओ को चालानी कार्यवाही करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। वहीं शहर में महत्वपूर्ण स्थानों जैसे बस स्टेंड, मुड़वारा रेल्वे स्टेशन, मुख्य रेल्वे स्टेशन आदि के साईन बोर्ड लगवाने का प्रस्ताव समिति सदस्यों द्वारा रखा गया। जिस पर महापौर व कलेक्टर ने इसे कराने की बात कही।
            बैठक में कलेक्टर ने कहा कि शहर में निर्धारित रुट पर ऑटो नहीं चलने से और जगह-जगह ऑटो रोककर सवारी भरने से यातायात में समस्या आती है। इसलिये अब निर्धारित रुट पर ही ऑटो चलें। वहीं उन्होने जिला परिवहन अधिकारी को ऑटो के लिये जारी परमिट में रुट क्रमांक लिखने के भी निर्देश दिये।
            समिति की बैठक में भविष्य को देखते हुये शहर के मुख्य मार्ग से भारी वाहनों को प्रतिबंधित करके जेल मोड़ से इमलिया व कछगवां वाली रोड़ से उन्हें निकालने की पर्याप्त व्यवस्था चौड़ी रोड तैयार करके उसे निवार चौक से जोड़कर पीरबाबा की ओर निकालते हुये शहर के आउटर रिंग रोड से मिलाये जाने की बात भी आरटीओ द्वारा रखी गई। जिसका प्रस्ताव बनाने का निर्णय समिति सदस्यों ने लिया।
            बैठक में थाना तिराहा से बरही नाका तक शाम 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक तीन पहिया तथा चार पहिया वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित किये जाने का ट्रायल करने का प्रस्ताव भी रखा गया। इस पर समिति सदस्यों ने सहमति जताई। वहीं मिशन चौक में स्कूल एवं सिग्नल स्थित होने और सवारी बसों का स्टॉपेज भी होने के कारण मिशन चौक में वाहनों का अत्याधिक दबाव बनने की बात नगर पुलिस अधीक्षक ने रखी। साथ ही दबाव को कम करने के लिये बसों का स्टॉपेज मिशन चौक से हटाकर अग्रवाल कॉलोनी के पास आईसीआईसीआई बैंक के सामने दूसरी ओर पर बनाये जाने का प्रस्ताव रखा गया। इस पर ट्रायल करने की बात कलेक्टर ने कही।
            इसी तरह सुभाष चौक से बरही नाका तक लगने वाली सब्जियों की दुकानों को हटाने का काम नगर निगम को करने के निर्देश दिये गये।
            इस दौरान बैठक मे नगर निगम अध्यक्ष संतोष शुक्ला, जिला पंचायत उपाध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा, जनपद पंचायत अध्यक्ष कन्हैया तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रमोद सोनकर और नगर पुलिस अधीक्षक शशिकान्त शुक्ला सहित समिति सदस्य उपस्थित थे।

Monday, September 18, 2017

दायित्वों का पालन न करने पर अब कार्यवाही जिला अधिकारियों पर भी होगी

कटनी / प्राईवेट स्कूलों के स्टाफ के वेरिफिकेशन की अपडेट रिपोर्ट कलेक्टर को प्रत्येक टाईम लिमिट में दी जाए। यह निर्देश टाईम लिमिट की बैठक में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने डीईओ और डीपीसी को दिये। इसी तरह छात्रावासों तैनात स्टाफ के पुलिस सत्यापन की रिपोर्ट भी समय सीमा की बैठक में प्रस्तुत करने के लिये संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होने कहा कि सभी विभाग प्रमुख गंभीरता से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। क्योंकि अब कार्यवाही जिलास्तरीय अधिकारियों पर भी होगी।
            समय-सीमा की बैठक में पिछली टीएल की बैठक में दिये गये निर्देशों का पालन ना कराने पर डीपीसी को शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। वहीं डंफरों से पटरा निकालने की परिवहन विभाग द्वारा की जा रही कार्यवाही की जानकारी का क्रॉसचैक करने के आदेश एसडीएम को दिये। डीईओ के बाहर होने पर प्रभारी अधिकारी के टीएल में अनुपस्थित रहने पर भी कलेक्टर ने नाराजगी जताई। साथ ही टीएल में लंबित प्रकरण का निराकरण ना करने पर एक दिन का अवैतनिक करने के भी आदेश दिये।
            टाईम लिमिट की बैठक में दीपावली के समय पटाखा विक्रय के लिये जारी की जाने वाली अस्थाई अनुज्ञप्ति एक दिन में ही जारी करने के निर्देश कलेक्टर ने शाखा प्रभारी को दिये। उन्होने कहा कि इसमें किसी भी तरह की कोताही ना हो। लेट-लतीफी मैं बर्दाश्त नहीं करुॅंगा। नियमों से समझौता ना हो, यह एनओसी देने वाले अधिकारी पूर्व से सुनिश्चित कर लें।
            जिले में एैसे शासकीय भवन जोकि जर्जर हो चुके हैं, उनके लिये कार्ययोजना बनाकर उन्हें डिस्मेंटल करने की बात भी टीएल में कलेक्टर ने कही। उन्होने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग, ईई आरईएस, नगरीय क्षेत्रों में नगर निगम यह कार्यवाही करें। इसकी रिर्पोटिंग के लिये एक स्टेन्डर्ड फॉर्मेट ईई आरईएस बनायें। जहां जर्जर भवन को तोड़ने के लिये पीडब्ल्यूडी की एनओसी की जरुरत हो, विभागीय अधिकारी प्रक्रिया पूर्ण कर शीघ्र दें, पेंडिंग ना रखें।
            उप संचालक कृषि को जिले में जारी किये गये मृदा परीक्षण कार्ड के आधार पर क्लस्टर विकसित करने की दिशा में कार्य करने की बात कलेक्टर ने कही। उन्होने कहा कि इसके लिये स्टडी करायें कि, किस क्लस्टर की भूमि में कौन सी पैदावार ज्यादा बढि़या तरीके से हो सकती है। उसके आधार पर ही कृषकों को भी समझाईश दी जाये।
            बैठक में सीईओ जिला पंचायत फ्रेंक नोबल ए और निगम आयुक्त संजय जैन सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Friday, September 15, 2017

स्वच्छता ही सेवा की दिलाई शपथ, अभियान का हुआ शुभारंभ

कटनी / जल से ज्यादा मूल्यवान कुछ भी नहीं। सारे कार्यों के लिये पानी की आवश्यकता होती है। पानी सहेजना, बचाना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। भू-जल स्तर बढ़ाने के लिये हमें बरसात के पानी का संरक्षण करना होगा। नहीं तो हमारे हेंडपम्प पानी छोड़ देंगे और मोटरें धुआं। गहराते जल संकट पर अपनी शंकाओं को प्रकट करते हुये यह बात स्वच्छता ही सेवा अभियान के तहत आयोजित जल रोको कार्यक्रम में विधायक संदीप जायसवाल ने कही। पहाड़ी में आयोजित इस कार्यक्रम में जल संरक्षण के प्रति उन्होने जनमानस को प्रेरित किया। विधायक ने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य जनमानस को गहराते जलसंकट के लिये कमर कसके स्वयं भी जलसंरक्षण की दिशा में प्रेरित करने का है। इस दौरान कलेक्टर विशेष गढ़पाले भी मौजूद थे।
            कार्यक्रम में अपील करते हुये विधायक ने कहा कि हम कब तक मोटर चलाकर जमीन के नीचे से पानी निकालेंगे। पानी तभी निकलेगा, जब जमीन में पानी होगा। इसलिये हम सब मिलकर श्रमदान करें, जल संरक्षण का काम करें। इस दौरान मुड़वारा विधानसभा क्षेत्र में बहने वाली नदियों में छोटे-छोटे स्टॉपडैम की कार्ययोजना बनाने की बात भी विधायक ने कही।
            जल रोको कार्यक्रम में जनपद अध्यक्ष कन्हैया तिवारी ने भी जल संरक्षण के प्रति जागरुकता के साथ जिम्मेदारी निभाने का संदेश उपस्थितजनों को दिया। वहीं जिला पंचायत सदस्य अजय गोंटिया ने भी साथी हाथ बढ़ाना की तर्ज पर भविष्य को सुरक्षित करने के लिये सहयोग व श्रमदान कर जल संरक्षण के कार्य करने का आव्हान किया।
            कार्यक्रम में बोरी बंधान कार्य का भूमि पूजन भी उपस्थित अतिथियों द्वारा किया गया। विधायक, कलेक्टर, जनपद पंचायत अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य सहित उपस्थित सभी जनों ने बोरी बंधान कार्य की शुरुआत जल रोकने के लिये बोरी रखकर की।
         
स्वच्छता ही सेवा अभियान कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ
            इस अभियान के साथ ही शुक्रवार को स्वच्छता ही सेवा अभियान का शुभारंभ जिले में हुआ। शुभारंभ कार्यक्रम द्वारका भवन में आयोजित हुआ। जिसमें विधायक संदीप जायसवाल, जनपद पंचायत अध्यक्ष कन्हैया तिवारी सहित अन्य जनप्रतिनिधि शामिल हुये। कार्यक्रम में उपस्थित नागरिकों को स्वच्छता के प्रति विधायक ने प्रेरित किया। उन्होने कहा कि स्वच्छता के लिये सामूहिक प्रयास करने होंगे। हम व्यक्तिगत तौर पर भी गंदगी करते हैं, कचरा कहीं भी फेंक देते हैं, यह उचित नहीं है। स्वयं का अनुशासन भी जरुरी है। इस दौरान जनपद पंचायत अध्यक्ष ने भी अपनी बात रखी।



दिलाई स्वच्छता ही सेवा की शपथ
स्वच्छता ही सेवा अभियान के शुभारंभ कार्यक्रम में विधायक संदीप जायसवाल ने  द्वारका भवन में उपस्थितजनों को स्वच्छता की शपथ दिलाई। इस दौरान कलेक्टर विशेष गढ़पाले, नगर निगम आयुक्त संजय जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण उपस्थित थे। गौरतलब है कि यह अभियान 2 अक्टूबर तक चलेगा। जिसमें विभिन्न गतिविधियॉं आयोजित होंगी।

Thursday, September 14, 2017

नहर तोड़ने, बंद करने और पानी रोकने वालों से भी सख्ती से निपटने के निर्देश

कटनी / हमारी पहली प्राथमिकता पेयजल है। पानी बेफिजूल बर्बाद हो, हरगिज बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। जल संसाधन विभाग का अमला फील्ड पर मुस्तैद रहे। कोताही पर कार्यवाही होगी। ये निर्देश जल संसाधन विभाग की समीक्षा बैठक में कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने दिये। इस दौरान मुड़वारा विधायक संदीप जायसवाल और बहोरीबंद विधायक कुंवर सौरभ सिंह भी मौजूद थे। दोनों ही विधायकों ने भी संबंधित विभागों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये।
            विधायक संदीप जायसवाल ने शहरी क्षेत्र और कटनी विधानसभा क्षेत्र की पेयजल व कृषि सिंचाई के लिये जल की व्यवस्था पर अपनी बात रखी। उन्होने कहा कि हमारा उद्वेश्य जनहित होना चाहिये। पेयजल समस्या ना आये, इसलिये नगरीय क्षेत्र में नगर निगम अभी से मुस्तैदी से कार्य करे। अमेहटा डैम की हाईट बढ़ाने के लिये ट्रिपल आर के तहत भेजा गया प्रस्ताव रिवाईज करवाकर भिजवाने के निर्देश उन्होने दिये। वहीं डब्ल्यूआरडी को छोटी नदियों में कम हाईट के स्टॉप डैम बनाने के प्रस्ताव तैयार करने की बात कही।
            बैठक में बहोरीबंद विधानसभा क्षेत्र से विधायक कुंवर सौरभ सिंह ने डब्ल्यूआरडी के अधिकारियों को पठार क्षेत्र, जहां कि ग्रीष्म काल में पेजयल समस्या गहराती है, वहां पर मुस्तैदी से कार्य करते हुये कार्ययोजना अभी से बनाने के निर्देश दिये। उन्होने एनव्हीडीए की नहरों का पानी भी इसके उपयोग में लाने की व्यवस्था करने की बात कही।
समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने स्पष्ट तौर पर आदेश देते हुये कहा कि पानी छोड़ने की मांग किसी क्षेत्र से मिलने पर चौबीस घंटे में निराकरण करें। मांग प्राप्त होते ही जल संसाधन और कृषि विभाग का अमला उसका परीक्षण करे और एसडीएम को रिपोर्ट करे। मांग यथोचित् होने की स्थिति से एसडीएम की अनुमति से ही पानी छोड़ा जाये। जिस समय जलाशयों से पानी छोड़ा जाये, उस दौरान जल संसाधन का विभागीय अमला क्षेत्र में मौजूद हो। जोकि काम हो जाने पर पानी बंद करायें।
सख्त लहजे में कलेक्टर ने कहा कि कोई भी अधिकारी मेरे ऑर्डर को ओवररुल्ड नहीं करेगा। जो भी अधिकारी, कर्मचारी इस गंभीर विषय में लापरवाही बरतेंगे, उनके विरुद्व कार्यवाही की जायेगी। उपयंत्री फील्ड पर मौजूद हैं या नहीं, इसकी मॉनीटरिंग लोकसेवक एप से करने की बात भी कलेक्टर ने कही।
नहर तोड़ने, बंद करने और पानी रोकने वालों से भी सख्ती से निपटने के निर्देश 
उन्होने कहा कि एैसे व्यक्तियों के विरुद्व डब्ल्यूआरडी का स्टाफ शासकीय कार्य में बाधा की एफआईआर कराये। यदि एफआईआर लिखाने में कोई समस्या आये, तो सीधे मुझसे मोबाईल पर संपर्क करें। वर्तमान में जिन जलाशयों से पानी छोड़ा जा रहा है, उसका भौतिक सत्यापन करने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये।
कृषि विभाग के अधिकारियों को कम पानी में पैदा होने वाले बीजों को किसानों को मुहैया कराने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि इसके प्रति कृषकों के मध्य जागरुकता लायें कि वे कम पानी में पैदावार देने वाले बीजों का उपयोग करें।
जल उपभोक्ता संस्थाओं द्वारा नहरों के मेन्टिनेन्स की राशि प्रति हेक्टेयर बहुत कम होने की जानकारी भी दी गई। जिस पर विभाग को राशि बढ़ाने संबंधी प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया। मनरेगा के तहत नहरों के संधारण के कुछ कार्य कराने का स्टीमेट डब्ल्यूआरडी को बनाने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। उन्होने कहा कि अपने तकनीकी मार्गदर्शन में ग्राम पंचायतों से यह कार्य करायें।

Wednesday, September 13, 2017

निःशुल्क नवोदय कोचिंग के प्रयास पर पालकों ने कलेक्टर का किया अभिवादन

कटनी / शासकीय विद्यालयों में शिक्षा के स्तर को लेकर नित नये नवाचार किये जा रहे हैं। जिससे शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा मिल सके। वे विद्यालय में उपलब्ध कराई गई सुविधाओं का नियमानुसार लाभ लेकर ज्ञान अर्जित कर सकें। शहरों की तर्ज पर शिक्षा से संबंधित व्यवस्थायें उनके विद्यालय में ही उपलब्ध हों। इसके लियें कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर इसके लिये निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। जिसमें नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा के लिये प्रशासन द्वारा विद्यार्थियों को दी जा रही निःशुल्क कोचिंग की सुविधा है। कलेक्टर के इस नवाचार को लेकर बुधवार को बड़वारा नवोदय विद्यालय परिसर में पालकों के एक समूह ने कलेक्टर से मुलाकात की। जिसने नवोदय प्रवेश परीक्षा के लिये विद्यार्थियों को दी जा रही कोचिंग को लेकर कलेक्टर विशेष गढ़पाले के प्रयास की प्रशंसा की। साथ ही पुष्पगुच्छ देकर कलेक्टर का अभिवादन किया।
            नवोदय विद्यालय की निःशुल्क कोचिंग प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों के पालकों के समूह में बड़वारा निवासी निखिलेश यादव, जगतपुर उमरिया सेे कैलाश प्रसाद कोरी, बड़ेरा सेे शेख शमीम, मनोज बर्मन, त्रिलोक यादव, रुपौंध से सुदामा प्रसाद दाहिया, हरेन्द्र यादव, एशरी यादव और चपहनी से तोरि लाल मौजूद थे। इस दौरान ग्रामीणों ने सेना रैली भर्ती के लिये जनपद स्तर पर कराई जा रही तैयारियों की भी सराहना की। उन्होने कहा कि ग्रामीण बेरोजगार युवाओं के लिये जिला प्रशासन द्वारा किया जा रहा यह प्रयास भी सराहनीय है। जिसकी जितनी प्रशंसा की जाये, कम है। इससे ग्रामीण युवाओं को रोजगार एक अवसर प्राप्त होगा। सेना की रैली भर्ती में अक्सर युवाओं का चयन जानकारी, मार्गदर्शन और ट्रेनिंग की कमी के कारण नहीं हो पाता।
            इस पर कलेक्टर ने इन सभी कार्यों के लिये अपनी टीम का आभार व्यक्त किया। उन्होने कहा कि ये सभी प्रयास हमारी टीम के सहयोग से ही आज सफलता पूर्वक संचालित हैं। जिसके लिये उनके द्वारा निरंतर फील्ड पर कार्य किया जा रहा है। जिसे आज आप सभी चाहे नवोदय परीक्षा के लिये कोचिंग हो या सेना भर्ती रैली, अपने गांव, पंचायत और जनपद स्तर पर देख पा रहे हैं और इनकी प्रशंसा कर रहे हैं।
            इसके बाद कलेक्टर के साथ विद्यार्थियों के पालकों के समूह ने नवोदय विद्यालय परिसर का भ्रमण किया। जहां पर विभिन्न व्यवस्थाओं का जायजा भी कलेक्टर ने लिया। इस दौरान वे विद्यालय परिसर में स्थित किचन में गये। जहां पर भोजन की गुणवत्ता, मात्रा का निरीक्षण किया। यहां पर उन्होने किचिन में स्थित स्टोर रुम को भी देखा। साथ ही किचन में और अधिक साफ-सफाई के निर्देश विद्यालय के अधिकारियों को दिये।
            इस दौरान कलेक्टर ने विद्यार्थियों के परिजनों को मन लगाकर अपने-अपने बच्चों को पढ़ने देने की बात कही। कलेक्टर ने कहा कि हमारा उद्वेश्य विद्यार्थियों को हुनरमंद बनाना है। उनके ज्ञान को बढ़ाना है। आप लोग भी इसमें सार्थक सहभागिता करें और अपने बच्चों से पढ़ाई क्या चल रही, इसकी जानकारी लेते रहें। साथ ही उन्होने परिजनों के समूह से पूछा भी कि, आज आप लोगों ने इस विद्यालय को देखा है, तो आप लोगों का अनुभव कैसा है। आप लोग चाहते हैं या नहीं, कि आपके बच्चे यहां पढ़ें। जिसमें एक स्वर में सभी पालकों ने हामी भरी।

सूचना का अधिकार अधिनियम पर अधिकारियों को दी जानकारी

कटनी / सूचना का अधिकार अधिनियम पर जिला अधिकारियों की कार्यशाला का आयोजन मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में हुआ। जिसमें शिक्षा विभाग के प्रशान्त चन्पुरिया ने पॉवर प्वॉइन्ट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से एक्ट के विषय में विस्तार से जानकारी दी। उन्होने उपस्थित अधिकारियों को अधिनियम में अपील, आवेदन, जानकारी देने सहित सभी बिन्दुओं के विषय में बताया। इस दौरान उपस्थित लोकसेवकों के प्रश्नों के जवाब भी दिये गये। अधिनियम पर 100 से अधिक स्लाईड्स के माध्यम से जानकारी दी गई।
            इस दौरान कार्यशाला में अधिनियम की समस्त धाओं, उप धाराओं के विषय में बताया गया। साथ ही समय-समय पर सूचना आयोग द्वारा जारी अपडेट दिशा-निर्देशों की जानकारी भी दी गई। साथ ही विशेष प्रकरणों में राज्य सूचना और केन्द्र सूचना आयोग द्वारा दिये गये निर्णयों के विषय में भी बताया गया।
            कार्यशाला में एसडीएम राजेन्द्र पटेल, धमेन्द्र मिश्रा, विमलेश सिंह, नितिन टाले और उप संचालक सामाजिक न्याय दीपक सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Tuesday, September 12, 2017

दुगाड़ी नाला पुल का किया निरीक्षण

कटनी /- मंगलवार को प्रातः प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक दुगाड़ी नाला पुल का निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के समय नगर निगम के अधिकारी साथ थे। राज्यमंत्री ने दुगाड़ी नाला पर नये पुल के निर्माण तक प्राथमिकता पर वैकल्पिक मार्ग की व्यवस्था करने की बात कही। उन्होने महापौर एवं आला अधिकारियों को फोन लगाकर मोबाईल पर सतत् फॉलोअप करते हुये पुलिया का निर्माण शीघ्र कराने के निर्देश दिये। अपने विजिट में राज्यमंत्री  ने वैकल्पिक मार्ग की संभावनाओं को भी तलाशा।
            गौरतलब है कि राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक सात पर कलेक्ट्रेट के पास दुगाड़ी नाले पर बनी पुलिया की मिट्टी धसकने की खबर गत दिवस सामने आई थी। सूचना मिलते ही प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया था। पुलिया से मिट्टी धसकने की खबर सही पाए जाने के बाद नगर निगम आयुक्त ने अधिकारियों को सुधार कार्य के निर्देश भी दिए थे। जिसके बाद आज सुबह खुद मौके पर पहुंचकर राज्यमंत्री  ने भी इसका निरीक्षण किया। साथ ही महापौर शशांक श्रीवास्तव से बात की। वहीं पुलिया में जल्द से जल्द सुधार के आवश्यक निर्देश अधिकारियों को दिये।

Monday, September 11, 2017

नागरिकों के साथ राज्यमंत्री पाठक ने सुना “दिल से” कार्यक्रम

कटनी / मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने युवाओं से आतंकवाद, भ्रष्टाचार, गरीबी, गंदगी, सम्प्रदायवाद और जातिवाद मुक्त भारत के निर्माण का संकल्प लेने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि ऐसे भारत के निर्माण में ही जीवन की सार्थकता है। केवल सफल नहीं सार्थक जीवन जरूरी है। वे रविवार को आकाशवाणी और दूरदर्शन पर “दिल से” कार्यक्रम में युवाओं से संवाद कर रहे थे। कार्यक्रम की श्रंखला की दूसरी कड़ी था। जिले में भी युवाओं ने अलग-अलग स्थानों में इस कार्यक्रम का प्रसारण रेडियो व टेलीविजन के माध्यम से सुना।
विजयराघवगढ़ में प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री  संजय सत्येन्द्र पाठक ने क्षेत्रीय नागरिकों के साथ मुख्यमंत्री की बातें सुनीं। जिसमें कार्यक्रम के उपरांत राज्यमंत्री  ने कहा कि मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान की युवाओं को प्रेरणा देने वाली सोच को हम नमन करते हैं। उनकी युवा हमेंशा से युवा देश व समाज के जीवन मूल्यों के प्रतीक हैं। उनकी ऑंखों में भविष्य की इन्द्रधनुषी सपने होते हैं। साथ ही समाज को बेहतर बनाने और राष्ट्र के निर्माण में युवाओं का योगदान सबसे महत्वपूर्ण है।
इसके पूर्व राज्यमंत्री ने विजयराघवगढ़ विधानसभा के प्रवास के दौरान ग्राम बरमानी में सड़क निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया। साथ ही गुणवत्तापूर्ण निर्माण के निर्देश वर्किंग एजेन्सी के अधिकारियों को दिये।
इसके साथ ही जिले में ग्रामीण क्षेत्रों सहित नगरीय क्षेत्रों में भी मुख्यमंत्री का संबोधन सुना गया। नगर निगम परिसर में भी इसकी विशेष व्यवस्था की गई थी। ग्रामीण क्षेत्रों में चौपाल लगाकर ग्रामीण नागरिकों ने मुख्यमंत्री का दिल से कार्यक्रम सुना।

Saturday, September 09, 2017

1232 पक्षकारों ने लोक अदालत में आपस में किया समझौता

कटनी / जिला एवं सत्र न्यायधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनिल मोहनिया के मार्ग दर्शन   में जिला न्यायालय एवं तहसील न्यायालयों में शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। इसके तहत प्रातः 10.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक नेशनल लोक अदालत आयोजित हुई। नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ जिला न्यायधीश सतर्कता  राजेश कुमार गुप्ता एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनिल मोहनिया द्वारा मॉं सरस्वती के चित्रपट पर दीप प्रज्जवल एवं माल्यार्पण कर किया गया। इस अवसर पर जिला न्यायाधीश सतर्कता क्षेत्र जबलपुर हाई कोर्ट राजेश गुप्ता, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कटनी  भूपेन्द्र नकबाल, जिला विधिक सहायता अधिकारी प्रियंका सुमन सहित अन्य न्यायधीशगण, न्यायालय के कर्मचारीगण, खण्डपीठ के सदस्यगण उपस्थित थे। इसके पश्चात सभी न्यायाधीश द्वारा अपनी-अपनी पीठ में पहुंचकर लोक अदालत की कार्रवाई प्रारंभ की।
यह प्रकरण रखे गये
            नेशनल लोक अदालत में न्यायालयों में आपराधिक, सिविल, विद्युत अधिनियम, श्रम, मोटर दुघर्टना दावा, प्री-लिटिगेशन प्रकरण, निगोशियेबल इन्टू्रमेन्ट के अंतर्गत चैक बाउंस प्रकरण, पारिवारिक विवादों के प्रकरण, ग्राम न्यायालय तथा अन्य समस्त प्रकार के समझौता योग्य प्रकरण रखे गये।
            जिला विधिक सहायता अधिकारी ने जानकारी में बताया कि शनिवार को आयोजित लोक अदालत में गठित 21 खण्डपीठों के द्वारा प्री-लिटिगेशन के लगभग 193 प्रकरण एवं न्यायालय के लंबित 480 प्रकरणों का निराकरण किया गया। इस दौरान


1232 पक्षकार इस लोक अदालत में लाभांवित हुये। इसके साथ ही नगर निगम के प्रकरणों में संपत्तिकर, जल कर एवं विद्युत प्रकरणों में शासन द्वारा 2 करोड़ 29 लाख से अधिक की राशि अवार्डेड की गई। वहीं परिवार परामर्श केन्द्र के 15 प्रकरणों में समझौता लोक अदालत के दौरान कराया गया।

आर्मी भर्ती रैली के लिये युवाओं को दिया जा रहा प्रशिक्षण

कटनी में 9 नवंबर से लेकर 18 नवंबर तक आर्मी भर्ती रैली का आयोजन होने जा रहा है।  इस दौरान आर्मी भर्ती रैली में जिले के युवाओं का अधिक से अधिक चयन हो सके, इस लिये इच्छुक युवाओं को प्रशिक्षण देने की एक  पहल का निर्णय कलेक्टर विशेष गढ़पाले द्वारा लिया गया था। उन्होने जिला खेल अधिकारी को जिले के सभी विकासखण्डों में ट्रेनिंग सेंटर स्थापित कर आर्मी चयन प्रक्रिया के लिये निर्धारित मापदण्डों का प्रशिक्षण कराने के निर्देश दिये थे। जिसके मद्वेनजर जिला खेल विभाग द्वारा जनपद बड़वारा, ढीमरखेड़ा, विजयराघवगढ़, रीठी, कटनी और बहोरीबंद में ट्रेनिंग सेंटर स्थापित किया गया है। इन सेंटर्स पर युवाओं को प्रशिक्षण देने का कार्य प्रारंभ हो चुका है। जिसके तहत सुबह 7 बजे से 9 बजे तक और शाम को 5 बजे से 7 बजे तक युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिसमें विशेषज्ञों द्वारा युवाओं को प्रशिक्षण देने का कार्य किया जा रहा है।
            बड़वारा में उत्कृष्ट विद्यालय में ट्रेनिंग सेंटर में ब्लॉक के हायर सेकेंडरी स्कूल पिपरिया कला में स्कूल के पीटीआई प्रमोद डहरिया और उत्कृष्ट स्कूल बड़वारा के पीटीआई जुगल किशोर चौरसिया द्वारा युवाओं का आर्मी भर्ती से संबंधित आवश्यक प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ढीमरखेड़ा में अंधेरीबाग स्टेडियम के ट्रेनिंग सेंटर पचपेढ़ी स्कूल के हेमंत सेवाल और बीओ ऑफिस ढीमरखेड़ा के आशीष चौरसिया इस क्षेत्र के युवाओं को प्रशिक्षण दे रहे हैं।
विजयराघवगढ़ में ट्रेनिंग सेंटर उत्कृष्ट स्कूल विजयराघवगढ़ में बनाया गया है। जिसमें विजयराघवगढ़ कॉलेज के पीटीआई राजेन्द्र कुमार चौधरी और मॉडल स्कूल के माजिद खान से द्वारा ब्लॉक के इच्छुक युवा को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। रीठी जनपद में ट्रेनिंग सेंटर उत्कृष्ट स्कूल के पीटीआई संतोष पटेल और इंटरनेशनल प्लेयर कैना ग्राम के रोहणी दादा आर्मी भर्ती से संबंधित आवश्यक प्रशिक्षण युवाओं को दे रहे हैं।
कटनी में ट्रेनिंग सेंटर एसीसी खेल मैदान में डीपीएस स्कूल के पीटीआई अशोक राव और बार्डस्ले स्कूल के पीटीआई जगदीश गुप्ता द्वारा प्रशिक्षण प्रारंभ कर दिया गया है। बहोरीबंद में ट्रेनिंग सेंटर जुगिया खेल मैदान में बचिया स्कूल के पीटीआई योगेश पाण्डेय और माध्यमिक शाला छपरा के त्रिलोक डहरिया द्वारा युवाओं को प्रशिक्षण देने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।
इन सभी ट्रेनिंग  सेंटर्स पर युवाओं का खासा उत्साह दिखाई दे रहा है। जिसमें वे बढ़चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। जिले में बेरोजगार युवकों के लिये एक सुनहरा अवसर इस पहल के रुप में जिला प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। जिसमें खास तौर पर शहरी युवाओं सहित ग्रामीण बेरोजगार युवाओं को आर्मी भर्ती से संबंधित निर्धारित मापदण्डों के अनुसार प्रशिक्षण मिल रहा है।

Sunday, September 03, 2017

मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना के पॉंच वर्ष पूरे, जिले से 12178 तीर्थ यात्रियों ने किये दर्शन

कटनी / मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना के पॉंच वर्ष पूरे होने पर  सम्मेलन आयोजित किया गया । जिसमें पहुंचे तीर्थ यात्रियों ने खुलकर अपने अनुभव रखे। साथ ही मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना की प्रशंसा भी की। इस अवसर पर विधायक संदीप जायसवाल, महापौर शशांक श्रीवास्तव और जनपद पंचायत अध्यक्ष शैलेष कन्हैया लाल तिवारी ने पुष्प माला से तीर्थ यात्रियों का स्वागत अभिनंदन किया।
        यह योजना 3 सितंबर 2012 को प्रारंभ हुई थी। जिले से पहली यात्रा 29 सितंबर 2012 को वैष्णों देवी के रवाना हुई थी। अब तक कुल 55 यात्राओं में जिले के तीर्थ यात्री जा चुके हैं। इस योजना का लाभ अब तक 12 हजार 178 तीर्थ यात्रियों ने लिया है। जिन्होने योजना के तहत चिन्हित तीर्थ स्थानों में पहुंचकर देव-दर्शन किये हैं।
            सम्मेलन में सुखनंदी प्रसाद, विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, श्यामलाल त्रिपाठी, बैशाली यादव, प्रहलाद कुशवाहा, घसीटा राम चौधरी, चिरौंजी लाल विश्वकर्मा और बाला प्रसाद ने तीर्थ यात्रा के दौरान के अपने अनुभव बताये। कार्यक्रम का शुभारंभ उपस्थित अतिथियों ने मॉं सरस्वती के चित्रपट पर पुष्प अर्पित करते हुये दीप प्रज्वलित करते हुये किया। जिसके बाद विधायक  ने तीर्थ यात्रियों के नाम मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन भी किया।
            अपनी बात रखते हुये विधायक  ने कहा कि मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना राजनैतिक एवं प्रशासनिक दृष्टि के इतिहास में परोपकारी और भावनाओं से जुड़ने वाली सबसे महत्वपूर्ण योजना है। मुख्यमंत्री  इसके लिये बधाई के पात्र हैं। मैने इतनी तीर्थ यात्रायें नहीं की हैं। लेकिन आज यहां उपस्थित तीर्थ यात्रियों का आर्शीवाद प्राप्त करके मुझे भी इसका पुण्य मिला है। वहीं महापौर  शशांक श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना को संवेदनशील योजना बताया। उन्होने कहा कि यह योजना अतुल्य है। राज्य सरकार सबका कल्याण करने वाली है और सबसे महत्पवूर्ण बात यह है कि यात्रा के दौरान आप लोगों को भी किसी तरह की तकलीफ नहीं हुई, यह बहुत अच्छी बात है।
            सम्मेलन में जनपद पंचायत सदस्य, स्थानीय पार्षद सहित पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, सीईओ जिला पंचायत  फ्रेंक नोबल ए, निगमायुक्त  संजय जैन और एसडीएम  राजेन्द्र पटेल सहित अन्य अधिकारी व जनप्रतिनिधिगण भी मौजूद थे।

Friday, September 01, 2017

9 से 18 नवंबर तक जिले में आर्मी भर्ती रैली का होगा आयोजन

कटनी में 9 नवंबर से लेकर 18 नवंबर तक आर्मी भर्ती रैली का आयोजन होने जा रहा है। जिसमें प्रतिदिन चार हजार युवा शामिल होंगे। जिसकी तैयारियों की रुपरेखा कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने बैठक लेकर बनाई। इस दौरान उन्होने इस आर्मी भर्ती रैली में जिले के युवाओं का अधिक से अधिक चयन हो सके, इस लिये 5 सितंबर से ही इच्छुक युवाओं को प्रशिक्षण देने की पहल का निर्णय भी लिया। उन्होने जिला खेल अधिकारी को जिले के सभी विकासखण्डों में ट्रेनिंग सेंटर स्थापित कर आर्मी चयन प्रक्रिया के लिये निर्धारित मापदण्डों का प्रशिक्षण कराने के निर्देश दिये। जिसके मद्देनजर  जिला खेल विभाग द्वारा जनपद बड़वारा, ढीमरखेड़ा, विजयराघवगढ़, रीठी, कटनी और बहोरीबंद में ट्रेनिंग सेंटर स्थापित किया गया है। जहां पर 5 सितंबर से इच्छुक युवाओं को प्रशिक्षण दिया जायेगा।
            बड़वारा में उत्कृष्ट विद्यालय में ट्रेनिंग सेंटर बनाया गया है। जिसमें प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिये ब्लॉक के युवा हायर सेकेंडरी स्कूल पिपरिया कला में स्कूल के पीटीआई प्रमोद डहरिया से 8517847706 पर संपर्क कर सकते हैं। साथ ही उत्कृष्ट स्कूल बड़वारा के पीटीआई जुगल किशोर चौरसिया से भी 9425158890 पर संपर्क कर प्रशिक्षण में प्रवेश लिया जा सकता है।
ढीमरखेड़ा में अंधेरीबाग स्टेडियम में ट्रेनिंग सेंटर बनाया गया है। जिसमें प्रवेश के लिये ब्लॉक के युवा पचपेढ़ी स्कूल के हेमंत सेवाल से 7047352975 और बीओ ऑफिस ढीमरखेड़ा के आशीष चौरसिया से 9755927018 पर संपर्क कर प्रवेश ले सकते हैं।
विजयराघवगढ़ में ट्रेनिंग सेंटर उत्कृष्ट स्कूल विजयराघवगढ़ में बनाया गया है। जिसमें प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिये विजयराघवगढ़ कॉलेज के पीटीआई राजेन्द्र कुमार चौधरी से 9179859056 और मॉडल स्कूल के माजिद खान से 9755458982 पर ब्लॉक के इच्छुक युवा संपर्क कर सकते हैं।
रीठी जनपद में ट्रेनिंग सेंटर पुरानी जनपद पंचायत कार्यालय रीठी को बनाया गया है। जिसमें प्रशिक्षण लेने के लिये उत्कृष्ट स्कूल के पीटीआई संतोष पटेल से 9424755067 और इंटरनेशनल प्लेयर कैना ग्राम के रोहणी दादा से 9617130152 पर संपर्क किया जा सकता है।
कटनी में ट्रेनिंग सेंटर एसीसी खेल मैदान बनाया गया है। जहां पर प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिये डीपीएस स्कूल के पीटीआई अशोक राव से 7024799652 और बार्डस्ले स्कूल के पीटीआई जगदीश गुप्ता से 9827271798 पर संपर्क किया जा सकता है।
बहोरीबंद में ट्रेनिंग सेंटर जुगिया खेल मैदान बनाया गया है। यहां प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिये बचिया स्कूल के पीटीआई योगेश पाण्डेय से 8349095707 और माध्यमिक शाला छपरा के त्रिलोक डहरिया से 9981002929 पर संपर्क किया जा सकता है।

Thursday, August 31, 2017

फसलों की सिंचाई की तैयारियों की समीक्षा, स्टॉपडैमों में जल की स्थिति पर प्रभारी मंत्री के निर्देश

कटनी / जिला योजना समिति की बैठक प्रदेश के वित्त एवं वाणिज्य कर मंत्री व प्रभारी मंत्री जयंत मलैया की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।  बैठक में अल्पवर्षा के कारण खेतों में फसलों की सिंचाई की तैयारियों की समीक्षा की गई। वहीं बांधों व स्टॉपडैमों में जल संचयन की स्थिति और आगामी माहों की तैयारियों पर भी प्रभारी मंत्री ने डब्ल्यूआरडी के अधिकारियों को निर्देश दिये। पीएचई विभाग और विद्युत विभाग की समीक्षा भी जिला योजना समिति की बैठक में हुई। इस दौरान प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक भी मौजूद रहे।
दुर्जनपुर का नाम शिवधाम करने पर समिति की मंजूरी
खिरहनी ओव्हरब्रिज होगा अटल बिहारी बाजपेयी ओव्हरब्रिज
             प्रभारी मंत्री सहित उपस्थित समिति सदस्यों ने जनपद पंचायत विजयराघगढ़ के ग्राम दुर्जनपुर का नाम परिवर्तित कर शिवधाम करने के प्रस्ताव पर सहमति दी।  महापौर  शशांक श्रीवास्तव द्वारा पूर्व शिक्षा मंत्री अलका जैन के पत्र के आधार पर खिरहनी ओव्हरब्रिज का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ओव्हरब्रिज करने का प्रस्ताव रखा गया। जिसे जियोस ने मंजूरी दी। वहीं मुड़वारा विधायक संदीप जायसवाल द्वारा गनियारी-गिलौंची मार्ग पर बने पुल का नाम स्वर्गीय प्रभात पाण्डेय सेतु करने के प्रस्ताव को भी समिति द्वारा सहमति दी गई।
बाकल-रीठी क्षेत्र के लिये केनाल आधारित योजना का प्रस्ताव करें तैयार
            जिला योजना समिति की बैठक में गर्मी के मौसम में गहराने वाले पेयजल संकट की समीक्षा भी हुई। इस दौरान राज्यमंत्री  ने पीएचई के अधिकारियों से जिले में सबसे अधिक प्रभावित होने वाले क्षेत्र के विषय में पूछा। जिस पर अधिकारियों द्वारा बाकल-रीठी क्षेत्र की जानकारी दी गई। इस पर उन्होने पेयजल की समस्या के स्थाई समाधान के लिये केनाल आधारित योजना बनाने के निर्देश दिये। राज्यमंत्री ने कहा कि इसका प्रस्ताव तैयार करायें और प्रभारी मंत्री  को भी भेजें।
पेयजल और विद्युत समस्या पर करें विकासखण्ड स्तरीय बैठकें
            जियोस की बैठक में विधायक संदीप जायसवाल के सुझाव पर पेयजल समस्या के निदान के लिये कार्ययोजना बनाने के उद्देश्य से विकासखण्ड स्तरीय बैठक आयोजित करने के निर्देश प्रभारी मंत्री  ने दिये। उन्होने कलेक्टर को कहा कि बैठक में पीएचई के साथ ही जल संसाधन, कृषि और विद्युत विभाग के अधिकारियों को भी बुलायें। बैठक में जिलास्तरीय अधिकारी शामिल हों। साथ ही विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य सहित संबंधित जनप्रतिनिधि शामिल हों और अपने विकासखण्ड की कार्ययोजना तैयार करें।
नलजल योजनाओं का लिया जायजा
          सिलौंड़ी में जल समस्या से स्थानीय विधायक  मोती कश्यप ने अवगत कराया। साथ ही उन्होने अन्य नलजल योजनाओं को दुरुस्त कराने की भी बात कही। उन्होने कहा कि यदि किसी विशेष स्थान पर पानी की समस्या है, तो उसका निदान कराया जाये। जिस पर स्थान विशेष पर समस्या होने पर जहां नलजल योजना ना हो, वहां बोर कराने के निर्देश प्रभारी मंत्री ने दिये।
          नलजल योजनाओं के संधारण के लिये जिन ग्राम पंचायतों को दो-दो लाख रुपये दिये गये हैं, उनके कार्य पीएचई से कराने के निर्देश भी प्रभारी मंत्री  ने दिये। उन्होने कहा कि ग्राम पंचायतें तकनीकी दृष्टि में संबल नहीं हैं। नलजल योजनाओं का कार्य तकनीकी विभाग ही कर सकता है। इसलिये पीएचई से कार्य करायें,
विधायक महोदय से समय लेकर विजिट करें, डीएम को सौंपे रिपोर्ट, मुझे करें मेल
            नलजल योजनाओं की समीक्षा के दौरान बहोरीबंद विधायक  सौरभ सिंह ने बरतरा-बरतरी के नलजल योजना को लेकर पीएचई विभाग के अधिकारियों को क्रॉस किया। इस पर प्रभारी मंत्री  ने ईई पीएचई को विधायक महोदय से समय लेकर निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि निरीक्षण रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपें और मुझे उसकी कॉपी मेल करें।
कलेक्टर के संज्ञान में ही लाकर छोड़ें नहरों में पानी
            बैठक में ईई डब्ल्यूआरडी को प्रभारी मंत्री  ने अत्यंत आवश्यकता होने पर ही नहरों में पानी छोड़ने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि नहरों में पानी कलेक्टर के संज्ञान में लाकर ही छोडें। जहां आवश्यक हो, वहां जल संस्था और कृषकों की बैठक लें। स्वयं जाने के साथ ही अपने विभागीय अमले को भेजकर भौतिक सत्यापन करायें। क्योंकि खरीफ की फसल के समय भी किसानों को पानी की नितान्त आवश्यकता होगी और डैम का पानी यदि उस समय नहीं रहा, तो निस्तार के पानी तक की समस्या होगी। वहीं राज्यमंत्री  ने भी डैम और बांधों में जलस्तर मेन्टेन रखने की बात कही। उन्होने कहा कि क्योंकि कुएं और हेंडपंप भू-जलस्तर से ही रीचार्ज होते हैं। इसलिये इसका विशेष ध्यान रखें।
ट्रान्सफारमर्स के लोड का करें परीक्षण
            बैठक में विद्युत विभाग के अधिकारियों को प्रभारी मंत्री ने ट्रान्सफार्मर की क्षमता का परीक्षण कराने के निर्देश दिये। उन्होने आदेश देते हुये कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जितना लोड हो, उससे कम क्षमता का ट्रान्सफार्मर ना हो। जहां भार के कारण ट्रान्सफार्मर फेल हुये हैं, उसकी क्षमता बढ़ाकर उसे रिप्लेस करें। किसानों को सिंचाई के लिये दस घंटे बिजली विद्युत विभाग मुहैया कराये। साथ ही एमपीईबी के अधिकारी भी अपने रवैये में सुधार लायें और मोबाईल पर कॉल रिसीव करें और रिस्पॉन्स भी दें।
बैठक में ये भी रहे मौजूद
बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  अशोक विश्वकर्मा, समिति सदस्य  पीताम्बर टोपनानी,  अजय गौंटिया,  उदयचन्द दाहिया,  निधि तिवारी,  प्रगति राय,  पूजा देवी सिंह,  माया पटैल,  संतरा बाई, धीरेन्द्र बहादुर सिंह,  अनिल खरे,  सर्जना कन्देले और खजुराहो सांसद प्रतिनिधि के रुप में पूर्व विधायक  सुनील मिश्रा, कलेक्टर  विशेष गढ़पाले और पुलिस अधीक्षक  अतुल सिंह उपस्थित थे।
यह भी दिये निर्देश
·         बैठक में सीएमएचओ को प्रभारी मंत्री ने स्वाईफ्लू, डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों से बचाव के लिये अलर्ट रहने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि अस्पताल दवाईयॉं उपलब्ध हों।
·         कमिश्नर नगर निगम को भी तेजी से शहर की साफ-सफाई  का कार्य कराने के लिये भी उन्होने निर्देशित किया। ताकि गंदगी के कारण बीमारियॉं ना फैलें।
·         शहर के बाहर गौशालाओं और सुअर पालकों के लिये महापौर के प्रस्ताव पर भूमि चिन्हित करने के लिये भी प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर को निर्देशित किया।
·         एसई को मेन्टिनेन्स गाड़ी और जेई के मोबाईल नंबर प्रकाशित कराने और कॉल रिसपॉन्स ना करने वाले विद्युत विभाग के अधिकारियों पर कार्यवाही करने के निर्देश विधायक संदीप जायसवाल के मुद्दे


पर प्रभारी मंत्री ने दिये। साथ ही उन्होने विस्थापित बस्ती में विद्युत व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये।
·         गांवों में झूलती हुई बिजली की तारों से हो रही विद्युत घटनाओं पर भी चर्चा बैठक में हुई। जिन्हें दुरुस्त कराने के निर्देश विद्युत विभाग के अधिकारियों को प्रभारी मंत्री  और राज्यमंत्री ने दिये।

Wednesday, August 30, 2017

एहसान थोड़ी ना कर रहे हो, शासन तन्ख्वाह देता है काम करो - कलेक्टर

कटनी / ढीमरखेड़ा जनपद के दूरस्थ ग्राम सर्रा और कटरिया पहुंचकर अविवादित बंटवारा के लिये लगाये जा रहे शिविरों का जायजा बुधवार को कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने लिया। इस दौरान उन्होने खसरा बी-1 का वितरण ग्रामीणों का निशुल्क किया जा रहा है या नहीं। इस काम की भी नब्ज टटोली। अपने दौरे में कलेक्टर सबसे पहले सर्रा पहुंचे। जहां उन्होने पटवारी द्वारा किये जा रहे खसरा वितरण और बी-1 वाचन के कार्य का जायजा लिया। जिस पर उचित स्थान ना चुनने, फौत वाली सूची लेकर ना बैठने पर संबंधित पटवारी पर जमकर बिफरे।
दो-टूक लहजे में कलेक्टर ने कहा कि काम नाम मात्र का थोड़ा ना करना है। एहसान नहीं कर रहे हो। शासन आपको तन्खा देता है। इसलिये काम भी जिम्मेदारी के साथ करो। कोताही पर कलेक्टर ने पटवारी सुरेन्द्र सिंह ठाकुर को एक दिन का अवैतनिक करने के आदेश भी दिये। उन्होने कहा कि इसकी एन्ट्री पटवारी की सर्विस बुक में भी करें। मैं इस अभियान में किसी भी तरह की कोताही नहीं बर्दाश्त करुॅगा। कोटवार काम नहीं करते, तो हटायें। अयोग्य व्यक्ति को बर्दाश्त करने की जरुरत नहीं है।
            एसडीएम को अनुपस्थित कोटवारों की बैठक लेकर विशेष शिविरों में किये जाने वाले कार्यों की जानकारी देने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिये। उन्होने ग्राम सर्रा के कोटवार को भी आज का अवैतनिक करने की बात कही।
            इसके बाद कटरिया पहुंचकर आयोजित चौपाल में शामिल हुये। जहां पर उन्होने पटवारी से फौती और अविवादित बटवारे के लिये आये आवेदनों के विषय में जानकारी ली। उन्होने कोटवारों से मुनादी कराने के निर्देश दिये। वहीं ग्रामीणों को भी इन विशेष शिविरों का अधिक से अधिक लाभ उठाने के लिये भी प्रेरित किया। कलेक्टर ने कहा कि जमीन संबंधी अपनी समस्याओं का निदान इन विशेष शिविरों में करा लें। पटवारी भी निर्धारित तिथि तक प्राप्त आवेदनों का निराकरण कर दें। इस दौरान एसडीएम नितिन टाले भी मौजूद रहे

लखापतेरी में 14.96 लाख से बनेगा पंचायत भवन

कटनी / लखापतेरी के जनप्रतिनिधियों एवं जनता की बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा करते हुए स्थानीय विधायक संदीप  प्रसाद जायसवाल ने  प्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान  के माध्यम से एक पंचायत भवन की सौगात क्षेत्र को दी .  इस पंचायत भवन के निर्माण कार्य का भूमिपूजन क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिकों द्वारा किया गया.
 मुडवारा विधायक संदीप जायसवाल के मुख्‍य अति‍थ्‍य में एवं श्रीमति अर्चना सत्‍येन्‍द्र जायसवाल जनपद उपाध्‍यक्ष  की अध्‍यक्षता में ग्राम पंचायत लखापतेरी में 14.96 लाख से निर्मित होने वाले पंचायत भवन के निर्माण कार्य का ग्राम के ही मुरली तिवारी, सीताराम दुबे एवं मिरखू कुशवाहा के द्वारा भूमिपूजन किया गया,
इस अवसर पर  विधायक ने  अपने उद्बोधन में कहा  कि मध्य प्रदेश सरकार जनता के हित में हर संभव प्रयास करते हुए विकास कार्य करा रही है और आगे भी इसी तरह विकास कार्य कराए जाएंगे
कार्यक्रम में विधायक संदीप जायसवाल सहित श्रीमति अर्चना सत्‍येन्‍द्र जायसवाल जनपद उपाध्‍यक्ष कटनी, विशिष्‍ट अतिथि में रम्‍मू साहू भाजपा ग्रामीण मंडल अध्‍यक्ष, कौशल दुबे, भाजपा ग्रामीण मंडल उपाध्‍यक्ष, पूर्व जनपद अध्‍यक्ष श्रीमति मीना कश्‍यप, चांदनी अभिषेक कश्‍यप सरपंच लखापतेरी, युवा सजग जनकल्‍याण सेवा समिति लखापतेरी, इकाई अध्‍यक्ष मुरली तिवारी, सीताराम दुबे, मिरखू कुशवाहा एवं अन्‍य ग्रामीण नागरिकों की उपस्थिति रही.

Tuesday, August 29, 2017

पुलिस पर महिला के लगाये गये आरोप की जांच करायेगा राज्य महिला आयोग

कटनी / राज्य महिला आयोग की सदस्य व राज्यमंत्री दर्जा  प्राप्त श्रीमती अंजू सिंह बघेल एवं श्रीमती सूर्या चौहान ने  मंगलवार को सर्किट हाउस में संयुक्त बैंच लगाकर प्रकरणों की सुनवाई की,  इस संयुक्त बैंच में 31 प्रकरण सुनवाई हेतु सूचीबद्ध थे, जिनमें से 27 प्रकरणों में आवेदक उपस्थित हुये एवं 14 प्रकरणों का पूर्ण निराकरण किया गया। इन प्रकरणों में पारिवारिक विवाद, घरेलू हिंसा एवं महिला शोषण के प्रकरण शामिल थे।
            जिनमें एक महिला द्वारा स्मैक पकड़ने गई पुलिस टीम पर घर में घुसकर कीमती सामान सोने की अंगूठी आदि लूट कर ले जाने का आरोप लगाया गया था। जिसे जांच के लिये बेंच द्वारा भेजा गया। वहीं कुछ अन्य प्रकरणों में भी वरिष्ठ अधिकारियों को जांच कराने के लिये संयुक्त बेंच ने निर्देशित किया।
आंखो से दिव्यांग महिला को अपनी प्रॉपट्री में हिस्सा देने का लालच देकर एक एलआईसी एजेंट द्वारा लगातार 06 माह तक देहिक शोषण करने का मामला भी सुना गया। संयुक्त बैंच के समक्ष चार प्रकरण घरेलू हिंसा के थे जिसमें पति एवं ससुराल पक्ष द्वारा पत्नि से मारपीट कर दहेज के लिये प्रताडि़त किया जा रहा था।
            संयुक्त बैंच के समक्ष सुनवाई के दौरान प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी इन्द्रभूषण तिवारी एवं जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी वंशश्री कुर्वैती सहित वादी प्रतिवादी के परिजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।


ईको टूरिज्म प्वॉइंन्ट के रुप में खुसरा और बसुधा होंगे डेव्हलप

कटनी / पर्यटन क्षेत्र में विकास की संभावनाओं को लेकर पर्यटन विकास समिति की बैठक कलेक्टर विशेष गढ़पाले की अध्यक्षता में आयोजित हुई।  बैठक में ईको टूरिज्म प्वॉइंन्ट के रुप में खुसरा और बसुधा को डेव्हलप करने का निर्णय लिया गया। कलेक्टर ने ईई आरईएस को खुसरा और बसुधा में किये जाने वाले कायों का प्राक्कलन तैयार करने के साथ ही इनका वर्क ऑर्डर कराने के निर्देश दिये।
            उन्होने खुसरा में साईट का निर्माण, वीव प्वॉइन्ट, बैंच की व्यवस्था, साईन बोर्ड, रेलिंग लगवाने व नीचे वॉटर स्ट्रक्चर डेव्हलप कराने के निर्देश दिये। वन विभाग के अधिकारियों को शहर में ही स्थित चितरंजन पार्क को नागरिकों के लिये प्रारंभ कराने की बात कही। उन्होने कहा कि विभाग इसके लिये शीघ्र ही कार्यवाही करे।
            समिति सदस्य पद्मेश  गौतम द्वारा देश के केन्द्र बिन्दु करौंदी को विकसित करने को लेकर बात रखी गई। जिस पर ईई आरईएस द्वारा अब तक करौंदी को विकसित करने के लिये बनाई गई कार्ययोजना की जानकारी कलेक्टर ने ली। उन्होने कहा कि करौंदी में जो भी विकास कार्य हों, वो प्रॉपर कार्ययोजना के तहत कराये जायें। वहीं महर्षि विश्वविद्यालय द्वारा दी जाने वाली जमीन के विषय पर भी चर्चा की गई।
            पर्यटन विकास समिति की बैठक में जिले के पुरातात्विक और धार्मिक महत्व के एैसे स्थान, जिन्हें पर्यटन के लिहाज से प्रमोट किया जा सकता है। उनका ब्रॉशर तैयार कराने का निर्णय भी बैठक में लिया गया। इस दौरान संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे।

Monday, August 28, 2017

ग्रामीणों को 3 दिवसीय राजस्व शिविर से हुआ फायदा

कटनी / जिले में राजस्व से जुड़ी सेवाओं का लाभ ग्रामीणों को सरल, सहज, सुगम एवं सस्ते रुप में मिले, इस उद्वेश्य से 3 दिवसीय राजस्व शिविरों का आयोजन किया गया। कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर जिले की तहसीलों के अलग-अलग गांवों में आयोजित किये गये राजस्व शिविरों के कारगर परिणाम भी प्राप्त हुये हैं। 23 अगस्त से 25 अगस्त तक आयोजित राजस्व शिविरों में जहां स्पॉट पर ही 1636 आवेदकों का अविवादित नामन्तरण, बटवारा और फौती नामान्तरण राजस्व के अमले द्वारा कराया गया। वहीं 8833 हितग्राहियों को निःशुल्क खसरा बी-1 बी प्रतियॉं वितरित की गईं। साथ ही नक्शा तरमीम के 598 प्रकरणों का निराकरण भी शिविरों के दौरान किया गया। 100 खातेदारों की सम्पत्ति भी खसरे में इन्द्राज की गई। शिविरों में 553 ग्रामीण हितग्राहियों को निःशुल्क भू-अधिकार पुस्तिका का वितरण भी कराया गया।
            इसी तरह कटनी तहसील में पडुआ और पहरुआ, रीठी तहसील में गुरजी कला, ढीमरखेड़ा में गुड़ा और मढ़ाना, बड़वारा तहसील में नन्हवारा कला, विजयराघवगढ़ तहसील में खरखरी, बरही तहसील में पिपरिया कलां, बहोरीबंद तहसील में नीमखेड़ा, टिकरिया और कुम्हरवारा में आयोजित राजस्व शिविरों में 24 हितग्राहियों के आवेदन अनुसार आय, मूल निवास एवं जाति प्रमाण पत्र तैयार कर शिविर में ही वितरित किये गये। 335 प्रकरणों में सीएमएचओ एवं जन्म मृत्यु से प्राप्त फौती नामान्तरण पंजीकृत कर प्रकरणों का निराकरण किया गया।
            36 न्यायालय आदेशों का राजस्व अभिलेखों में इन्द्राज किया गया। समस्त पटवारी हल्का अंतर्गत प्रत्येक गांव में खतौनी का वाचन शिविर के पूर्व कर 298 प्रकरणों का निराकरण किया गया। राजस्व शिविरों में 7 कब्जा संबंधी प्रकरणों का भी निराकरण किया गया। सीमान्कन के 7 प्रकरण भी शिविर में निराकृत हुये। 32 शासकीय परिसम्पत्तियों को भी खसरे में इन्द्राज किया गया।
            66 कम्प्यूटर में दर्ज प्रकरणों की प्रविष्टियों का सत्यापन भी तहसीलों में आयोजित राजस्व शिविरों में किया गया। साधिकार अभियान के तहत 161 बीपीएल संबंधी आवेदनों का निराकरण भी राजस्व शिविरों में हुआ और 16 बैंकों में बंधक सम्पत्ति को खसरे में इन्द्राज किया गया। 96 कृषकों के कम्प्यूटरीकृत खातों में आधार नंबर दर्ज कराया गया।
            इसके साथ ही राजस्व शिविरों में मोबाईल एप के माध्यम से 161 गिरदावरी की गई। राजस्व अधिकारियों द्वारा 293 प्रकरणों का सत्यापन किया गया। भू-अर्जन के 54 प्रकरणों में मुआवजा का वितरण भी किया गया। वहीं 124 अन्य आवेदनों का भी निराकरण किया गया।

सरकारी भवनों में लगेंगे अब निजी आधार केन्द्र

कटनी /- विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार निजी आधार संचालकों के केन्द्र शासकीय भवन में लगेंगे । 31 अगस्त तक समस्त निजी आधार केन्द्रों को राज्य शासन के अधीन शासकीय भवनों में विस्थापित किया जाना है। एक सितम्बर  से निजी केन्द्रों पर आधार पंजीयन या सुधार कार्य नहीं कर सकेंगे।
            इस संबंध में सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों, तहसीलदार, नायब तहसीलदार विभाग प्रमुख, जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी, ग्राम पंचायतों के सचिवों को निर्देश जारी कर कहा है कि निजी संचालकों हेतु एक कक्ष का स्थान आरक्षित करें।

स्वाईन फ्लू के इलाज की सुविधा सभी जिला चिकित्सालयों और चिकित्सा महाविद्यालय के अस्पतालों में है

कटनी / राज्य शासन द्वारा स्वाईन फ्लू से निपटने के लिए सभी जिला चिकित्सालयों, चिकित्सा महाविद्यालयों और 65 चिन्हित निजी चिकित्सालयों में पर्याप्त मात्रा में औषधि उपलब्ध करा दी गई है। इनमें आइसोलेशन वार्ड, वेन्टिलेटर, दवाईयाँ, पी.पी.ई. किट, त्रिपल लेयर मास्क, एन-95 मास्क आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। सभी शासकीय चिकित्सालयों में स्वाईन फ्लू स्क्रीनिंग की सुविधा मौजूद है। चिकित्सालयों को निर्देश दिये गये हैं कि जिन रोगियों में संक्रमण की वृद्धि प्रतीत हो रही है उनका निर्धारित उपचार संक्रमण प्रारंभ होने से 48 घंटे के भीतर शुरु करें। वर्तमान में 17 शासकीय और 26 निजी अस्पताल में एच1 एन1 के मरीज उपचाररत हैं।
भोपाल में  चिन्हित है 25 निजी अस्पताल
भोपाल जिले में एच1,एन1 संक्रमण उपचार  जिन 25 निजी अस्पताल में सौ-फीसदी सुविधा है, उनमें- ए.के.हास्पिटल.अग्रवाल हास्पिटल.अक्षय हास्पिटल. आराधनना हास्पिटल,बंसल हास्पिटल,भोपाल केयर हास्पिटल,चिरायु हास्पिटल, सिटी हास्पिटल, सी.एम.सी.एच. हास्पिटल (चिकित्सा महाविद्यालय), हजेला हास्पिटल, जे.के.हास्पिटल (चिकित्सा महाविद्यालय), लाहोटी हास्पिटल, एल.बी.एस. हास्पिटल, मिरेकल हास्पिटल, नर्मदा हास्पिटल, नेशनल हास्पिटल, पालीवाल हास्पिटल, पारुल हास्पिटल, पी.सी.एम.एस. हास्पिटल (चिकित्सा महाविद्यालय), पीलुल्स हाईटेक हास्पिटल, रेनबो हास्पिटल, रेडक्रास हास्पिटल, शारदा हास्पिटल, सिल्वर लाईन हास्पिटल और तृप्ति हास्पिटल शामिल हैं।
इंदौर में चिन्हित हैं 18 निजी अस्पताल
अरविन्दो हॉस्पिटल, बाम्बे हॉस्पिटल, सीएचएल हॉस्पिटल, विशेष हॉस्पिटल, अपोलो हॉस्पिटल, भण्डारी हॉस्पिटल, अरिहंत हॉस्पिटल, गोकुलदास हॉस्पिटल, इण्डेक्स हॉस्पिटल, लाइफ केयर हॉस्पिटल, ग्लोबस हॉस्पिटल, सुयश हॉस्पिटल, मेदांता हॉस्पिटल, मयूर हॉस्पिटल, अपर्णा हॉस्पिटल, चौईथराम हॉस्पिटल, ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल और सेनर्जी हॉस्पिटल।
उज्जैन, होशंगाबाद, जबलपुर जिले के निजी अस्पताल
उज्जैन में आर.डी. गार्डी मेडिकल कॉलेज, जी.डी. बिरला अस्पताल, संजीवनी हॉस्पिटल, पाटीदार हॉस्पिटल, सीएचएल हॉस्पिटल और एस.एस. हॉस्पिटल। होशंगाबाद में न्यू पाण्डे हॉस्पिटल, केशव हॉस्पिटल, नर्मदा अपना हॉस्पिटल और सेंट जोसेफ हॉस्पिटल। जबलपुर जिले में जबलपुर रिसर्च हॉस्पिटल, सिटी हॉस्पिटल, नेशनल हॉस्पिटल, महाकौशल हॉस्पिटल और मेट्रो हॉस्पिटल।
ग्वालियर, बैतूल, रीवा और सागर के चिन्हित अस्पताल
ग्वालियर का बिड़ला हॉस्पिटल, बैतूल में संजीवनी हॉस्पिटल, पढार हॉस्पिटल और रथी हॉस्पिटल।  रीवा में विंध्य हॉस्पिटल और चिरायु हॉस्पिटल। सागर में सागरश्री हॉस्पिटल में स्वाइन फ्लू से निपटने के लिये सभी जरूरी सुविधाएँ मौजूद हैं।
एच-1 एन-1 संक्रमण के लक्षणों को नजरअंदाज न करें
लोक स्वास्थ्य मंत्री
 रुस्तम सिंह ने लोगों से अपील की है कि वे एच-1 एन-1 के प्रारंभिक लक्षण जैसे सर्दी-जुखाम, खाँसी, गले में खराश, सिर दर्द, बुखार के साथ सांस लेने में तकलीफ को कतई नजरअंदाज न करें। तत्काल चिकित्सक से परामर्श लें।