Wednesday, May 29, 2013

पुलिस को सूचना न देने वाले लापरवाह मकान मालिकों के विरुद्ध मामले दर्ज



कटनी - दूसरे जिलों के अपराधी, किराएदार बनकर आसानी से अपना कोई ठिकाना कटनी जिले में बना लेते है, यह तभी मुमकिन होता है जब मकान मालिक बिना पुख्ता जानकारी के उन्हें अपना मकान आदि रहने के लिए दे, मकान मालिकों की इस घोर लापरवाही  का नतीजा यह निकलता है कि अपराधी अपराध कर आसानी से निकल जाते है और पुलिस को अपराधी को तलाशने में काफ़ी मशक्कत करनी पड़ती है . रेल्वे का प्रमुख जंक्शन होने के कारण कटनी में रोजाना बाहरी व्यक्तियों का आगमन होता है। अपराधिक प्रवृत्ति के लोग जिले में आकर कुछ समय के लिये रूकते हैं व अपराध घटित करके अन्यत्र चले जाते हैं, बाहरी व्यक्तियों के बारे में कोई पुख्ता  जानकार नहीं होने से पुलिस की जांच प्रभावित होती है. इसी को ध्यान में लाते हुए पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर की पहल पर अपर जिला मजिस्ट्रेट कटनी दिनेश श्रीवास्तव द्वारा कटनी जिले की राजस्व सीमा के अंतर्गत आदेश क्रमांक/2201/एस.डब्ल्यू./13 कटनी, दिनांक 19/20 फरवरी 2013 को दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये गये थे, जिसके संबंध में सभी समाचार पत्रों में इसकी अधिसूचना जारी की गई थी, उक्त आदेश में निम्न बातों का पालन किया जाना अनिवार्य किया गया है:-
1. मकान/दुकान मालिक द्वारा संबंधित थाने को निर्धारित प्रारूप में किरायेदारों की सूचना दिये बगैर मकान/दुकान न दी जावे।
2. घरेलू नौकरों एवं व्यवसायिक नौकरों की सूचना संबंधित थाने को निर्धारित प्रारूप में दिये बगैर काम पर न रखा जावे।
3. निजि छात्रावासों में छात्र एवं छात्राओं की सूचना संबंधित थाने को निर्धारित प्रारूप में दिये बगैर प्रवेश न दिया जावे।
4. होटल, लॉज, धर्मशाला में रूकने वाले व्यक्तियों को बगैर पहचान पत्र के न ठहराया जावे तथा ठहरने वाले व्यक्तियों की सूची निर्धारित प्रारूप में प्रतिदिन थाने पर दी जावे।
5. भवन निर्माण एवं अन्य निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों/कारीगरों की सूचना ठेकेदार द्वारा निर्धारित प्रारूप में थाने में दिये बगैर कार्य नहीं कराय जावेंगे।
6. पेईंग गेस्ट की सूचना संबंधित मकान मालिक द्वारा निर्धारित प्रोफार्मा में थाने पर दिये बगैर पेईंग गेस्ट नहीं रखे जावेंगे।

इसके बावजूद कुछ मकान मालिकों/ ठेकेदारों  ने पुलिस को इसकी सूचना नही दी थी जिसपर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए
दिनांक 27.05.2013 को निम्न अपराध पंजीबद्ध किये गये हैं:-

1 माधवनगर 315/13 धारा 188 ता.हि. राजा दत्ता(बंगाली) मकान नंबर 402 एल.आई.जी. मानसरोवर कालोनी, माधवनगर, कटनी
2 माधवनगर 316/13 धारा 188 ता.हि. वीरेन्द्र खन्ना, मकान नंबर 417 एल.आई.जी. मानसरोवर कालोनी, माधवनगर, कटनी
3 कोतवाली 472/13 धारा 188 ता.हि. सुदामा प्रसाद पिता बाबूलाल राव उम्र 55 वर्ष साकिन सी.एल.पी.स्कूल के पास, भट्टा मोहल्ला, कटनी
4 कोतवाली 473/13 धारा 188 ता.हि. हजारी सिंह पिता किशोरी सिंह ठाकुर भट्टा मोहल्ला, पाठक वार्ड, कटनी
5 स्लीमनाबाद 137/13 धारा 188 ता.हि. प्रेमा राम जाट पिता रम्मू राम जाट उम्र 35 वर्ष साकिन ग्राम चंदई थाना लाईन जिला नगौर राजस्थान हाल वेंकटेश्वर मार्बल हरदुआ थाना स्लीमनाबाद, जिला कटनी
6 स्लीमनाबाद 138/13 धारा 188 ता.हि. सौरभ गांग पिता सुरेश कुमार गांग उम्र 30 वर्ष साकिन प्लाजा मार्बल हरदुआ थाना स्लीमनाबाद जिला कटनी
आमजनता को पुनः सूचित किया जाता है कि सभी मकान मालिक/ठेकेदार/व्यवसायी/ दुकान मालिक आदि अपने अधीनस्थ काम करने वाले मजदूर/नौकर अथवा अपने किरायेदारों के संबंध में निर्धारित प्रोफार्मा में जानकारी थाना को उपलब्ध करायें। अन्यथा पुलिस द्वारा वैधानिक कार्यवाही की जावेगी।

Saturday, May 25, 2013

पुलिस की राडार में नही आये क्रिकेट के मुखिया सट्टेबाज


कटनी - क्रिकेट सट्टेबाजी में सफेद पोश जन भी शामिल है इसका खुलासा रोजाना हो रहा है लेकिन अपने शहर में चल रहे क्रिकेट के मुखिया सटोरिये पुलिस की गिरफ्त से बाहर है हालाँकि पिछले दिनों माधव नगर पुलिस ने एक स्थानीय युवक को साजो समान सहित पकड़ा था लेकिन उस युवक के बारे में बताया जाता है कि वह इस खेल में नया नया था और पुलिस से उसकी कोई सेटिंग नही थी. जबकि माधव नगर आटो स्टैंड के पास स्थित एक होटल संचालक का नाम इस खेल में काफ़ी पुराना है इसके साथ ही खैबर लाईन क्षेत्र में भी एक क्रिकेट सट्टेबाजी का अड्डा संचालित होने की ख़बर है लेकिन पुलिस की पहुँच से काफ़ी दूर है इसी तरह से नगर में भी कुछ नामचीन लोग मौजूद है जिनके बारे भी चर्चे खूब है लेकिन पुलिस ने कभी कोई मौके की जाँच या कार्यवाही की हो ऐसा कभी देखने सुनने को नही मिला है जबकि कुछ सटोरियो ने बाकायदा काली कमाई से नगर के बीच में सम्पत्तिया भी खड़ी कर ली है. क्या ऐसा हो सकता है कि स्थानीय पुलिस इससे बेखबर हो ? क्या पुलिस का मुखबिर तन्त्र इन सबसे अंजान है या अपने शहर के सट्टेबाज पुलिस तन्त्र से ज्यादा चालाक है जो पुलिस के राडार में नही आ पाते. सूत्रों के अनुसार करोड़ों रुपये इस आईपीएल सीज़न में इधर से उधर हो गए अब तो सिर्फ़ फाइनल मैच बचा है, इस सीज़न में दो माह बीतने को आए लेकिन पुलिस को कोई उल्लेखनीय सफलता नही मिल पाई. कुल मिलाकर जहां अन्य शहरों से पुलिस की व्यापक कार्यवाही की खबरें आई वही अपने कटनी जिले में पुलिस के हिस्से सट्टेबाजों पर कार्यवाही नगण्य रही है  

Thursday, May 23, 2013

नशा करता है तन, मन, धन बर्बाद, 31 मई को तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस का आयोजन



कटनी - नशा करने वाला व्यक्ति पहले तो ख़ुद बर्बाद होता फिर परिवार को बर्बाद कर देता है, नशे से तन, मन धन सब पर व्यापक असर पड़ता है हमारे आस पास ऐसे परिवारों की संख्या बहुत है जिनका सब कुछ नशे की वजह से अब खत्म हो चुका है . लोग किसी भी प्रकार का नशा न करे इसके लिए शासन भी समय समय पर जागरूकता अभियान चलाता है लेकिन इसमे आम नागरिकों को भी अपनी सहभागिता देनी होगी ताकि ऐसे अभियानों को पूर्ण सफलता मिलें क्योंकि सिर्फ़ बातों से ही कोई काम नही बनता . इस वर्ष भी पंचायत एवं सामाजिक न्याय विभाग के निर्देश पर 31 मई को अन्र्तराष्ट्रीय तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस का आयोजन किया जाना है । इस आयोजन का उद्देश्य युवाओं, छात्र, छात्राओं एवं जनजन में बढ़ती हुई तम्बाकू व धूम्रपान के सेवन की प्रवृत्ति की रोकथाम के लिये तम्बाकू एवं बीड़ी सिगरेट के दुष्परिणामों से इन्हे अवगत कराना है ताकि तम्बाकू एवं गुटखा, बीड़ी सिगरेट के सेवन की बढ़ती प्रवृत्ति से युवा पीढ़ी एवं जनजन को केंसर, टी.बी हृदयाघात आदि गंभीर बीमारियों से युवा वर्ग तथा जन-जन को बचाया जा सके तथा तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन की रोकथाम हेतु वातातरण व चेतन का निर्माण हो सके ।  राज्य शासन द्वारा तम्बाकू तथा तम्बाकू से बने उत्पाद विक्रय पर प्रतिबंध लगाया गया है जिसके व्यापक पैमाने पर असर देखने को मिल रहा है । इस अभिययान को सफल बनाने के लिये जिला स्तर पर नशामुक्ति के लिये पहल प्रारम्भ कराई जावे ।  तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन के दुष्परिणामों पर आधारित कार्यक्रम जैसे सेमीनार, रैली, पोस्टर, प्रदर्शनी, वाद-विवाद, निबंध-लेखन, प्रश्नमंच, चित्रकला प्रतियोगिताएं व नुक्कड़ नाटक, गीत, नृत्य आदि आयोजित किये जावे । इन कार्यक्रमों में विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, स्कूलों, नगर पालिका, नगर निगम जिला पंचायत, जनपद पंचायत स्वैच्छिक संस्थाएं तथा स्थानीय जन प्रतिनिधि सम्मिलित हों । यह हमारा दायित्व है कि बढ़ती नशा प्रवृत्ति  से बचाव के लिये प्रदेश के हर युवा, वृद्ध नागरिकों को पहल करना होगी ।

Wednesday, May 22, 2013

फिरौती नही मिली तो कर दी हत्या, पुलिस ने उठाया मामले से पर्दा


कटनी। पुलिस ने फिरौती न मिलने की वजह से हुई हत्या के एक मामले से परदा उठाया है, मंगलवार को पुलिस कंट्रोल में आयोजित पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने बताया कि 27 अप्रैल को बरही थाना अंतर्गत बगैहा निवासी सुरेश प्रसाद पांडेय की पत्नी गीता बाई ने पुलिस से की शिकायत में बताया था उनके पति सरेश कुमार पांडेय लापता हो गए हैं। उसने यह भी बताया कि उन्हें एक उत्तरप्रदेश निवासी व्यक्ति ने बुलाया था। शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले में अपहरण का प्रकरण दर्ज किया था। इसी बीच 6 मई को सूचना मिली की चित्रकूट जिले के करौंदी गांव के एक कुएं में एक वृद्घ की लाश मिली है। इस पर बरही टीआई एसपी सिंह बघेल अपनी टीम व लापता वृद्घ के लड़के को लेकर वहां पहुंचे। वृद्घ की शिनाख्त ल़ड़के ने अपने पिता सुरेश प्रसाद पांडेय के रूप में की। शिनाख्त होने के बाद पुलिस ने इस मामले में हत्या का मामला दर्ज किया। वृद्घ को मानिकपुर बुलाया गया था। उसे छोड़ने के बदले में परिजनों से दस लाख ヒपए की फिरौती मांगी जा रही थी। फिरौती न देने के कारण उसकी हत्या कर दी गई।

जाँच से पता चला 
इस मामले के विवेचना के दौरान जानकारी मिली कि चित्रकूट जिले के करौंदी गांव निवासी दुर्ग विजय उर्फ बहिरा उर्फ टेहकू पिता शिवप्रताप सिंह पटेल बगैहा गांव आया था। उसने गांव में ही रहने वाले प्रभूदयाल यादव को बीड़ी पत्ता तोड़ने का लालच देकर २६ अप्रैल को अपने साथ ट्रेन से मानिकपुर ले गया। जहां उसने धतूरा खिलाकर उसे बेहोश कर दिया था। बेहोश की हालत में मिलने पर उसे वहां की पुलिस द्वारा करीब के किसी अस्पताल में भर्ती कराया था होश में आने के बाद प्रभूदयाल पटेल ३० अप्रैल को वहां से वापस बगैहा आ गया। पुलिस ने इस बीच प्रभूदयाल पटेल से पूछताछ की तो पता चला कि २७ अप्रैल दुर्ग विजय सिंह ने बेटे की शादी कराने का लालच देकर सुरेश प्रसाद पांडेय को मानिकपुर बुलाया था। इसके बाद उसे जानकारी नहीं है कि उसके साथ क्या हुआ।

10 लाख की फिरौती मांग रहा था

पुलिस अधीक्षक हिंगणकर ने बताया कि सुरेश प्रसाद पांडेय को मानिकपुर बुलाने के बाद वह उसे आरोपी ने अपने कब्जे में ले लिया था और उसे छोड़ने के लिए परिजन ने दस लाख ヒपए की फिरौती मांग रहा था। ヒपए न मिलने पर आरोपी दुर्ग विजय सिंह ने उसके करीब चार हजार ヒपए लूट लिए और उसकी हत्या कर लाश करौंदी गांव के एक कुएं में फैंक दी।

पुलिस ने बताया कि विवेचना के दौरान पता चला कि २१ मई को आरोपी दुर्ग विजय सिंह बिलासपुर रीवा पैसेंजर ट्रेन से आ रहा है। इस मामले में पुलिस आरोपी की पहचानती नहीं थी। इसके कारण पुलिस ने बगैहा गांव निवासी प्रभूदयाल यादव, व आरोपी को पहले से पहचानने वाले गांव के ही प्रदीप पांडेय व विजय पांडेय को अपने साथ लेकर पुलिस टीम रेलवे स्टेशन कटनी पहुंची और जैसे ही ट्रेन आई। उसे गांव के लोगों के तीनों लोगों की मदद से आरोपी दुर्गविजय सिंह को धरदबोचा गया। आरोपी को पकड़ने में टीआई एसपी सिंह बघेल, जबलपुर जिले के आरक्षक शाजी मथाई, आरक्षक विभांशू कोरी, आरक्षक रघुवीर सिंह, जयराम साकेत सुनील वर्मा, राजकुमार व अनिल ठाकुर की भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है। 
फिरौती नहीं दी तो कर दी हत्या

पुलिस अधीक्षक हिंगणकर ने बताया कि आरोपी लोगों को जमीन में सोना गड़ा होने व लड़के की शादी कराने सहित अन्य तरह की लालच देकर उन्हें अपने साथ ले जाता है फिर उनके खाने में धतूरा के बीज मिलाकर उन्हें बेहोश कर उनके साथ लूटपाट करता है। गौरतलब है कि आरोपी के खिलाफ एक अन्य थाने में भी अपराध करने का मामला दर्ज है

श्री साईनाथ नर्सिंग कालेज में नर्सिंग के विद्यार्थियों ने शपथ ली, आइ्रएनसी मापदंडो के अनुरूप सुरक्षित नर्सिंग शिक्षण संस्थान



कटनी - नर्सिंग क्षेत्र सिर्फ़ रोजगार का माध्यम नही बल्कि एक ऐसा पेशा है जिसके सही अनुरूप में होने से यह मानवता का भला ही करती है, कटनी जिले के चिकित्सा क्षेत्र में बहुत लंबे समय से अपनी सेवाये दे रहे डा दीपक सक्सेना  नर्सिंग क्षेत्र में आने वाले नए विद्यार्थियों को पूर्ण रुप से प्रशिक्षित  करने का कार्य भी श्री साईनाथ  कालेज आफ नर्सिंग के माध्यम से कर रहे है 

श्री साईनाथ कालेज आफ नर्सिंग के सभागार में आयोजित नर्सिंग शिक्षा के नव प्रवेशी छात्र-छात्राओं के लैंपलाईट एवं शपथ ग्रहण समारोह के मुख्य अतिथियों ने विद्यार्थियों को चिकित्सीय सेवा शिक्षा के प्रति निष्ठा की शपथ दिलाते हुए कहा कि यह संस्थान नर्सिंग कालेज के निर्धारित मापदंडों का शत् प्रतिशत् पालन करता हुआ प्रगति की ओर निरंतर अग्रसर है। म.प्र. शासन द्वारा अंर्तराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस पर 12 मई को राज्यपाल के हस्ते नर्सिंग सेवा के क्षेत्र में विगत 44 वर्षो से विशिष्ट सेवाओं के लिए लाईफ टाईम एचिव्हमेंट एवार्ड से सम्मानित की गई शासकीय नर्सिंग मेडिकल कालेज (जबलपुर) की प्राचार्या श्रीमति माया सतीश ने मुख्य अतिथि की आसंदी से कहा की जबसे श्री साईनाथ नर्सिंग कॉलेज   की स्थापना हुई है, मैने निरंतर इसकी प्रगति को देखा है। मैं इससे इतनी प्रभावित हुई हूँ कि इसे मेडिकल कॉलेज  के रूप में परिणित होने की कामना करती हॅू। 


इसके पूर्व दीप प्रज्जवल एवं शपथ ग्रहण समारोह सत्र 2013 में एएनएम, जीएनएम तथा बीएससी नर्सिंग में प्रवेश लेने वाले 186 छात्र-छात्राओं का शपथ अधिकारी शास. चिकि. की मेट्रन श्रीमति कमला चौधरी ने शपथ ग्रहण कराई। कार्यक्रम के अध्यक्ष एवं शास.तिलक महाविद्यालय प्राचार्य के.पी.शुक्ला ने अपने सेबोधन में कहा कि मैने जब भी एस नर्सिंग कालेज की निरीक्षण किया तो यहां शासन एवं आईएनसी के निर्धारित मापदंडो का पूरा पालन पाया। श्री शुक्ला ने विद्यार्थियों को आश्वस्त किया कि नर्सिंग शिक्षा के लिए श्री साईनाथ नर्सिंग कालेज पूर्णतः सुरक्षित शिक्षण संसथान है। 

इस अवसर पर विशेष अतिथि सीएमएचओ डा.जीसी चैरसिया, सीएस डा. केके जैन, सीएमएचओ डा अशोक चैदहा, पूर्व डीईओ ए के शुक्ला ने भी संबोधित किया।  कार्यक्रम के प्रथम सत्र का संचालन आमोद सक्सेना ने किया। 
गरीब छात्रों को ब्याजरहित लोन:-
श्री साईनाथ नर्सिंग कालेज का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए पेरेंट हास्पिटल के डायरेक्टर डा.दीपक सक्सेना ने जानकारी दी कि सामान्य वर्ग के निर्धन प्रतिभावान छात्रों को कालेज की ओर से ब्याज रहित लोन की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। उन्होने बताया कि इस समय म.प्र. में नर्सिंग स्टाफ के लगभग 9 हजार शासकीय पद रिक्त है। इसे देखते हुए नर्सिंग शिक्षा तुरंत रोजगार दिलाने में सक्षम माध्यम भी है। 
कार्यक्रम के द्वितीय चरण में नर्सिंग कालेज के छात्र छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इसमें उद्घाटन सत्र का स्वागत गीत, सत्कार नृत्य, अतिथि अभिनंदन, तथा द्वितीय सत्र में राजस्थानी लोक नृत्य, सामूहिक गणेश वंदना नृत्य, गीत, गजल, का गायन आदि प्रमुख था। इसका संचालन छात्रा मोनिका सिस्टर ने किया। संस्थागत प्रतिवेदन चेयर पर्सन डा. शोभना सक्सेना ने पेश किया। आभार प्रर्दशन कार्यकारी प्राचार्य डा.श्रीमति नुजरत सिद्दीकी ने किया। 
कार्यक्रम में प्राचार्य लीना वर्मा, व्याख्याता अजय घोष, इमरान खान, मनोज नागल, श्रीजीत के साथ साथ डा.एस.के. शर्मा, डा.ए.के.जैन, डा.नरेन्द्र माखीजानी (जबलपुर) सुनील बाजपेई, डा.एस.के.जैन, प्रो.एस.के.भारद्वाज, सिस्टर अनीता नायर (जबलपुर), शीबा एन्ड्रयूज , जीएन बाजपेई, व्याख्याता एवं प्राचार्य संघ के अध्यक्ष श्री अग्रहरि, विनय दुबे, योगेन्द्र अंसारी, द्विवेदी जी, आर्नल्ड जेकब, पत्रकारगण आदि उपस्थित थे।    



Thursday, May 09, 2013

15 जून से कटनी जिले के हर गाँव में 24 घंटे बिजली मिलेगी - मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान



                                                                                 कटनी - ( 9 मई 2013 ) मई की चिलचिलाती धूप में भी हजारों की संख्या में लोग

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का इंतज़ार बहोरीबंद  में बड़े आराम से कर रहे थे, उनका यह इंतज़ार दोपहर क़रीब 12.45 बजे खत्म हुआ. मुख्यमंत्री का आगमन इस बार कटनी जिले की बहोरीबंद तहसील में  जिला प्रशासन द्वारा आयोजित अंत्योदय मेले के अवसर पर हुआ, प्रशासन ने इसे कृषि मेले का भी नाम दिया था. अंत्योदय मेले के दौरान शासन विभिन्न योजनाओं के हित्ग्राहियो को तहसील स्तर पर जाकर लाभ पहुँचाता है वह आम जनता द्वारा मांगी जाने वाली अन्य मांगो को भी पूरा करता है. मंच पर आने से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 86 करोड़ रूपये के लागत के 22 विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं शिलान्यास किया तथा शासकीय विभागों द्वारा लगाई गई विकास प्रदर्शनी  का अवलोकन किया तथा मंच पर आते ही बेटियों का पूजन किया ।
 मुख्यमंत्री ने इस बार जब बहोरीबंद में कालेज खोलने की स्वीकृति प्रदान की तो उपस्थित जन समुदाय ने कर्तल ध्वनि से इसका स्वागत किया अपने अभिभाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार का एक ही लक्ष्य है मध्य प्रदेश का विकास और लोकतंत्र में मुख्यमंत्री जनता का सेवक होता है, जनता के सुख दुःख को उन्होंने अपना सुख दुःख बताया .


15 जून से कटनी जिले के हर गाँव में 24 घंटे बिजली 
उपस्थित जनता के समक्ष उन्होंने इस बात की घोषणा भी कर दी कि आने वाली 15 जून से कटनी जिले के प्रत्येक गाँव में 24 घंटे बिजली प्रदान की जायेगी, 24 घंटे बिजली होगी तो विकास के नए रास्ते भी खुलेंगे. आगे उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचल में कृषि को लघु और कुटीर उद्योगों के विकास के साथ जोड़ा जायेगा , इससे रोजगार और समृद्धि के अवसर बढ़ेंगे. मध्यप्रदेश में विकास का लाभ वास्तविक अर्थों में किसानों और गरीबों तक पहुंचाया जा रहा है. उन्होंने किसानों को मीटर रीडिंग के बजाये 1200 रुपये प्रतिवर्ष के हिसाब से बिजली देने की बात भी कही है उनकी इस बात पर भी जमकर तालिया बजी, उन्होंने यह भी कहा कि जो जनता 50 साल तक लुटती आयी है अब उनके लिए कुछ करने का समय है.

हटा से सिहोरा मार्ग तक सड़क निर्माण के लिये 132 करोड़ 
अपने चिरपरिचित धाराप्रवाह अंदाज़ में मुख्यमंत्री ने आगे बोलते हुए कहा कि विकास के लिये तीन महत्वपूर्ण क्षेत्रों बिजली, सड़क और पानी पर पूरा ध्यान केंद्रित किया गया है, हटा, कुम्हारी, पटेहरा, सलैया और सिहोरा मार्ग तक सड़क निर्माण के लिये 132 करोड़ 48 लाख रूपये स्वीकृत हो चुके हैं तथा सड़क जल्दी बनायी जायेगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश शासन ने ग्रामीण अंचल में सड़कों का शानदार जाल बिछाया है, पंच परमेश्वर योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों की गलियों में सीमेंट कांक्रीट की सड़कें बन रही हैं ।
उन्होंने कहा कि बहोरीबंद में सिंचाई सुविधाओं का विस्तार किया जायेगा, इसके लिये एन.वी.डी.ए. के अधिकारियों के साथ बैठकें हुई हैं  छोटे-छोटे जलाशयो का जाल बिछाकर कर सिंचाई को बढ़ाया जा सकता है. इस क्षेत्र में पांच प्रस्तावित तालाबों का निर्माण कर सिंचाई सुविधा बढ़ाने के उन्होंने निर्देश भी दिये । मुख्यमंत्री ने कहा कि ऊंचा नीचा पठारी क्षेत्र होने की बजह से बरगी जलाशय की नहरों से खेतों में पानी ले जाना सहज नहीं है लेकिन फिर भी नहरों से सिंचाई जल लिफ्ट कर खेतों तक पहुंचाने की योजना का सर्वे कराया जायेगा तथा तकनीकी दृष्टि में उचित होने पर यह सिंचाई कार्य योजना को अमल में लाया जायेगा ।

1 रुपये में 1 किलो गेंहूँ 2 रुपये में 1 किलो चावल  
आगे उन्होंने कहा कि राज्य शासन के प्रयासों से प्रदेश में विद्युत उत्पादन बढ़कर 10 हजार 400 मेगावाट तक पहुंच गया है । यह उपलब्धि प्रदेश में प्रगति लायेगी मुख्यमंत्री ने कहा कि जून माह से  राशन  दुकानों से एक रूपये किलो गेहूं, एक रूपये किलो आयोडीनयुक्त नमक तथा दो रूपये किलो चावल प्रदान किया जायेगा जिससे एक दिन की मज़दूरी से एक माह का राशन वह अपने घर ले जा सकेगा .मंच से अपना अभिभाषण समाप्त करने के बाद उन्होंने विभिन्न योजनाओं के 18 हजार 68 हितग्राहियों को 14 करोड़ पांच लाख रूपये के लाभ पत्र वितरित किये

 मुख्यमंत्री के अभिभाषण से पहले प्रभारी मंत्री डा. रामकृष्ण कुसमरिया ने बहोरीबंद के विकास के लिये हुये कार्यों तथा प्रदेश में गत वर्षो में हुए कृषि विकास के कार्यों का भी जिक्र किया. अंत्योदय मेले के अवसर पर क्षेत्रीय विधायक डा. निशीथ पटेल, जनपद पंचायत अध्यक्ष शंकर महतों, भाजपा जिलाध्यक्श विजय शुक्ला आदि जनप्रतिनिधियों ने भी विचार व्यक्त किये . मंच पर  संस्कृति बोर्ड के अध्यक्ष  मनमोहन उपाध्याय, कटनी विधायक गिरिराज किशोर पोद्दर, पूर्व मंत्री अल्का जैन, मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष मोती कयप, विनोंद गोंटिया, जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री क्रांति चौधरी, पदमा शुक्ला, दिलीप दुबे व गोविन्द प्रसाद सोनी,संदीप जायसवाल  आदि भी मौजूद थे

Saturday, May 04, 2013

मुख्यमंत्री कन्या अभिभावक पेंशन योजना की कागजी कार्यवाहियाँ

मुख्यमंत्री कन्या अभिभावक पेंशन योजना की कागजी कार्यवाहियों पर जरा नजर डाले -- जिन दंपतियों को संतान के रुप में सिर्फ़ कन्याये हो उन्हें मध्य प्रदेश शासन से मात्र 500 रुपये पाने के लिए कितने पापड़ बेलने होंगे जरा इन औपचारिकताओं पर नजर डाले ( दम्पत्ति में से किसी एक की न्यूनतम आयु 60 वर्ष हो, केवल जीवित कन्या ही हो, आयकर दाता नहीं है इसका शपथ पत्र, कोर बैंकिग से जुडे़ राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता होना आवश्यक, केवल कन्या ही हुई है और कोई जीवित पुत्र नही है इसकी पुष्टि हेतु राशन कार्ड, वोटर लिस्ट, ग्राम पंचायत/वार्ड प्रभारी का प्रमाण पत्र, आंगनबाड़ी आशा कार्यकर्ता की रिपोर्ट, 50 रुपये के जूडिशियल स्टाम्प पर सत्यापित शपथ पत्र, निवास के संबंध में स्कूल का प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, चिकित्सक का प्रमाण पत्र में से कोई एक, आवेदन पत्र, निर्धारित प्रारूप में भरकर युगल दम्पत्ति का संयुक्त फोटो/ अकेले होने की स्थिति में अकेला फोटो, विधवा तथा परित्यक्ता महिलाओं को सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया पति की मृत्यु का प्रमाण-पत्र/ परित्यक्ता हेतु माननीय न्यायालय द्वारा जारी आदेश की प्रमाणित प्रति) क्या यह तमाम दस्तावेज आसानी से हासिल किये जा सकते है ? हासिल कर भी लिये जाए फिर भी कोई न कोई कमी अवश्य ही रह जायेगी, तब क्या होगा इस योजना का ?   

Friday, May 03, 2013

बम विस्फोट विफल करने पुलिस ने किया अभ्यास


कटनी - देश के विभिन्न महानगरों में आतंकवादियों द्वारा बम ब्लास्ट किये जाने से गंभीर रुप में जान माल का नुकसान तो होता ही है यह पुलिस के लिए भी सुरक्षा में चूक जैसा विषय बन जाता है, किसी भी बम ब्लास्ट के बाद सबसे पहले सवाल पुलिस की व्यवस्था पर ही उठाएँ जाते है, छुपे हुए बमों को ढूँढना और उसे निष्क्रिय करना यह पुलिस के लिए भी चुनौती भरा काम है. कटनी जिले में इस तरह की कोई अप्रिय घटना भले ही नही घटी है लेकिन स्थानीय पुलिस इसे लेकर अपने आप को हर संभव तैयार करने में कोई कसर नही छोड़ रही है. इसी तैयारी  में 1 मई को पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर के निर्देशन में शहर के अति व्यस्त रेल्वे स्टेशन चौराहे में बम निष्क्रिय करने का ऐसा अभ्यास चला की आम लोग भी इसे वाकई में सच समझ बैठे, बाद में उन्हें समझ में आया कि यह पुलिस द्वारा किया गया अभ्यास था जो पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा किसी और की जानकारी में नही था. इस अभ्यास आयोजन का उद्देश्य पुलिस के रिस्पांस टाइम को चेक करना था। पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार दिलहबहार चैक के पास एक बैग में बम होने की सूचना को आधार मानकर का आयोजन किया गया। बम की सूचना की तस्दीक एवं बरामदगी में पुलिस द्वारा तत्परता बरतते हुये त्वरित कार्यवाही की गई, बम की सूचना पर पुलिस के रिस्पांस टाईम को परखा गया।
बम निष्क्रिय करने के इस अभ्यास को गोपनीय ढंग से आयोजित किया गया, इस संबंध में पूर्व से किसी को जानकारी नहीं दी गई, बम की सूचना को पुलिस द्वारा गंभीरता से तस्दीक किया गया, इसमें शहर की जनता का भी पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ, जो कि जनता एवं पुलिस के बीच अच्छे संबंध का द्योतक है। पुलिस अधीक्षक ने भविष्य में भी जनता से इसी प्रकार के सहयोग की अपील की है। इस अभ्यास की कड़ी में सूचना मिलने पर संदिग्ध क्षेत्र की घेराबंदी की गई एवं संपूर्ण शहर में नाकाबंदी कर दी गई थी, प्रत्येक संदिग्ध वस्तु की चेकिंग की गई। कार्डन लगाकर क्षेत्र में तलाशी ली गई। इस अभ्यास में त्वरित कार्यवाही करने वाले अधिकारी/कर्मचारियों को पुलिस अधीक्षक ने पुरस्कृत करने की घोषणा की है तथा जिन पुलिस कर्मियों का रिस्पांस टाईम अधिक था, उन्हें दण्डित किया जावेगा। 
कटनी में इस तरह के पहले अभ्यास के दौरान पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर पुलिस अधीक्षक धनंजय शाह, उ.पु.अ.(अजाक) डी.एल.तिवारी निरीक्षक शशिकांत शुक्ला, यातायात थाना प्रभारी राहुल देवलिया एवं रक्षित निरीक्षक सुरेश अग्निहोत्री, उप निरीक्षक एच.एम.द्विवेदी थाना माधवनगर की उपस्थिति रही। 

निर्वाचन को लेकर प्रशासन ने शुरू की तैयारी


कटनी/ आगामी विधानसभा चुनाव को शांतिपूर्ण व निर्विघ्न  सम्पन्न कराने के लिए निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 2 मई को कलेक्टर ए.के.सिंह ने एक संयुक्त बैठक आयोजित की जिसमें निर्वाचन से संबंधित सभी बातो को गंभीरता पूर्वक लेते हुए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये । बैठक में मतदाता सूची, मतदाता फोटो, परिचय पत्र, मतदान केन्द्र, सत्यापन, स्वीप प्लान अंतर्गत मतदाता शिक्षा, चुनावी आम सभा के समय व स्थान,  मतदान दल, स्ट्राग रूम व मतगणना स्थल आदि समस्त  बिदुओं पर चर्चा कर निर्देश दिये गये। बैठक में पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर, जिला पंचायत सी.ई.ओं श्री जेडयू. शेख तथा समस्त राजस्व अधिकारी , जिला अधिकारी तथा पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।