Sunday, January 29, 2012

तुम्हे पत्र लिख रहा हू बापू


आदरणीय महात्मा गाँधी जी, प्यार से में भी आपको बापू कहू तो चलेगा नाआपको पत्र लिख रहा हू , में यहाँ पर कुशल मंगल से हू, आशा करता हू आप भी सुख चैन से होंगेआप की याद गयी, साल में दो बार आपको जरूर याद कर लेता हूकल आपकी पुण्यतिथि है, इसलिए यहाँ सरकारी तौर पर ड्राई-डे घोषित है... परसों सब वैसा का वैसावैसे कल ड्राई -डे घोषित है लेकिन पियक्कड़ो को कोई दिक्कत नहीं होगी इसकी गारंटी हैबापू , अब सरकारे इस से ज्यादा कुछ कर भी नहीं सकती और राजनीती करने वाले आपकी मूर्ति पर फूल चढाने से ज्यादा कुछ नहीं । बापू जी आज आप शरीर रूप में है विचार रूप में , हाँ आपके विचारो की आड़ जरूर बची है, जब जिसको जितनी जरुरत होती है वो आड़ ले लेता हैबापू यहाँ सब मस्त मस्त है ... जब तुम जीवित थे , तुमने जितना धन देश चलाने के लिए सोचा होगा उससे ज्यादा देश से बाहर पड़ा हुआ हैतुमने चाचा जवाहरलाल नेहरु को देश की बागडोर सौपी थी ,वो अभी भी वही है इसलिए आप चिंता मत करनादेश में राम राज्य अभी नहीं आया है ,जब आएगा तब आपको बताऊंगा , तब तक शायद में रहूँगा पर वसीयत कर जायूँगा ...अपनी पीड़ी को कि वो आपको जरूर बतायेएक खास बात पुछु बापू ..ऐसा क्यों , तुम सरकारी दफ्तरों में , नोटों में दिखते हो लेकिन मुझे याद तुम साल में दो बार ,वो भी बस थोड़ी देर के लिए ही क्यों आते होअब ज्यादा नहीं बापू ,तुम्हे दुःख होगातुमसे मेरा प्रेम बना रहे, तुम्हारी बात और याद बनी रहेअच्छा

Thursday, January 26, 2012

गणतंत्र दिवस पर आयोजित " प्रेस से मिलिए " कार्यक्रम में पहुचे प्रदेश के गृहमंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता



गणतंत्र दिवस के अवसर पर नगर निगम स्टेडियम में सुबह सम्मान के साथ संपन्न हुए ध्वजारोहण कार्यक्रम तथा एक अन्य कार्यक्रम में भाग लेने के पश्चात् प्रदेश के गृहमंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता को कटनी जिले के वरिष्ठ पत्रकारों ने " प्रेस से मिलिए " कार्यक्रम में आमंत्रित किया , जिसे गृहमंत्री ने सहज रूप से स्वीकार कर लिया ,दोपहर साढ़े तीन बजे पुलिस कंट्रोल रूम ने आयोजित कार्यक्रम में गृहमंत्री जी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाये देने के पश्चात् सभी पत्रकारों ने व्यवस्थित होकर लिखित रूप में अपने सवाल पूछे । एंट्री वसूली , अवैध शराब बिक्री , भूमाफिया आदि अन्य घटित होने वाले अपराधो के साथ साथ पुलिस को होने वाली परेशानियो से भी उन्हें प्रमुखता से अवगत कराया गया । गृहमंत्री उमाशंकर गुप्ता ने यह भी बताया कि पुलिस बल हेतु प्रदेश में हर साल २२०० जवानों को ट्रेनिंग दी जाने की व्यवस्था है , इस बार ३४०० जवानो को ट्रेनिंग दी गयी है और इसमें और संख्या बड़ाई जाएगी । कटनी नगर निगम परिषद् में बैठक के दौरान पिछले दिनों एक भाजपा पार्षद को गोली मार देने की घटना को अंजाम देने वाले ठेकेदार पर पुलिस द्वारा मामला न दर्ज करने के सवाल पर उन्होंने उचित कार्यवाही करने की बात कही है साथ ही उन्होंने अवैध शराब बिक्री पाए जाने पर सम्बंधित थाना प्रभारी को सस्पेंड करने के स्पस्ट आदेश भी एस पी मनोज शर्मा को दिए । अपने आप में ही औचित्य पूर्ण रहे इस कार्यक्रम समाप्ति पश्चात भाजपा विधायक गिरिराज किशोर पोद्दार और कटनी कलेक्टर अशोक कुमार सिंह ने इस तरह का कार्यक्रम आयोजित करने तथा उठाये गए सवालो पर प्रेस वालो की तारीफ की , पत्रकारों की तरफ से वरिष्ठ पत्रकार सत्यदेव चतुर्वेदी ने गृहमंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता का आभार व्यक्त किया । कार्यक्रम में विधायक गिरिराज किशोर पोद्दार , कलेक्टर अशोक कुमार सिंह और एस पी मनोज शर्मा और सभी पत्रकारों की उपस्थित रही । "प्रेस से मिलिए " कार्यक्रम से कटनी जिले में घटित होने वाले अपराधो को रोकने की दिशा में अवश्य ही कुछ सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद जगी है ।

Thursday, January 19, 2012

कलेक्ट्रेट में जन सुविधा केंद्र का लोकार्पण

dVuh 19 tuojh fo/kk;d fxjhjkt fd'kksj iksn~nkj us crkSj eq[; vfrfFk dysDVªsV Hkou esa uofufeZr tulqfo/kk dsUnz dk yksdkiZ.k fd;kA

yksdkiZ.k lekjksg dh v/;{krk /kzqoz izrki flag us dh lekjksg esa fof'k"V vfrfFk dsa :i esa dysDVj v'kksd dqekj flag ] fMIVh dysDVj ds0ds0 ikBd uxj fuxe usrk izfri{k lqjs'k jkspykuh ] vfiZr iksn~nkj ] cPpw fu"kkn ] vk'kh"k frokjh ] iadt 'kekZ ] lhrkjke xqIrk ] ds'korksej ] lat; feJk ] ljiap ikSMh [kerjk ukjk;.k f=ikBh ] fnus'k HknkSfj;k xtsUnz jk; vkfn vU; tuizfrfuf/k o 'kkldh; vf/kdkjh deZpkjh x.k ekStwn jgsA

eq[; vfrfFk fxjhjkt fd'kksj iksn~nkj us dgk fd {ks= esas tufgrS"kh dk;Z xzke ls ysdj 'kgjksa rd djk;s x;s gSA blh dks n`f"Vxr j[krs gq, dysDVªsV Hkou esa Hkh tulk/kkj.k dh jkstejkZ leL;ksavksa ds lek/kku rFkk fofHkUu dk;ksZ gsrq lqfo/kk dsUnaaz dk fuekZ.k djk;k x;k gSA bl dsUnz lapkfyr gksus ls 'kkldh; fd;kUo;u vklkuh ls gksus yxk gSA fo/kk;d fuf/k ls ;gkW izrh{kky; d{k esa ekjcy dk;Z Hkh gqvk gSA ftlls ;gkW vkus okyksa dks LoPN vkSj lkQ lqFkjk okrkoj.k fey lds A dVuh eqMokjk fo/kk;d {ks= fodkl fuf/k ls dysDVªsV Hkou esa tulqfo/kk dsUnz esa vketu dsa fy, fofo/k lqfo/kkvksa o LoPN lkQ lqFkjk izrh{ky; vkfn vU; dk;Z Hkh vk/kqfud rduhfd vkSj okLrq fon dykRedrk ls lEiUu gq,sa gS

Wednesday, January 18, 2012

कमजोर वर्ग के दस हजार लोगो को मध्य प्रदेश शासन ने दी सहायता





·¤ÅUÙè- 18 tuojh U-ÚUæ’Ø àææâÙ ·¤è ×´àææÙéâæÚU çÁÜð ·ð¤ cM+okjk çß·¤æ⹇ÇU ÿæð˜æ ¥´Ì»üÌ ÎèÙÎØæÜ ¥‹ˆØæðÎØ ×ðÜæ fdlku dY;k.k ,oa df`"k fodkl rFkk ftys ds izHkkjh ea=h MkW jked`".k dqlefj;k ·ð¤ eq[; ¥æçÌ‰Ø ×ðð´ lEiUu ãéU¥æÐ

eq[;¥çÌçÍ izHkkjh ea=h Ùð §Uâ ¹‡ÇUSÌÚUèØ â×æ»× ×ð´ àææâÙ ·¤è çßçÖóæ ÁÙ·¤ËØæ‡æ·¤æÚUè ØæðÁÙæ¥æ´ð âð 10]087 ik= ÁM¤ÚUÌ ×´Îæ´ð ·¤æð djhc lk<+s X;kjg ·¤ÚUæðǸ M¤ÂØð ds â´âæŠæÙ ß âé¹ âéçߊææØ´ð ÂýÎRr ·¤èÐ bl ekSds ij dk;Zdze dh v/;{krk {ks=h; fo/kk;d Jh eksrh d';i us dh A fof'k"V vfrfFk ds :i esa /kzqoz izrki flag ] lqJh dkafr pkS/kjh ] tuin v/;{k jktdqekjh cSu ]jkejru ik;y ] csxq pkSngk] jktsUnz ik.Ms ] âæ´âÎ ÂýçÌçÙçŠæ ç×_åUÜæÜ ÁñÙ, jktsUnz lksaf/k;k ] jsok 'kekZ ] jktk pkSjfl;k] fot; xqIrk ] jkts'k O;kSgkj ·¤ÜðDVj v'kksd dqekj flag ÂéçÜâ ¥Šæèÿæ·¤ ×ÙæðÁ àæ×æü, ou laj{kd ,e0ds0[kku]âè.§üU.¥æð. çÁÜæ ´¿æØÌ ÁðÇ.Øê. àæð¹,,l0Mh0,e0 rstLoh ,l0uk;d ] miÂéçÜâ ¥Šæèÿæ·¤ fot; flag ] ©UÂâ´¿æÜ·¤ lekt dY;k.k vuUr dqekj frokjh ] ©UÂâ´¿æÜ·¤ ·¤ëçá °.·ð¤.Ùæ»Ü, âãUæØ·¤ â´¿æÜ·¤ çÁÌð´Îý çâ´ãU, lh0bZ0vks0 tuin Jh Mh0,l0flag ]vkfn vf/kdkjh x.k o tuizfrfuf/k mifLFkr jgsA

eq[; vfrfFk }kjk bl lekxe esa cM+okjk çß·¤æ⹇ÇU ÿæð˜æ ds ¥´Ì»üÌ Âæ˜æ çãUÌ»ýæãUè çßçߊæ ØæðÁÙæ¥æ´ð âð °·¤ ÀUÌ ·ð¤ Ùè¿ð ÜæÖæç‹ßÌ ãéU°Ð àææâÙ ·¤è ØæðÁÙæ¥æ´ð ß ·¤æØü·ý¤×æ´ð âð »ýæ×è‡æ çß·¤æâ çßÖæ» mUæÚUæ 4 gtkj 40 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 9 ·¤ÚUæðǸ 35 Üæ¹ 23 ãUÁæÚU M¤ÂØð, ×çãUÜæ °ß´ ÕæÜ çß·¤æâ ,d gtkj 12 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 60 Üæ¹ 82 ãUÁæÚU M¤ÂØð ] ©UlæÙ foHkkx gtkj 234 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 5 Üæ¹ 97 ãUÁæÚU M¤ÂØð ] eRL; foHkkx 207 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 1 djksM+ 84 Üæ¹ 5 ãUÁæÚU M¤ÂØð] çÁÜæ ÃØæÂæÚU °ß´ ©Ulæð» ·ð´¤Îý Ùð 4 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 8 Üæ¹ 6 ãUÁæÚU :i;s ] ftyk ifj;kstuk leUo;d }kjk 85 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 4 Üæ¹ 58 ãUÁæÚU :i;s rFkk jktLo foHkkx us 2 çãUÌ»ýæçãUØæ´ð ·¤æð 71 gtkj dh vkfFkZd lgk;rk lqyHk djk;h xbZ gSA bl nkSjku SßæS‰Ø çßÖæ» mUæÚUæ 42 çãUÌ»ýæçãUUØæ´ð ·¤æð ÎèÙÎØæÜ ¥´ˆØæðÎØ ©U¿æÚU ;kstuk ds ·¤æÇüU ÕÙæØð »Øð ãñU´Ð vkiwfrZ foHkkx }kjk 145 ch0ih0,y0dkMZ forfjr fd;s x;s A fu'kDrtuksa dk LokLF; ijh{k.k dj 109 izek.k i= iznku fd;s x;s A ×é[Ø ¥çÌçÍ Ùð ÎèÙÎØæÜ ¥´ˆØæðÎØ ×ðÜæ ·¤æ àæéÖæÚ´UÖ ×æ¡ âÚUSßÌè ß Â´çÇUÌ ÎèÙÎØæÜ ©UÂæŠØæØ ·ð¤ ÀUæØæ翘æ ÂÚU Îè Âý”æßÜÙ ÂécÂ×æÜæ ¥çÂüÌ ß´ÎÙ ·¤ÚU ·¤æØü·ý¤× àæéÖæÚ´UÖ ç·¤ØæÐ

izHkkjh ea=h Ùð ¥´ˆØæðÎØ ×ðÜæ ·¤æØü·ý¤× ×ð´ àæéÖ·¤æ×ÙæØ´ð ÎðÌð ãéUØð ´. ÎèÙÎØæÜ ©UÂæŠØæØ ·¤è çß¿æÚUŠææÚUæ ·¤æð ÂýçÌÂæçÎÌ ç·¤ØæÐ

©U‹ãUæ´ðÙð ·¤ãUæ ç·¤ ÎèÙÎØæÜ ©ÂæŠØæØ Áè ·¤æ ç¿´ÌÙ ÍæÐ Áæð â×æÁ ·ð¤ âÕâð ·¤×ÁæðÚU ß »ÚUèÕ Üæð» ãñ´UÐ ©UÙ·¤è âðßæ ·¤ÚUÙæÐ Ìæç·¤ ßð Öè âæ×æ‹Ø ÁÙ ·¤è ÖæòçÌ ¥ÂÙæ ÁèßÙ ØæÂÙ ·¤ÚU â·ð´¤Ð ×.Âý. âÚU·¤æÚU Ùð §Uâ çß¿æÚUŠææÚUæ ·¤æð »´ÖèÚUÌæ âð çÜØæ ãñUÐ ÂýÎðàæ ×ð´ ¥Ùð·¤ ØæðÁÙæØ´ð »ÚUèÕæ´ð ·¤ð ©UóæØÙ ·ð¤ çãUÌæÍü ç·ý¤Øæ‹ßçØÌ ·¤è »§üU ãñ´UÐ blh dks nf`"Vxr j[krs gq, ØæðÁÙæ¥æ´ð ·ð¤ ÌãUÌ ¥æÁ ¥´ˆØæðÎØ ×ðÜæ ×ð´ °·¤ ÀUÌ ·ð¤ Ùè¿ð ¥ˆØ´Ì ÎèÙ ãUèÙ ÁM¤ÚUÌ×´Îæ´ð ·¤æð ÜæÖæç‹ßÌ ç·¤Øæ »Øæ ãñUÐ eq[; vfrfFk us dgk fd ×æÙÙèØ ×é[Ø×´˜æè çàæßÚUæÁ çâ´ãU ¿æñãUæÙ Ùð iap ijes'oj ØæðÁÙæ xzke ds lexz fodkl ds fgr esa ykxw dh gSA eq[; ea=h us iapk;rksa ds tu izfrfuf/k;ksa ls M¤ÕM¤ ãUæð·¤ÚU ©UÙ·ð¤ âéÛææß ¥æñÚU ©UÙ·¤è çSÍçÌ ·ð¤ ×gðÙÁÚU ;g fu.kkZ; fy;k ãñ´UÐ rkfd xzkeh.k tu vius xzke ds fodkl Lo;a dj lds A izHkkjh ea=h us dgk dh xzke okfl;ksa dh ekax ij cM+okjk esa ×ãUæçßlæÜØ ¹æðÜÙð ·ð¤ çÜØð àææâÙ ·¤æ ŠØæÙ ¥æ·ë¤cÅU ·¤ÚUæØæ ÁæØð»æÐ ÕæçÜ·¤æ ·¤æ ©UˆâæãUߊæüÙ ·¤ÚUÌð ãéUØð ÕðÅUè ·ð¤ ×ãUˆß ·¤æð â×ÛæÙð ·ð¤ çÜØð ÁÙâæŠææÚU‡æ ·¤æð â×Ûææ§üUàæ ÎèÐ ©U‹ãUæ´ðÙð ·¤ãUæ ç·¤ ÕðÅUæ ¥æñÚU ÕðÅUè °·¤ â×æÙ ãñ´UÐ ƒæÅUÌð çÜ´» ¥ÙéÂæÌ ÂÚU ãU× âÖè ·¤è âæð¿ ×ð´ ÕÎÜæß ¥æÙæ ¿æçãU°Ð ·¤‹Øæ Öýê‡æ ãUˆØæ ÂÚU àæçQ¤ âð ÚUæð·¤ Ü»æ§üU »§üU ãñUÐ ÂýÎðàæ âÚU·¤æÚU ·¤æ ØãU ÕðÅUè Õ¿æ¥æð âæÍü·¤ ¥çÖØæÙ âëçCU ·¤æð Õ¿æÙð ·ð¤ çÜØð ãñUÐ ÙÁçÚUØæ ÕÎÜð»æ Ìæð, ÕðÅUè ç·¤âè ÕðÅðU âð ·¤× ÙãUè´ ãñUÐ csVh cpsxh rks [ksrh cpsxhA pwafd [ksrh esa efgykvksa dk vR;f/kd ;ksxnku gksrk gSAea=h th us dU;kvksa dk iSj iwtu fd;k A

;g dk;Zdze efgyk cky fodkl ftyk dk;Zdze vf/kdkjh Jherh eaxys'k flag ds usRk`Ro esa fof/koRk :i ls lEiUu gqvk A ¥´ˆØæðÎØ ×ðÜæ ×ð´ ×é[Ø ¥çÌçÍ âçãUÌ ¥‹Ø ¥çÌçÍØæ´ð Ùð ØæðÁÙæ¥æ´ð ÂÚU ¥æŠææçÚUÌ çßÖæ»èØ ÂýÎàæüÙè ·¤æ Öè ¥ßÜæð·¤Ù ·¤ÚU âÚUæãUÙæ ·¤èÐ

§Uâ ¥ßâÚU ÂÚU ·¤æØü·ý¤× ·¤æ â´ØæðÁÙ ©UÂâ´¿æÜ·¤ ´¿æØÌ °ß´ â×æÁ ·¤ËØæ‡æ ¥Ù´Ì ·¤é×æÚU çÌßæÚUè Ùð ç·¤ØæÐ ¥´ˆØæðÎØ ×ðÜæ ·¤s lekiu ds volj ij ÁÙÂÎ ×éØ ·¤æØüÂæÜÙ ¥çŠæ·¤æÚUè Mh 0 ,l flag us mifLFkr tuks ds izfr vkHkkj izn'kZu fd;kA

Tuesday, January 17, 2012

में भी एक सड़क हूँ


में एक नाम मात्र की सड़क हू ... सालो से इसी हालत में हू ... रोज हजारो लोग मुझ पर से गुजरते है ...किसी की साइकल ख़राब हो जाती है तो किसी की ...अब सबकी सुनाने बैठूंगी तो सालो लग जायेंगे ...इसलिए अभी मेरी भर सुनलो ... एक दिन लाव - लश्कर लेकर भारतीय जनता पार्टी के बहुत बड़े बड़े नेता आये थे ... कह रहे थे सिर्फ तुम्हारे लिए आये है ... भूमिपूजन करने आये है तेरा और तुम पर पर चार करोड़ रुपया खर्च कर ...तुम्हे ऊपर से नीचे तक पूरा जवान बनायेंगे ... मेरी ख़ुशी का तो ठिकाना ही नहीं रहा तब ... उसके बाद कई मौसम गुजर गए ... कोई फिर आया नहीं ... मेरी हालत तो और ... मुझे अपनी चिंता नहीं ... इंसानों की चिंता है ...और इंसानों को अपनी ।

Sunday, January 15, 2012

गरीबो के आशियाने में भ्रस्टाचार की सेंधमारी तो नहीं ?





कटनी - गरीबो के लिए योजनाये तो बहुत अच्छी बनती है लेकिन पूरी होते होते उसके लाभ का प्रतिशत बहुत कम रह जाता है क्योकि इस बीच कमीशनखोरी का लालच, भ्रस्टाचार रूप में ज्यादा लाभ तो बीच के लोग खुद ही डकार जाते हैनगर निगम द्वारा माधव नगर स्टेशन के पास इंदिरानगर पड़वारा बस्ती में IHSDP (Integrated Housing & Slum Development Programme ) योजना के अंतर्गत गरीब वर्ग के लिए १९८ मकान आठ करोड़ पचीस लाख रुपये की लागत से नाये तो जा रहे है लेकिन यह ज्यादा समय टिकने वाले तो नहीं लग रहेजबकि इसके लिए खर्च की जाने वाली लागत राशि मकानों की संख्या के हिसाब से पर्याप्त हैछोटी सी जगह में गरीब परिवारों के लिए बनाये जा रहे मकानों को थोडा कुरेदने भर से तो यही लगता हैरेता में सीमेंट की मात्रा का प्रयोग कम हुआ स्पस्ट जान पड़ता है और ऊपर से पानी की तराई भी कम हुई जान पड़ती है ,भवनों के सामने बनी सीमेंट सड़क तो फिलहाल ठीक जान पड़ती है हालाकि भी इसपर कोई दबाव नहीं हैअभी भी यह कार्य चल रहा है इसलिए इसकी गुणवत्ता का ध्यान देना बहुत जरूरी है अन्यथा बाद के सालो में इसका भी वही हाल होगा जा बन चुके मकानों का लग रहा हैआज करोडो में खर्च की जाने वाली रकम का सही सदुपयोग होना बहुत जरूरी है अन्यथा गरीब वर्ग को इससे कोई खास लाभ होने वाला नहीं

Thursday, January 12, 2012

केन्द्र करे गैस पीड़ितों के साथ पूरा न्याय मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय गृह मंत्री को लिखा पत्र


मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार से भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को सम्मानजनक मुआवजा दिलाने और इस संबंध में मंत्री समूह की बैठक में गैस पीड़ितों की माँग पर उचित निर्णय लेने का अनुरोध किया है। भोपाल गैस त्रासदी पर गठित मंत्री समूह के अध्यक्ष एवं केन्द्रीय गृह मंत्री श्री पी. चिदंबरम को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने 13 जनवरी 2012 को होने वाली बैठक में गैस पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग की है।
मुख्यमंत्री ने पत्र में केन्द्र से अनुरोध किया है कि मृत्यु श्रेणी में दावों का जो वर्गीकरण किया गया है, उसमें मृत व्यक्ति को स्थाई एवं आंशिक निःशक्तता की श्रेणी में माना गया है। इसी प्रकार कुछ अन्य मामलों में मृत्यु का कारण गैस प्रभाव न मानते हुए उन्हें सामान्य वर्ग में माना गया है, यह वर्गीकरण न्यायसंगत प्रतीत नहीं होता है। अतः 10 हजार 047 प्रकरणों को मृतक श्रेणी में मानकर ही इनको भी 10 लाख रूपए का मुआवजा दिया जाये ताकि गैस त्रासदी में मृत श्रेणी के कुल 15 हजार 342 प्रकरणों में आश्रितों को न्यायसंगत निर्णय मिल सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि अतिरिक्त 5 लाख 21 हजार 332 व्यक्ति जो वास्तव में आंशिक गैस पीड़ितों की श्रेणी में थे इन्हें अतिरिक्त मुआवजा प्रदान करने की कोई अनुशंसा नहीं की गई है, इन प्रकरणों पर भी उचित विचार करते हुए मुआवजा दिलाया जाये, ताकि गैस पीड़ितों को न्याय प्राप्त हो सके।
मंत्री समूह की प्रथम बैठक 18-21 जून, 2010 को आयोजित की गई थी, जिसमें मध्यप्रदेश सरकार की ओर से भोपाल शहर के गैस पीड़ितों को उचित एवं सम्मानजनक मुआवजा दिलाने के लिये भारत सरकार से अनुरोध किया गया था और यह मांग की गई थी कि गैस दुर्घटना में मृतकों के परिवारों को 10 लाख रूपये एवं गैस प्रभावित व्यक्तियों को 5 लाख रूपये लाख का मुआवजा भारत सरकार द्वारा दिया जाये।
मंत्री समूह की बैठकों में 5 लाख 74 हजार 376 गैस पीड़ितों में से कुल 48 हजार 694 प्रकरण में विभिन्न श्रेणियों में अतिरिक्त अनुग्रह राशि, पूर्व में प्रदान की गई मुआवजा राशि को घटाकर, वृद्धि की जाकर भुगतान करने की अनुशंसा की गई।
इस परिप्रेक्ष्य में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पहले भी 24 जून 2010 एव दिनांक 08 दिसम्बर 2011 के माध्यम से प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से इस मुद्दे पर अनुरोध किया गया है।

Wednesday, January 11, 2012

ट्रको- डमफरो से स्कूली बच्चो व रहवासियो पर जान का खतरा


कटनी - यू तो पूरे शहर की यातायात व्यवस्था ने यहाँ की जनता का जीवन सडको पर नारकीय सा बना दिया है , उसपर स्कूलों के आस पास तेज गति से लहराते -भागते ट्रको की वजह से हमेशा जान का खतरा बना हुआ है । उपनगरीय माधव नगर एक रिहाइशी क्षेत्र है लेकिन सैकड़ो दाल मिलो राईस मिलो की वजह से यहाँ पर चौबीसों घंटे भारी ट्रको का यहाँ आना जाना रहता हैक्षेत्र के हर चप्पे पर बसी इन मिलो से लोड होकर ट्रक आते जाते रहते है सबसे भयावह स्थिति तो स्कूलों की छुटियो के समय बनती है जब छोटे छोटे बच्चे अपने घर जा रहे होते हैगंतव्य तक पहुचने की जल्दी में ट्रक वाले छोटे बच्चो की मौजूदगी तक की परवाह नहीं करते जिससे बच्चो पर खतरा सा बना रहता हैयातायात विभाग कभी इस और ध्यान नहीं देता बल्कि ऐसे ट्रको से एंट्री वसूली का इन्हें मौका मिल जाता है । कुछ मिलो के मालिको ने ट्रको की तुलाई के लिए धर्मकांटे बनवा रखे है जिसकी वजह से भी यातायात का दबाव बहुत बढ गया हैकुल मिलकर क्षेत्र में यातायात दबाव निरंकुश भागते भारी ट्रको -डमफरो की वजह से यहाँ के रहवासियो बच्चो पर जान का खतरा बना हुआ है , धूल की वजह से कई लोगो में सांस की बीमारी भी हो गयी हैप्रदेश शासन प्रशासन को तत्काल इस और ध्यान देकर इस गंभीर समस्या का निदान करना चाहिए जिससे यहाँ का जन जीवन स्वस्थ और सुचारू चल सके

Tuesday, January 10, 2012

देश का ‘बेस्ट सायबर कॉप ऑफ इंडिया’ अवार्ड मिला सायबर पुलिस द्वारा 23 प्रकरणों में 32 लोग गिरफ्तार

मध्य प्रदेश सायबर पुलिस द्वारा वर्ष 2011-12 में 23 प्रकरणों में 32 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस वर्ष 63 प्रकरणों में एफ.आई.आर. दर्ज कर कार्रवाई की गयी। प्रदेश में बढ़ते हुए सूचना प्रौद्योगिकी आधारित अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण एवं विवेचना के लिए भोपाल में सायबर पुलिस का गठन किया गया है। जिसका कार्य-क्षेत्र सम्पूर्ण मध्यप्रदेश है।
राज्य सायबर पुलिस में विभिन्न जिलों की सूचना प्रौद्योगिकी आधारित शिकायतों को पंजीबद्ध कर उन पर जाँच कर कार्यवाही की जाती है। राज्य सायबर पुलिस को वर्ष 2011-12 में कुल 1326 शिकायतें प्राप्त हुई थीं। इनमें से 63 प्रकरणों में एफ.आई.आर. दर्ज की गयी। वर्ष 2011 में चर्चित रहे कोटक महिन्द्रा बैंक फ्रॉड प्रकरण में 17 लाख रूपये की धोखाधड़ी में शामिल 3 आरोपियों को 72 घण्टों में गिरफ्तार कर पूरी राशि बरामद कर ली गयी।
बेस्ट सायबर कॉप ऑफ इण्डिया
वर्ष 2011 में राज्य सायबर पुलिस द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी आधारित अपराधों की प्रभावी विवेचना करने पर देश का ‘‘ बेस्ट सायबर कॉप ऑफ इंडिया ’’ का अवार्ड दिया गया।
राज्य सायबर पुलिस द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी आधारित अपराधों से जन-सामान्य को जागरूक करने तथा अपनी समस्याएँ सीधे पुलिस तक पहुँचाने के लिए वेबपोर्टल की शुरूआत की जा रही है। इससे निकट भविष्य में जन-सामान्य सीधे अपनी शिकायतें दर्ज करवाने के साथ ही जरूरी सूचनाएँ भी पुलिस को दे सकेंगे।
सायबर पुलिस द्वारा प्रदेश में विभिन्न जिलों के थानों में दर्ज प्रकरणों में जिला पुलिस बल को सहायता देने के साथ ही उन्हें प्रशिक्षित भी किया जा रहा है।
राज्य सायबर पुलिस का उपकरणों से सुसज्जित भवन का निर्माण भी पूर्णता की ओर है।

Friday, January 06, 2012

पार्टी विथ डिफ़रेंस का देख लो असली डिफ़रेंस


भ्रस्टाचार कर चुके एक्सपर्ट लोगो से अब भारतीय जनता पार्टी उनके गुर सीखेगी । यू पी से भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी इसकी शुरुवात कर चुके हैसारी गंदगी इस पार्टी में आकर शुद्ध हो जाती है भाजपा उपाध्यक्ष मुख़्तार अब्बास नकवी भी कह चुके है, चलो इसी बहाने भ्रस्टाचारियो की पूछ परख भाजपा वाले खुले आम करने आतुर तो दिखाई दिए है वैसे अभी तक तो नहीं नहीं ही करते रहे थेभाजपा शासित मध्य प्रदेश सरकार के एक मंत्री कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ ढेरो अपराधिक प्रकरण दर्ज है फिर भी वे सरकार और भाजपा संगठन के चहेते हैइनके जैसे अनेको और भी है , उच्च पदों पर बैठे दर्जनों भ्रस्ट अधिकारिओ पर ठोस कार्यवाही करने की हिम्मत यहाँ यह सरकार नहीं जुटा पाती क्योकि भ्रस्ट लोगो को निकाला नहीं बल्कि यहाँ लिया जाता हैप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओ में घोर अराजकता घर कर चुकी हैइंदौर के ड्रग ट्रायल मामले में स्वास्थ मंत्री महेंद्र हार्डिया लाचार रूप से लाचारी प्रकट कर चुके है फिर भी वे अपने भाग्य और प्रदेश के दुर्भाग्य के चलते मंत्री हैगाये को माता कहने वालो की सरकार के चहेते बिल्डर गाये की चरने वाली चरोखर जमीन को खुद चर कर खा चुके हैपार्टी विथ डिफरेंस का नारा लगाने वालो का डिफ़रेंस अब नजर रहा है आगे और भी बहुत कुछ करतब इस पार्टी की तरफ से देखने को मिलेंगे