Friday, October 28, 2011

असामाजिक तत्वों के हवाले माधव नगर थाना क्षेत्र नागरिको का अमन चैन बर्बाद

कटनी जिले का थाना माधव नगर क्षेत्र इन दिनों पुलिस की घोर लापरवाही के चलते असामाजिक तत्वों के हवाले सा हो गया है । डी आई जी सोनाली मिश्रा चाहे जितना पुलिस की माइक्रोबीट व्यवस्था को सुद्रण बनाने की कोशिश करे लेकिन इस थाना क्षेत्र की माइक्रो बीट व्यवस्था बस नाम मात्र भर की है । पुलिस के खुले संरक्षण में चलने वाली अवैध शराब पेकारियों से शराबी शराब पीकर गली मुहल्लों में गाली गलोज कर सभ्य परिवारों का जीवन दुश्वार किये हुए है । बीच राह पर हिंसक लड़ाई झगडे होना आम बात सी बनती जा रही है । आधी रात के बाद भी तत्त्व कही भी घूमते देखे जा सकते है । ऐसी और इस प्रकार की अनेक अवैध गतिविधियों से यहाँ की पुलिस को रत्ती भर भी फर्क पड़ता दिखाई नहीं दे रहा है , जिससे असामाजिक तत्वों के हौसले दिनों दिन बड़ते ही जा रहे है । सम्पूर्ण माधव नगर क्षेत्र का हाल एक सा ही हो चला है । माइक्रो बीट व्यवस्था हेतु तैनात आरक्षको को जैसे अपने अपने क्षेत्रो में अवैध कार्यो के संरक्षण का ठेका सा मिल गया है । ऊपर से पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी हाथ पर हाथ धरे बैठे है । कटनी नगर के पत्रकार साथियो से निवेदन है कि वे माधव नगर के नागरिको का अमन चैन बनाये रखने के लिए उनकी इस पीड़ा को अवश्य अपनी आवाज से मुकाम पर पहुचाये ।

Thursday, October 20, 2011

पुण्य प्रसून बाजपेयी: मीडिया से टकराव का रास्ता

पुण्य प्रसून बाजपेयी: मीडिया से टकराव का रास्ता

राजनीती में जाए, बताये सेवा करने है आये और आप हजारो करोड़ कमाए

खुशखबरी- खुशखबरी -खुशखबरी , पता चल गया है कि हमारे कटनी जिले में भी हजारो करोडो के आसामी रहते है । जी हाँ , हाल ही में पता चला कि नौजवान कांग्रेस विधायक संजय पाठक ने पिछले ४-५ साल में सिहोरा क्षेत्र से ५ हजार करोड़ मूल्य का आयरन ओर निकाल कर बेच डाला है , बताया गया है कि यह आयरन ओर उन खदानों से निकाल कर बेचा गया जिनकी लीज साल २००६ में ही समाप्त हो चुकी थी । यह सुनकर तमाम जिले वासिओ को हार्दिक ख़ुशी अनुभव हुई होगी कि चलो हमारे जिले में कोई तो है जो हजारो करोडो का व्यापार करता है और कइयो को संजय पाठक से ईर्ष्या भी अनुभव होती होगी । तो उन ईर्ष्यालु जनों को मेरी सलाह है इनसे ईर्ष्या न करे बल्कि इनकि राह पर चल पड़े । सबसे पहले तो किसी राजनैतिक दल में शामिल हो जाये पर लोगो को सिर्फ यही बताये कि आप जनता कि सेवा करने आये है । धीरे धीरे वो दिन भी आ जायेगा जब दुसरे लोगो को पता चल जायेगा कि अब आप भी हजारो करोडो में खेलने लगे है । लेकिन एक शर्त है कि आपके पास भी वो तमाम योग्यताये भी होनी चाहिए जो कांग्रेस के विशेष प्रतिभावान संजय पाठक में है , तभी आप इस मुकाम तक पहुचेंगे प्रतिभावान नेता को प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने महासचिव पद पर बैठा भी दिया है । कटनी के कई छुटभैये नेता तो हर रात को ट्रेक्टर , ट्राली आदि लेकर निकाल पड़ते है कि चलो आयरन ओर निकाले जैसे कि पैदा ही इसलिए हुए है । इधर जबलपुर कलेक्टर गुलशन बामरा को कुछ कमबख्त नेताओ ने शिकायत कर दी है कि देखो - देखो यहाँ अवैध कार्य हो रहा है , अब कार्य अवैध है वैध काम तो हजारो करोडो का हुआ है । इसलिए मेरी भी आप लोगो को सलाह है कि आप तो हजारो करोडो पर ध्यान लगाओ , वैध - अवैध का छोड़ो चक्कर , वैसे भी यह चक्कर आम आदमियों के लिए होता है प्रतिभावान नेताओ के लिए नहीं ।

Sunday, October 16, 2011

अश्वर बिल्डर के वो मददगार जिन्होंने लुटा आम नगरवासियो को

कटनी शहर में अश्वरबिल्डर के नाम पर स्थानीय राजनेताओ ने ही परदे के पीछे रहकर नगर वासिओ से करीब डेढ़ करोड़ की छलपूर्वक लूट उन्हें मकान देने के नाम पर कर दी है । माधव नगर पुलिस ने आठ जागरूक नागरिको की शिकायत पर मामला तो दर्ज कर लिया है लेकिन कार्यवाही के नाम पर वह हाथ पर हाथ धरे बैठी है । अश्वर बिल्डर ने करीब एक महिना पहले से जबलपुर रोड पर स्थित झिन्झरी से बिलहरी जाने वाले मार्ग पर ग्रीन सिटी नाम से एक कालोनी बनाने का अप्रत्याशित रूप से प्रचार प्रसार बड़े पैमाने पर शुरु कर किया था ताकि आम जनता इससे प्रभावित हो जाए , मालिक के तौर पर यहाँ पंचम सिंह ,कृष्णकांत यादव उर्फ़ बल्लू यादव और मनीष तिवारी ने लोगो को जमीन भी दिखाई । इससे प्रभावित होकर करीब आधा सैकड़ा लोगो ने यहाँ पर मकान की बुकिंग भी करा दी । दो सितम्बर से दो अक्टूबर के बीच में इन आठ जनों से ही पचास लाख रुपये बिल्डर ने नगद और चेक के रस्ते ले लिए और बाकी जनों से अलग लिए जिनके नाम वाला रजिस्टर माधव नगर पुलिस के पास जप्त है । करोडो की लूट करने के बाद वह फरार हो गया । १३ एकड़ की यह जमीन गोवर्धनदास डेरी वाले की है जिसे दलाल राजकुमार मखीजा के माध्यम से मनीष पाठक , राजू शर्मा , विजय खन्ना व अन्य ने साढ़े तीन करोड़ रुपये में ख़रीदा था जिसे बाद में कांग्रेस के ग्रामीण अध्यक्ष गंगाराम कटारिया और शिवकुमार उर्फ़ जालिम यादव ने साढ़े पांच करोड़ रुपये में ख़रीदा , एडवांस के तौर पर दोनों बार हुए सौदे में पचास लाख का बयाना दिया गया था ।शिकायतकर्ताओं के होश तब उड़े जब उन्हें पता चला की पंचम सिंह तो भाग गया है इस बीच पंचम सिंह ने किराये का मकान , किराये की आफिस और आईसीआईसीआई और एक्सिस बैंक में खाता भी खुलवाया जिस पर भी संदेह व्यक्त किया जा रहा है की कैसे बिना आईडी प्रूफ के उन्हें मकान आदि दिया गया जबकि कानूनन यह गलत है । इस काम में बल्लू यादव ने पंचम सिंह की मदद की और बल्लू यादव जमीन का सौदा लेने वाले जालिम यादव का भाई बताया जा रहा है । पुलिस ने पंचम सिंह और बल्लू यादव पर मामला दर्ज तो कर दिया है लेकिन किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की है , फरार पंचम सिंह उतर प्रदेश का का बताया जाता है और उसका नाम भी गलत हो सकता है । फिलहाल इससे पीड़ित जन बैठक कर आगे की रूपरेखा तैयार कर रहे है जिससे उनके रुपये वापस मिल सके ।लाख टके का सवाल यह भी उठता है की जब बिल्डर कालोनी का प्रचार प्रसार कर रहा था तब नगर निगम और नगर तथा ग्राम निवेश विभाग क्या कर रहा था , जिससे बिल्डर को पूरा खुला मैदान मिला लूटने के लिए ।

















Thursday, October 13, 2011

फिर हुई पुलिस और विजयराघवगड़ विधायक संजय पाठक के बीच तकरार



वर्ष २०१० में होलिका दहन को लेकर कांग्रेस के विजयराघवगड़ विधायक संजय पाठक और कटनी पुलिस के बीच जमकर तकरार हुई थी , नतीजा होली की सुरक्षा व्यवस्था को पुलिस ने नजर अंदाज कर दिया था । इसी तरह इस बार दशहरा जुलुस में आजाद चौक में ही एक दुर्गौत्सव समिति और पुलिस के बीच डी जे साउंड को लेकर उपजे विवाद के बाद समिति के दो कार्यकर्ताओ को पुलिस ने कोतवाली में बैठा दिया था । बाद में विजयराघवगड़ से लौटते समय विधायक संजय पाठक ने इस विवाद में दखल देकर कहा की पहले कार्यकर्ताओ को रिहा करो बाद में जुलुस आगे बढेगा ।पुलिस प्रशासन ने संजय पाठक से कहा की ऐसे तो वह फिर और फोर्स बुला लेगी , तब संजय पाठक ने पुलिस से कह दिया की कितनी फोर्स बुलाओगे ? ज्यादा से ज्यादा पांच हजार , पहले यहाँ देख लो की यहाँ कितने लड़के है ।इसके बाद पुलिस ने अपने कदम वापस खींचते हुए गिरफ्तार किये गए कार्यकर्ताओ को रिहा कर दिया और जुलुस को आगे रवाना कर खुद भी वहा से जुलुस को भगवान भरोसे छोड़ कर फिर रवाना हो लिए इधर स्थानीय लडको ने विधायक संजय पाठक को अपने कंधो पर उठा लिया और जिंदाबाद के नारे लगाने लगे ।

Wednesday, October 12, 2011

पैदा होने से पहले ही नवजात को मार रही कटनी जिला अस्पताल की अराजक स्वास्थ व्यवस्था



कटनी जिला अस्पताल में अब जरूरतमंद मरीजो को यहाँ के लापरवाह डाक्टर जिला प्रशासन के दखल देने के बाद ही देखते है तब जब जिला प्रशासन के कानो तक मरीज का दर्द पहुचाया जाए ,अन्यथा गरीब प्रसूता महिलाओ के बच्चे चाहे जनम लेने से पहले उनके पेट में ही दम तोड़ दे या जनम लेने के बाद भी देखरेख के आभाव में उनकी मौत हो जाए ,रोजाना होने वाली इन तमाम बातो से अब जिला अस्पताल के जिम्मेदार जनों को कोई फर्क नहीं पड़ता । मंगलवार ११ अक्टूबर को यहाँ पांच घंटे तक तड़पती प्रसूता को कलेक्टर एम् सेल्वेंद्रण के हस्तषेप के बाद शाम सात बजे के बाद उपचार नसीब हुआ तब तक यहाँ सिर्फ खिलवाड़ ही होता रहा था । स्लीमनाबाद निवासी वीनस उपाध्याय की २४ वर्षीय पत्नी मोना को दोपहर बारह बजे प्रसव के लिए यहाँ भर्ती कराया गया था ,दोपहर एक बजे के आसपास डाक्टर ब्लड का इन्तेजाम करने उन्हें कह कर चले गए । इधर मोना के परिजन ब्लड की व्यवस्था भी कर चुके थे लेकिन डाक्टर यहाँ से नदारद थे । इस बीच मोना को एक बच्चा बाथरूम में ही हो गया था जबकि दूसरा बच्चा भी गर्भ से बाहर आकर फंस चूका था । इस दौरान जहा मोना को स्वास्थ सेवा की दरकार थी तब उसे डाक्टरों ने उसके हाल पर ही छोड़ दिया था । दोपहर से लेकर मोना के परिजन ब्लड बैंक आदि के चक्कर लगाते रहे तब कही पांच बजे के आसपास उन्हें ब्लड के बदले ब्लड मिला फिर भी डाक्टर नहीं पहुचे ।कलेक्टर के हस्तषेप के बाद ही शाम सात बजे डॉ सुनीता वर्मा अस्पताल पहुची और आपरेशन की तैयारी शुरु की तब तक बच्चे का शरीर नीला पड़ चूका था और उसकी मौत हो चुकी थी । इस डॉ सुनीता वर्मा की लापरवाहियो के दर्जनों प्रकरण है बताया जाता है की यह डाक्टर अपने निजी क्लिनिक में ही ज्यादा से ज्यादा ध्यान देती है अस्पताल में चाहे कोई जिए या मरे इन्हें कोई फर्क अब नहीं पड़ता । युवा कांग्रेस में इसे लेकर रोष देखा गया , युवा नेता मनु दीक्षित का कहना है की अगर अस्पताल में ऐसे ही लापरवाही व्याप्त रही तो युवा कांग्रेस इसके खिलाफ आन्दोलन करेगी ।