Tuesday, September 27, 2011

शासकीय चरनोई भूमि किसने और कैसे कर दी पूंजीपतियो के नाम

कटनी (मुरली प्रथ्यानी ) -मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मार्च २०१० में विधान सभा में यह आश्वासन दिया था कि प्रदेश में यदि किसी कलेक्टर ने किसी व्यक्ति के लिए चरनोई भूमि की अदला बदली की है तो ऐसे मामलो की जांच कर उसे निरस्त किया जायेगा । कांग्रेस के चौधरी राकेश सिंह ने कटनी जिले में चरनोई भूमि की जमकर हुई बंदरबांट पर विधानसभा में उठाये गए प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने यह आश्वासन दिया था । मध्य प्रदेश सरकार ने सभी कलेक्टरों से भूमि की अदला बदली के आदेश वापस ले लिए थे और तत्कालीन कलेक्टर श्रीमती अंजू सिंह बघेल चरनोई भूमि की अदला बदली के चलते तभी से सस्पेंड की जा चुकी है । मध्य प्रदेश भू - राजस्व संहिता १९५९ की धारा २३७ (१) के तहत चरनोई भूमि को प्रथक रखा जाना है और इसपर शासन का अधिकार रहता है । लेकिन लगता है मुख्यमंत्री के आश्वासन को राजस्व अमले ने गंभीरता से नहीं लिया था क्योकि आज भी जिले की चरनोई भूमि की बंदरबांट जारी है।

कटनी जिले के राजस्व निरीक्षक मंडल- पहाड़ी के अंतर्गत आने वाले ग्राम -पड़रवारा के पटवारी हल्का न - ४४ के ऐसे तमाम शासकीय खसरे जो चरनोई आदि के लिए सुरक्षित थे , आज वह शासकीय खसरे मिलीभगत कर पूंजीपतियो के नाम पर चढ़ा दिए गए है । खसरा न - ४०/१, ४०/२ , ४१/1, ४२/१, ४१/२, ४२/१, ४२/२, ५०/२, ५४/१, ५४/३, ५४/५ जो कुछ महीनो पहले चरनोई मद में सुरक्षित थे इनकी नोइयत कैसे और किसने बदल दी यह एक गंभीर जांच का विषय है और कैसे वह पूंजीपतिओ के नाम कर दी गयी है । जानकारी में आने वाली चरनोई भूमि की अदला बदली के कई प्रकरण संभागायुक्त और जिला कलेक्टर एम् सेल्वेंद्रन के पास जांच में चल रहे है कुछ में कार्यवाही भी की गयी है । ऐसे में फिर शासकीय चरनोई भूमि पूंजीपतियो के नाम पर दर्ज हो जाये तो यह एक गंभीर विषय बन जाता है । यहाँ पर शासकीय दस्तावेजो में हेरफेर की सम्भावना से इंकार भी नहीं किया जा सकता है । जिले में भू -माफिया ,दलाल, पूंजीपतियो और राजस्व कर्मचारी वैसे भी जनता और शासन को चूना लगाने से नहीं चूकते

Sunday, September 25, 2011

आयकर कि ई फाइल व्यवस्था में आ रही है एक नई परेशानी



अपनी कमाई से केंद्र सरकार को एक बड़ा हिस्सा टैक्स देकर और अपने ही व्यापार का आडिट करने वाले सभी करदाताओ को अपना आयकर रिटर्न ३० सितम्बर तक ई - फाइल करना अनिवार्य है । विभाग द्वारा ही अपनी साईट पर उपलब्ध कराये गए ई -फाइल के रिटर्न फार्म को पूरा भरने के बाद भी तकनीकी समस्या खडी हो रही है और फाइल जनरेट नहीं हो रही है । रन टाइम एरर मेसेज सामने आ रहा है क्योकि विभाग का सॉफ्टवेर ही भरे गए डाटा को नहीं पड़ पा रहा है अब इसमें करदाता की क्या गलती है । ऐसे में करदाता समय से रिटर्न फाइल नहीं कर पाते तो उन्हें नोतिसे मिलना भी शुरू हो जायेंगे और बेचारा करदाता भी फिर आयकर ऑफिस के चक्कर लगता फिरेगा । आजकल आयकर विभाग सभी कार्य ऑन - लाइन करता जा तो रहा है लेकिन उसे इसमें आ रही परेशानियो से कोई मलतब नहीं है । परेशानी तो उसे ही भुगतनी पड़ेगी जिसने कर दिया है ।

Friday, September 23, 2011

जिला अस्पताल संभालना डॉ के के जैन के बस की बात ही नहीं

कटनी जिला अस्पताल को संभालना सिविल सर्जन डॉ के के जैन के बस की बात नहीं लगती , रोजाना मरीजो के साथ दुर्व्यवहार की शिकायतों को तो यह नजरंदाज ही कर देते है पत्रकारों से भी दुर्व्यवहार करते है । इनके पास इस सवाल का जवाब ही नहीं था की अस्पताल में एक मरीज को कैसे दुसरे ग्रुप का रक्त चढ़ा दिया गया । इस अस्पताल के पेथोलोजी लैब वाले रक्त का सही ग्रुप तक नहीं बता पाते , ऐसे में इनकी रिपोर्ट के अनुसार चढ़ाया जा रहा रक्त अब मरीजो की जान पर बन आया है । जिला अस्पताल के इन लापरवाह कर्ताधर्ताओ पर प्रशासन कोई सख्ती नहीं करता इसलिए इनका ध्यान अपनी निजी क्लिनिक पर ज्यादा रहता है । ठीक से डाक्टरी तक न कर पाने वाले जिला अस्पताल के माईबाप बने हुए है । मरीजो के प्रति इनमे संवेदनाओ की कमी स्पस्ट दिखाई देती है ।इनकी कारगुजारियो को उजागर करता एक मामला अखबारों की सुर्खिया बना हुआ है ।

Sunday, September 18, 2011

कब सुलझाएगी कटनी पुलिस बदनामी का कारण बने इन मामलो को

कटनी पुलिस बदनामी के दौर से गुजरते हुए दिखाई दे रही है और कही कही यह बदनामी जानबूझकर किन्ही वजहों से भी जान पड़ती है । पुलिस के बड़े अधिकारी ही बदनामी की वजहों को शायद दूर करना ही नहीं चाहते ।

संवेदना का अभाव
पिछले दिनों संत नगर क्षेत्र में एक बोलेरो गाडी ने मासूम बच्चे को कुचल दिया था । आरोपी फोटो स्टूडियो वाले का नाम जगजाहिर था फिर भी कोतवाली पुलिस अंजान बनती रही । इस मामले ने पुलिस की संवेदनहीनता को भी उजागर कर दिया था । वैसे आये दिन आयोजित सेमिनारो में तरह तरह की बाते की जाती यह अलग बात है

वेदांश वाटिका सेक्स काण्ड को उजागर करे पुलिस के बड़े अधिकारी
माधव नगर क्षेत्र के शादीशुदा ऐयाश रईसों और भूमि दलालों ने पवन
मित्तल की कलेक्ट्रेट के सामने स्थित वेदांश वाटिका में कुछ दिनों पहले रंगरलिया मनाई थी । रोजाना जमीनों की दलाली कर अनाप शनाप रुपयों के दम पर बाहर से बुलवाई गई वेश्याओ के साथ सामूहिक रूप से ऐश की जा रही थी तभी कुछ जाबाज सिपाही मुखबिरी करने पर पहुचे और लाखो रुपये लेकर उन्हें छोड़ दिया फिर रंगरलिया मनाने के लिए । पूरे माधव नगर क्षेत्र के नागरिक यह जानते है की इस वाटिका में बहुत पहले से ऐसा चल रहा है और इसमें शामिल वह लोग है जिन्होंने अनाप शनाप रुपया कमाया है । माधव नगर का एक भूमि दलाल जो कुछ समय पहले तक पीरबाबा की होटल में बर्तन धोया करता करता था और रेलवे के सामान की चोरी में जेल भी जा चूका है साथ ही कई किसानो के साथ धोखाधड़ी करने के मामले भी कोतवाली पुलिस में चल रहे है , शासकीय संपत्ति को नुक्सान पहुचाने के मामले भी इसके ऊपर दर्ज है । इसके साथ सट्टे से पैसा कमा कर भूमि दलाल बना एक ऐयाश युवा था और एक पार्षद चुनाव लड़ने वाला भूमि दलाल भी शामिल था इसके आलावा दो तीन और जन थे । इनके कारन एक समाज ही बदनाम हो रहा है ऐसे लोगो को पुलिस संरक्षण देने लगे तो यह पुलिस के लिए बदनामी का ही विषय है। लाखो रुपया लेकर इन्हें छोड़ने वाले सिपाही माधव नगर में आये दिन होटलों में शराबखोरी करते पाए जाते है ।

नकाबपोशो का पता नहीं लगा पाई
१२ सितम्बर को नयी बस्ती निवासी एक १५ साल के बालक को रेलवे ट्रैक पर ट्रेन के सामने कटने के लिए नकाबपोश फेंक देते है आज उसके पैर कट चुके है लेकिन पुलिस लगातार बैठके करने के आलावा कुछ नहीं कर पायी है।

Friday, September 16, 2011

देश की मालकिन असली काम पर लौटी


१५ सितम्बर को हमारे देश की मालकिन अपने असली काम पर लौट आई । सहमे हुए घर के आम सदस्यों के लिए मालकिन नए नए गिफ्ट भी लायी है जिन्हें एक एक कर वो हम सबको देंगी । यह तारीख ख़त्म होने से पहले ही मालकिन के हैरतंगेज चौकीदारों ने पेट्रोल तीन रुपये से ज्यादा महँगा कर अपनी होनहारी और वफादारी का सबूत मालिकिन को दिया कि , हे मालकिन हम आपकी ख़ुशी के लिए कुछ भी कर देंगे । रसोई गैस के दाम बढाने वाला गिफ्ट भी हम सहमे घर के आम सदस्यों के लिए जल्दी ही उनका कोई प्रिय चौकीदार दे देगा ,अपनी मालकिन का कोई भी आदेश वो अधूरा नहीं छोड़ते है । रेलवे का एक चौकीदार यह देखकर रोने लगा है कहता है आप ही गिफ्ट क्यों देंगे में भी गिफ्ट देना चाहता हू रेल भाडा बड़ा कर ।इस चौकीदार कि मालकिन अपने आपको अलग ख्याल कि बताती है लेकिन वह भी घूम फिर के अपनी मालकिन हमारी मालकिन को ही बताती है ।

विदेश से आने के बाद हमारी मालकिन बहुत खुश दिखाई दे रही है , हम घर के सहमे सदस्यों को तो यह भी पता नहीं है कि वह विदेश गयी क्यों थी ,क्या करने गयी थी और क्या करके आई है । हम गरीब और सहमे सदस्यों कि मालकिन के कहे अनुसार रखवाली करने वाले चौकीदार भी कोई मामूली नहीं । दो साल में हजार प्रतिशत कि रफ़्तार से तरक्की करने वाले होशियार है ,वह हमें यह कभी नहीं बताते कि यह कैसे करते है पर मालकिन को तो जरुर पता होगा ।शायद मालकिन कि मर्जी से तन्खा के अलावा पार्ट टाइम जॉब करते होंगे अपना घर चलाने के लिए , मालकिन कि मर्जी के अलावा कुछ नहीं करते ।

मालकिन और चौकीदारों के अलावा भी एक है जिसकी भूमिका का ठीक ठीक पता तो हम सहमे हुए घर के सदस्यों को तो आज तक नहीं चल पाया है । इसे देखो तो हर बार हम सदस्यों को महंगाई, भ्रस्टाचार, आतंकवाद और तरह तरह के गिफ्ट आप सँभालते रहने कि सलाह देता देता है । फिर भी हम में बहुत दम है गिफ्ट लेने का । जब हमारा घर भर जायेगा तो एक दिन ऐसा भी आएगा जब हम सारे गिफ्ट इन्हें लौटा देंगे और अपनी तरफ से एक ऐसा गिफ्ट इन्हें देंगे कि फिर यह चौकीदार , बगैर भूमिका वाला और हमारी मालकिन फिर हमारे नहीं रह जायेंगे और कभी इस लायक भी नहीं रहेंगे कि कभी किसी को कोई गिफ्ट दे सके फिलहाल जो चाहे करते रहे यह अंधेर नगरी कि चौपट मालकिन ।

Wednesday, September 14, 2011

भाजपा नेताओ की कांग्रेस महापौर निर्मला पाठक के प्रति बढ़ी है निष्ठा

कटनी महापौर श्रीमती निर्मला पाठक द्वारा कराये जा रहे माधव नगर में जनहितैषी कार्यो से प्रभावित विपक्षी दल भाजपा के नेता भी हो गए है । उनके कार्यक्रमों में अब स्थानीय भाजपा नेता भी बढ़चढ़कर हिस्सा लेते है और भूरी भूरी प्रशंसा भी करते है । भाजपा नेताओ की कांग्रेस महापौर के प्रति निष्ठा देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि आने वाले समय में कांग्रेस यहाँ पुनः आगे आ सकती है ।

Tuesday, September 13, 2011

प्रदुषण से हो रही सांस सम्बन्धी बीमारी

कटनी जिले के माधव नगर क्षेत्र में करीब १५० दाल व राईस मिले है , जिस कारण सैकड़ो की तादाद में बड़े वाहन यहाँ दिन रात आते जाते रहते है । इनसे उड़ने वाली धूल ने यहाँ के नागरिको के स्वास्थ पर असर दिखाना भी शुरू कर दिया है । सांस सम्बन्धी बीमारियो का यहाँ लगातार इजाफा हो रहा है , यहाँ के प्रदुषण का स्तर अगर नापा जाए तो प्रदेश के कई जगहों से यहाँ स्थिति गंभीर नजर आ सकती है । जिले का प्रदुषण विभाग अभी तक सिर्फ सफ़ेद हाथी ही प्रतीत होता है । कागजो में ही शायद प्रदुषण की खाना पूर्ति की जाती होगी जबकि वास्तविकता कुछ और ही दिखाती है ।


आप सम्माननीय जन से माधव नगर की और से यह निवेदन है कि कृपया इस और जल्दी कोई ठोस कदम उठाये जिससे वर्तमान और आने वाली पीढ़ी को प्रदुषण से होने वाले गंभीर नुकसान से समय रहते बचाया जा सके । धन्यवाद्


मुरली प्रथ्यानी


संपादक - प्रबल सृस्ष्टि कटनी

रिहाइशी क्षेत्र में ट्रको का आतंक नागरिको का नासूर बन गया

कटनी का माधव नगर क्षेत्र एक रिहाइशी क्षेत्र है लेकिन अवैध रूप से यहाँ दाल मिल व राईस मिल बसाई गयी है । सैकड़ो की तादाद में ट्रके यहाँ आती है जिससे यहाँ के नागरिक बेहद परेशान है । ऑटो चालको की धमाचौकड़ी अब निरंकुश प्रतीत होती है । कलेक्टर ने दो साल पहले यहाँ का ऑटो स्टैंड दूसरी जगह शिफ्ट करने को कहा था , अब खुद वह इसे भूल गए होंगे । यातायात प्रभारी एस पी बघेल का कहना है की वो अगर सख्ती करते है तो यहाँ के मिल वाले मिमियाने लगते है और टी आई अखिल वर्मा का कहना है कि उन्हें दो साल पहले वाला कलेक्टर का आदेश मिल जाये तो तो वह ऑटो स्टैंड दूसरी जगह शिफ्ट करा देंगे । लेकिन इसमें नागरिको को भी अपनी सहभागिता देनी होगी और आगे आकर अपना रोष प्रकट करना होगा तभी शायद प्रशासन को उनकी पीड़ा का पता चल पायेगा । हमारा शहर अगर व्यवस्थित रहेगा तभी तो हम सुकून से रह पाएंगे । क्या आप इसमें अपना सहयोग देंगे ?

Monday, September 12, 2011

सूचना अधिकार कार्यकर्ता शेहला मसूद हत्याकांड पर मीडिया ने अब अपने आँख कान बंद कर लिए है , इस हत्याकांड के असल अपराधियो का बाल भी बांका नहीं हो सकता ,आजकल जितने बड़े अखबार है सबको सरकारी और गैर सरकारी विज्ञापन चाहिए बदले में मीडिया भी यह क़र्ज़ अन्य तरीको से चुकाता रहता है ।

Saturday, September 10, 2011

जिस्मफरोशी का मामला दबाने कटनी पुलिस ने खाया लाखो रुपया एस पी मनोज शर्मा ने कहा है जांच करवाएँगे







जिस्मफरोशी के रईस शौकिनो की वजह से अब एक पूरा समाज ही बदनाम होने लगा है । आये दिन अनैतिक आचरण का नंगा नाच करने वालो की वजह से पुलिस की तो पौ बारह हो उठी है । पुलिस के अदना सिपाही से लेकर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अनैतिक आचरण करने वालो पर विशेष कृपा बरसा रहे है , इनकी वजह से जेबे जो लाखो में भरी जा रही है । ऐसा ही एक मामला कटनी जिले में सामने आया है , जिसने के एक समाज की भावनाओ को तो ठेस पहुचाई ही है कर्ताव्यपरायानता का राग अलापने वाली कटनी पुलिस को रुपयों के लालच में जल्दी बिक जाने वाली भी साबित कर दिया है ।
राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक ७ के किनारे पर स्थित वेदांश वाटिका में बाहर से लायी गयी लडकियों के साथ जब कटनी के रईस जादे रंगरलिया मन रहे थे उसी दौरान पुलिस ने छापेमारी की । मौके पर महँगी लग्जरी गाड़ियाँ की संख्या आधा दर्जन थी सो पुलिस को यह समझते देर नहीं लगी की क्या चल रहा है । पैसे के दम पर प्रतिष्ठा हासिल करने वाले रईसों से पुलिस ने जमकर सौदेबाजी की ,घिनोने कृत्य को अंजाम देने वालो ने भी पुलिस की मनमुताबिक कीमत चुकाई । चार लाख रुपये लेकर पुलिस ने रईसजादों और देहव्यापार में संलग्न लडकियों को तो छोड़ दिया लेकिन अपने लिए पुरे शहर में एक बदनामी का विषय भी इसे बना दिया ।
कटनी पुलिस रुपया लेकर अनैतिक कार्यो को करने वालो को छोड़ देती है , जिसकी वजह से ऐसे तत्वों के होंसले बुलंद होते रहते है। दैनिक भास्कर , दैनिक जन्मेजय और यश भारत जैसे अखबारों ने इसे ९.०९.२०११ की सुर्खिया बनाया है । पुलिस अधीक्षक मनोज शर्मा ने भी यह कहा है की इस मामले की जांच अधिकारी से कराने के बाद जो तथ्य सामने आयेंगे उसके अनुसार अपराधिक प्रकरण दर्ज किया जायेगा । छापामारी करने वाले पुलिस कर्मियों का पता लगाया जायेगा । अब देखना है की एस पी ने जो कहा है वो कर दिखाते है या वह भी पर्देदारीही करेंगे ।

Monday, September 05, 2011

शिशक दिवस पर महत्वपूर्ण बाते कही शिवराज सिंह चौहान ने -

शिक्षक दिवस के अवसर पर भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि गाँवों में जहाँ स्कूल बनेंगे वही पर शिक्षकों के लिये आवास भी बनाये जायेंगे। शिक्षकों की सेवा शर्तें और बेहतर बनायी जायेंगी और कहा है कि केवल कानून बनाने से भ्रष्टाचार समाप्त नहीं होगा। भ्रष्टाचार मनुष्य को मनुष्य बनाने से समाप्त होगा और यह काम शिक्षा से ही होगा। कर्मठ, चरित्रवान, ईमानदार और देशभक्त मनुष्यों के निर्माण की जिम्मेदारी शिक्षकों की है शिक्षक भावी राष्ट्र के निर्माता हैं। शिक्षक बच्चों को संस्कार और शिक्षा देकर उनके जीवन को सार्थक बनाते हैं। सच्चा गुरू जीवन की दिशा बदल देता है। आज देश को सच्चे गुरूओं की आवश्यकता है। शिक्षा का उद्देश्य ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना है। बच्चों को सम्पूर्ण ज्ञान देना चाहिये। इसीलिये प्रदेश में स्कूली पाठ्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम के वीर नायकों के जीवन परिचय के साथ कृषि, पर्यावरण, प्रकृति के बारे में भी जानकारी जोड़ी जायेगी।
शिक्षा पद्धति भारतीय जीवन-दर्शन, मूल्य, परम्पराओं और संस्कारों को बनाये रखने वाली होना चाहिये। इसके लिये शिक्षा में गुणात्मक परिवर्तन करना होगा। शिक्षा के साथ खेल भी जरूरी है इसके लिये खेल मैदानों को सुरक्षित रखना होगा। उन्होंने कहा कि देश में बेटियों की संख्या तेजी से कम हो रही है, इसे देखते हुए प्रदेश में बेटी बचाओ अभियान शुरू किया जा रहा है। इसमें शिक्षक भी सक्रिय सहयोग करें, बेटी रहेगी तो दुनिया रहेगी। राज्य सरकार ने तय किया है कि जिन दंपत्तियों के केवल बेटियाँ हैं, उन्हें पचपन वर्ष की उम्र के बाद पेंशन दी जायेगी।
उन्होंने कहा है कि प्रदेश में निजी शिक्षण संस्थाओं द्वारा ली जाने वाली फीस के निर्धारण के लिये नियामक आयोग बनाया जायेगा। सरकारी स्कूलों को गुणवत्ता की दृष्टि से निजी विद्यालयों से बेहतर बनाया जायेगा। शिक्षा में गुणवत्ता के सुधार के लिये अच्छा काम करने वाले शिक्षकों को पुरस्कृत किया जाये और स्कूलों में ‘मध्यप्रदेश गान’ का गायन किया जाये।मुख्यमंत्री ने जो विचार व्यक्त किये और शिक्षा के लिए जो कदम उठाने की बात की है अगर वह सही और पूरे उठाये जाते है तो यह आगे चलके बहुत अच्छे परिणाम देंगे ।

जनता और शासन से समदडिया बिल्डर की धोखाधड़ी

मध्य प्रदेश में कमजोर आय वर्ग के नागरिको के हितो पर यहाँ के बिल्डर डाका डाल कर जनहित और शासन से भी धोखाधड़ी कर रहे है । जिन सरकारी विभागों पर कमजोर वर्गो के हितो की रक्षा का भार है ,वह खुद इन बिल्डरों के ही प्रति वफादारी दिखा रहे है , ऐसे में अगर प्रदेश सरकार भी अपने प्रदेश के कमजोर वर्ग के नागरिको के हितो को नजरंदाज करे को उसकी नियत पर ही संदेह उठ खड़ा हो सकता है ।
जबलपुर के बहुचर्चित अजीत समदडिया के समदडिया बिल्डर्स द्वारा कटनी जिले के उपनगर माधव नगर में गोठान की ३१ एकड़ भूमि पर आवासीय व व्यावसायिक निर्माण किया जा रहा है । इस अरबपति बिल्डर ने कैसे यह गोठान की भूमि कटनी के भू-माफियाओ और प्रदेश के वरिष्ठ राजनेताओ से मिलकर हासिल की है , यह अलग ही कटनी जिले का एक बहुचर्चित विषय है । यहाँ हम बात सिर्फ वर्तमान में इस बिल्डर द्वारा की जा रही जानबूझकर गंभीर अनिमित्ताओ की करेंगे ।

कमजोर वर्ग के लिए १२४ इकाई बनाने का अनुबंध किया था बिल्डर ने
नगर तथा ग्राम निवेश कटनी से बिल्डर ने ३१ एकड़ की आवासीय व व्यावसायिक परियोजना के लिए दो अलग अलग नक्शे दिनांक ३०/०६/२००५ को स्वीकृत कराये , आवासीय योजना के लिए इस विभाग ने अनुज्ञा क्रमांक १६० दिनांक ३०/०६/२००५ इस शर्त के आधार पर दी की मध्य प्रदेश नगर पालिका अधनियम व कालोनाइजर एक्ट १९९८ १०(२) के अनुसार १२४ आवासीय इकाई कमजोर आय वर्ग हेतु निर्माण कर इन्हें उपलब्ध कराएगा और इसके अनुपालन की जिम्मेदारी नगर निगम कटनी की होगी । लेकिन आज यह बिल्डर जानबूझकर ऐसा नहीं कर रहा है ।
आम जनता को जानबूझकर धोखे में रखा
समदरिया बिल्डर ने नगर तथा ग्राम निवेश से ३०/०६/२००५ को अनुमति प्राप्त की थी ,जिसके अनुसार उसे कालोनी को अधिकतम पांच वर्ष के अन्दर पूर्ण करना था । नगर निगम कटनी से प्राप्त अनुमति दिनांक २८/०१/२००६ के अनुसार भी निर्माण करने की समय अवधी अधिकतम पांच वर्ष तक की ही थी , लेकिन आज पांच वर्ष से ज्यादा की अवधी बीत जाने पर भी निर्माण १० प्रतिशत ही हो पाया है और बिल्डर अब अन्य जनों को खाली प्लाट बेच रहा है , जो अनुचित भी है । बीते पांच वर्षो में बिल्डर नगर निगम से यह कह कर अनुमति प्राप्त करता रहा है की यहाँ की भूमि सम्बन्धी एक जनहित याचिका उच्च न्यायालय जबलपुर में विचाराधीन है इसकारण वह निर्माण पूरा नहीं कर पा रहा है । गौरतलब है की इसी बीच वह यहाँ की भूमि आदि बेचता रहा है , आम जनता को उसने धोखे में रख कर ही प्लाट आदि बेचे है , उच्च न्यायालय का फैसला अगर इस बिल्डर के खिलाफ आता है तो उस आम जनता का क्या होगा जिसने अपनी गाढ़ी मेहनत की कमाई बिल्डर को दे दी है।
नगर निगम और बिल्डर की मिलीभगत
नगर निगम कटनी से दिनांक २८/०१/२००६ अनुबंध के अनुसार १३७ इकाई निगम के पास बिल्डर ने गिरवी रखे है जो कालोनी का पूरा विकास कार्य पूर्ण होने पर ही वह इनको बेच या किराये पर दे सकेगा । आम जनता इन्हें न ख़रीदे ऐसी एक आम सूचना प्रकाशित करनी थी लेकिन यह आम सूचना सिर्फ कागजो में ही कैद रह गयी । यहाँ निगम ने भी आम जनता के साथ धोखा ही किया है । जानकारी अनुसार बिल्डर इन बंधक मकानों को भी बेच चूका है । निगम और बिल्डर की मिलीभगत का खामियाजा आम जनता को ही भुगतना पड़ेगा ।

इतने बड़े पैमाने पर गंभीर अनिमित्ताये हो और जिम्मेदार विभाग आँख कान बंद कर सिर्फ भ्रस्टाचार की राह पर ही चलते रहे और आम जनता के बदले सिर्फ अरबपति बिल्डरों के हितो का ही ध्यान रखे ,और आगे चलके आम आदमी इनके वजह से सड़क पर आ जाये ऐसे में प्रदेश सरकार की भी जवाबदारी बनती है की वो आगे आकर ऐसे बिल्डरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करे जो सारे नियम कायदों को किनारे पर रख आम आदमी से सिर्फ और सिर्फ धोखाधड़ी ही करता रहे । मध्य प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से अपेक्षा है की वो अपने कमजोर आय वर्ग के नागरिको के हितो के साथ नियम पालन करना सुनिश्चित कराये ।

Thursday, September 01, 2011

शेहला मसूद हत्‍या: दिग्विजय ने की सीबीआई जांच की मांग




भोपाल. आरटीआई कार्यकर्ता शेहला मसूद की हत्‍या मामले में नया मोड़ आ गया है। मध्‍य प्रदेश पुलिस इस हत्‍या के मामले में भाजपा सांसद तरुण विजय से पूछताछ की तैयारी में है। मसूद की भोपाल में बीते 16 अगस्‍त को दिनदहाड़े हत्‍या कर दी गई थी। कांग्रेस महासचिव दिग्वि‍जय सिंह ने आज कहा कि आरटीआई कार्यकर्ता की दिनदहाड़े हत्‍या बेहद आश्‍चर्यजनक है। अब तरुण विजय को चाहिए वो इस मामले को सीबीआई को सौंप दिए जाने की मांग करें। भोपाल रेंज के आईजी विजय यादव का कहना है कि जल्द ही सांसद तरुण विजय के बयान दर्ज किए जाएंगे। अब तक पुलिस बीजेपी विधायक और एक आईजी सहित कई लोगों के बयान ले चुकी है, लेकिन पुलिस को इसमें कोई अहम सुराग नहीं मिले। भाजपा सांसद से हुई थी बात हत्या के डेढ़ घंटे पहले शेहला की तरुण विजय से मोबाइल पर करीब 45 मिनट तक बातचीत हुई थी। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद तरुण विजय ने खुद इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि 16 अगस्त को सुबह शेहला से उनकी बातचीत हुई थी। बकौल तरुण, 'अब तक मुझसे किसी भी जांच एजेंसी ने संपर्क नहीं किया है। यदि जांच एजेंसी बोलेगी तो मैं एक नहीं, दस बार बयान देने तैयार हूं। तरुण विजय ने बताया कि वे शेहला को बहुत अच्छे से जानते थे। 16 अगस्त की सुबह शेहला ने तरुण विजय के मोबाइल पर जनलोकपाल विधेयक के समर्थन में चल रहे आंदोलन के संबंध में जानकारी दी थी। हालांकि उन्होंने शेहला से संबंधों पर ज्यादा कुछ बोलने से इनकार कर दिया। विजय आरएसएस के मुखपत्र पांचजन्य के संपादक भी रहे हैं।

निराश्रित विधवाओ को नगर निगम से मिली सहायता

कटनी। महापौर श्रीमती निर्मला पाठक ने विभिन्ना वार्डों के २३ हितग्राहियों को राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सहायता राशि के १०-१० हजार रूपए के चैक वितरित किए। निगमाध्यक्ष वेंकट खंडेलवाल, उपायुक्त किशन सिंह ठाकुर, मेयन इन काउंसलि सदस्य एवं सदस्य महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती लता अरूण कनौजिया, पार्षद शंकर सेन, सुधीर पटेल, सुश्री मंजू निषाद, गीता अग्रवाल, ज्योति विनय दीक्षित, शोभा थावानी, लीला पटेल, नासिर खान, अशोक मंगल गौटिया, सपंत्ति प्रबंधक अजय मिश्रा उपस्थितथे। तिलक वार्ड की तुलसा श्रीवास्तव, शास्त्री वार्ड से सोना कुशवाहा, इंदिरा वार्ड से सुभद्रा कुशवाहा, जानकी सेन, जयप्रकाश वार्ड से संतोष गुप्ता, रीतू खंडेलवाल, सावरकर वार्ड से विमला चौधरी, लक्ष्मी यादव, विनोवा भावे वार्ड से आशा कोल, किदवई वार्ड से कमला ठाकुर को चैक दिए गए। वंशरूप वार्ड अंतर्गत ममता कोल, कावसजी वार्ड में बछला पटेल, प्रियंका जाटव, गिल्लो चक्रवर्ती, ईश्वरीपुरा वार्ड में शमीमा बानो, वंशरूप वार्ड में सुधा बर्मन, चौबे वार्ड में गुलाब सेन, नेहरू वार्ड में राजकुमारी मिश्रा, मुखर्जी वार्ड में सुधा शुक्ला, जाकिर हुसैन वार्ड में पतंगी कोल, नारायण शाह वार्ड में छुटकू वंशकार, कृपलानी वार्ड में अनीता कटारिया, प्रताप वार्ड में तारा डुमार को चैक प्रदाय किये गये।





कटनी में प्रशासन,नागरिक और नेताओ ने मुस्लिम समाज से गले मिलकर मनाई ईद







jila मुख्यालय स्थित ईदगाह में महापौर श्रीमती निर्मला पाठक, पूर्व महापौर संदीप जायसवाल, पूर्व निगमाध्यक्ष लोकनाथ गौतम, विजय शुक्ला, जगदीश परौहा, भाजपा जिलाध्यक्ष ध्रुव प्रताप सिंह, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा जिलाध्यक्ष हाजी गुलाम हुसैन नियाजी, जिला भाजपा महामंत्री आशीष गुप्ता, ललित गुप्ता, अभिषेक ताम्रकार, राजेन्द्र सोंधिया, नगर निगम परिषद अध्यक्ष वेंकट खंडेलवाल, कांग्रेस शहर जिलाध्यक्ष प्रियदर्शन गौड़, पार्षद मिथलेश जैन, मनीष पाठक, नारायण गट्टानी नान्‌, श्रीमती लता कनौजिया, श्रीमती शिल्पी सोनी, कांग्रेस जिला महामंत्री, रमजान भारती, वार्डस्ले प्राचार्य श्री नेल्सन, सत्यसांई सेवा समिति सदस्यगण, पुलिस अधीक्षक मनोज शर्मा, एएसपी अमित सांघी,सीएसपी गीतेश गर्ग, आरआई मनोज खत्री, टीआई डी.एल. तिवारी, अखिल वर्मा, श्री अंसारी, सूबेदार श्री बघेल, निगमायुक्त आर.पी.सिंह, कार्यपालन यंत्री एमएसपयासी, सहित कलेक्टर एम.सेल्वेन्द्रन, एडीएम आर.आर.बाथम, एसडीएम के.के.पाठक उपस्थित रहे और इन सबने मुस्लिम भाइयों से गले मिलकर ईद की मुबारकबाद दी।