Wednesday, July 06, 2011

समदडिया बिल्डर नियम काएदे से ऊपर है बीजेपी का साथ जो है



मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में जिस तरह से नगर निगम और टाऊन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के अधिकारिओ की जानबूझकर अनदेखी से मिनाल माल का अवेध निर्माण हो गया और अब उसके टूट जाने से सेंकडो लोग सड़क पर आ चुके है । कुछ इसी तरह से कटनी शहर के माधव नगर में जबलपुर के पूंजीपति अजीत समदडिया द्वारा बनाई जा रही कालोनी का भी हो सकता है । सबसे पहले तो उसने कटनी की गौशाला कमेटी के करता धर्ताओ से मिली भगत कर यहाँ की जमीन हथियाई है अब उनके द्वारा बनाई जा रही कालोनी सभी नियम कायदों को ताक पर रख कर बनाई जा रही है । पहली अनियमितता । टाऊन एंड कंट्री प्लानिंग से स्वीकृत नक्शे के विपरीत निर्माण न करा प्लाट बेचे जा रहे है , नियम के अनुसार पांच साल तक निर्माण करना था , नियम के अनुसार ऐसा होने पर स्वीकृति रद्द मानी जाती है । दूसरी अनियमितता । कमजोर आय वर्ग के किये कोई भी फ्लैट नहीं रखा गया है । तीसरी अनियमितता । नक्शे में स्वीकृत बग़ीचे की जगह की प्लाटिंग की जा रही है । चौथी अनियमितता जिसमे नगर निगम और जिला पंजीयक भी अच्छी तरह से जानते है । १३७ फ्लेट्स बिल्डर ने नगर निगम में बंधक रखे है जिसे निर्माण पूरा होने पर उसे वापस मिलेंगे , नगर निगम ने इसकी आम सुचना सिर्फ कागजो में सिमित रखी जबकि यह फ्लेट्स बिल्डर द्वारा बेचे जा चुके है । जिला पंजीयक कहते है हमारे पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है की कोन से फ्लेट्स बंधक है ।यहजनता के साथ धोखा है । यह सब यहाँ इसलिए भी संभव हो रहा है क्योकि इस बिल्डर की बीजेपी की नेताओ मंत्रियो से अच्छी गहरी व्यापारिक दोस्ती है जिस कारण इस बिल्डर की कोई भी अनियमिता कोई भी विभाग जानबूझकर देखना ही नहीं चाहता है । इसलिए में यहाँ के नागरिको को लेकर चिंतित हूँ क्योकि आगे चलकर कोई भी बखेड़ा खड़ा होगा तो परेशान तो यही के लोग होंगे जैसे आज मीनल को लेकर लोग परेशान है ।